Biography

Aishwarya Rai Biography in Hindi – ऐश्वर्या राय बच्चन की जीवनी

Aishwarya Rai Biography in Hindi – ऐश्वर्या राय बच्चन की जीवनी

image

Aishwarya Rai Biography in Hindi

बॉलीवुड की टॉप ऐक्ट्रेसेस में गिनी जाने वाली ऐश्वर्या राय आज अपना 46वां जन्मदिन मना रही हैं। बता दें कि ऐश्वर्या राय इस बार अपना जन्मदिन मनाने अभिषेक और अपनी बेटी आराध्या के साथ रोम गई हैं। इस बार ऐश्वर्या राय अपना जन्मदिन रोम की खूबसूरत वादियों में मनाएंगी। बता दें कि ऐश्वर्या राय भले ही आज 46 साल की हो गई हों लेकिन उनकी खूबसूरती में कोई कमी नहीं आई हैं। वो आज भी उतनी ही खूबसूरत लगती हैं जितनी वो तब लगती थी जब साल 1994 में उनको मिस वर्ल्ड का खिताब मिला था।मिस वर्ल्ड का खिताब मिलने के बाद ऐश्वर्या की किस्मत बदल गई और उनकी एंट्री बॉलीवुड में हुई। बता दें कि बॉलीवुड में ऐश्वर्या राय की खूबसूरती का हर कोई कायल था। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐश्वर्या पहले ऐक्ट्रेस या मॉडल नहीं बल्कि उनका सपना कुछ और बनने का था। जी हां, कहते हैं ना किस्मत आपको कब कहां ले जाए इसका पता किसी को नहीं होता और यही हुआ ऐश्वर्या राय के साथ। शायद ही कोई जानता हो कि ऐश्वर्या ऐक्ट्रेस बनने से पहले एक आर्किटेक्ट बनना चाहती थीं। तो चलिए आपको बताते हैं कि एक्टिंग में आने से पहले क्या थे ऐश्वर्या के सपने।

बचपन और प्रारंभिक जीवन:-

ऐश्वर्या राय का जन्म 1 नवंबर 1973 को कर्नाटक के मैंगलोर में एक तुलु भाषी परिवार में कृष्णराज और वृंदा राय के यहाँ हुआ था। उनके पिता एक आर्मी बायोलॉजिस्ट थे जिनकी 18 मार्च 2017 को मृत्यु हो गई थी। उनके बड़े भाई आदित्य राय मर्चेंट नेवी में हैं।जब परिवार मुंबई चला गया, राय ने आर्य विद्या मंदिर हाई स्कूल में पढ़ाई की। वह तब एक वर्ष के लिए जय हिंद कॉलेज गई और बाद में माटुंगा के डीजी रूपारेल कॉलेज में दाखिला लिया। उसने इंटरमीडिएट की परीक्षा में 90 प्रतिशत हासिल किए।अपनी किशोरावस्था के दौरान उन्होंने पांच साल तक शास्त्रीय नृत्य और संगीत सीखा। शुरू में वह एक वास्तुकार बनने की ख्वाहिश रखती थीं और उन्होंने रचाना संसद एकेडमी ऑफ आर्किटेक्चर में दाखिला लिया। हालांकि उन्होंने मॉडलिंग में अपना करियर बनाने के लिए अपनी पढ़ाई छोड़ दी।

करियर:-

1993 में ऐश्वर्या राय ने अभिनेता आमिर खान के साथ पेप्सी के विज्ञापन में अपनी उपस्थिति के लिए मॉडलिंग उद्योग में ख्याति प्राप्त की। उनके करियर में सफलता 1994 में आई जब उन्होंने मिस इंडिया पेजेंट में दूसरा स्थान हासिल किया और उन्हें मिस इंडिया वर्ल्ड का ताज पहनाया गया। उन्होंने तब मिस वर्ल्ड पेजेंट में भारत का प्रतिनिधित्व किया और ताज जीता।1997 में उन्होंने मणिरत्नम की तमिल फिल्म ’इरुवर’ से अपने अभिनय की शुरुआत की। उसने पुष्पावल्ली और कल्पना दोनों को चित्रित किया। उसी वर्ष उन्होंने अपनी पहली बॉलीवुड फिल्म ‘और प्यार हो गया’ की।1998 में वह एक तमिल फिल्म ‘जीन्स’ में दिखाई दीं। फिल्म एक व्यावसायिक सफलता थी और उसने अपने अभिनय और नृत्य कौशल के लिए प्रशंसा अर्जित की। राय की पहली सफल हिंदी फ़िल्म सलमान ख़ान और अजय देवगन के साथ संजय लीला भंसाली की रोमांटिक ड्रामा ‘हम दिल दे चुके सनम’ थी। उनकी सुंदरता और अभिनय कौशल के लिए उनकी प्रशंसा की गई और इसने उनके अभिनय करियर को सही दिशा में धकेल दिया।उनकी अगली हिट 1999 में सुभाष घई की ‘ताल’ थी जहाँ उन्हें अक्षय खन्ना और अनिल कपूर के साथ चित्रित किया गया था। उनके अभिनय और नृत्य कौशल के लिए उनकी प्रशंसा की गई थी। 2000 में उन्होंने एक तमिल फिल्म ‘कंदुकॉन्डैन कंदुकोंडैन’ में अभिनय किया जिसके लिए उन्होंने अपने शक्तिशाली अभिनय के लिए सकारात्मक टिप्पणियां अर्जित कीं।2000 में उन्होंने शाहरुख खान और चंद्रचूर सिंह के साथ ‘जोश’ किया। फिल्म ने मिश्रित समीक्षा अर्जित की लेकिन व्यावसायिक रूप से सफल रही। 2000 में उनकी फिल्म ‘ढाई अक्षर प्रेम के’ के बाद अभिषेक बच्चन के फ्लॉप होने के बाद वह उसी वर्ष ‘मोहब्बतें’ में सहायक भूमिका में दिखाई दिए।एक और फ्लॉप फिल्म, ‘हम किस किस को प्यार करूं’ के बाद राय की अगली हिट फिल्म 2002 में शाहरुख खान के सामने संजय लीला भंसाली की प्रेम-गाथा ‘देवदास’ थी। फिल्म को कान्स फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शित किया गया था। राय की अभिनय प्रतिभा और बेहतरीन लुक को सराहा गया।2003 में रवींद्रनाथ घोष की बंगाली फिल्म ‘चोखेर बाली’ में उनके अभिनय कौशल और उनकी कामुक उपस्थिति की एक बार फिर से प्रशंसा की गई, जो रवींद्रनाथ टैगोर के इसी नाम के उपन्यास पर आधारित है। व्यावसायिक रूप से भी फिल्म हिट रही।2004 में वह एक्शन थ्रिलर ‘खाकी’ के साथ हिंदी फिल्मों में लौटीं। उन्होंने एक बंदूक मोल की भूमिका निभाई। फिल्म को मध्यम महत्वपूर्ण और व्यावसायिक सफलता मिली।2004 के अंत में ऐश्वर्या राय ने गुरिंदर चड्ढा की ब्रिटिश फिल्म ‘ब्राइड एंड प्रेजुडिस’ में अपनी भूमिका के लिए अंतर्राष्ट्रीय प्रशंसा अर्जित की। फिल्म एक व्यावसायिक सफलता थी। उनकी अगली हिट हिंदी फिल्म रितुपर्णो घोष की ‘रेनकोट’ थी। फिल्म ने हिंदी में सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता। विशेष रूप से उसके चेहरे और आंखों के साथ भावनात्मक दिखने के लिए उसकी प्रशंसा की गई थी।2005 में उन्होंने ‘शबद’ में अभिनय किया जहाँ उन्हें उनके ‘ड्रॉप-डेड गॉर्जियस’ लुक के लिए सराहा गया। उस वर्ष उनका एकमात्र सफल उपक्रम ‘बंटी और बबली’ में एक विशेष उपस्थिति थी, जिसमें उन्होंने आइटम नंबर ‘कजरा रे’ में दिखाया था।2006 में उनकी दो फ़िल्म रिलीज़ हुईं- ‘उमराव जान ’और ‘धूम 2’। जबकि उमराव जान में राय की भूमिका समीक्षकों द्वारा प्रशंसित थी, ‘धूम 2’ देवदास के बाद उनकी पहली बड़ी व्यावसायिक सफलता थी। उन्होंने ब्रिटिश ड्रामा फिल्म ‘प्रोवोक्ड’ में भी अभिनय किया जिसके लिए उन्होंने अपने प्रदर्शन के लिए सकारात्मक टिप्पणियां अर्जित कीं।2007 में उन्हें मणि रत्नम की ‘गुरु’ में दिखाया गया था। फिल्म को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा मिली और यह सफल रही। राय को उनके बेहतरीन अभिनय के लिए काफी प्रशंसा मिली। कई असफल फिल्मों के बाद उन्हें 2008 में ‘जोधा अकबर’ में सफलता मिली। उन्हें उनके शानदार प्रदर्शन के लिए सराहा गया। उसी वर्ष उन्होंने ‘सरकार राज’ में पति अभिषेक और ससुर, अमिताभ बच्चन के साथ अभिनय किया।2009 में उन्होंने ‘द पिंक पैंथर 2’ में अभिनय किया, जहाँ उन्होंने एक क्रिमिनोलॉजी विशेषज्ञ की भूमिका निभाई। 2010 में राय ने मणिरत्नम की रामायण के द्विभाषी आधुनिक दिनों के अनुकूलन में अभिनय किया, जिसे ‘रावण’ कहा जाता है। उनके प्रदर्शन को “हार्दिक” के रूप में प्रशंसा मिली।उनकी अगली भूमिका दक्षिण भारतीय सुपरस्टार रजनीकांत की 2010 में विज्ञान कथा तमिल फिल्म ‘उत्साही’ के विपरीत थी। यह एक सफल फिल्म थी। वह संजय लीला भंसाली के नाटक ‘गुजारिश’ में दिखाई दीं। हालांकि फिल्म फ्लॉप हो गई लेकिन आलोचकों ने उनके प्रदर्शन को सर्वश्रेष्ठ बताया। इस फिल्म के बाद उन्होंने अपनी गर्भावस्था के कारण बॉलीवुड से ब्रेक ले लिया।2015 में उन्होंने ‘जज़्बा’ के साथ वापसी की। आलोचकों के अनुसार राय के प्रदर्शन के कारण ही फिल्म बनी। 2016 में वह जीवनी फिल्म ‘सरबजीत’ में दिखाई दीं; हालाँकि, उनके प्रदर्शन की काफी आलोचना हुई थी। 2016 में राय की अंतिम रिलीज़ करण जौहर की ‘ऐ दिल है मुश्किल’ थी जिसके लिए उन्हें अपने प्रदर्शन के लिए सकारात्मक टिप्पणियां मिलीं।

Modeling Career:-

“जब हम कोई कैरियर अपनी इच्छा के अनुरूप चुनते है तो उसमें सफल होने के चांसेज 90% तक बढ़ जाता है।”

ऐश्वर्या के साथ कुछ ऐसा ही हुआ, जब वो मॉडेलिंग को अपना कैरियर मानते हुए अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी, फोर्ड द्वारा आयोजित इन्टरनेशनल सुपरमॉडल के कॉन्टेस्ट को जीतने में कामयाब रही और साथ ही फेमस अमेरिकन मैगजीन वोग में फीचर्ड की गई, जो उनकी सफल मॉडलिंग कैरियर की संकेत था।

Pepsi Advertisement:-

अब ऐश्वर्या के तारे गर्दिस में थे, तभी उन्हें Pepsi के एक एड में काम करने का मौका मिला, जिसमें आमिर खान और महिमा चौधरी उनकी को-स्टार्स थे।इस एड में उनकी भूमिका संजना नाम की लड़की की थी, जो एड के अंत में हल्की मदहोश आवाज में, “Hi, I’m Sanjana” कहती है, जो लोगों को इतना पसंद आती है कि वो जल्दी ही संजना नाम से पोपुलर हो जाती है।

Miss India & Miss World:-

अगले साल 1994 में मिस इंडिया कॉन्टेस्ट में वह सुष्मिता सेन के बाद दूसरे नंबर पर आती है। पर सुंदरता के दुनियाँ में उनकी यह छोटी-सी सफलता थी, बड़ी सफलता तो उनका इंतजार कर रहा था।जब वो उसी साल आयोजित मिस वर्ल्ड कॉन्टेस्ट में सफलतापूर्वक सभी प्रश्नों का जवाब दी और अपनी बुद्धिमता के साथ अपनी सुंदरता से दुनियाँ को प्रभावित करने में सफल रही और उन्हें दुनियाँ के तालियों गडगराहट के बीच विजेता स्वरूप मिस वर्ल्ड 1994 का क्राउन पहनाया गया।

ऐश्वर्या राय का व्यक्तिगत जीवन :-

1999 में Aishwarya Rai ने बॉलीवुड सितारे सलमान खान के साथ डेटिंग की पर 2001 में वो एक दुसरे से अलग नही हो गये। संबंध ख़राब होने के कारण के रूप में राय ने सलमान खान पर बेवफाई और अपमान के आरोप लगाये।अभिषेक बच्चन के पिता अमिताभ बच्चन ने 14 जनवरी 2007 को अभिषेक और ऐश के इंगेजमेंट की घोषणा की। बाद में 20 अप्रैल 2007 को हिंदु परम्पराओ के अनुसार उनका विवाह हुआ। इसके साथ ही विवाह में उत्तरी भारत और बंगाली परम्पराओ को भी निभाया गया। उनका विवाह बच्चन के निजी मकान “प्रतीक्षा” में ही हुआ, जो की मुंबई में जुहू के नजदीक स्थित है।ऐश्वर्या राय ने 16 नवम्बर 2011 को एक बेटी को जन्म दिया, उस समय उनकी बेटी “बेटी बी” के नाम से काफी प्रसिद्ध हुई उसका नाम आराध्या बच्चन रखा गया। भारतीय मीडिया में उनकी जोड़ी को “सुपर कपल” भी कहा जाता है। ऐश्वर्या राय को अपने परिवार से काफी लगाव था इसीलिए ऐश्वर्या राय अपने विवाह तक मुंबई के बांद्रा में अपने परिवार के साथ ही रहती थी।ऐश्वर्या राय एक हिंदु है और धार्मिक परम्पराओ को बहोत मानती है। इसके बाद काफी अवार्ड सेरेमनी में वे दोनों एक साथ जाने लगे, जिसमे विवाह के बाद सबसे पहले वे एक साथ कैनंस फिल्म फेस्टिवल में गये और बाद में 2009 को वे ओप्राह विनफ्रे शो में भी सम्मिलित हुए, विदेशो में भी उन्होंने सभी को अपनी ओर आकर्षित किया। विदेशो में उनके जोड़ी की तुलना ब्रान्जेलीना से की जाती है।

ऐश्वर्या और अभिषेक का प्यार:-

जब 2007 में Aishwarya Rai धूम-2 में काम कर रही थी, तभी उनको छोटे बिग बी अभिषेक बच्चन से प्यार हो गया और जल्दी ही दोनों 20 अप्रैल 2007 को विवाह के पवित्र बंधन में बंध गए।

एक बहू की बॉलीवुड वापसी:-

शादी के बाद जोधा-अकबर, रावण, गुजारिश, उमराओ जान उनकी बड़ी फिल्में रही, जो ब्लॉकबास्टर साबित हुई।2011 में उन्हें हीरोइन फिल्म के लीड रोल के लिए कास्ट कर लिया गया था। पर तब तक वो प्रेग्नेंट हो चुकी थी। जिसकारण उन्हें बॉलीवुड से पाँच सालों के लिए लंबा ब्रेक लेना पड़ा। इसके बाद इस फिल्म में करीना कपूर को कास्ट कर लिया गया।

एक माँ की बॉलीवुड वापसी:-

एक उम्दा मेटरनिटी की भूमिका निभाने के बाद Aishwarya Rai 2015 में एक्शन फिल्म जज्बा से बॉलीवुड में शानदार वापसी की।अपनी एक्टिंग की कारबा आगे बढ़ते हुए 2016 में सरबजीत फिल्म की, जिसमें उनकी परफ़ोमेंस औसत रही।इसी साल रणबीर कपूर और अनुष्का शर्मा अभिनीत ए दिल है मुश्किल की, जिसमें उन्होंने सारी बन्दिशों को तोड़ते हुए अपनी रोल को निभाई। जहां प्यार चाहिए था, वहाँ पूर्ण प्यार की। जहां रोमांस चाहिए था, वहाँ भरपूर रोमांस की। वह पहली बार अपने से आधे उम्र के एक्टर के साथ इतनी रोमांस करती हुई नजर आई। जिसकी चर्चा दर्शकों में खूब रही।

ऐश्वर्या राय की प्रसिद्ध फिल्मे :-

1) जीन्स (1998)
2) हम दिल दे चुके सनम (1999)
3) ताल (1999)
4) कन्दुकोंदैन कन्दुकोंदैन (2000)
5) मोहब्बते (2000)
6) हमारा दिल आपके पास है (2001)
7) देवदास (2002)
8) रेनकोट (2004)
9) ब्राइड एंड प्रेज्यूडिस (2004)
10) धुम 2 (2006)
11) गुरु (2007)
12) जोधा अकबर (2008)
13) इंथिरण (2010)
14) गुजारिश (2010)
15) जज्बा (2015)

ऐश्वर्या राय के अवार्ड्स :-

राय का दस से भी ज्यादा बार फिल्मफेयर के लिये नामनिर्देशन हो चूका है और उन्हें हम दिल दे चुके सनम (1999) और देवदास (2002) के लिये 2 बेस्ट एक्ट्रेस ट्रोफी प्राप्त हुई।2009 में कला के क्षेत्र में उनके अतुल्य योगदान के लिये भारत सरकार ने उन्हें भारत के चौथे सबसे बड़े सम्मान पद्म श्री से नवाजा। 2012 में उन्हें फ्रांस का दूसरा सबसे बड़ा सम्मान Ordre Des Arts Et Des Letters का सम्मान दिया गया।

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!