Biography

Jaya Bachchan Biography Hindi – जया बच्चन की जीवनी

Jaya Bachchan Biography Hindi – जया बच्चन की जीवनी

image

Jaya Bachchan Biography Hindi

आज हम बात करने जा  रहे है जया भादुरी बच्चन की जिन्होंने कई हिट फिल्मे की | जया भादुरी बच्चन एक भारतीय फिल्म अभिनेत्री और राजनीतिज्ञ हैं उन्हें अपने समय की सबसे बेहतरीन हिंदी फिल्म अभिनेत्री के रूप में मान्यता मिली, विशेष रूप से मुख्यधारा और ‘मध्य-द-रोड’ सिनेमा दोनों में अभिनय की एक प्राकृतिक शैली को मजबूत करने के लिए जानी जाती हैं। अपने करियर के दौरान, उन्होंने आठ फिल्मफेयर पुरस्कार जीते। सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए तीन और सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के लिए तीन, जिसमें नूतन के साथ-साथ महिला अभिनय श्रेणियों में सबसे अधिक सम्मानित कलाकार थी। उन्हें 2007 में फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। 1 99 2 में उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।जया बच्चन का जन्म 9 अप्रैल 1948 को जबलपुर, मध्य प्रदेश में हुआ था। उनके पिता का नाम तरुण भादुरी जो की एक प्रसिद्ध  पत्रकार थे । तरुण कुमार का वास्तविक नाम सुधांशु भूषण था। जया बच्चन की माता का नाम इंदिरा गोस्वामी है। जया की दो छोटी बहनों के नाम नीता और रीता हैं । जया बच्चन ने बॉलीवुड के मशहूर मेगास्टार अभिताभ बच्चन के साथ शादी की है और वह श्वेता नंदा और बॉलीवुड अभिनेता अभिषेक बच्चन की माँ हैं। श्वेता की शादी दिल्ली में कपूर परिवार के उद्योगपति पोते निखिल नंदा से हुई है और उनके दो बच्चे, नव्या नवेली और अगस्त्य नंदा हैं। जबकि अभिषेक बच्चन की शादी अभिनेत्री ऐश्वर्या राय से हुई है और उनकी एक बेटी आराध्या बच्चन है।आज बच्चन परिवार दुनिया का सबसे अधिक ग्लैमरस, प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित परिवार है। एक ही परिवार में चार मशहूर सैलिब्रिटी होने की वजह से बच्चन परिवार अपने आप में एक ब्रांड बन चुका है। सुपरस्टार्स से भरे इस परिवार में जया का अपना एक अलग ही स्थान है।जया बचपन की शुरुआती शिक्षा भोपाल के ‘सेंट जोसेफ कॉन्वेंट’ में हुई थीं। वे खेलकूद में भी भाग लेती थीं और 1966 में उन्हें प्रधानमंत्री के हाथों एन.सी.सी. की बेस्ट कैडेट होने का तमगा मिला था। उन्होंने छः साल तक भरतनाट्यम का प्रशिक्षण भी लिया था। वे दिलीप कुमार की प्रशंसक हैं। हायर सेकंडरी पास करने के बाद जया ने पुणे के ‘फ़िल्म इंस्टीट्यूट’ में प्रवेश लिया था|

जया का पूरा नाम (Full name) जया भादुड़ी बच्चन
जन्म सम्बंधित जानकारी (Birth related information) 9 अप्रैल 1948जबलपुर, मध्य प्रदेश
पेशा (Occupation) भारतीय फिल्म अभिनेत्री, राजनीतिज्ञ
राजनीतिक दल (Political party) समाजवादी पार्टी (एस.पी.)
                                                     पारिवारिक जानकारी (Family Infomation)
माता का नाम (Mother’s name) इंदिरा भादुड़ी
पिता का नाम (Father’s name) तरुण कुमार भादुड़ी (लेखक)
पति का नाम (Husband’s name) अमिताभ बच्चन (बिग बी)
भाई-बहन (brothers and sisters) रीता वर्मा (एकलौती बहन)
बच्चों के नाम (Children name) श्वेता बच्चन-नंदा एवं अभिषेक बच्चन (अभिनेता)
बहु का नाम (child’s wife) ऐश्वर्या राय बच्चन
                                                     शारीरिक जानकारी 
ऊंचाई (Height) 5 फुट 2 इंच
शारीरिक माप (Body measurement) 35-34-37
वजन किलोग्राम में (Weight in KG) 60
बाल और आँखों का रंग (Hair and eyes color) काला

करियर

जया बच्चन ने वर्ष 1963 में सत्यजीत रे की बंगाली फिल्म ‘महानगर’ के साथ अपना फिल्मी करियर की शुरूआत की थी। उस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था, लेकिन जया बच्चन ने अपने अभिनय की कुशलता को सभी के सामने साबित कर दिया था। बॉलीवुड में जया बच्चन की पहली फिल्म ऋषिकेश मुखर्जी द्वारा निर्देशित ‘गुड्डी’ थी। इसके बाद जया बच्चन ने अन्य फिल्मों जैसे, उपहार, जवानी दीवानी, अनामिका और बावर्ची जैसी फिल्मों में अभिनय किया। जया बच्चन ने वर्ष 1973 में फिल्म जंजीर, वर्ष 1973 में अभिमान, वर्ष1975 में चुपके चुपके और वर्ष 1975 में शोले जैसी हिट फिल्मों में अपने पति के साथ काम किया है। जया बच्चन ने अपनी शादी के बाद फिल्मों से ब्रेक ले लिया था।18 साल बाद जब जया बच्चन ने फिल्म हजार चौरासी की माँ (वर्ष 1998) के साथ फिल्मी जगत में वापसी की है, तब से जया ने फिल्मों में सिर्फ माँ की भूमिका निभाई है। वर्ष 2000 में जया बच्चन ने फिल्म फिजा में करिश्मा कपूर और रितिक रोशन के साथ अभिनय किया और उन्हें उनकी प्रशंसनीय भूमिका के लिए फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का पुरस्कार प्रदान किया गया था। जया बच्चन ने फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म कभी खुशी कभी गम (वर्ष 2001), कोई मेरे दिल से पूछे और कल हो ना हो (वर्ष 2003) जैसी फिल्मों में अभिनय किया है।2004 में जया बच्चन को राज्य सभा के सदस्य के रूप में चुना गया था। लेकिन मार्च 2006 में जया बच्चन को यह पद छोडना पड़ा था, क्योंकि भारत के राष्ट्रपति ने निर्देश दिया था कि राज्यसभा सदस्य के रूप में उनका दर्जा उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष के रूप में उनकी वर्तमान स्थिति के विरोधाभाषी है।

जया बच्चन की शादी:-

3 जून सन् 1973 को इन्होंने भारत के महान अभिनेता अमिताभ बच्चन से शादी की थी, इस जोड़े के दो बच्चे भी हैं श्वेता बच्चन नंदा और अभिषेक बच्चन जया के बेटे अभिषेक बच्चन भी एक बॉलीवुड फिल्मों में काम करने वाले कलाकार हैं. जया और अमिताभ की लड़की श्वेता ने दिल्ली में कपूर परिवार के व्यापारी निखिल नंदा से विवाह किया था. जिसके फलस्वरूप श्वेता एवं निखिल को दो संताने भी हैं. इन दोनों बच्चों के नाम नव्या नवेली एवं अगस्त्य नंदा है. वहीं जया बच्चन के लड़के अभिषेक बच्चन का ऐश्वर्या राय बच्चन से विवाह संपन्न हुआ था और विवाह के कुछ समय बाद अभिषेक एवं ऐश्वर्या के घर में एक पुत्री ने जन्म लिया था, जिसका नाम आराध्या बच्चन रखा गया है.

जया बच्चन का पॉलिटिक्स में करियर:-

  • जया बच्चन द्वारा काफी साल अभिनय के क्षेत्र में बिताने के बाद इनको राजनीति में भी शामिल होते हुए देखा गया था. इन्होंने लोगों की मदद करने के लिए सबसे पहले उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ने का विचार बनाया, पहली बार के चुनाव में ही जया बच्चन को भारी मतों से जीत मिली. इनको सन् 2004 में समाजवादी पार्टी को राज्य सभा में रिप्रेजेंट करने का कारोबार सौंपा गया था.
  • सन् 2004 से लेकर मार्च 2006 तक जया बच्चन ने काफी अच्छा कार्य किया, जिसकी बदौलत जया बच्चन को समाजवादी पार्टी द्वारा फिर से जून 2006 में दूसरी बार जुलाई 2010 तक के राज्य सभा भेजा गया था.
  • जया बच्चन फिर से तीसरी अवधि के लिए सन् 2012 में फिर से निर्वाचित हुईं थीं और अगले 6 वर्षों तक यानी 2018 तक समाजवादी पार्टी को राज्य सभा में रिप्रेजेंट कर रहीं थीं.
  • साल 2018 में जया बच्चन को फिर से राज्य सभा का सदस्य चुना गया, इनकी लगनशीलता को देखते हुए प्रदेश की जनता एवं इनकी पार्टी दोनों ने ही जया पर खूब भरोसा जताया है.

जया ने अमिताभ बच्चन के साथ की फिल्मों के नाम

1972 से 1981 तक जया ने अमिताभ बच्चन के साथ कुल आठ फ़िल्में की हैं। ये हैं-

  • बंसी-बिरजू
  • एक नजर
  • जंजीर
  • अभिमान
  • चुपके-चुपके
  • मिली
  • शोले
  • सिलसिला।
  • ‘कभी खुशी-कभी गम’

प्रसिद्ध  फिल्म – सन  फिल्म:-

  • (1963) महानगर
  • (1971) गुड्डी कुसुम
  • (1971) उपहार
  • (1971) धन्नी मेयी
  • (1972) जवानी दिवानी
  • (1972) बावर्ची
  • (1972) परिचय
  • (1972) समाधि
  • (1972) बंसी बिरजू
  • (1972) पिया का घर
  • (1972) अन्नदाता
  • (1972) एक नज़र
  • (1972) कोशिश
  • (1972) शोर
  • (1972) जय जवान जय मकान
  • (1973) गाय और गोरी
  • (1973 फ़ागुन
  • (1973) जंजीर
  • (1973) अभिमान
  • (1974) आहट
  • (1974 दिल दीवाना
  • (1974)) कोरा कागज़
  • (1974) नया दिन नई रात
  • (1973) दूसरी सीता
  • (1975) मिली
  • (1975) चुपके चुपके
  • (1975) शोले राधा
  • (1977) अभी तो जी लें
  • (1978) एक बाप छ: बेटे
  • (1979 ) नौकर
  • (1981) सिलसिला
  • (1998) हज़ार चौरासी की माँ
  • (2000) फ़िज़ा
  • (2001) कभी खुशी कभी ग़म
  • (2002) कोई मेरे दिल से पूछे
  • (2003) कल हो ना हो
  • (2007) लागा चुनरी में दाग़
  • (2008) द्रोणा

अवार्ड

  • फिल्म कोरा कागज (वर्ष 1975) के लिए फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस अवार्ड से सम्मानित।
  • फिल्म नौकर (वर्ष 1980) के लिए फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस अवार्ड से सम्मानित।
  • फिल्म फिजा (वर्ष 2001) के लिए फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस अवार्ड से सम्मानित।
  •  फिल्म कभी खुशी कभी गम (वर्ष 2002) के लिए फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस अवार्ड से सम्मानित।
  • फिल्म कल हो ना हो (वर्ष 2004) के लिए लिए फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस अवार्ड से सम्मानित।
  • वर्ष 2007 में फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित।
  • यश भारती सम्मान (उत्तर प्रदेश सरकार से महानतम पुरस्कार) से सम्मानित।
  • जया बच्चन को 1992 में पदम श्री से सम्मानित किया गया।

जया बच्चन से जुड़े विवाद:-

जया बच्चन हिंदी भाषा प्रेमी है एवं भारत की मातृभाषा हिंदी को हमेशा सपोर्ट करती रहती हैं. साल 2008 में फिल्म ‘द्रोणा’ के म्यूजिक लांच पर जया के द्वारा दिए गए भाषण पर महाराष्ट्र के लोगों ने इनकी आलोचना की थी. जब महाराष्ट्र में संगीत लांच पर जया बच्चन को बोलने को कहा गया, तो इन्होंने अपनी स्पीच की शुरुआत में कहा कि “हम यूपी वाले मातृभाषा प्रेमी हैं. हम हिंदी में ही बात करना पसंद करते हैं, महाराष्ट्र वाले कृपया हमे माफ करें”. जिसके चलते महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों के नेताओं ने जया बच्चन की खूब आलोचना की. शिव सेना के एमपी संजय राउत ने ऐलान किया था कि जया बच्चन अगर अपने कहे गए शब्दों के लिए माफी नहीं मागेंगी, तो वो फिल्म रिलीज रोक लगा देंगे.

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!