8th english

8th class english solution | ENDING THE EVIL

ENDING THE EVIL

8th class english solution

class – 8

subject – english

lesson 1 –  ENDING THE EVIL

ENDING THE EVIL
( दुष्ट का नाश करना )
HINDI TRANSLATION OF THE CHAPTER

SabDekho.in

For Patnaites , the ……. cultural nuances . 

Word meaning : Evil ( adj ) [ एविल ] = दुष्ट | Patnaites ( adj ) [ पटनाइट्स = पटना वाले ( लोग ) | Avail ( 1 ) [ अवैल ] = प्राप्त करना । Symbol ( m ) [ सिम्बल ] = प्रतीक । Act [ एक्ट ] = नाटक का अंक । Dahan ( v ) [ दहन ] = जलाना | Identify ( v ) [ आइडेन्टिफाई ) = पहचानना । Triumph ( v ) [ ट्रिअम्फ ] = जीत हासिल करना | Eternal ( adj ) [ इटरनल ] = नित्य होने वाला , सनातन | Trace ( 7 ) [ स ] = पता लगाना । Historical ( adj ) [ हिस्टॉरिकल ] = ऐतिहासिक । Nuance ( n ) [ नूआन्स ) = भाव तथा अर्थ इत्यादि में का सूक्ष्म अन्तर ।

अर्थ – पटना के लोगों के लिए दशहरा के मौके पर गाँधी मैदान में होने वाला ‘ रावण दहन ” एक अच्छा मौका होता है । यह मौका ‘ रावण दहन ‘ के नाटक के प्रतीकात्मक अंक के बहाने बुरे पर अच्छे की जीत को देखने का होता है जिसे देखने के लिए पटना के प्रसिद्ध गांधी मैदान में अच्छी – खासी भीड़ उमड़ पड़ती है । यह एक सनातन युद्ध है जो रावण और राम के बीच हुआ था , उसको इस नाट्यांक के बहाने आज भी लोग याद करते हैं । हिन्दुस्तान टाइम्स पत्रकार – व्यूरो चीफ , अरूण कुमार ने इस लेख को लिखा है । उनका यह लेख दशहरा के मौके पर होने वाले ऐतिहासिक और सांस्कृतिक पहलुओं के बीच फर्क को प्रकट करता है ।

There huge effigies …………………… Mythology suggests . 

Word meaning : Etkigies ( m ) [ एफिजिज ] = पुतले । Sprawling ( adj ) [ स्पॉउलिंग ] बेढब या बेढंगे रूप से फैला हुआ । Anxiously ( adv ) [ एशसली ] = बेचैनी से | Arrival ( n ) [ अराइवल ] = आगमन | Epik ( n ) [ एपिक = महाकाव्य | Evident ( adj ) [ एविडेन्ट ] % 3D स्पष्ट , प्रकट । Mythology ( n ) [ माइथोलॉजी ] = पौराणिक कथा ।

अर्थ – रावण , कुम्भकरण और मेघनाद के बड़े – बड़े पुतले भीड़ से भरे पटना के गांधी मैदान में बीचो – बीच खड़े किये जाते हैं और एक बड़ी भीड़ बड़ी बेचैनी से भगवान राम के आने की प्रतीक्षा में बेचैन दिख पड़ती है । गाँधी मैदान के बीच में एक मंच खड़ा किया गया था जहाँ ‘ अच्छाई और बुराई ‘ के मध्य होने वाला सनातन युद्ध का नाटक दिखाये जाने वाला था जो आज भी स्पष्ट रूप से वर्तमान की ही घटना लगती है ।

The occasion was …………………….. a spiritual atmosphere .

Word meaning : Occasion ( n ) [ ओकेजन ] = अवसर | Overpowering ( adj ) [ ओवरपावरिंग ] = अत्यधिक । Equally ( adv ) ( इक्वली ] = समान रूप से | Event ( n ) [ इवेन्ट ] = घटना | Distinct ( adj ) [ डिस्टिंक्ट ] = विशेष | Rendering ( v ) [ रैन्डरिंग ] = प्रदान करना । Marathon ( adj ) [ मैराथन ] = लम्बा । Recite ( v ) [ रिसाइट ] = कविता – पाठ करना ।

अर्थ -यह अवसर सत्य रूप में अत्यधिक प्रभावशाली था और जो मंच का साज – सज्जा या सेटिंग जो किया गया था वह बिल्कुल ही मौके के अनुरूप था । सत्य है कि यह एक प्रतीक के जैसा अवसर था , पर जो उत्साह था लोगों का सच्चा था । राम – रावण के युद्ध के शुरू होने के पहले अयोध्या से आये हुए पण्डितों द्वारा पढ़े जाने वाले संस्कृत के श्लोक और उनके मध्य होने वाली वार्ता माहौल को धार्मिकता और आध्यात्मिकता का वातावरण प्रदान कर रहे थे । पण्डितों के बीच लगातार चलने वाले श्लोक – पाठ से माहौल को आध्यात्मिकता की आभा मिल रही थी जो कि अंतिम युद्ध के पूर्व तक जारी रहने वाला था ।

Suddenly , the slogans ……. was to capacity . 

Word meaning : Slogan ( n ) ( स्लोगन ] = नारा | Procession ( n ) ( प्रोसेएशन ] = जुलूस । Mega ( adj ) [ भेगा ] = बड़ा । Patiently ( adv ) ( पेशेन्टली ] = धैर्यपूर्वक | Moment ( n ) [ मोमेन्ट ] = क्षण । Humanity ( n ) [ [ मिनिटी ] = मानवता । Capacity ( m ) [ कैपेसिटी ] = सामर्थ्य ।

अर्थ -उस बड़े अवसर का स्वागत – अभिनन्दन करने के उपलक्ष्य से अचानक ही आ रहे एक रंगारंग जुलूस के लोग नारे लगाने लगे । वह जुलूस भगवान राम को साथ ला रहा था और लोग जोरों से नारे लगा रहे थे – ‘ जय श्री राम ‘ और ‘ भगवान रामचन्द्र की जय ‘ । यही तो था वह अवसर जिसकी प्रतीक्षा कर रही थी वह भौड़ , जिसके लिए लोग दूर से आए थे । गाँधी मैदान में उसकी क्षमता से ज्यादा लोग जमा हो गये थे — मैदान के अंदर लोग थे और मैदान के बाहर भी लोग थे ।

People had poured …….. Gandhi Maidan .

Word meaning : Pour ( v ) [ पोर ] = गिरना । Drawn ( v ) [ डॉन ] = रखींचा जाना । Divine call ( phr ) [ डिवाइन कॉल ] = दैवीय पुकार / आवाज | Joined in ( phr ) [ ज्वाइन्ड इन ] = साथ आकर जुड़ गये , मिल गये । Chariot ( n ) [ चैरिअट ] = रथ । Pass through ( phr ) [ पास थ ] = किसी तरफ से गुजरना ।

अर्थ – लोग उस भीड़ भरे गाँधी मैदान में और भी भीड़ लगाकर आते जा रहे थे मानो कोई दैवी शक्ति उन्हें बुला रही हो इसके लिए उन्हें आवाज दे रही हो कि आओ , आते जाओ । जुलूस ‘ ढोलताश ‘ बजाता , बाजे – गाजे के साथ गाँधी मैदान की भीड़ में शामिल हो गया । पटना के कदमकुँआ मुहल्ले के नागा बाबा ठाकुरबाड़ी से वह जुलूस शुरू हुआ था जो भगवान राम को साथ लेकर गाँधी मैदान आया था । उस जुलूस के साथ लाल झंडे , बैन्ड पार्टी , घोड़े और रथ भी थे जो बारी पथ और अशोक राजपथ और अन्य सड़कों से गुजरते हुए गाँधी मैदान पहुंचा था ।

Following the procession ………the devotees ‘ . 

Word meaning : Follow ( v ) [ फॉलो ] = साथ चलना । Procession ( n ) [ प्रोसेशन ] = जुलूस । Frolicking ( v ) [ फ्रॉलिकिंग ] = खेलना , क्रीड़ा करना । Image ( n ) [ इमेज ) = आकार । Conjure ( v ) [ कन्ज्योर ] = निष्ठापूर्वक अनुरोध करना । Presence ( n ) [ प्रेजेन्स ] = उपस्थिति । Lobe ( v ) [ लोब ) = उछालना | Devotees ( n ) [ डिवोटीज ] = भक्त ।

अर्थ – जुलूस के साथ ही आई वानरी सेना जिसका नेतृत्व हनुमान कर रहे थे । जो व्यक्ति हनुमान बना था उसका व्यक्तित्व इसके अनुकूल था । राम के इस विश्वासी अधिकारी की उपस्थिति शीघ्र ही लोगों द्वारा महसूस कर ली गयी । एक क्षण में वह अपना ‘ गदा ‘ हवा में उछाले और दूसरे क्षण में भक्तों की ओर सेब उछाले ।

Right behind lord ……. any point of time .

Word meaning : Couple ( n ) [ कपल = जोड़ा । Lap ( v ) [ लैप ] = घेरना । Venue ( n ) [ वेन्यू ] = समारोह का स्थान । Excitement ( n ) ( एक्साइटमेन्ट ] = उत्तेजना | Expansive ( adj ) [ एक्सपेन्सिव ] = विस्तार वाला । Spill over ( phr ) ( स्पिल ओवर ] = भीड़ का एक दूसरे पर गिर पड़ना । Point of time ( phr ) [ प्वॉइन्ट ऑफ टाइम ) = एक खास समय ।

अर्थ– भगवान हनुमान के रथ के पीछे ही दो और रथ थे — एक पर सुग्रीव और विभीषण और दूसरे रथ पर राम और लक्ष्मण थे रथ उनको लेकर आगे बढ़ रहा था । पहले तो भीड़ को वे रथ ठीक से दिखे नहीं और जब दिखें ठीक से तो खुशी के मारे भीड़ चीखने – शोर करने लगी । एकबारगी तो भीड़ के उस अथाह रेले के समक्ष गाँधी मैदान भी छोटा दिखने लगा । भीड़ मैदान के अंदर थी , बाहर थी , चारों ओर थी तो भी भीड़ के आने का सिलसिला थम नहीं रहा था ।

In their traditional ………… perform the ‘ arti ‘ .

Word meaning : Traditional ( adj ) [ ट्रैडिशनल ] = पारम्परिक , परम्परा के अनुसार से । Costume ( n ) [ कॉस्ट्यूम ] = पोशाक , पहनावा । Perform ( v ) [ परफॉर्म ] = कार्य को करना । Overwhelming ( adj ) [ ओवरवेलमिंग ] = अति प्रबल ।

अर्थ – राम और लक्ष्मण अपने पारम्परिक पोशाक में थे , तीर – धनुष के साथ । नाटक का अन्तिम भाग पूरा करने के लिए वे मंच तक आ रहे थे तो प्रबल भीड़ ने खूब जोश में उनका स्वागत किया । पंडितों ने मंच की आरती की , तिलक लगाया , उनके विजय प्राप्त कर लौटने की खुशी में । आगे की कतार में बैठे कुछ मंत्रियों ने भी खड़ा होकर हो रहे ‘ आरती ‘ में प्रणाम आदि कर भाग लिया ।

Now it was left …….. time less reality . 

Word meaning : Signal ( n ) ( सिग्नल ] = इशारा , संकेत । Royal ( adj ) [ रॉयल ] = राजकीय । Release ( v ) [ रीलिज ] = छोड़ना । aesthetically ( adv ) [ एस्थेटिकली ] = सुन्दरता से । Flames ( n ) [ फ्लेम्स ] = लपटें | Adrenalin ( n ) [ एडिनेलिन ] = उत्तेजना | Firework ( n ) [ फायरवर्क ] = पटाखें छोड़ना या फोड़ना । Reiteration ( n ) [ रेइट्रेशन ] = दुहराना । Time less ( adj ) [ टाइमलेस ] = कुसमय का | Reality ( n ) [ रिअलिटी ] = सच्चाई ।

अर्थ -अब मुख्यमंत्री को उस ‘ राजकीय युद्ध ‘ को शुरू करने का इशारा देना था । उस ‘ लड़ाई ‘ को शुरू करने का संकेत देने के लिए उन्होंने हवा में गुब्बारे छोड़ दिये और उसके ठीक बाद ही ‘ वानरी सेना ‘ जिसका नेतृत्व हनुमान कर रहे थे , के द्वारा खूब सुन्दर से सजाया गया लंका आग में जलने लगा । पूरी ‘ रावण नगरी ‘ आग की लपटों में धू – धूकर जल उठी थी । इस बीच हनुमान की सेना आनन्द मना रही थी । भीड़ में भी खुशी की उत्तेजना भरी लहर दौड़ने लगी जिनके लिए यह सब महज पटाखों का छोड़ा जाना या नाटक भर नहीं था बल्कि एक अटूट सच्चाई थी , जिसे वे सदियों से मनाते आ रहे थे ।

After the ‘ Swarn Nagri ‘ ……….. effigy down .

Word meaning : Reduced to ashes ( phr ) [ रिड्यूस्ड टू एशेज ] = राख में तब्दील ( बदलना ) हो जाना | Ash ( n ) [ एश ] = राख । Divine ( adj ) [ डिवाइन ] = पवित्र | Stuffed ( adj ) [ स्टफ्ड ] = भरा हुआ । Explosives ( n ) [ एक्सप्लोजिव्स ] = विस्फोटक पदार्थ , पटाखे । Ear – splitting ( adj ) [ ईअर – स्पिलिटिंग ] = कान को बहरा कर देने वाला I Needless ( adj ) [ नीडलेस ] = निष्प्रयोजन , निरर्थक , बेकार | Fate ( n ) [ फेट ] = भाग्य । Befell ( v ) [ बीफेल ] = आ बीतना । Defeaning ( adj ) [ डीफनिंग ] = बहरा कर देने वाला ।

अर्थ – ‘ स्वर्ण नगरी ‘ जलकर राख हो गयी और अब बारी थी कुम्भकरण की , राम के हाथों मारे जाने की । भगवान राम द्वारा कुछ तोर छोडें गये और कुम्भकरण का पुतला जलने लगा । लगभग 60 फीट लम्बा वह पुतला पटाखों से भरा था । पुतले के जलते हुए उसमें का पटाखा सब भी जलने लगा , जिससे कि कान को बहरा कर देने वाला शोर गूंजने लगा , तब तक जब तक कि वह पुतला राख में तब्दील न हो गया । कहने की बात नहीं है कि मेघनाद का भी वही हालत हुआ था । एक और दौर बीता , कानों को बहरा कर देने का , पटाखों का फिर वही शोर और मेघनाद का पुतला भी उसी हश्र को प्राप्त हो गया ।

With only Ravan … ka Naash Ho ” .

Word meaning : Giant ( n ) [ जाएन्ट ] = दानव , राक्षस । Grip ( n ) [ ग्रिप ] = पकड़ । Gripped ( v ) [ ग्रिप्ड ] = पकड़ लिया , दबोच लिया । Assault ( n ) ( एसॉल्ट ] = धावा , चढ़ाई । Reverbrerated ( v ) [ रिवरेटेड ] = गूंज उठा । Trice ( n ) [ ट्राइस ] = क्षण | In a trice ( phr ) [ इन अ ट्राइस ] = क्षण भर में ही | Colossal ( adj ) [ कोलोसल ] = बहुत बड़ा , दीर्घकाय । Engulf ( v ) [ एनगल्फ ] = निकलना । Blaze ( n ) [ ब्लेज ] = आग की लपटें । Display ( v ) [ डिस्प्ले ] = प्रदर्शन करना , दिखाना , प्रकट करना । Chanting ( v ) [ चैन्टिंग ] = मंत्रोच्चारण करना । Amidst ( adv ) [ अमिडस्ट ] = के बीच में ।

अर्थ -अब जबकि सिर्फ रावण का पुतला बचा हुआ था , भीड़ में उत्तेजना दौड़ने लगी । खुशी की । अँधेरा होने लगा था पर भीड़ एक इंच भी हिलने को तैयार नहीं थी । राम जब अपने आखिरी चढ़ाई या धावे के लिए तैयार थे , भीड़ ने एक बार फिर खुशी का शोर किया और नारा गूंज उठा – ‘ भगवान रामचन्द्र की जय । ‘
और फिर अगले ही क्षण में , रावण का पुतला भी आग की लपटों के बीच था और इसके साथ ही शुरू हुआ पटाखों का तीव्रतम शोर और लोगों की बुलंद आवाज गूंज उठी ‘ सत्य की जीत हो , असत्य का नाश हो । ‘

As the gathering ……. from there only . 

Word meaning : Gathering ( n ) [ गैदरिंग ] = भीड़ , जमावड़ा । Dispersing ( v ) [ डिस्पर्सिंग ] = भीड़ का छंटना या कम होना । Visible ( v ) [ विजिबल ] = दिख पड़ना । Escape ( v ) [ एस्केप ] = बचना । Commoners ( adj ) [ कॉनस ] = आम लोग । For – flung ( adv ) [ फार – फ्लंग ] = दूर पर स्थित । Feature ( n ) [ फीचर ] = रूप , आकृति । Associated ( v ) [ एसोसिएटेड ] = जुड़ा हुआ । Organisation ( n ) [ ऑरगेनाइजेशन ] = संगठन । Great ( adj ) [ ग्रेट ] = महान | Religious ( adj ) [ रिलिजिअस ] = धार्मिक । Event ( n ) [ इवेन्ट ] = अवसर , घटना । Taken out ( phr ) [ टेकेन आउट ] = लिया गया ।

अर्थ -भीड़ छंटने लगी थी और उस समय गाँधी मैदान का एक इंच भी हिस्सा दिखना संभव नहीं था । वी . वी . आई . पी . एस . लोग यानी बड़े लोग तो समय पर वहाँ से खिसक लिए पर आम लोगों को उस स्थल से निकलने में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ गया । उस भीड़ में कई लोग बहुत दूर के जिलों से आए थे । वे सिर्फ ‘ रावण दहन ‘ को देखने के लिए आए थे । जवान हों कि बूढ़े , अमीर हों या कि फिर गरीब , औरत हो या मर्द या फिर बच्चे , सारे के सारे लोग उस घटना को देखने के लिए आए थे जो पटना शहर का वार्षिक समारोह बन गया था । सन् 1984 से कदमकुआँ का नागा बाबा ठाकुरबाड़ी इस अवसर को हर साल बड़े धूम – धाम से मनाता आ रहा था और जुलूस हर साल अब भी , वहीं से निकलता है ।

The creator of the …… out something new . 

Word meaning : Creator ( n ) [ क्रिएटर ] = रचयिता , निर्माता | Massive ( adj ) [ मैसिव ] = ठोस , भारी , बहुत बड़ा । Effigies ( n ) [ एफिजिज ] = पुतले । Ignore ( v ) [ इग्नोर ] = ध्यान न देना । Symbol ( n ) [ सिम्बल ] = प्रतीक । Erect ( v ) [ इरेक्ट ] = खड़ा करना । Marvels ( n ) [ मार्वेल्स ] = चमत्कार । Recall ( v ) [ रिकॉल ] = याद या स्मरण करना । Decade ( n ) [ डिकेड ] = दशक , दस वर्ष का समय । Job ( n ) [ जॉब ] = कार्य ।

अर्थ — इस दिन के लिए जो कलाकार रावण , कुम्भकरण और मेघनाद के विशाल पुतलों का निर्माण करते हैं , हम उन्हें भी भूल नहीं सकते हैं । हिन्दू – मुस्लिम एकता का प्रतीक , जमालुद्दीन और उसका बेटा पन्नीलाल ने लगभग एक महीने का समय लगाया था , गाँधी मैदान में उन पुतलों को बनाकर खड़ा करने के लिए । जल जाने के पूर्व वे पुतले किसी कलात्मक अभिव्यक्ति की तरह लग रहे थे जो आश्चर्यजनक रूप से भले लग रहे थे । जहाँ क रावण का पुतला बैंगनी रंग का था , वहीं बाकी दो पुतलों का रंग हरा और लाल था । जमालुद्दीन याद करके बताता है कि वह यह काम पिछले चार दशकों से यानी चालीस साल से करता आ रहा है । प्रत्येक बार वह अपने बनाये गये पुतलों में कुछ न कुछ नया करना चाहता है और कर भी पाता है ।

Summary :
In Gandhi Maidan , in Patna , three huge effigies of Ravan , Kumbhkaran and Meghnad are erected to be burnt by Lord Ram . The creator of these effigies are Jamaluddin and his son Panni Lal . Jamaluddin has been doing this work for four decades . This is a symbol of Hindu – Muslim unity . On the occasion of Vijayadashmi , a great gathering comes in Gandhi Maidan . On a stage , Lord Ram has to come to shoot arrows to burn the three effigies . A colourful procession starts from Naga Baba Thakurbadi in Kadam Kuan ( Patna ) . The procession goes to Gandhi Maidan carrying on chariots Lord Ram , Lakshaman and Hanuman with his Vanari Sena .
Lord Ram shoots arrows and the three effigies are burnt into flames . The explosives put in them burst out producing defeaning sound . People of all class – V.V.IPS and the commoners enjoy the epic battle that conveys that good ness conquers over evil . The ceremony has become the annual feature of Patna .

सारांश —
गाँधी मैदान , पटना में प्रत्येक वर्ष रावण , कुम्भकरण और मेघनाद के तीन बड़े विशाल पुतले खड़े किये जाते हैं जिन्हें राम के द्वारा जलाया जाता है । इन पुतलों को बनाते हैं जमालुद्दीन और उसका पुत्र पन्नीलाल । जमालुद्दीन चार दशकों यानी चालीस साल से यह कार्य करता आ रहा है । यह हिन्दू – मुस्लिम एकता का प्रतीक है । विजयादशमी के मौके पर गाँधी मैदान में एक बड़ी भीड़ जमा होती है । एक मंच बना होता है जिस पर राम आते हैं और अपने तीर चलाकर तीनों पुतलों को जलाते हैं । नागा बाबा ठाकुरबाड़ी , कदमकुआँ , पटना से एक रंगारंग जुलूस निकलकर गाँधी मैदान जाता है । जुलूस में रथ पर सवार होते हैं राम , लक्ष्मण और अपनी वानरी सेना के साथ हनुमान । भगवान राम तीर चलाकर तीनों पुतलों को आग के हवाले करते हैं । उन पुतलों के अन्दर स्थित पटाखों के फूटने से कानफाडू शोर होता है । हर वर्ग के लोग इस मौके को देखने जमा होते हैं अमीर लोग और गरीब लोग , सभी प्रत्येक वर्ष इस ऐतिहासिक युद्ध को देखने आते हैं जो हमें संदेश देता है कि बुराई पर अच्छाई की जीत होती है । यह समारोह , पटना का वार्षिक उत्सव बन गया है ।

EXERCISE.

Let’s Do
1. Ask your teacher or your parents about another such custom in any religion as the burning of the effigies of Ravan , Kumbhakaran and Meghnad on Vijya Dashmi . Write all details about the custom in your own words .
Hints : Do yourself .




2 . Sketch the effigies of Ravana , Kumbhkaran and Meghnad . Hints : Do yourself .
3 . Draw a picture of Lord Ram .
Ans .do your self

Leave a Comment

error: Content is protected !!