Biography

कौन बनेगा करोड़पति में ५ करोड़ रुपये जीतने वाले सुशील कुमार

कौन बनेगा करोड़पति में ५ करोड़ रुपये जीतने वाले सुशील कुमार का बाद में क्या हुआ?

image

कौन बनेगा करोड़पति में ५ करोड़ रुपये जीतने वाले सुशील कुमार का बाद में क्या हुआ

all image google.co.in

बिहार के सुशील कुमार कौन बनेगा करोड़पति सीजन 11 के विनर थे और उन्होंने उसमे ५ करोड़ रूपए जीते।

पहले क्या करते थे सुशील कुमार

  • जब वे इस शो में हिस्सा लेने पहुंचे थे, तब मोतिहारी में बतौर कम्प्यूटर ऑपरेटर काम करते थे|
  • शो जीतने से ठीक पहले तक उनकी सैलरी मात्र छह हजार रुपए थी।

क्या हुआ जीतने के बाद

  • ‘केबीसी’ से मिले थे थे उन्हें ३ करोड़ ६० लाख रूपए
  • केबीसी जीतने के बाद उन्हें ग्रामीण विकास मंत्रालय का ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया था।
  • कंप्यूटर ऑपरेटर के रूप में काम करने वाले कुमार ने एक बार सरकारी अधिकारी बनने की ख्वाहिश की थी, लेकिन केबीसी की सफलता के बाद उन्होंने इस प्रयास को छोड़ दिया ।

कंगाल हो गए थे सुशील कुमार?

  • कुछ महीनों बाद मीडिया में खबरें आई थीं कि उनके रुपए खत्म हो गए हैं और उनके पास कोई जॉब नहीं है।
  • एक मजाक को बना दिया गया था खबर।
  • एक बार उन्हें एक जर्नलिस्ट का फोन आया और उसने पूँछा कि शो में जीते हुए पैसों का क्या हुआ ? सुशील ने मजाक में बोल दिया कि पैसे खत्म हो गए और उसके बाद मीडिया के लिए यह खबर बन गई।

जीते हुए पैसे का बाद में क्या हुआ ?

  • उन्होंने कर कटौती के बाद सिर्फ 3.6 करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि ली, एक ऐसा घर बनाया जहां विस्तारित परिवार के 18 सदस्य एक साथ रहते हैं। वह एक बेटी, 5 और एक बेटे का पिता है|
  • कुछ पैसे से अपने भाइयों के लिए बिजनेस शुरू करवाया। बाकी बचे पैसे उन्होंने बैंक में जमा करा दिए थे|

कैसे चलता है उनका घर खर्च?

  • जो रूपए उन्होंने बैंक में जमा कराये थे उसके ब्याज से उनके परिवार का खर्च चलता रहा और अब उनके पास करीब दो करोड़ रुपए हैं।
  • साथ में उन्होंने कुछ गाय भी ली और वो भी उनकी आमदनी का ज़रिया है।

समाज सेवा और पर्यावरण को बचाने के कार्यों में भी ज़ोर शोर से लगे हुए है सुशिल

  • कुमार अब समाज सेवा और पर्यावरण सक्रियता में हैं; वह आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के 100 बच्चों की शिक्षा का वित्त पोषण करता है।
  • साथ ही वह घर की गौरैया की रक्षा के लिए एक अभियान में शामिल है, जिसकी संख्या हाल के दिनों में बहुत कम हो गई है।
  • 70 हजार से ज्यादा पौधे लगाए

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!