Biography

Suresh Raina Biography in Hindi – सुरेश रैना का जीवन परिचय

Suresh Raina Biography in Hindi – सुरेश रैना का जीवन परिचय

Suresh Raina Biography in Hindi

भारतीय ​क्रिकेटर सुरेश रैना 27 नवंबर को अपना 33वां जन्मदिन मनायेगे । उनका जन्म 27 नवंबर 1986 को उत्तर प्रदेश राज्य के ग़ाज़ियाबाद जिले के मुरादनगर कस्बे में हुआ। रैना के पिता त्रिलोकचंद रैना भारतीय सेना में अधिकारी रह चुके हैं। उनका परिवार मूल रूप से जम्‍मू-कश्‍मीर के रैनावारी से आता है। जबकि उनकी मां परवेश रैना हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला की रहने वाली है। रैना अपने माता-पिता की पांच संतानों में सबसे छोटे हैं।उनके तीन बड़े भाई दिनेश, नरेश और मुकेश रैना और उनकी एक बड़ी बहन रेणु है। रैना बचपन से ही क्रिकेटर बनना चाहते थे और उन्होंने कठिन मेहनत के दम पर एक दिन ये सपना पूरा कर दिखाया। वे किक्रेट के तीनों फॉर्मेट में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं। ऐसे में सुरेश रैना के जन्मदिन के मौके पर जानते हैं उनके बारे में कुछ और ख़ास बातें..

सुरेश रैना का जीवन परिचय 

नाम – सुरेश रैना

उपनाम – सानू, सोनू

जन्म – 27 नवंबर 1986

जन्म स्थान – गाजियाबाद

राशि – धनु

पेशा – क्रिकेटर

पिता का नाम – त्रिलोकचंद रैना

माता का नाम – परवेश रैना

भाई – नरेश रैना, मुकेश रैना, दिनेश रैना

बहन  – रेनु रैना

पत्नी का नाम – प्रियंका चौधरी

बेटी का नाम – ग्रेसिया रैना

शौक – यात्रा करना, पानी के खेल खेलना , पैराग्लाइडिंग

कोच – दीपक शर्मा, एसपी कृष्णन

सुरेश रैना करियर:-

वर्ष 2000 में 14 साल की उम्र में, सुरेश रैना ने क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित करने का फैसला किया और सरकारी कॉलेज, गुरु गोबिंद सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में भाग लेने के लिए लखनऊ चले गए. जिसके बाद वर्ष 2002 में वह उत्तर प्रदेश अंडर -16 टीम के कप्तान बने और अपनी प्रतिभा से राष्ट्रीय चयनकर्ताओं का ध्यान आकर्षित किया. जिन्होंने 15 साल के लड़के को इंग्लैंड के लिए U-19 टीम में नामित किया.सुरेश रैना ने अंडर-19 टीम में अर्धशतक बनाए और 2002 के अंत में श्रीलंका के दौरे के लिए अंडर-17 टीम के लिए चुना गए. फरवरी 2003 में 16 साल की उम्र में उन्होंने अपनी रणजी ट्रॉफी में असम के खिलाफ शुरुआत की. जिसमे उन्होंने सिर्फ एक मैच खेला. वर्ष 2003 के अंत में U-19 विश्वकप के लिए एशियाई ओडीआई (ODI) चैम्पियनशिप के लिए तथा 2004 के U-19 टीम के लिए सुरेश रैना का चयन हुआ था. जिसमें इन्होने तीन अर्धशतक बनाएं थे और अच्छे प्रदर्शन के लिए गावस्कर छात्रवृत्ति के तहत एडीलेड में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट अकादमी में प्रशिक्षण का मौका मिला.जनवरी 2005 में, इन्होंने रणजी ट्रॉफी वनडे टूर्नामेंट में मध्यप्रदेश के खिलाफ अपनी सूची ए की शुरुआत की और 15 मैचों में 645 रनों के साथ देवधर ट्रॉफी में पहली बार 94 रन बनाये. इन्हें मार्च में धर्मशाला में पाकिस्तान के खिलाफ बोर्ड अध्यक्ष की टीम के लिए चुना गया था और अप्रैल में लंकाशायर लीग में एस्टली एंड टाइल्डस्ले क्रिकेट क्लब के लिए खेला गया था, जिसमें 12 मैचों में 865 रन बनाये थे.सुरेश रैना ने 29 जुलाई, 2005 को श्रीलंका के खिलाफ अपना वनडे पदार्पण किया.2006 के अंत में, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे श्रृंखला में खराब प्रदर्शन के बाद उन्हें टीम से हटा दिया गया था.वर्ष 2008 के आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स टीम ने सुरेश रैना को 4.5 करोड़ रूपए में ख़रीदा था.सुरेश रैना अपना टेस्ट पर्दापण वर्ष 2010 में श्रीलंका के विरुद्ध किया. अपने पहले ही टेस्ट मैच में इन्होने शतक जड़ा था.2011 में इंग्लैंड टेस्ट सीरीज़ से इन्हें टेस्ट फॉर्मेट में ख़राब फॉर्म के चलते टीम से हरता दिया गया था.विश्व कप 2011 के क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल में बेहतरीन प्रदर्शन किया था.आईपीएल में अपने लगातार अच्छे प्रदर्शन के साथ, उन्होंने 2014 तक प्रत्येक सीजन में 400 से अधिक रन बनाने और अगले तीन वर्षों में 374, 399 और 442 रन बनाने की उपलब्धि हासिल की है. वह आईपीएल में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं, और उनके नाम पर शतक भी है. जिसे उन्होंने 2013 में पंजाब के खिलाफ बनाया था.आईपीएल में अपने अच्छे प्रदर्शन के कारण 2014 में बांग्लादेश दौरे के लिए चयन किया गया. इस दौरे पर इन्होने भारतीय टीम के कप्तान की भूमिका भी निभाई थी.2015 विश्वकप में अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन अक्टूबर 2015 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खराब प्रदर्शन के बाद, उन्हें फिर से वनडे टीम से हटा दिया गया. चेन्नई सुपर किंग्स टीम निलंबन के बाद, उन्हें गुजरात लायंस टीम के कप्तान का नाम दिया गया

वनडे पदार्पण (ODI Debut) 30 जुलाई 2005 (श्रीलंका के खिलाफ)
टेस्ट पदार्पण (Test Debut) 26 जुलाई 2010 (इंग्लैंड के खिलाफ)
टी-20 पदार्पण (T-20 Debut) 1 दिसंबर 2006 (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ)
जर्सी नंबर (Jersey Number) #3

सुरेश रैना का निजी जीवन:-

3 अप्रैल 2015 को सुरेश रैना ने अपनी बचपन की दोस्त प्रियंका चौधरी से शादी की इनकी एक बेटी है जिसका नाम ग्रासिया रैना है  प्रियंका के पिता तेजपाल सिंह ऑर्डिनेंस फैक्टरी में नौकरी करते हैं। इससे पहले वो मुरादनगर में स्कूल टीचर भी रह चुके हैं। जबकि प्रियंका की मां हाउसवाइफ हैं ।

 सुरेश रैना कुछ  महत्वपूर्ण रोचक तथ्य:-

*. रैना का जन्म जम्मू और कश्मीर में अनंतनाग जिले के एक कश्मीरी पंडित के परिवार में हुआ।

*. उन्होंने अपना बचपन घर से दूर छात्रावास में बिताया।

*. उन्होंने 1999 में लखनऊ के स्पोर्ट्स कॉलेज में पेशेवर खिलाडी के रूप में क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया।    

*. वह उत्तर प्रदेश की अंडर -16 टीम के कप्तान भी रहे ।

*. वह अपने क्रिकेट के बल्ले को संग्रह करते हैं और अब तक उन्होंने 250 से ज्यादा बल्ले संग्रहण किया हैं जिसमे से एक उनके पिता ने 1998 में उन्हें उपहार स्वरूप दिया था।

*. उन्होंने अपना पहला रणजी मैच 16 साल की उम्र में खेला था।

*. 2005 में अपने पहले ही एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में वह श्रीलंका के खिलाफ खेलते हुए पहली ही गेंद पर आउट हो गए थे।

*. वेस्टइंडीज के खिलाफ ट्राई सीरिज 2013 में एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान, रैना और रविन्द्र जडेजा को दो मौके मिले सुनील नारायण की कैच लेने के लिए परंतु वह विफल रहे ।

सुरेश रैना विवाद:-

वर्ष 2012 में सुरेश रैना ने पाकिस्तान टीम को लेकर एक ट्वीट किया था. सुरेश रैना ने पाकिस्तान को श्रीलंका के साथ खेला गया सेमीफइनल में मिली हार के बाद बाहर होने के बाद अपने ट्वीट में लिखा कि ” एक दो दिन लेट गए घर !!! वह भी बेशरम की तरह गए…बाय बाय पाकिस्तान !!!!.” लेकिन बाद में उन्होंनें यह डिलीट कर दिया था. जिसके बाद उन्होंने सफाई दी थी कि उनके भतीजे ने गलती से उनके ट्वीटर से कर दिया था.

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धियाँ:-

• टी20 में शतक बनाने वाले तीसरे बल्लेबाज बने।
• खेल की तीनो श्रेणियों में शतकवीर बनने वाले पहले भारतीय।
• डेब्यू में ही टेस्ट शतक बनाने वाले 12 वे भारतीय।
• टी20 और एकदिवसीय दोनों वर्ल्ड कप में शतक मारने वाले पहले भारतीय।
• टी20 करियर में 6000 या उससे भी ज्यादा रन बनाने वाले पहले भारतीय खिलाडी।

डोमेस्टिक स्तर पर –

  • आईपीएल में 3000 रन बनाने वाले पहले खिलाडी।
  • आईपीएल में सर्वाधिक कैच पकड़ने का रिकॉर्ड, उन्होंने कुल 52 कैच पकडे है।
  • आईपीएल में 100 या उससे ज्यादा छक्के मारने वाले पहले भारतीय और विश्व के दुसरे बल्लेबाज।
  • 7 आईपीएल सीजन में 4000 या उससे भी ज्यादा रन बनाने वाले पहले और एकमात्र बल्लेबाज।
  • आईपीएल, CLT20 और टी20 तीनो में शतक ठोकने वाले पहले और एकमात्र भारतीय बल्लेबाज।
  • आईपीएल के इतिहास में अब तक का सर्वाधिक स्ट्राइक रेट का रिकॉर्ड उनके नाम है।
  • 4 अक्टूबर 2014 को वे CLT20 में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाडी बने।
  • अपनी टीम चेन्नई सुपर किंग्स के उन्होंने सभी मैच खेले है।
Batting Career Summary
M Inn NO Runs HS Avg BF SR 100 200 50 4s 6s
Test 18 31 2 768 120 26.48 1445 53.15 1 0 7 100 4
ODI 226 194 35 5615 116 35.31 6005 93.51 5 0 36 476 120
T20I 78 66 11 1604 101 29.16 1190 134.79 1 0 5 145 58
IPL 193 189 28 5368 100 33.34 3915 137.11 1 0 38 493 194
Bowling Career Summary
M Inn B Runs Wkts BBI BBM Econ Avg SR 5W 10W
Test 18 22 1041 603 13 2/1 2/1 3.48 46.38 80.08 0 0
ODI 226 101 2126 1811 36 3/34 3/34 5.11 50.31 59.06 0 0
T20I 78 27 349 442 13 2/6 2/6 7.6 34.0 26.85 0 0
IPL 193 69 908 1118 25 2/0 2/0 7.39 44.72 36.32 0 0
Career Information

Leave a Comment

error: Content is protected !!