Biography

Saina Nehwal Biography In Hindi – साइना नेहवाल जीवनी

Saina Nehwal Biography In Hindi – साइना नेहवाल जीवनी

image

Saina Nehwal Biography In Hindi

सायना नेहवाल भारतीय बैडमिंटन खिलाडी है. वर्तमान में वह दुनिया की सबसे अच्छी महिला बैडमिंटन खिलाडी है तथा इस मुकाम तक पहोचने वाली पहली भारतीय महिला है. ओलंपिक्स खेलो में बैडमिंटन में मेडल जितने वाली वह पहली भारतीय है. 4 अगस्त 2012 को लन्दन ओलंपिक्स में सायना ने ब्रोंज मेडल जीता था. प्रकाश पादुकोण के बाद वह पहली भारतीय और पहली भारतीय महिला है जो नंबर एक अंतरराष्ट्रिय बैडमिंटन खिलाडी बनी. इसके अलावा वह वर्ल्ड जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप और सुपर सीरिज टूर्नामेंट जीतने वाली वह पहली भारतीय है.

क्रमांक जीवन परिचय बिंदु साइना जीवन परिचय
1.        पूरा नाम साइना नेहवाल
2.        जन्म 17 मार्च, 1990
3.        जन्म स्थान हिसार, हरियाणा
4.        माता-पिता उषा रानी – हरवीर सिंह
5.        रहवास हैदराबाद
6.        कोच विमल कुमार
7.        हाईट 1.65 मीटर
8.        वजन 60 kg
9.        पेशा (Profession) अंतर्राष्ट्रीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी
10.    हाथ का इस्तेमाल (Handedness) दांया हाथ (Right Hand)
11.    सर्वोत्तम स्थान (Highest Ranking) 1 (2 अप्रैल, 2015)
12.    वर्तमान स्थान (Current Ranking) 5 (30 जून, 2016)

साइना नेहवाल का जीवन परिचय :-

विश्व की बेस्ट बैडमिंटन खिलाड़ियों में से एक साइना नेहवाल (Saina Nehwal) का जन्म 17 मार्च 1990 को हरियाणा राज्य के हिसार (Hisar of Haryana State) में एक जाट परिवार में हुआ था | उनके पिता का नाम हरवीर सिंह (Harvir Singh) ,जो एक हरियाणा की एक एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी (Agriculture University) में काम करते हैं | इनकी माता का नाम उषा रानी (Usha Rani) है | ये भी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) की तरह की एक बैडमिंटन खिलाड़ी थी, वे स्टेट लेवल पर बैडमिंटन खेला करती थीं। और साथ ही साथ इनके भी पिता भी बैडमिंटन के बेहतरीन खिलाड़ी रह चुके हैं। इसलिए साइना नेहवाल (Saina Nehwal) को बैडमिंटन खेल की रूचि माता-पिता से मिली है।नेहवाल नेहवाल (Saina Nehwal) ने अपनी स्कूल की पढ़ाई की शुरुआत हरियाणा के हिसार के एक स्कूल से की थी, लेकिन उनके पिता का हैदराबाद ट्रांसफर हो जाने की वजह से उनके पूरे परिवार को हैदराबाद शिफ्ट होना पड़ा था। इसके बाद साइना नेहवाल (Saina Nehwal) ने अपनी 10 वीं की पढ़ाई फॉर्म सेंट ऐनी कॉलेज मेहदीपत्तनम (Form St. Annes College Mehdipatnam) , हैदराबाद (Hyderabad) से पास की है। साइना नेहवाल (Saina Nehwal) एक पढ़ने वाली छात्रा भी थी इसके साथ ही वे खेल गतिविधियों में भी अपने स्कूल में काफी एक्टिव रहती थीं। साइना नेहवाल (Saina Nehwal) बेहद कम उम्र से ही बैडमिंटन खेलने में दिलचस्पी लेने लगी थीं, उनके पिता उनको एक सर्वश्रेष्ठ बैडमिंटन प्लेयर बनाना चाहते थे, इसलिए उनके पिता साइना नेहवाल (Saina Nehwal) को स्कूल जाने से पहले रोजाना सुबह 4 बजे उठाकर उन्हें घंटों बैडमिंटन की प्रैक्टिस करवाने के लिए ले जाते थे।साइना नेहवाल (Saina Nehwal) के पिता ने उन्हें प्रोफेशनल बैडमिंटन खेलने की ट्रेनिंग देने का फैसला लिया और इसके बाद हैदराबाद के लाल बहादुर खेल स्टेडियम (Lal Bahadur Sports Stadium, Hyderabad) में साइना नेहवाल (Saina Nehwal) बैडमिंटन के कोच नानी प्रसाद से मिलीं और फिर वे उन्हीं से बैडमिंटन खेलने की ट्रेनिंग लेने लगी | इसके कुछ समय बाद बेस्ट बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) ने देश के जाने माने एवं द्रोणाचार्य पुरस्कार (Dronacharya Award) से सम्मानित कोच एस. एम. आरिफ से बैडमिंटन के गुर सीखे। फिर अपनी बैडमिंटन खेल टैलेंट को और अधिक निखारने के लिए साइना ने हैदराबाद की पुल्लेला गोपीचंद एकेडमी (Pullela Gopichand Academy ) ज्वाइन कर ली, जहां साइना ने देश के सार्वधिक लोकप्रिय बैडमिंटन खिलाड़ी एवं कोच गोपीचंद जी से बैडमिंटन खेलने का हुनर सीखा।

साइना नेहवाल की शादी :-

भारतीय बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल (Saina Nehwal) 14 दिसंबर साल 2018 को मशहूर बैडमिंटन खिलाड़ी परुपल्ली कश्यप (Parupalli Kashyap) के साथ शादी के बंधन में बंधी हैं। शादी से पहले दोनों बेहद अच्छे दोस्त थे और फिर धीरे-धीरे उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई और दोनों से शादी करने का फैसला लिया।और कुछ समय बाद इन्होने शादी कर ली |

करियर:-

  • 2003 में जो जूनियर चेक ओपन हुआ, वह उनके करियर की शुरुआत थी, जिस टूर्नामेंट में उन्होंने जीत हांसिल की।
  • 2004 के कॉमनवेल्थ यूथ गेम में उन्होंने दूसरा स्थान प्राप्त किया।
  • साइना नेहवाल एक बार 2005 में और उसके बाद 2006 में अंडर- 19 नेशनल चैपियन बनी। इसी साल एशियन सेटेलाइट बैडमिंटन टूर्नामेंट जीता।
  • 2006 में, साइना नेहवाल एक सुपर-सीरीज टूर्नामेंट, फिलीपींस ओपन जीतने वाली प्रथम भारतीय महिला बनीं।
  • 2008 में, वह वर्ड जूनियर बैडमिंटन चैम्पियनशिप जीतने वाले प्रथम भारतीय बनीं।
  • उन्होंने 2008 के चीनी ताइपे ओपन ग्रां प्री गोल्ड और भारतीय राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप और कॉमनवेल्थ यूथ गेम्स खेलों को भी उसी वर्ष जीता |
  • 2008 में उन्हें सबसे होनहार खिलाड़ी के रूप में घोषित किया गया था।
  • 2009 में वे दुनिया की सबसे प्रमुख बैडमिंटन सीरीज – इंडोनेशिया ओपन जीतने वाली प्रथम भारतीय बन गईं। वह विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में भी पहुंची।
  • जनवरी 2010 में उन्होंने इंडिया ओपन ग्रां प्री गोल्ड, सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज, इंडोनेशिया ओपन सुपर सीरीज और हांगकांग सुपर सीरीज भी जीती।
  • 2010 राष्ट्रमंडल खेलों के आठ ब्रांड एंबेसडरों में से एक, साइना ने भारतीय बैडमिंटन के इतिहास में एक महान यादगार पल बनाने के लिए स्वर्ण पदक जीता।
  • 2011 में उन्होंने स्विट्जरलैंड स्विस ओपन ग्रां प्री गोल्ड जीता और मलेशिया ओपन ग्रां प्री गोल्ड, इंडोनेशिया ओपन सुपर सीरीज प्रीमियर और बीडब्ल्यूएफ सुपर सीरीज मास्टर्स फाइनल में दूसरा स्थान प्राप्त किया।
  • 2012 में साइना ने स्विस ओपन ग्रां प्री गोल्ड, थाईलैंड ओपन ग्रां प्री गोल्ड जीता.और इंडोनेशिया ओपन सुपर सीरीज प्रीमियर को पुनः प्राप्त कर लिया |जिससे वह अपना तीसरा इंडोनेशियाई ओपन खिताब जीत गईं।
  • 2012 लंदन ओलंपिक में, साइना नेहवाल ने कांस्य पदक जीता और बैडमिंटन में ओलंपिक पदक जीतने वाली प्रथम भारतीय बनीं।
  • साइना की विशाल उपलब्धि के लिए हरियाणा, राजस्थान और आंध्र प्रदेश की राज्य सरकारों ने इन्हें बड़ी रकम में नकद पुरस्कार प्रदान किए और खेल मंत्री ने साइना को आईएएस अधिकारी के पद के बराबर नौकरी देने का वादा किया।ओलंपिक में उनकी सफलता ने निश्चित रूप से भारत में आगे बढ़कर खेलने के लिए नए दरवाजे खोल दिए हैं।
  • साइना नेहवाल ने डेनमार्क ओपन सुपर सीरीज प्रीमियर ट्रॉफी को प्राप्त करने के लिए जर्मनी की जूलियन शेन्क को 35-17 मिनट में 21-17, 21-8 से हराकर एक हावी जीत के साथ वर्ष का अपना का चौथा खिताब जीता।
  • लंदन खेलों के बाद यह उनका पहला टूर्नामेंट था।इस टूर्नामेंट को जीतने के बाद प्रकाश पादुकोण ने उन्हें डेनिश ओपन सुपर सीरीज खिताब जीतने वाली एकमात्र भारतीय बना दिया।
  • स्पेन की कैरोलीना मरीन को फाइनल में 19-21, 25-23, 21-16 से हराकर पिछली विजेता साइना ने 2015 का इंडिया ओपन ग्रैंड प्रिक्स गोल्ड खिताब जीत लिया।
  • इसके ठीक पहले आल इंगलैंड बैडमिंटन प्रतियोगिता के फाइनल में पहुँचने वाली पहली भारतीय महिला बनते हुए साइना कैरोलिना से ही फाइनल में 21-16, 14-21, 7-21 से हार गयी थीं।
  • 29 मार्च 2015 को थाइलैंड की रत्चानोक को इंडियन ओपन सुपर सीरीज़ के फाइनल में हराकर वह विश्व की शीर्ष वरीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बन गईं।
  • 2018 में सायना नेहवाल ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में अंतिम दिन रविवार को महिला एकल वर्ग का स्वर्ण पदक अपने नाम किया। सायना ने फाइनल में हमवतन पी.वी सिंधु को मात दी।ऐसे में इस स्पर्धा का रजत पदक भी भारत को ही मिला है।
  • सायना ने भारत की झोली में 26वां स्वर्ण पदक जीता! सायना ऐसे में राष्ट्रमंडल खेलों में दो स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं।
  • 29 जनवरी 2020 को वे भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हुई।

पसंद एवं नपसंद (Like and Dislike)

1. पसंदीदा खाना (Favourite Food) आलू पराठा एवं कीवी
2. पसंद (Hobbies) यात्रा करना
3. पसंदीदा अभिनेता (Favourite Actor) शाहरुख़ खान एवं महेश बाबू
4. पसंदीदा एथलिट (Favourite Athlete) सचिन तेंदुलकर (क्रिकेटर) एवं रॉजर फेडरर (टेनिस खिलाड़ी )
5. पसंदीदा जगह (Favourite Destination) सिंगापोर


साइना का लुक:-

1. कद (Height) 5 फुट 6 इंच
2. वजन (Weight) 65 किलोग्राम
3. शारीरिक माप (Body Measurement) 34 – 26 – 34
4. आंखों का रंग (Eye Colour) भूरा
5. बालों का रंग (Hair Colour) काला

ब्रोंज मैडल जीतने के बाद मिले पुरुस्कार:-

  • हरियाणा सरकार द्वारा 1 करोड़ की नगद राशी.
  • राजस्थान सरकार द्वारा 50 लाख की नगद राशी.
  • आंध्रप्रदेश सरकार द्वारा 50 लाख की नगद राशी.
  • बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया द्वारा 10 लाख की नगद राशी.
  • मंगलायतन यूनिवर्सिटी द्वारा डोक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया.

साइना नेहवाल को मिला सम्मान:-

-> साल 2016 में साइना नेहवाल (Saina Nehwal) को भारत के सर्वोच्च सम्मान में से एक पदम भूषण (Padam Bhushan) सम्मान से पुरस्कृत किया गया।

-> साल 2009-2010 में खेल जगत का सबड़े बड़ा और प्रतिष्ठित पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न (Rajiv Gandhi Khel Ratna ) पुरस्कार से नवाजा गया।

-> साल 2010 में भारत के प्रतिष्ठित पुरस्कार पदम श्री (Padam Shri) से नवाजा गया।

-> साल 2009 में साइना नेहवाल (Saina Nehwal) को अर्जुन अवॉर्ड (Arjuna Award) से सम्मानित किया गया।

-> साल 2008 में साइना नेहवाल (Saina Nehwal) को बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (Badminton World Federation) द्धारा साल की सबसे बेहतरीन और प्रतिभावान खिलाड़ी का दर्जा दिया गया।

साइना नेहवाल रोचक जानकारी:-

  • साइना की दादी साइना के जन्म से खुश नहीं थी, क्योंकि वे एक लड़की नहीं एक लड़का चाहती थी.
  • सन 2005 में साइना अंडर – 19 राष्ट्रीय टीम में चुनी गई थीं. और एशियाई सेटेलाइट बैडमिंटन टूर्नामेंट ट्वाइस जीतने के बाद साइना सन 2006 में अंडर – 19 राष्ट्रीय चैंपियन बन गई.
  • साइना की माँ उन्हें ‘स्टेफी साइना’ कहकर बुलाती हैं क्योंकि साइना टेनिस स्टार ‘स्टेफी ग्राफ’ की बहुत बड़ी फैन हैं.
  • साइना की कराटे में भी अच्छी कमान हैं उन्होंने कराटे में ब्राउन बेल्ट भी हासिल किया हैं.
  • सन 2012 में सचिन तेंडुलकर जी ने साइना को उपहार स्वरुप एक बीएमडब्ल्यू कार गिफ्ट की थी, जब उन्होंने ओलिंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीता था.
  • साल 2018 में साइना नेहवाल ने अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘प्लेयिंग टू विन : माय लाइफ ऑन एंड ऑफ कोर्ट’ रिलीज़ की थी.
  • सन 2016 के अक्टूबर में साइना अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक कमिटी के एथलिट कमीशन के एक सदस्य के रूप में नियुक्त की गई थी.
  • साइना विभिन्न मैगजीन्स जैसे ‘वीमेन’स हेल्थ’ एवं ‘फेमिना’ आदि के कवर फोटो में भी नजर आई हैं.

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!