Biography

Rishi Kapoor Biography in Hindi – अभिनेता ऋषि कपूर की जीवनी

Rishi Kapoor Biography in Hindi – अभिनेता ऋषि कपूर की जीवनी

Rishi Kapoor Biography in Hindi

ऋषि कपूर ने अपने अभिनय की शुरुआत एक बाल कलाकार से की थी.ऋषि कपूर भारतीय फिल्मो के एक जाने-माने स्टार थे . फिल्मों के साथ-साथ ये निर्देशक भी रह चुके थे | ऋषि कपूर एक फिल्मी परिवार से ताल्लुक रखते हैं, ऋषि कपूर पृथ्वीराज कपूर के पोते हैं इन्होंने सर्वश्रेष्ठ एक्टर का और कई फिल्मफेयर आवार्ड जीते हैं.

नाम – ऋषि कपूर
जन्म – 4 सितम्बर 1952, पाली हिल, मुंबई
पिता – राज कपूर
माता – कृष्णा कपूर
विवाह – अभिनेत्री नीतू सिंह
भाई – रणधीर कपूर
बच्चे – रणबीर कपूर और पुत्री रिदीमा कपूर
शिक्षा – 12वीं मुंबई से

ऋषि का जन्म 4 सितम्बर 1952 को मुंबई महाराष्ट्र में हुआ था. ऋषि ने फिल्म श्री 420 से अभिनय की शुरूआत की थी. ऋषि कपूर ने मुख्य किरदार के रूप में डेब्यू किया था.ऋषि कपूर बॉलीवुड के शो मैन यानी स्वर्गीय राज कपूर के मंझले बेटे और अपने जमाने के मशहूर निर्माता निर्देशक-अभिनेता प्रूथ्‍वीराज कपूर के पोते है। राज कपूर की माँ का नाम कृष्णा राज कपूर है। ऋषि कपूर का निक नेम चिंटू हैं। ऋषि कपूर के दो भाई हैं। रणधीर कपूर और राजीव कपूर। ऋषि कपूर के दोनों भाई उन्ही के तरह बॉलीवुड अभिनेता हैं। ऋषि कपूर ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा अपने भाईयोँ के साथ कैंपियन स्कूल, मुंबई और उसके बाद आगे की पढ़ाई मेयो कॉलेज अजमेर से पूरी की।ऋषि कपूर अपने जमाने के चॉकलेटी हीरो थे, तो अफेयर होना लाजमी है, नीतू से शादी होने से पहले ऋषि कपूर ने यास्मीन नाम की लड़की को डेट किया था। कहा जाता है कि ‘बॉबी’ की शूटिंग के दौरान डिम्पल को ऋषि पसंद करने लगे थे। उन्हें प्रपोज करना चाहते थे, लेकिन डिम्पल ने अचानक राजेश खन्ना से शादी कर सभी को चौंका दिया। बता दें, ऋषि कपूर और नीतू ने शादी से पहले एक दूसरे को पांच साल तक डेट किया उसके बाद 22 जनवरी 1980 को शादी के बंधन में बंध गए। ऋषि कपूर के दो बच्चे हैं। रणबीर कपूर और रिधिमा कपूर। रणबीर कपूर अपने पिता ऋषि कपूर की तरह बॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो हैं। ऋषि कपूर की बेटी रिधिमा जो एक फैशन डिजाइन की शादी बिजनेस मैन भारत साहनी से हुई है। बॉलीवुड की लीडिंग एक्ट्रेस करीना कपूर और करिश्मा कपूर ऋषि कपूर की भतीजी हैं।

फिल्मी कॅरियर – Career of Rishi Kapoor

फ़िल्मी परिवार से होने के कारण ऋषि कपूर हमेशा से ही फिल्मों में अभिनय करने की रूचि रखते थे। उन्‍होने भी अपने दादा और पिता के नक्‍शे कदम पर पैर रखते हूए फिल्‍मों में अभिनय किया और वे एक सफल अभिनेता के रूप में उभर आए। 1970 मे बनी फिल्म मेरा नाम जोकर यह उनकी पहली फिल्‍म है जिसमें उन्‍होने बाल कलाकार के रूप मे अपने पिता के बचपन का रोल किया। जो किशोर अवस्‍था में अपने टिचर से ही प्‍यार करने लगता है। हालाँकि इससे पहले वह ‘श्री 420’ में छोटे बच्चे के रूप में नजर आ चुके हैं, जिसकी शूटिंग के लिए नरगिस को ऋषि को बहुत सी चॉकलेट देकर मनाना पड़ा था।

ऋषि कपूर ने बॉलीवुड में बतौर एक्टर 1973 में फिल्म बॉबी से किया था। इस फिल्म में उनके अपोजिट डिंपल कपाड़िया थीं। ऐसा माना जाता है कि राज कपूर ने अपने बेटे ऋषि कपूर को लांच करने के लिए ‘बॉबी’ बनाई थी। इस बात की हकीकत बताते हुए ऋषि कपूर ने कहा कि ‘मेरा नाम जोकर’ की असफलता के बाद राज कपूर के आर्थिक हालात बिगड़ चुके थे जिसकी वजह से वह एक टॉप स्टार को फिल्म के लिए साइन नहीं कर पाए थे। ये फिल्म सुपर हिट हुई थी जिसके लिए ऋषि कपूर को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार मिला।

ऋषि कपूर ने अपने करियर में 1973-2000 तक 92 फिल्मों में रोमांटिक हीरो का किरदार निभाया है। इन्होने बतौर सोलो लीड एक्टर 51 फिल्मों में अभिनय किया है। ऋषि कपूर अपने जमाने के चॉकलेटी हीरोज में से एक थे। ऋषि के साथ रिश्ते की शुरुआत के समय नीतू इंडस्ट्री में जगह बनाने की कोशिश में थीं, जबकि ऋषि एक सफल अभिनेता थे। नीतू और ऋषि की पहली फिल्म ‘जहरीला इंसान’ थी। नीतू कपूर के साथ ऋषि की जोड़ी को बेहद पसंद किया गया। खासतौर पर युवा इस जोड़ी के दीवाने थे। दोनों ने कई फिल्में की और अधिकांश सफल रही। ऋषि ने एक अंग्रेजी फिल्म भी की है। ‘डोंट स्टॉप ड्रीमिंग’ (सपने देखना बंद मत कीजिए) को शम्मी कपूर के बेटे आदित्य राज कपूर ने निर्देशित किया था। ऋषि कपूर के साथ 20 से ज्यादा अभिनेत्रियों ने अपना करियर शुरू किया।

ऋषि कपूर ने अपने करियर की शुरुआत से हमेशा ही रोमांटिक किरदार को निभाया था, और रोमॅंटिक हीरो का किरदार उनपे खूब जचा भी। लेकिन फिल्म अग्निपथ में उनकी खलनायक के किरदार को देख सभी हतप्रभ रह गए। ऋषि को फिल्म अग्निपथ के लिए आईफ़ा बेस्ट नेगेटिव रोल के अवार्ड से भी नवाजा गया। ऋषि कपूर ने अपने चालीस साल के फ़िल्मी करियर में पहली बार फिल्म अग्निपथ के लिए ऑडिशन दिया था। इस फिल्म के ऋषि कपूर ने फिल्म -डे में डी-कंपनी के गोल्ड़मैन का किरदार निभाया। जो दर्शकों को बेहद पसंद आया था।

अभिनय की दुनिया में तहलका मचाने के बाद ऋषि ने निर्देशन में भी हाथ आजमाया। उन्होंने 1998 में ‘आ अब लौट चले’ फ़िल्म को निर्देशित किया। उस फ़िल्म में राजेश खन्ना, ऐश्वर्या राय, कादर खान, परेश रावल और जसपाल भट्टी जैसे सितारे एक साथ देखने को मिले थे। फ़िलहाल वो ‘नमस्ते लन्दन’ फ़िल्म में भूमिका निभाते हुए नजर आये थे।

15 जनवरी 2017 को ऋषि कपूर का आत्मचरित्र ‘खुल्लम खुल्ला: ऋषि कपूर अनसेंसर’ रिलीज़ किया गया। कपूर ने उस किताब को मीना अय्यर के साथ में मिलकर लिखा। हार्पर कॉलिंस ने उस किताब को प्रकशित किया है।

ऋषि कपूर की प्रमुख फिल्में :

1970 – मेरा नाम जोकर
1973 – यादों की बारात , बॉबी
1975 – राजा , रफ्फु चक्कर
1976 – कभी-कभी , बारूद , लैला मजनू , रंगीला रतन ,
1977 – चला मुरारी हीरो बनने , अमर अकबर एंथोनी , दूसरा आदमी
1978 – नया दौर , पति पत्नी और वो , बदलते रिश्ते , फूल खिले है गुलशन-गुलशन
1979 – झूठा कही का , सलाम मेमसाब , सरगम
1980 – धन दौलत , आप के दीवाने , दो प्रेमी , कर्ज ,
1981 – नसीब , जमाने को दिखाना हैं
1982 – प्रेम रोग , ये वादा रहा, दीदार
1983 – कुली
1984 – दुनिया,
1985 – सितमगर , जमाना , सागर , तवायफ , रही बदल गये
1986 – दोस्ती दुश्मनी, नसीब अपना-अपना , एक चादर मैली सी, नगीना
1987 – सिंदूर , हवालात , प्यार के काबिल
1988 – घर-घर की कहानी , विजय , हमारा खानदान
1989 – घराना , हथियार ,बड़े घर की बेटी , चाँदनी , खोज
1990 – आजाद देश के गुलाम , शेषनाग , अमीरी और गरीबी
1991 – रणभूमि , अजूबा , घर परिवार , हिना , बंजारन
1992 – हनीमून , बोल राधा बोल , दीवाना
1992 – दामिनी , साधना
1993 – साहिबा , श्रीमान आशिक , इज्जत की रोटी
1994 – घर की इज्जत, प्रेम योग , साजन का घर, ईना मीना डीका
1995 – याराना , साजन की बाहों में, हम दोनों
1996 – दरार , प्रेम ग्रन्थ
1997 – कौन सच्चा कौन झूठा
1999 – जय हिन्द
2000 – कारोबार , राजू चाचा
2001 – कुछ खाती कुछ मीठी
2002 – ये है जलवा
2003 – कुछ तो हैं, तहजीब
2004 – हम तुम
2006 – फना
2007 – ओम शांति ओम , नमस्ते लन्दन , डोंट स्टॉप ड्रीमिंग
2008 – थोडा प्यार थोडा मैजिक , हल्लाबोल
2009 – प्यार आज कल , डेल्ही-6 , चिंटू जी
2011 – पटियाला हॉउस , टेल मी ओह खुदा
2012 – जब तक हैं जान , अग्निपथ
2013 – बेशर्म , औरंगजेब
2015 – शादी पुलाव
2016 – सनम रे और कपूर एंड संस.

सम्मान और पुरस्कार – Rishi Kapoor Awards

  • 1970- बंगाल फ़िल्म जर्नलिस्ट एसोसिएशन अवार्ड: स्पेशल अवार्ड, और मेरा नाम जोकर के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार।
  • 1974- बॉबी फ़िल्म के लिए फ़िल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार।
  • 2008- फ़िल्मफेयर लाइफटाइम अचिएवेमेंट अवार्ड।

ऋषि कपूर का निधन – Rishi Kapoor Death Hindi 

ऋषि कपूर को कैंसर था और 30 अप्रैल को उनका मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया. वे अभी 67 साल के थे. बता दे की रात को उन्हें सांस लेने में तकलीफ आ रही थी जिस बाद उन्हें उनके परिवार ने एच एन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया था.

 Facts:-

• ऋषि कपूर बॉलीवुड के कपूर खानदान की तीसरी पीढ़ी के सदस्य है.

• ऋषि कपूर अपने बचपन में काफी शरारती थे.

• ऋषि कपूर पहली बार फिल्म “श्री 420” में नज़र आये थे. उन्होंने गाने “प्यार हुआ इकरार हुआ में” बच्चे का रोल किया था.

• अपनी डेब्यू फिल्म बॉबी में ऋषि कपूर एक सीन में डिंपल कपाडिया से मिलने उनके घर चोरी छुपे जाते है, कहा जाता है कि राज कपूर भी ठीक इसी तरह से नर्गिस से मिला करते थे.

• ऋषि कपूर और नीतू सिंह की शादी तो बहुत ही अच्छे ढंग से हुई थी लेकिन ऋषि कपूर शादी की शुरुआत में बहुत ज्यादा सख्त हुआ करते थे. नीतू सिंह को 8:30 के बाद घर से बाहर नहीं जाने देते थे.

• नीतू सिंह ने ऋषि कपूर के खिलाफ घरेलु हिंसा की शिकायत दायर करा दी थी और घर छोड़ कर चली गयी थी. लेकिन रणबीर और उनकी बहिन के कारण वे फिर से घर लौट आई थी.

• कुछ दिनों पहले ऋषि कपूर ने एक ट्वीट किया था. जिसमे लिखा था :-हैलो! मैं कुछ मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए अमेरिका जाने के लिए अपने काम से छोटी सी छुट्टी ले रहा हूं. मैं अपने शुभचिंतकों से आग्रह करता हूं कि वे चिंता न करें या अनावश्यक रूप से अटकलें न लगाएं.

• ऋषि कपूर की अभी तक कोई मेडिकल रिपोर्ट नहीं आई है. ऋषि के भाई रणधीर कपूर ने इस बात से इनकार किया है कि ऋषि को कैंसर है.

Best Cloud Hosting Buy Now

Leave a Comment

error: Content is protected !!