Biography

nitish kumar Biography in Hindi – नितीश कुमार जीवनी

nitish kumar Biography in Hindi – नितीश कुमार जीवनी

image

nitish kumar Biography in Hindi

नीतीश कुमार बिहार राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री हैं। इससे पहले भी वह 2005 से 2014 तक बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके है। नीतीश कुमार जनता दल (यूनाइटेड) पार्टी के सदस्य हैं और उन्होंने भारत के केंद्रीय मंत्री के रूप में कार्य किया है। उन्होंने कई गतिविधियों को विकसित करने और कार्यान्वित करने के प्रयासों के लिए मुख्यमंत्री के रूप में प्रशंसा जीती है जिसमें पुलों और सड़कों का निर्माण, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में डॉक्टरों की भागीदारी सुनिश्चित करना, अपराध दर को नियंत्रित करना और कई अन्य शामिल हैं। बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने कार्यकाल के दौरान एक लाख से अधिक स्कूल शिक्षकों को सफलतापूर्वक नियुक्त किया है।

नीतीश कुमार का प्रारंभिक जीवन:-

नीतीश कुमार का जन्म 1 मार्च 1951 को बिखतियारपुर नामक एक जगह पर बिहार की राजधानी पटना से 50 किलोमीटर की दूरी पर हुआ था। वह कुर्मी परिवार से है। उनके पिता, श्री राम लखन सिंह, आयुर्वेदिक चिकित्सा में काम करते थे और उस क्षेत्र में एक प्रसिद्ध व्यक्ति थे। उनके पिता इंडियन नेशनल कॉन्ग्रेस पार्टी के सदस्य भी थे। लेकिन साल 1952 और 1957 में जब पार्टी से चुनाव टिकट नहीं मिला तो उन्होंने पार्टी छोड़ दी और जनता पार्टी ज्वाइन कर लिया। उनकी मां श्रीमती परमेश्वरी देवी थीं।उन्होंने गणेश हाई स्कूल से बख्तियारपुर में अपनी स्कूली शिक्षा में मैट्रिक पूरा किया। वह एक छात्र के रूप में काफी तेज और बुद्धिमान थे। उन्होंने मैट्रिक के बाद पटना साइंस कॉलेज में अध्ययन किया। इसके बाद उन्होंने बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग (अब एनआईटी पटना के नाम से जाना जाता है) से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिग्री कोर्स पूरा किया। नितीश कुमार को राजनितिक व्यक्ति के अलावा एक एग्रीकल्चरिस्ट और सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में भी जाना जाता है।

नीतीश कुमार से जुड़ी जानकारी:-

नाम (Name) नीतीश कुमार
निक नेम  (Nick Name) सुशासन बाबू और मुन्ना
जन्मदिन (Birthday) 1 मार्च, साल 1951
आयु (Age) 67 साल
जन्म स्थान (Birth Place) बख्तियारपुरबिहारभारत
राशि (Zodiac) मीन
नागरिकता (Citizenship) भारतीय
गृह नगर (Hometown) बिहार
शिक्षा (Education) मैकेनिकल इंजीनियर
धर्म (Religion) हिन्दू
कास्ट (Cast) अनुसूचित जनजाति
भाषा का ज्ञान (Language) हिंदी, अंग्रेजी
पेशा (Occupation) राजनेता और बिहार के मुख्यमंत्री
किस पार्टी से जुड़े हैं जनता दल (संयुक्त)

नीतीश कुमार के परिवार के बारे में जानकारी:-

पिता का नाम (Father’s Name) कविराज राम लखन सिंह
माता का नाम (Mother’s Name) परमेश्वरी देवी
पत्नी का नाम (Wife’s Name) मंजू कुमारी सिन्हा
बेटे का नाम (Son’s Name) निशांत कुमार

राजनैतिक जीवन:-

नीतीश कुमार बिहार अभियांत्रिकी महाविद्यालय, के छात्र रहे हैं जो अब राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, पटना के नाम से जाना जाता हैं। वहाँ से उन्होंने विद्युत अभियांत्रिकी में उपाधि हासिल की थी। वे १९७४ एवं १९७७ में जयप्रकाश बाबू के सम्पूर्ण क्रांति आंदोलन में शामिल रहे थे एवं उस समय [5] के महान समाजसेवी एवं राजनेता सत्येन्द्र नारायण सिन्हा के काफी करीबी रहे थे।वे पहली बार बिहार विधानसभा के लिए १९८५ में चुने गये थे। १९८७ में वे युवा लोकदल के अध्यक्ष बने। १९८९ में उन्हें बिहार में जनता दल का सचिव चुना गया और उसी वर्ष वे नौंवी लोकसभा के सदस्य भी चुने गये थे।१९९० में वे पहली बार केन्द्रीय मंत्रीमंडल में बतौर कृषि राज्यमंत्री शामिल हुए। १९९१ में वे एक बार फिर लोकसभा के लिए चुने गये और उन्हें इस बार जनता दल का राष्ट्रीय सचिव चुना गया तथा संसद में वे जनता दल के उपनेता भी बने। १९८९ और 2000 में उन्होंने बाढ़ लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। १९९८-१९९९ में कुछ समय के लिए वे केन्द्रीय रेल एवं भूतल परिवहन मंत्री भी रहे और अगस्त १९९९ में गैसाल में हुई रेल दुर्घटना के बाद उन्होंने मंत्रीपद से अपना इस्तीफा दे दिया।सन २००० में वे बिहार के मुख्यमंत्री बने लेकिन उन्हें सिर्फ सात दिनों में त्यागपत्र देना पड़ा। उसी साल वे फिर से केन्द्रीय मंत्रीमंडल में कृषि मंत्री बने। मई २००१ से २००४ तक वे बाजपेयी सरकार में केन्द्रीय रेलमंत्री रहे। २००४ के लोकसभा चुनावों में उन्होंने बाढ़ एवं नालंदा से अपना पर्चा दाखिल किया लेकिन वे बाढ़ की सीट हार गये।नवंबर २००५, में राष्ट्रीय जनता दल की बिहार में पंद्रह साल पुरानी सत्ता को उखाड़ फेंकने में सफल हुए और मुख्यमंत्री के रूप में उनकी ताजपोशी हुई। सन् २०१० के बिहार विधानसभा चुनावों में अपनी सरकार द्वारा किये गये विकास कार्यों के आधार पर वे भारी बहुमत से अपने गठबंधन को जीत दिलाने में सफल रहे और पुन: मुख्यमंत्री बने। २०१४ में उन्होनें अपनी पार्टी की संसदीय चुनाव में खराब प्रदर्शन के कारण मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

प्रथम बार बने बिहार के मुख्यमंत्री:-

साल 2000 में ये पहली बार अपने राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए थे. हालांकि राजनीतिक कारणों के चलते इन्हें अपना ये पद केवल सात दिनों के अंदर ही छोड़ना पड़ा था. इन्होंने इस पद को 3 मार्च, साल 2000 में संभाला था और इसी साल 10 मार्च को इन्हें ये पद छोड़ना पड़ा था. ये पद छोड़ने के बाद इन्हे फिर से कृषि मंत्री बना दिया गया था और ये एक साल तक कृषि मंत्री बने रहे थे

फिर से बने बिहार के मुख्यमंत्री:-

साल 2005 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में इनकी पार्टी विजय रही थी और इन्हें एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनाया गया था. इस बार ये पूरे पांच साल तक मुख्यमंत्री बने रहे थे और इन्होंने अपने राज्य के विकास के लिए कई सारे कार्य भी किए थे. इनके इन्हीं कार्यों के चलते इन्हें साल 2010 और साल 2015 में फिर से बिहार की जनता का साथ मिला था और ये इस राज्य के मुख्यमंत्री फिर से चुने गए थे.

छह बार रहे चुके हैं बिहार के मुख्यमंत्री-

  • बिहार में नीतीश की सरकार कई बार गिर चुकी है और इस तरह से ये छह बार इस राज्य के सीएम रह चुके हैं. दरअसल साल 2015 में इन्होंने लालू प्रसाद यादव  की पार्टी के साथ मिलकर सरकार बनाई थी और ये सरकार केवल दो साल तक ही चल पाई थी.
  • इनकी पार्टी ने लालू की पार्टी से अपना गठबंधन तोड़ दिया था. जिसके कारण इनकी सरकार गिर गई थी. वहीं इस सरकार के गिरने के बाद इन्होंनें बीजेपी पार्टी से हाथ मिला लिया था और फिर से राज्य के मुख्यमंत्री बन गए थे.

कब कब बनें मुख्यमंत्री और कितने समय के लिए बनें-

संख्या किस साल कब से कब तक
1   2000 3 मार्च, 2000 से लेकर 10 मार्च 2000
2   2005 24 नवंबर, 2005 से लेकर 24 नवंबर, 2010
3   2010 26 नवंबर, 2010 से लेकर मई 2014
4   2015 22 फरवरी, 2015 से लेकर 19 नवंबर, 2015
5   2015 20 नवंबर 2015 से लेकर 26 जुलाई 2017
6   2017 27 जुलाई 2017 – अभी भी हैं

नितीश कुमार द्वारा प्राप्त पुरस्कार और स्वीकृतियां:-

  • 2013 में, नागपुर के मानव मंदिर द्वारा जेपी मेमोरियल पुरस्कार।
  • 2012 में, फॉरेन पॉलिसी मैगजीन द्वारा शीर्ष 100 वैश्विक विचारकों की सूची में 77वां स्थान दिया गया।
  • 2011 में औद्योगिक और सामाजिक शांति के लिए एक्सएलआरआई, जमशेदपुर द्वारा “सर जहांगीर गांधी मेडल”
  • 2010 में, फोर्ब्स द्वारा “इंडिया पर्सन ऑफ दि इयर” पुरस्कार
  • 2010 में, राजनीति के क्षेत्र में वर्ष का सर्वश्रेष्ठ एनडीटीवी भारतीय पुरस्कार
  • 2009 में राजनीति के क्षेत्र में वर्ष का सर्वश्रेष्ठ एनडीटीवी भारतीय पुरस्कार
  • 2010 में राजनीति के क्षेत्र में सीएनएन-आईबीएन द्वारा “इंडियन ऑफ दि इयर अवार्ड”
  • 2009 में, रोटरी इंटरनेशनल द्वारा ‘पोलियो उन्मूलन चैम्पियनशिप अवार्ड’
  • इकोनॉमिक टाइम्स द्वारा वर्ष 2009 में ‘बिजनेस रिफॉर्मर ऑफ द ईयर’
  • हिंदुस्तान टाइम्स स्टेट ऑफ द नेशन पोल के मूल्यांकन के अनुसार, 2007 में सीएनएन-आईबीएन द्वारा सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री का पुरुस्कार।
  • 2008 में सीएनएन-आईबीएन द्वारा ‘ग्रेट इंडियन ऑफ दि इयर’

नितीश कुमार द्वारा आयोजित पद:-

  • इन्होंने वर्ष 1977 में जनता पार्टी के उम्मीदवार के रूप में पहली बार विधानसभा चुनाव में भाग लिया
  • इन्होंने 1985 से 1989 तक राज्य विधानसभा में सदस्य के रूप में कार्य किया और यह बिहार विधानसभा में उनका पहला कार्यकाल था।
  • ये 1986 से 1987 तक राज्य विधानसभा की याचिका समिति के सदस्य थे।
  • ये वर्ष 1987 से 1988 तक राज्य में युवा लोकदल के अध्यक्ष थे।
  • ये 1987-89 तक राज्यसभा में सार्वजनिक उपक्रम समिति के सदस्य थे।
  • 1989 में ये राज्य में जनता दल के महासचिव बने।
  • वह 1989 में 9वीं लोकसभा चुनाव में संसद सदस्य बने और संसद में उनका यह पहला कार्यकाल था।
  •  ये 1989 से 1990 तक हाउस कमेटी के सदस्य रहे। हालांकि, बाद में इन्होंने इस पद को छोड़ दिया था।
  • नितीश कुमार कृषि और सहकारिता राज्य मंत्री बने और अप्रैल 1990 से नवंबर 1990 तक काम किया।
  • इन्होंने वर्ष 1991 में, आम चुनाव जीता और लोकसभा में इनका यह दूसरा कार्यकाल था।
  • इन्होंने वर्ष 1991 से 1993 तक जनता दल के महासचिव के रूप में कार्य किया।
  • इनको लोकसभा में जनता दल के उपनेता के रूप में चुना गया था।
  • नितीश कुमार वर्ष 1991 से मई 1996 तक रेलवे सम्मेलन समिति के सदस्य थे।
  • नितीश कुमार को अप्रैल 1993 से मई 1996 तक कृषि समिति अध्यक्ष के रूप में नामित किया गया था।
  • 1996 में उन्होंने संसदीय चुनाव जीता और 11वीं लोकसभा के सदस्य बने थे।
  • नितीश कुमार लोकसभा में मूल्यांकन समिति के सदस्य थे।
  • नितीश कुमार ने सामान्य प्रयोजन समिति सदस्य के रूप में भी योगदान दिया।
  • नितीश कुमार ने संसद में अपने तीसरे कार्यकाल के दौरान संविधान में संयुक्त समिति के सदस्य के रूप में कार्य किया।
  • नितीश कुमार 1996 से 1998 तक रक्षा समिति के सदस्य थे।
  • नितीश कुमार ने 1998 में संसदीय चुनाव लड़ा और निर्वाचित हुए। यह उनका संसद में चौथा चुनाव था।
  • नीतीश कुमार को मार्च 1998 से अगस्त 1999 तक रेलवे के केंद्रीय कैबिनेट मंत्री की जिम्मेदारी दी गई थी।
  • नितीश कुमार ने अप्रैल 1998 से अगस्त 1999 तक भूतल परिवहन (अतिरिक्त भार) के लिए केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में भी कार्य किया।
  • नितीश कुमार 1999 में, सामान्य चुनाव लड़ा और एक बार में ही जीत हासिल की। यह उनकी संसद में पांचवी जीत थी।
  • नितीश कुमार ने अक्टूबर 1999 से नवंबर 1999 तक भूतल परिवहन के केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में कार्य किया।
  • नितीश कुमार को नवंबर 1999 से मार्च 2000 तक केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के साथ कृषि मंत्री की भी जिम्मेदारी दी गई थी।
  • नितीश कुमार ने वर्ष 2000 में, केवल सात दिन तक, बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया।
  • नितीश कुमार ने मई 2000 से मार्च 2001 तक केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में कृषि मंत्री पद पर कार्य किया।
  • नितीश कुमार ने मार्च 2001 से जुलाई 2001 तक रेल के अतिरिक्त प्रभार के साथ केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में कार्य किया।
  • नितीश कुमार ने जुलाई 2001 से मई 2004 तक रेलवे के केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में अपना कार्यकाल जारी रखा।
  • नितीश कुमार ने 2004 के संसदीय चुनावों में चुनाव लड़ा और छठी बार संसद सदस्य बनने में सफल रहे।
  • नितीश कुमार ने 14वीं लोकसभा में कोयला और इस्पात समिति के सदस्य के रूप में कार्य किया।
  • नितीश कुमार सामान्य प्रयोजन समिति के सदस्य भी थे।
  • नितीश कुमार को विशेषाधिकार समिति के सदस्य के रूप में नामित किया गया था।
  • नितीश कुमार संसद में जनता दल (संयुक्त) में सदन नेता के रूप में चुने गए थे।

सम्मान एवं पुरस्कार:-

अणुव्रत सम्मान, श्वेतांबर तेरापंथ महासभा (जैन संस्था) द्वारा, बिहार में शराबबंदी लागू करने के लिए, 2017
जेपी स्मारक पुरस्कार, नागपुर मानव मंदिर, 2013
फॉरेन पॉलिसी मैगजीन के टॉप 100 बैश्विक चिंतक लोगों में 77वें स्थान पर, 2012.
XLRI, जमशेदपुर द्वारा, “सर जहाँगीर गांधी मेडल” , 2011.
“एमएसएन इंडियन ऑफ दि इयर”, 2010
एनडीटीवी इंडियन ऑफ दि इयर – राजनीति, 2010
फ़ोर्ब्स “इंडियन पर्सन ऑफ दि इयर”, 2010[16] सीएनएन-आईबीएन “इंडियन ऑफ दि इयर अवार्ड” – राजनीति, 2010[17] एनडीटीवी इंडियन ऑफ दि इयर – राजनीति, 2009[18] इकोनॉमिक टाइम्स “बिजनेस रिफार्मर ऑफ दि इयर”, 2009[19] ‘पोलियो उन्मूलन चैम्पियनशिप अवार्ड’ 2009, रोटरी इंटरनेशनल द्वारा[20] सीएनएन-आइबीएन “ग्रेट इंडियन ऑफ दि इयर” अवार्ड – राजनीति, 2008[21]

 नीतीश कुमार की कुल संपत्ति-

नीतीश कुमार ने अपने जीवन जो भी संपत्ति कमाई है जो राजनीति के जरिए कमाई है और साल 2017 में बिहार विधानसभा चुनावों के दौरान इन्होने  अपना नामांकन पत्र भरते हुए अपनी संपत्ति 58 लाख रुपए बताई है.

नेट वर्थ राशि
बतौर मुख्यमंत्री के तौर पर मिलने वाली सैलरी 99,500 रुपए
सलाना इनकम 11,94,000 रुपए
कारें कुल एक कार, फोर्ड कार
कुल घर बिहार के अलावा दिल्ली में एक फ्लैट है
आयकर  (Income Tax)
कुल संपत्ति  (Net Worth) 58 लाख

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!