Biography

Nagarjuna Biography in Hindi – अक्किनेनी नागार्जुन की बायोग्राफी

Nagarjuna Biography in Hindi – अक्किनेनी नागार्जुन की बायोग्राफी

Nagarjuna Biography in Hindi

साउथ फिल्म इंडस्ट्री में टेलेंट की भरमार है, इसमें एक से बढ़कर एक एक्शन, रोमांटिक और कॉमेडी फिल्म स्टार्स हैं। ऐसे ही एक एक्टर हैं- अक्किनेनी नागार्जुन, जो कि एक लोकप्रिय तेलुगू फिल्म एक्टर, सफल प्रोड्यूसर होने के साथ-साथ एक अच्छे बिजनेसमैन भी हैं।वह अनुभवी अभिनेता अक्किनेनी नागेश्वर राव के बेटे हैं, जो पिछले चार और साढ़े चार दशकों में कई फिल्में सफलतापूर्वक कर चुके हैं.

बिंदु (Points) जानकारी (Information)
नाम (Name) नागार्जुन अक्किनेनी
जन्म तारीख (Date of Birth) 29 अगस्त 1959
जन्म स्थान (Birth Place) मद्रास (अब चेन्नई)
पेशा (Profession) अभिनेता, फिल्म निर्माता
पिता का नाम (Father Name) नागेश्वर राव अक्किनेनी
माता का नाम (Mother Name) अन्नपूर्णा अक्किनेनी
पहली फिल्म (Debut Film) सुदीगंदालू (बाल कलाकार के रूप में)
विक्रम (परिपक्व अभिनेता के रूप में
पत्नी का नाम (Wife Name) लक्ष्मी दग्गुबती
अमाला अक्किनेनी
पुत्र का नाम (Son Name) अक्किनेनी अखिल
नागा चैतन्य

नागार्जुन, तमिलनाडू राज्य के चेन्नई में 29 अगस्त साल 1959 में पैदा हुए हैं। वे नागेश्वर राव अक्किनेनी और अन्नपूर्णा अक्किनेनी के बेटे हैं। उनके पिता नागेश्वर एक मशहूर साउथ एक्टर हैं, जो अपने करियर में कई सुपरहिट फिल्में कर चुके हैं।नागार्जुन की गिनती सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे फिल्म स्टार्स में भी होती है। वहीं छोटी उम्र में ही वे अपने परिवार के साथ चेन्नई से हैदराबाद शिफ्ट हो गए थे, इसके बाद उन्होंने हैदराबाद में हीं अपनी शुरुआती शिक्षा ग्रहण की।नागार्जुन ने हैदराबाद पब्लिक स्कूल से अपने स्कूल की पढ़ाई पूरी की। इसके बाद वे विदेश चले गए और उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री ईस्टर्न मिशिगन यूनिवर्सिटी से हासिल की और फिर नागार्जुन ने कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, गुइंडी से ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में M.s की पढ़ाई की।

नागार्जुन का अभिनय करियर (Nagarjuna Akkineni Film Career)

बचपन में ही चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में नागार्जुन ने अपने अभिनय के करियर की शुरूआत कर दी थी. नागार्जुन की पहली फिल्म ‘विक्रम’ 24 मई 1986 को रिलीज़ हुई थी और यह जैकी श्रॉफ अभिनीत हिंदी फिल्म हीरो की रीमेक थी. चार फिल्मों में अभिनय करने के बाद उन्होंने मजनू में एक नायक के रूप में अभिनय किया. इसी तरह की भूमिकाएं उनके पिता के लिए जानी जाती थीं. उन्होंने अपने पिता के साथ फिल्म कलेगोरबारी अब्बाई में अभिनय किया. उनकी पहली बड़ी हिट श्रीदेवी की सह-अभिनीत आखिरी पोरात्तम (Aakhari Poratam) थी जो 12 सिनेमाघरों में 100 दिनों तक चली थी.

गीतांजलि, मणिरत्नम द्वारा निर्देशित एक प्रेम कहानी थी. जिसके बाद नागार्जुन ने राम गोपाल वर्मा द्वारा निर्देशित एक एक्शन फिल्म “शिवा” में काम किया जो कि बेहद सफल रही. इस फिल्म के बाद उन्होंने खुद को शीर्ष नायकों में से एक के रूप में स्थापित किया. अपने करियर के इस चरण के दौरान उन्होंने नए निर्देशकों के साथ काम किया.

उन्होंने शिवा के हिंदी रीमेक के साथ अपना बॉलीवुड डेब्यू भी किया. राष्ट्रपति गारी पेलम और हैलो ब्रदर जैसी फिल्मों ने उन्हें एक मास हीरो का दर्जा दिया. उसके बाद, कृष्णा वामसी द्वारा निर्देशित निन्ने पेल्लादुथा ने युवा और परिपक्व दोनों लोगों के एक व्यापक क्रॉस सेक्शन की अपील की. फिल्म बॉक्स ऑफिस पर एक बड़ी सफलता थी.

बाद में नागार्जुन ने फिल्म अन्नामय में मध्यकाल के प्रसिद्ध गायक/कवि अन्नामचार्य को चित्रित करने की चुनौती ली.  यह फिल्म 42 सिनेमाघरों में 100 दिनों तक चली और टॉलीवुड में सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक है. उन्होंने विशेष जूरी श्रेणी में इस भूमिका के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार जीता.

2004 में नागार्जुन की दो रिलीज़ नेन्नुन्नु और मास थी. मास को मशहूर कोरियोग्राफर राघवा लॉरेंस ने डायरेक्ट किया था. बाद में वह महान संत-संगीतकार रामदासु के जीवन पर आधारित एक फिल्म श्री रामदासु में नजर आये

अभिनय में प्राप्त सम्मान (Award in Acting)

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

1998-अन्नामय्या के लिए विशेष जूरी के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

नंदी पुरस्कार

1997-अन्नामय के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का नंदी पुरस्कार

2002- संतोषम के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का नंदी पुरस्कार

2002-स्वर्ण (स्वर्ण) नंदी अवार्ड के लिए सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म

2006-नंदी अवार्ड फॉर बेस्ट एक्टर फॉर श्री रामदासु

फिल्मफेयर अवार्ड्स

1990- शिवा के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का फिल्मफेयर अवार्ड (तेलुगु)

Leave a Comment

error: Content is protected !!