Biography

Jaspreet Bumrah Biography In Hindi – जसप्रीत बुमराह का जीवनी

Jaspreet Bumrah Biography In Hindi – जसप्रीत बुमराह का जीवन परिचय

Jaspreet Bumrah Biography In Hindi

जसप्रीत बुमराह

जानते है कि भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक से बढ़कर एक खिलाड़ी चर्चित है।चाहे वो पहले के खिलाड़ी हो या फिर वर्तमान के खिलाड़ी। रोजाना कोई न कोई भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी अपने क्रिकेट करियर का आगाज़ करता है।इन्हीं में से एक खिलाड़ी, जिसने कि बहुत ही कम आयु में क्रिकेट में अपना प्रदार्पण कर लिया और अपना नाम बनाया। जी हाँ दोस्तों, मैं बात कर रहा हूँ, भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के बारे में।जसप्रीत बुमराह का जन्म 6 दिसंबर 1993 गुजरात के अहमदाबाद शहर में हुआ था उनके पिता का नाम जसबीर बुमरा और मां का नाम दलजीत कौर है उनके पिता एक  Industrialist थे और उनकी मां स्कूल में प्रिंसिपल थी |


यह पोस्ट भी पढ़ें :  Hardik Pandya का जीवन परिचय
इसके अलावा उनकी एक बहन भी है जिनका नाम जूहीका बुमराह जसप्रीत को बचपन से ही क्रिकेट का काफी शौक था जहां उनकी उम्र के और बच्चे बैटिंग करते थे वही जसप्रीत बुमराह को बॉलिंग करने में ज्यादा रुचि थी
जसप्रीत मैं अपनी पढ़ाई Nirman High School से की जहां पर उनकी मां उनकी प्रिंसिपल थी जसप्रीत का बचपन हंसी खुशी कट रहा था कि अचानक ऐसी घटना घटी ना केवल जसप्रीत को बल्कि उनके पूरे परिवार को हिला कर रख दिया जसप्रीत की उम्र लगभग 7 वर्ष की थी | तब उनके पिताजी का बीमारी के कारण देहांत हो गया यह एक ऐसा समय था जहां से उभर पाना हर किसी के मुमकिन नहीं न होता पर किसी भी तरह जसप्रीत को उनकी मां ने संभाला क्योंकि उनके लिए उनके बच्चे ही सब कुछ है |

जसप्रीत बुमराह का परिवार:-

जसप्रीत बुमराह का जन्म 6 दिसंबर, 1993 को अहमदाबाद, गुजरात के एक मध्यमवर्गीय सिक्ख रामगढ़िया परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम जसबीर सिंह और माता का नाम दलजीत कौर है।उनके पिता एक उद्योगपति थे और उनकी माता निर्मान उच्च विद्यालय में प्रिंसिपल थी। जब बुमराह मात्र 7 वर्ष के थे तो उस समय उनके पिता की मृत्यु हो गयी।उसके बाद से उनका पालन-पोषण उनकी माता ने ही किया। बुमराह की एक बहन भी है। जिसका नाम जुहीका बुमराह है। उनकी बहन अहमदाबाद के जेबर उच्च विद्यालय में एक शिक्षिका है।

जसप्रीत करियर डिटेल्स:-

19 वर्ष के जसप्रीत बुमराह ने रातोरात अपने खेल से कई क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीत लिया , जब इन्होने अपने पहले टी20 में 3-32 फिगर के साथ RCB के खिलाफ प्रदर्शन किया . जसप्रीत को मुंबई इंडियन्स ने आईपीएल 6 में ख़रीदा था|अपनी असामान्य गेंदबाजी एक्शन के साथ , गुजरात से आये दाएं हाथ के मध्यम गति के गेंदबाज , बुमराह ने  2012-13 से सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में महाराष्ट्र के खिलाफ अपने टी -20 करियर की शुरुआत की .और इनके उम्दा प्रदर्शन के चलते इन्हें मैन ऑफ़ द मैच का ख़िताब भी मिला . इन्होने फाइनल में 3/14 के आंकड़े के साथ गुजरात को पंजाब के खिलाफ मिली जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई .इसी अच्छे प्रदर्शन के चलते इन्हें आईपीएल में जगह मिली और इन्होने मुंबई इंडियन्स के साथ कांट्रेक्ट बनाया . इनके अच्छे फॉर्म के कारण MI ने इन्हें वर्ष 2014 में फिर से इन्हें 1.2 करोड़ के साथ टीम में शामिल किया .

कॉम्पीटिशन वन डे इंटरनेशनल FC LA टी20
मैच 1 18 21 47
रन 89 18 27
बैटिंग एवरेज 22.25 4.50 13.50
विकेट 2 6 41 52
बॉलिंग एवरेज 20.00 2500.01 18.73 24.53
बेस्ट बोलिंग 2/40 5/52 5/28 3/10
केच/ स्टंप 0/0 5/0 5/0 8/0

19 वर्षीय गुजरात के इस खिलाड़ी के खेल के अंदाज ने कई दिलो में अपनी जगह बनाई . हालाँकि इन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक्स्ट्रा में रखा गया था लेकिन मोहम्मद शमी को चोट लगने के कारण जसप्रीत को टीम में जगह मिली .अपने पहले आईपीएल मैच के कारण इन पर सलेक्टर की नजर पहले से ही थी जिस कारण उन्हें मौका मिला और इसी के कारण ये लगातार MI के लिए आईपीएल खेले |जसप्रीत बुमराह आने वाले दिनों में कैसा प्रदर्शन करते हैं इसे जानने के लिए सभी की निगाहे इन पर टिकी हुई हैं . इनके जस्बे को देख यह अनुमान हैं कि यह आने वाले दिनों में एक बेहतरीन गेंदबाज के रूप में उभर कर सामने आयेंगे |

जसप्रीत बुमराह का क्रिकेट तक सफर:-

पिताजी के जाने के बाद बुमराह को क्रिकेट से कुछ ज्यादा ही लगाव हो गया था जसप्रीत 14 वर्ष के थे तब हुए अपनी मां के पास आए और बोले कि मां में Cricketer बनना चाहता हूं शुरुआत में उनकी मां ने उसे समझाया कि क्रिकेटर बनना इतना आसान नहीं है पर किसी भी तरह जसप्रीत बुमराह ने अपनी मां को समझाया और उनको मना लिया | बस फिर क्या था जसप्रीत ने शुरुआत में अपने मेहनत के दम से शुरुआत कर दिया वह दिन दिन भर प्रैक्टिस करते रहे और खुद को बेहतर बनाते रहे जल्दी ही उनको M R F  Face Foundation  के लिए पिक किया गया |जहां उनकी बोली और भी इंप्रूव हो गई इसके अलावा जसप्रीत के जीवन में पहला बड़ा मौका तब आया जब उनको गुजरात अंडर-19 टीम के सिलेक्ट किया गया और सौराष्ट्र के खिलाफ मैच खेलने का मौका भी मिला इस मैच में उन्होंने शानदार बॉलिंग करते हुए 7 विकेट लिए और इसी प्रदर्शन की मदद से शहीद मुस्ताक अली टी20 चैंपियनशिप में सिलेक्ट किया गया |
इसी टूर्नामेंट के दौरान मुंबई इंडियन के कोच जॉन राइट को एक बॉलर की तलाश थी उन्होंने जसप्रीत को देखा और उनके अंदर छिपे हुए टैलेंट को देखा और जसप्रीत को इसी साल मुंबई इंडियन की टीम में साइन कर लिया और यह जसप्रीत के जीवन का सबसे बड़ा पल था
IPL में उनको जल्दी खेलने का मौका मिला और अपने डेब्यू मैच में 32 रन पर तीन विकेट लेकर दिखा दिया कि उनकी Bowling में कितनी दार है डोमेस्टिक में अच्छे प्रदर्शन की मदद से 2014 के आईपीएल के लिए फिर से टीम में लिया गया और एक बार फिर वह टीम मैनेजमेंट की उम्मीदों पर खरे उतरे और इसी तरह रेट डॉमेस्टिक ओर इंटरनेशनल मैचों में अपना बेहतरीन प्रदर्शन करते रहे
इस तरह जसप्रीत बुमराह Domestic, IPL में अपना अच्छा प्रदर्शन करते रहे इसके दौरान उनको इंजरी का भी सामना करना पड़ा जिससे उनको क्रिकेट से दूर रहना पड़ा लेकिन जब उन्होंने वापसी करी उन्होंने अपनी  शानदार बॉलिंग से सबको हैरान कर दिया |
घरेलू मैच के दौरान आईपीएल अच्छे प्रदर्शन के चलते उनको इंटरनेशनल मैच खेलने का मौका मिला 27 जनवरी 2016 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 डेब्यू किया यह मौका उनको मिला था बस इसके बाद से जसप्रीत ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा |
टी-20 के बाद उन्होंने जल्द ही ODI  में भी अपना डेब्यू किया और वहां भी शानदार Bowling करी और इनके ऐसे ही प्रदर्शन के चलते उनको टेस्ट में भी जगह मिल गई और वहां पर भी अपनी धाक जमाई हुए हैं आज जसप्रीत भारतीय टीम के प्रमुख गेंदबाज बन चुके हैं और जब भी भारतीय टीम को जीत की तलाश होती है तो कप्तान उन्हीं की तरफ रुक करते हैं |

Leave a Comment

error: Content is protected !!