Biography

harmanpreet kaur biography in hindi – हरमनप्रीत कौर का जीवन

harmanpreet kaur biography in hindi – हरमनप्रीत कौर का जीवन परिचय

harmanpreet kaur biography in hindi

हरमनप्रीत कौर भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी है. जिन्होंने अपने खेल से भारतीय क्रिकेट टीम में खुद को स्थापित किया है. हरमनप्रीत महिला t20 विश्व कप में शतक लगाने वाली पहली महिला है. वे अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जानी जाती हैं. वर्ष 2017 में क्रिकेट में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए हरमनप्रीत को युवा मामलों और खेल मंत्रालय द्वारा प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

हरमनप्रीत कौर का जन्म 8 मार्च 1989 को पंजाब के मोगा में हुआ था. इनके पिता का नाम हरमंदर सिंह भुल्लर है. इनके पिता एक वॉलीबॉल और बास्केटबॉल के खिलाड़ी हैं. हरमनप्रीत के पिता नौकरी करते हैं. उनकी माता का नाम सतविंदर सिंह है. हरमनप्रीत कौर की छोटी बहन मनजीत सिंह सहायक प्रोफेसर के पद पर कार्यरत है. हरमनप्रीत अपने छोटे भाई गुरजिंदर भुल्ला और उनके दोस्तों के साथ क्रिकेट खेला करते थी. हरमनप्रीत की प्राथमिक शिक्षा गाँव के ही विद्यालय में पूर्ण हुई.

हरमनप्रीत ने जब न्यू ज्ञान ज्योति अकैडमी में दाखिला लिया तब उन्हें अपने घर से 30 किलोमीटर दूर जाना पड़ता था. इस एकेडमी के कोच कमलदीश सिंह सोढ़ी की नजर हरमनप्रीत पर पड़ी. घर से रोज 30 किलोमीटर दूर हरमनप्रीत को भेजना उनके पिता के लिए आसान नहीं था. तब हरमनप्रीत के कोच सोढ़ी ने हरमनप्रीत की मुफ्त कोचिंग और ठहरने की व्यवस्था की. इसीलिए हरमनप्रीत अपने कोच सोढ़ी को अपना गुरु मानती है. वर्ष 2014 में हरमनप्रीत भारतीय रेल के अंतर्गत नौकरी के कारण मुंबई शहर आ गई थी.

बिंदु(Points) जानकारी (Information)
पिता का नाम (Name) हरमंदर सिंह भुल्लर
माता का नाम (Mother Name) सतविंदर कौर
क्रिकेट प्रेरणादायक (Cricketing Inspiration) विरेन्द्रर सहवाग
स्कूल (School) हंसराज महिला विद्यालय, जालंधर
टेस्ट पदार्पण (Test Debut) 13 अगस्त 2014 (इंग्लैंड के खिलाफ)
वनडे पदार्पण (ODI Debut) 7 मार्च 2009 (पाकिस्तान के खिलाफ)
टी-20 पदार्पण (T-20 Debut) 11 जून 2009 (इंग्लैंड के खिलाफ)
पुरस्कार (Awards) अर्जुन अवार्ड (2017)

हरमनप्रीत कौर का करियर (Harmanpreet Kaur Career)

हरमनप्रीत कौर ने औपचारिक तौर पर क्रिकेट में अपना डेब्यू महज 20 वर्ष की आयु में वर्ष 2009 में पकिस्तान वीमेन के अंतर्गत अर्क राइवल्स के विरुद्ध किया. इसी वर्ष विमेंस क्रिकेट विश्वकप में भी इन्हें खेलने का मौक़ा मिला. इस टूर्नामेंट में खेलते हुए उन्होंने एक मैच में 4 ओवर की गेंदबाजी में महज 10 रन दिए.

जून 2009 में इन्होने अपना ट्वेंटी 20 अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू किया. यह टूर्नामेंट ‘2009 आईसीसी विमेंस वर्ल्ड ट्वंटी 20” था. यहाँ इन्होने इंग्लैंड वीमेन के विरुद्ध अपना डेब्यू किया था. काउंटी ग्राउंड में इंग्लैंड के विरुद्ध अपने टी-20 डेब्यू मैच में इन्होने 7 गेंदों में महज 8 रन ही बनाए.

साल 2012 में होने वाले वीमेन’स टी-20 एशिया कप के फाइनल मैच में इन्होने भारतीय क्रिकेट महिला टीम की कप्तानी भी की. इस समय महिला टीम की तात्कालिक कप्तान मिथाली राज और उपकप्तान झूलन गोस्वामी दोनों ही घायल होने की वजह से मैच से बाहर थीं. इस सीरीज में इनकी कप्तानी का डेब्यू पाकिस्तानी वीमेन क्रिकेट टीम के विरुद्ध हुआ. इनकी कप्तानी में भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने 81 रनों से पकिस्तान को हरा कर एशिया कप अपने नाम कर लिया.

साल 2013 में मार्च में इन्हें बांग्लादेश वीमेन टूर के लिए महिला टीम का कप्तान नियुक्त किया गया. यहाँ की सीरीज में एकदिवासीय मैच खेले जाने वाले थे. इस सीरीज के दुसरे मैच में हरमनप्रीत कौर ने अपना दूसरा शतक बनाया. इस सीरीज में इन्होने 97.5 की औसत से कुल 195 रन बनाए, जिनमे एक शतक और एक अर्धशतक शामिल था. इस टूर्नामेंट में इन्होने एक औसत गेंदबाजी करते हुए 2 विकेट भी झटके.

साल 2014 में आठ महिला क्रिकेटरों ने टेस्ट डेब्यू किया, जिसमे हरमनप्रीत कौर भी शामिल थीं. यह टेस्ट मैच इंग्लैंड वीमेन क्रिकेट टीम के विरुद्ध खेला जाने वाला था. यह टेस्ट वोर्म्स्ले के सर पॉल गेट्टी ग्राउंड स्टेडियम में खेला जाने वाला था. हालाँकि इस टेस्ट मैच में ये अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकीं, और महज 9 रन ही इनकी तरफ़ से भारतीय महिला टीम के खाते में जुड़े.

इसके बाद नवम्बर 2015 में होने वाले दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध खेले जाने वाले टेस्ट मैच में इन्होने 9 विकेट झटके. यह टेस्ट मैच मैसूर के गंगोत्री ग्लेड क्रिकेट ग्राउंड में खेला जा रहा था. इस टेस्ट मैच में 9 विकेट लेने पर भारतीय महिला टीम को टेस्ट मैच पारी से जितने का अवसर प्राप्त हुआ.

जनवरी 2016 में उन्होने ऑस्ट्रेलिया सीरीज के एक मैच में 31 गेंद में 46 रन बनाए. यह मैच अंतर्राष्टीय टी- 20 मैचों में एक बड़ा चेस था. अपने अच्छे क्रिकेट में प्रदर्शन की बदौलत भारतीय महिला टीम को सीरीज जीतने का मौक़ा मिला. इस फॉर्म को बरक़रार रखते हुए इसी वर्ष होने वाले महिला टी – 20 क्रिकेट विश्व कप में इन्होने एक अच्छा प्रदर्शन किया. इस विश्व कप में प्रदर्शन करते हुए इन्होने चार मैचों में बल्लेबाज़ीं करते हुए 89 रन बनाए और गेंदबाजी करते हुए 7 विकेट भी लिये. इसी वर्ष जून में ये पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बनीं, जिसे किसी विदेशी टी- 20 फ्रैंचाइज़ी ने साइन किया. इन्हें वीमेन बिग बैश लीग चैंपियन के लिए सिडनी थंडर ने 2016-17 के सीजन के लिए साइन किया.

साल 2017 वीमेन क्रिकेट विश्वकप में भी इन्होने बहुत बेहतर प्रदर्शन किया. इन्होने 20 जुलाई को डर्बी में होने वाले विश्व कप सेमी फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 115 गेंदों में 171 बना कर नाबाद पारी खेली. यह स्कोर इस समय भारतीय महिला क्रिकेट में दूसरा स्थान रखता है. पहले स्थान पर किसी पारी में सर्वाधिक रन बनाने वाली भारत की ही महिला खिलाड़ी हैं जिनका नाम दीप्ति शर्मा है, जिन्होंने 188 रन बनाए थे. हालाँकि किसी नॉक आउट विश्व कप इन्निंग में सर्वाधिक रन बनाने की सनद इन्हें ही हासिल है, जिन्होंने करेन रोल्टोन का 107 रनों की नाबाद पारी का रिकॉर्ड तोड़ा. हरमनप्रीत कौर 2017 में हुए महिला विश्वकप में फाइनल तक पहुँचने वाली महिला भारतीय टीम में शामिल थीं. इस विश्व कप के फाइनल में भारतीय महिला क्रिकेट टीम इंग्लैंड से महज 9 रनों से हार गयीं.

उपलब्धियां (Achievements)

20 साल की उम्र में, कौर ने पाकिस्तान के खिलाफ 2009 में महिला क्रिकेट विश्व कप में वन वन इंटरनेशनल (ओडीआई) की शुरुआत की।
उन्होंने 2017 महिला विश्वकप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 177 रनों की असाधारण पारी खेली।
महिला विश्व कप के इतिहास में पहली बार हरमनप्रीत कौर की वजह से भारत का उच्चतम व्यक्तिगत स्कोर का रिकॉर्ड बना।
वह 2016 में सिडनी थंडर, एक विदेशी ट्वेंटी – ट्वेंटी फ्रैंचाइजी द्वारा हस्ताक्षरित होने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बनी।
जनवरी 2016 में, उन्होंने 31 गेंदों पर 46 रन बनाए और ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ श्रृंखला जीतने में मदद की, जो टी ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का सबसे ज्यादा पीछा कर रहा था।
2013 में उन्हें भारतीय महिला टीम का ओडीआई कप्तान नामित किया गया था जब भारत बांग्लादेश की महिला क्रिकेट टीम की मेजबानी करता था।
2012 में, कौर को महिला ट्वेंटी – ट्वेंटी एशिया कप फाइनल के लिए भारतीय महिला टीम के कप्तान के लिए चुना गया था।
हरमनप्रीत कौर ने 2009 की आईसीसी महिला विश्व ट्वेंटी – ट्वेंटी में इंग्लैंड महिला क्रिकेट टीम के खिलाफ अपनी ट्वेंटी – ट्वेंटी अंतरराष्ट्रीय शुरुआत की थी

पुरस्कार (Awards )

2017 में युवा मामलों और खेल मंत्रालय द्वारा क्रिकेट में उनकी उत्कृष्ट उपलब्धि के लिए हरमनप्रीत कौर को प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

ट्वीटर पर  लगा बधाई देने वालों का  तांता

 आइए आपको बताते हैं कि किस किसने कौर को बधाई दी और बधाई में उन्होंने कौर के लिए क्या कहा।
भारत के पूर्व खिलाड़ी बिशन सिंह बेदी ने कौर की तारीफ करते हुए लिखा, ”हरमनप्रीत कौर ने बेहतरीन शॉट खेले, कौर ने कपिल देव की याद दिला दी। शानदार प्रयास।”भारत के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने लिखा, ”एक ऐसी पारी जो जिंदगी भर याद रहेगी। आपने भारतीय टीम से के स्कोर में 60 फीसदी से ज्यादा रन आपके। अब सब गेंदबाजों के ऊपर।
वहीं आर श्रीधर ने लिखा, ”किसी भी विश्व कप की सबसे बेहतरीन पारी, फिर चाहे वो पुरुष टीम हो या फिर महिला टीम।
भारतीय टीम के खिलाड़ी मोहम्मद कैफ ने लिखा, ”42 ओवरों में 281 रन का स्कोर शानदार है। हरमनप्रीत कौर ने किसी भी विश्व की अपनी जिंदगी की सबसे यादगाप पारी खेली है। शानदार।”

Leave a Comment

error: Content is protected !!