12-geography

class 12 geography notes | परिवहन तथा संचार

image

class 12 geography notes | परिवहन तथा संचार

[ Transport and Communication ]
भौगोलिक शब्द तथा परिभाषाएँ
●परिवहन (Transport)-उपयोगी वस्तुओं और यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक
लाना-ले जाना।
●परिवहन के प्रकार (Types of Transpor)-स्थल, जल तथा वायु परिवहन ।
●स्वेज नहर (Suez Canal)-स्वेज नहर सबसे लम्बी जहाजी नहर है जो एशिया को यूरोप
के साथ जोड़ती है।
●उपग्रह संचार (Satellite Communication)-अंतरिक्ष में छोड़े गए कृत्रिम उपग्रहों की
सहायता से संचार में आई क्रांति ।
●संचार (Communication)-सूचनाओं का उनके उद्गम स्थल से लक्ष्य तक किसी चैनल
के माध्यम से पहुँचना।
●महामार्ग (Highway)-किसी देश के मुख्य नगरों को जोड़ने वाली पक्की सड़कें ।
●रज्जुमार्ग (Ropeway)-ऊबड़-खाबड़ भूमि पर रस्सियों द्वारा बनाया गया मार्ग ।
●केबल मार्ग (Cable way)-ऊबड़-खाबड़ भूमि पर केबिल (तार) द्वारा बनाया गया यात्रा
का मार्ग अथवा सामान ढोने का मार्ग।
●महाद्वीपीय पारीय रेलमार्ग (Trans-Continental Railways)-महाद्वीप के आर-पार
बनाए गए तथा इसके दो सिरों को जोड़ने वाले मार्ग ।
●स्वर्णिम चतुष्कोण (Golden Quadrilateral)-यह सुपर महामार्ग भारत के चार
महानगरों दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता तथा चेन्नई को जोड़ने के लिए बनाया जा रहा है ।
●अन्तःस्थलीय जलमार्ग (Inland Watenvays)-स्थल भागों पर स्थित नदियों, झीलों तथा
नहरों के जलमार्ग पर नावों तथा स्टीमरों का परिवहन के रूप में प्रयोग से वस्तु तथा यात्रियों
का आवागमन होना।
पाठ के कुछ तथ्य
●भारत में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लम्बाई-51996 किमी०
●अमृतसर से कोलकाता राष्ट्रीय राजमार्ग की कुल लम्बाई-1856 किमी०
●वस्तुओं और यात्रियों के एक स्थान से दूसरे स्थान पर लाने ले जाने को कहते हैं-परिवहन (Transport)
●उद्गम स्थल से लक्ष्य तक किसी माध्यम के द्वारा सूचनाओं का प्रेषण कहलाता है।-संचार (Communication)
●संयुक्त राज्य अमेरिका में लम्बी दूरी के महामार्गों का नाम -मोटरवेज (Motorways)
●संसार का सबसे लम्बा प्रस्तावित महामार्ग जो उत्तरी अमेरिका के अलास्का को दक्षिणी
अमेरिका के चिली से जोड़ता है -पेन अमेरिकी महामार्ग लम्बाई 24000 किमी०
●अफ्रीका महाद्वीप का सबसे लम्बा महामार्ग किन दो नगरों को जोड़ता है।-उत्तर में काहिरा को, दक्षिण में केपटाउन में
●भारत का सबसे लम्बा राष्ट्रीय महामार्ग जोड़ता है-वाराणसी और कन्याकुमारी को (राष्ट्रीय महामार्ग संख्या-7)
●भारत में रेलमार्ग की कुल लम्बाई ।-63000 किमी०
●वह देश जहाँ पाइपलाइन परिवहन का सघन जाल है-संयुक्त राज्य अमेरिका
●संसार की सबसे लम्बी अन्तरमहाद्वीपीय पाइप लाइन जिसे रूस ने खनिज तेल को यूराल
क्षेत्र से पूर्वी यूरोप के देशों तक पहुँचाने के लिए बनाया था-कामेकन पाइपालाइन (लम्बाई 4800 कि०मी०)
●संयुक्त राज्य अमेरिका की सबसे प्रसिद्ध पाइपलाइन-बिग इंच
एन. सी. ई. आर. टी. पाठ्यपुस्तक एवं कुछ अन्य परीक्षोपयोगी प्रश्न
अति लघु उत्तरीय प्रश्न (Very ShortAnswer Type Question)
प्रश्न 1. पर्वतों, मरुस्थलों तथा बाढ़ संभावित प्रदेशों में स्थल परिवहन की क्या-क्या
समस्याएँ हैं?
(What are the problems of road transport in mountainous, desert and
flood prone regions?)
उत्तर-सड़क मार्गों के निर्माण के लिए यह आवश्यक है कि भूमि समतल तथा ऊबड़-खाबड़
नहीं होनी चाहिए, लेकिन पर्वतीय और मरुस्थलीय छोत्रों में सड़क निर्माण की उपयुक्त दशायें नहीं मिलतीं इसीलिये इन क्षेत्रों में इसके निर्माण की समस्या आ जाती है।
बाढ़ प्रवल क्षेत्रों में भी सड़क निर्माण आर्थिक दृष्टि से उपयोगी नहीं है क्यों प्रतिवर्ष आने
वाली बाढ सड़क तथा पुलों को वहाकर ले जाती है। सड़क टूट जाती है। इसीलिये इन क्षेत्रों
में सड़क निर्माण की समस्या है।
प्रश्न 2. पारमहाद्वीपीय रेलमार्ग क्या होता है?
(What is a trans-continental railways ?)
उत्तर-महाद्वीपों के आर-पार बनाए गए तथा इसके दो सिरों को जोड़ने वाले मार्गों को पार
महाद्वीपीय रेलमार्ग कहते हैं। ऐसे रेलमार्ग हैं- ट्रांस-साइबेरियन रेलमार्ग, कनाडियन पैसेफिक
रेलमार्ग तथा ट्रांस-आस्ट्रेलियाई रेलमार्ग पैसेफिक ।
प्रश्न 3. जल परिवहन के कोई चार लाभ बताइए।
(State any four advantages of water transport.)
अथवा, जल परिवहन के क्या लाभ हैं?
(What are the advantages of Water Transport ?)
उत्तर-(i) जल परिवहन में किसी मार्ग के निर्माण की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
(ii) जल परिवहन यातायात का सस्ता माध्यम है।
(iii) जल परिवहन से एक साथ अधिक माल ढोया जा सकता है ।
(iv) जल परिवहन के रखरखाव पर बहुत कम खर्च होता है।
पनामा नहर के मुख्य लक्षण (Main features of the Panama Canal)-
(i) इस नहर का निर्माण कृत्रिम और प्राकृतिक खाड़ियों द्वारा हुआ है।
(ii) इस नहर में तीन द्वार हैं जिनके द्वारा पानी को ऊपर उठाया जाता है अथवा नीचे गिराया
जाता है।
(iii) नहर के बीच पानी का तल समान नहीं है। इसलिए द्वार प्रणाली द्वारा तल समान किया
जाता है।
(iv) इससे उत्तरी अमेरिका के पूर्व तथा पश्चिम भागों का व्यापार बढ़ा है।
प्रश्न 4. जल परिवहन के क्या लाभ हैं ?
(What are the advantages of waterways?)
उत्तर-(i)यह परिवहन का सस्ता साधन है क्योंकि इसमें ऊर्जा की लागत कम होती है।
(ii) इससे भारी सामान आसानी से ढोया जा सकता है।
(iii) इसका रख-रखाव नहीं करना पड़ता ।
(iv) जलमार्गों के लिए रेल पटरी अथवा सड़कों की भाँति मार्ग नहीं बनाने पड़ते ।
प्रश्न 5. परिवहन के तीन मुख्य माध्यमों के नाम बताइए।
(Name the three important modes of transport.
उत्तर-परिवहन के तीन माध्यम निम्नलिखित हैं-
(i) स्थल परिवहन (Land Transpot)-इसके अन्तर्गत सड़क मार्ग तथा रेलमार्ग आते हैं।
(ii) जल परिवहन (IVater Transport)-इसके अंतर्गत अन्त:स्थलीय परिवहन जैसे नदियाँ,
नहरें तथा समुद्री परिवहन शामिल हैं।
(iii) वायु परिवहन (Air Transport)-इसमें वायुयानों का उपयोग होता है।
प्रश्न 5. पाइप लाइनों का विस्तृत उपयोग खनिज तेल और प्राकृतिक गैस जैसी
सामग्रियों का परिवहन करने के लिए क्यों होता है ?
(Why pipelines are used extensively to transport commodities such as
mineral oil and natural gas ?)
उत्तर-पाइपलाइनों का विस्तृत उपयोग खनिज तेल और प्राकृतिक गैस जैसी सामग्रियों के
परिवहन के लिए इसलिए किया जाता है क्योंकि इनका प्रवाह सतत् बना रहता है । इससे इन पदार्थों की आपूर्ति बाधिक नहीं होती है।
पाइपलाइनों द्वारा इन पदार्थों का दूरदराज के क्षेत्रों में जहाँ न सड़कें हैं, न ही रेल, पहुँचना
संभव है।
प्रश्न 7. उत्तर अमेरिका के दो प्रमुख आन्तरिक जलमार्ग कौन-कौन-से हैं ?
(Name the two major inland waterways in North America.)
उत्तर-(i) ग्रेट लेक्स सैंट लारेंस जलमार्ग
(ii) मिसीसिपी जलमार्ग।।
प्रश्न 8. उत्तर प्रशान्त महासागरीय मार्ग किन प्रमुख पत्तनों को जोड़ता है ?
(What major ports are linked by the North Pacific Ocean route. ?)
उत्तर-उत्तर प्रशान्त महासागरीय मार्ग उत्तर अमेरिका के पश्चिमी तट के पत्तनों जैसे वैकूवर,
सेनफ्रांसिस्को, पोर्टलैंड एवं सुदूर पूर्व एशिया के याकोहामा, कोबे, शंघाई, हांगकांग, मनीला,
सिंगापुर आदि को आपस में जोड़ता है।
प्रश्न 9. इंटरनेट क्या है ?
(What is internet ?)
उत्तर-इण्टरनेट एक ऐसी इलैक्ट्रानिक प्रणाली है जिसके द्वारा प्रयोगकर्ता माइक्रो कम्प्यूटर
और मोडम के माध्यम से साइबर स्पेस से जुड़ सकता है इससे सम्बन्धित विविध प्रकार की
नवीनतम जानकारी प्राप्त कर सकता है।
प्रश्न 10. रेलमार्गों के विकास में किन कारकों का क्या योगदान है?
(What factors support in the development of railways ?)
उत्तर-रेलमार्गों के विकास में निम्नलिखित कारकों का योगदान है-
(i) भाप के इंजन के स्थान पर विद्युत और डीजल के इंजनों का प्रयोग होने लगा।
(ii) रेलगाड़ियों की यात्रा अधिक सुविधाजनक हो गई है तथा उनमें खानपान की भी व्यवस्था
की जा रही है।
(iii) नाशवान वस्तुओं के परिवहन के लिए रेलगाड़ियों में प्रशीतित डिब्बों की सुविधा जुटाई
गई है।
(iv) तरल पदार्थों जैसे खनिज तथा गैस के परिवहन के लिए टैंकरों की व्यवस्था की गई है।
(v) माल को लोगों के घर तक पहुँचाने के लिए कंटेनरों की व्यवस्था से भी रेल सेवा के
विकास में वृद्धि हुई है।
प्रश्न 11. संसार में वायुमार्गों के अति सघन वाले तीन मुख्य प्रदेश कौन-कौन-से हैं ?
(Which are very dense areas of airways in the world ?)
उत्तर-संसार में सघन वायुमार्ग वाले क्षेत्र हैं-
(i) पश्चिमी यूरोप,
(ii) पूर्वी संयुक्त राज्य अमेरिका,
(iii) दक्षिणी-पूर्वी एशिया ।
प्रश्न 12. उत्तर अमेरिका में एक अनोखा अन्तःस्थलीय जलमार्ग कौन-सा है ? इस
अन्तः स्थलीय जलमार्ग की दो मुख्य विशेषताएँ लिखिए।
(Which is an unique inland waterway in North America ? Write two main features of this inland waterway.)
उत्तर-उत्तरी अमेरिका का यह अनोखा जलमार्ग ग्रेट लेक्स-सेंट लारेंस जलमार्ग है।
विशेषताएँ-(i) इस जलमार्ग पर स्थित सभी पत्तनों का विकास सभी सुविधायुक्त पत्तनों की
भांति ही हुआ है।
(ii) यह जलमार्ग अटलांटिक महासागर से बड़ी झीलों को जोड़ता है।
प्रश्न 13. महामार्ग क्या हैं ?
(What are highways ?)
उत्तर-किसी देश के मुख्य नगरों को जोड़ने वाली पक्की सड़कें महामार्ग कहलाती हैं।
उदाहरण के लिए भारत में शेरशाह सुरी मार्ग। महामार्ग की सड़कों की चौड़ाई 60 मीटर तक
हो सकती है। यातायात के सुचारू रूप रूप से प्रवाह के लिए महामार्गों पर पथ लेन, पुल,
फ्लाईओवर तथा सड़कों के किनारे पुशते आदि बने होते हैं।
लघु उत्तरीय प्रश्न (ShortAnswer Type Question)
प्रश्न 1. साइबेरिया पारीय रेलमार्ग पर एक टिप्पणी लिखें।
(Write a short note on Trans-Siberian Railways.)
उत्तर-ट्रांस-साइबेरियन रेलमार्ग (Trans-Siberian Railways)-यह रेलमार्ग विश्व का
सबसे लंबा रेलमार्ग है। इसकी कुल लंबाई 9,332 किलोमीटर है। यह पश्चिम में लेनिनग्राद को
पूर्व में प्रशांत महासागर तट पर स्थित नगर ब्लाडीवोस्टक से जोड़ता है। इस रेलमार्ग के प्रमुख
स्टेशन मास्को, रयाजान, सिजराज, कुईबाईशेब, चेलियाबिंसक, ओमस्क, नोवासिबिरिस्क,
क्रेसोयासर्क,इर्कुतस्क, चिता तथा साबारोवस्क है। इसका निर्माण साइबेरिया के सामाजिक तथा आर्थिक विकास के उद्देश्य से किया गया हैं।
आर्थिक महत्त्व (Economic Importance)-ट्रांस-साइबेरियन रेलमार्ग बनने से साइबेरिया
का सामाजिक एवं आर्थिक विकास तेजी से हुआ। इसके बनने से साइबेरिया के खनिज एवं कृषि संसाधनों का विकास संभव हो गया। इस प्रकार साइबेरिया की जनसंख्या में वृद्धि हुई। इसके द्वारा एक सागर से दूसरे सागर तक आना-जाना तथा माल का परिवहन आसान हो गया।
ट्रांस-साइबेरियन रेलमार्ग से ब्रांच लाइनों तथा नाव्य नदी मार्गों का भी सामान लाया जाता
है तथा इन मार्गों द्वारा लाए गए सामान को भी इस रेलमार्ग द्वारा ढोया जाता है। इसे रेलमार्ग
से रूस के औद्योगिक क्षेत्रों से निर्मित माल जैसे मशीनरी एवं लकड़ी पश्चिम की ओर भेजी जाती है। साइबेरिया से खाद्यान्नस पश्चिम की ओर भेजा जाता है । साइबेरिया तथा सुदूर पूर्व के मध्य कोयला, तेल, लकड़ी, औद्योगिक उत्पाद एवं कृषि उत्पादों का परिवहन होता है।
रूस की कई नाव्य नदियाँ जैसे वोल्गा, ओब, यनीसी, इरतिश तथा आमूर को यह रेलमार्ग
पार करता है। रेलमार्ग द्वारा नदियों को पार करने वाले स्थान महत्त्वपूर्ण वाहनांतरण के केंद्रबिंदु हैं। इन स्थानों पर नदियों के द्वारा लाया गया सामान रेलमार्ग द्वारा ले जाया जाता है। माल के अतिरिक्त यह रेलमार्ग यात्रियों की भारी संख्या को भी परिवहन सेवा प्रदान करता है।
प्रश्न 2. परिवहन तथा संचार में क्या अंतर हैं ?
(Distinguish between transport and communication)
उत्तर-
              परिवहन (Transport)
1. एक स्थान से दूसरे स्थान को माल को लाना व ले जाना अथवा सवारियों का
आना-जाना परिवहन कहलाता है।
2. यातायात की मुख्य विधियाँ या माध्यम रेलमार्ग, जलमार्ग तथा वायुमार्ग हैं।
3. यातायात के साधनों को तीन भागों में विभाजित किया जाता है – थल यातायात,
वायु यातायात तथा जल यातायात ।
4. प्राचीन काल में पशुओं द्वारा खींची जाने वाली गाड़ियाँ यातायात के साधन थे।
5. ये साधन पेट्रोल, डीजल तथा विद्युत शक्ति से चलते हैं।
              संचार (Communication)
1. समाचारों अथवा विचारों को एक स्थान से दूसरे स्थान को भेजना संचार कहलाता
2. संचार के साधनों में डाक, तार, टेलीफोन तथा इंटरनेट शामिल हैं।
3. संचार के साधनों को इलेक्ट्रानिक मीडिया (टेलीविजन) तथा प्रिंट मीडिया (समाचार पत्र)
में विभाजित किया जाता है।
4. प्राचीन काल में संचार के साधन नहीं थे। परिवहन के साधनों का ही प्रयोग किया
जाता था।
5. ये साधन विद्युत तरंगों से चालित होते हैं।
प्रश्न 3. स्वेज नहर पर एक टिप्पणी लिखें। (Write a short note on Suez Canal.)
उत्तर-(i) स्वेज नहर मार्ग भूमध्यसागर तथा लाल सागर को मिलाता है। यह मार्ग पुरानी
दुनिया के मध्य में-से होकर जाता है। अतः इसका विश्व के अधिकतर भागों से संपर्क है। इससे
विश्व का लगभग 15% व्यापार होता है।
(ii) यह नहर यूरोप के औद्योगिक तथा एशिया के विकासशील देशों के मध्य संपर्क स्थापित
करती है।
(iii) इस नहर के निर्माण से पहले यूरोप से एशिया आने वाले जहाजों को दक्षिणी केप ऑफ
गुड होप से होकर गुजरना पड़ता था, परंतु इस मार्ग के बन जाने पर उत्तर-पश्चिमी यूरोप और
एशिया के बीच की दूरी 8000 मी० कम हो गई है।
(iv) इस नहर का सबसे अधिक लाभ ग्रेट ब्रिटेन को हुआ है क्योंकि इसके निर्माण से ग्रेट
ब्रिटेन का संबंध भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, मलेशिया, इंडोनेशिया, आस्ट्रेलिया तथा न्यूजीलैंड आदि से सुविधाजनक हो गया है। .
(v) यह नहर 168 किमी० लम्बी तथा 365 मी० चौड़ी है। इसकी गहराई 1615 मी० है।
इसके उत्तरी सिरे पर पोर्ट सईद तथा दक्षिण में स्वेज पत्तन है। मध्य में इस्लामिया नगर है जो
तिम्सा झील पर स्थित है। इस नहर में दो गलियारे हैं- एक जहाजों के आने के लिए, दूसरा
जाने के लिए।
प्रश्न 4. यूरोप के आन्तरिक जलमार्गों पर एक टिप्पणी लिखिए ।
(Write a short note on inland waterways in Europe.)
उत्तर-आन्तरिक जलमार्गों की सबसे सघन प्रणाली फांस तथा जर्मनी में पाई जाती है। इस
क्षेत्र में उत्तरी सागर में गिरने वाली तीन प्रमुख नदियाँ रोन, राइन तथा एल्ब हैं। ये तीनों सदाबाही नदियाँ हैं।
1. राइन नदी जलमार्ग (The Rhine Waterways)-राइन नौ परिवहन की सबसे महत्त्वपूर्ण
नदी है। यह जर्मनी की जीवन रेखा मानी जाती है। राइन नदी आल्पस पर्वत से निकलकर उत्तर की ओर बहती है। इसकी सहायक नदियों में मोसेल नेकर और रूट नदियाँ हैं। राइन नदी द्वारा बड़े स्टीमर मुहाने तक आ जाते हैं। इसके मुहाने पर रोटरडम स्थित है। इस प्रकार राइन नदी स्विट्जरलैण्ड, जर्मनी और नीदरलैंड को जल यातायात की सुविधा प्रदान करती है।
2. बोल्गा जलमार्ग (Volga Waterways)-वोल्गा सबसे महत्वपूर्ण जलमार्गों में से एक
है। वोल्गा नदी का जल केस्पियन सागर में गिरता है। इस जल प्रणाली के अन्तर्गत 11200
कि०मी० नौगम्य जलमार्ग उपलब्ध हैं। वोल्गा नदी उत्तर से दक्षिण की ओर बहती है। वोल्गा
डान नहर द्वारा जलमार्ग कालासागर से जुड़ा है। इसके कारण मास्को से कालासागर तक का
जलमार्ग उपलब्ध हो गया है।
3. डेन्यूब जलमार्ग (Demube Waterways)-यह मध्य यूरोप का सबसे व्यस्त जलमार्ग है।
यह नदी आल्पस पर्वत से निकलकर पूर्व की ओर आस्ट्रिया, हंगरी तथा रोमानिया में से बहती
हुई कालासागर में गिरती है। इस नदी को नहर द्वारा राइन से मिलाया गया है। मध्य यूरोप के
देशों के आर्थिक विकास में इसका महत्त्वपूर्ण योगदान है।
प्रश्न 5. अन्तःस्थलीय जलमार्ग का क्या अर्थ है ? संसार में अन्तःस्थलीय जल मार्गो
के विकास के लिए दो उपायों का उल्लेख कीजिए।
(What is the meaning of inland waterways ? Mention two measures taken to develop inland waterways.)
उत्तर-नदियों, नहरों, झीलों के मार्ग से नावों तथा स्टीमरों द्वारा माल के साथ-साथ यात्रियों
को ढोया जाता है। ये मार्ग अन्त:स्थलीय जल मार्ग कहलाते हैं।
अनेक कमियों के बाद भी संसार के अनेक भागों में जल परिवहन का विकास हुआ है।
अनेक नदियों की नाव्यता को बढ़ाने के लिए बहुत से सुधार किए गए हैं।
(i) जल के प्रवाह की निरंतरता बनाए रखने के लिए बाँधों तथा बैराजों का निर्माण किया
गया है।
(ii) नदी में पानी की एक निश्चित गहराई बनाए रखने के लिए तल मार्जन का काम किया
जाता है। नदी धाराओं में परिवर्तन की समस्या का समाधान तटबंध बनाकर किया गया है।
(iii) जल प्रवाह की निरन्तरता बनाए रखने के लिए नई परिवहन प्रोद्योगिकी का विकास
करना।
प्रश्न 6.”संसार के विभिन्न भागों में परिवहन के विभिन्न माध्यमों का उपयोग किया
जाता है ।” परिवहन के अलग-अलग माध्यमों के तीन उदाहरण देकर इस कथन की पुष्टि
कीजिए।
(“Different modes of transport are used in different parts of the world”.
Support the statement by giving three examples of modes of transport.)
उत्तर-आवश्यकतानुसार परिवहन के तीन मुख्य माध्यम है- स्थल, जल तथा वायु । अब
पाइप का भी प्रयोग हो रहा है। इन परिवहन माध्यमों का उपयोग संसार के विभिन्न भागों में
होता है। जो माध्यम जहाँ अधिक उपयोगी है वहाँ उसी का अधिक उपयोग हो रहा है।
स्थल मार्गों में रेल परिवहन तथा सड़क परिवहन बहुत महत्त्वपूर्ण है । इनका उपयोग भारत,
अमेरिका आदि देशों में अधिक होता है। सड़क मार्ग अधिक उपयोगी है, क्योंकि यह प्रत्येक क्षेत्र में उपभोक्ता के द्वारा तक बनाया जा सकता है।
जल मार्ग का उपयोग प्राय : तटवर्ती क्षेत्रों में तथा जिन देशों का समुद्री तट अधिक विस्तृत
है उन देशों में इसका उपयोग होता है। जैसे उत्तरी अमेरिका में जल मार्ग का अधिक उपयोग है।
वायुमार्ग का प्रायः पर्वतीय क्षेत्र, मरुस्थलीय क्षेत्र तथा जलवायु की दृष्टि से अगम्य क्षेत्रों में
अधिक उपयोग होता है। भारत का उत्तरी-पूर्वी भाग, आस्ट्रेलिया तथा कनाडा जैसे देशों में
वायुमार्ग अधिक प्रचलित है।
‘प्रश्न 7. संसार में रेलमार्गों के विकास में सहायक तीन प्रमुख कारक बताइए।
उत्तर-संसार में रेलमार्गों के विकास में निम्न कारक सहायक हैं-
1. समतल भूमि (Plains)-समतल मैदानों में रेलमार्गों का विकास अधिक संभव है। यूरोप
और उत्तरी अमेरिका के मैदानों में रेलमार्गों का जाल बिछा हुआ है ।
2. सघन जनसंख्या (Dense Population)-सघन जनसंख्या के कारण भी अधिक
रेलमार्ग विछाए जाते हैं। उदाहरण स्वरूप भारत का उत्तरी मैदान ।
3. औद्योगीकरण तथा समृद्ध कृषि (Industrialisation and Developed Agriculture)-उद्योगों के विकास तथा समृद्ध कृषि क्षेत्रों में भी रेलों का अधिक विकास होता
है। उदाहरण- यूरोप तथा उत्तरी अमेरिका ।
प्रश्न 8. वायु परिवहन महँगा होते हुए भी दिनोंदिन संसार में अधिक लोकप्रिय क्यों होता
जा रहा है ? किन्हीं तीन कारणों की व्याख्या कीजिए।
(Why is air transport becoming more popular in the world day by day
inspite of its high cost ? Give any three reasons.)
उत्तर-वायु परिवहन महँगा होते हुए भी दिनोंदिन संसार में अधिक लोकप्रिय होता जा रहा
है। इसके निम्न कारण हैं-
(i) लंबी दूरी के लिए परिवहन का सबसे उपयुक्त साधन है।
(ii) सुरक्षा कारणों से वायुयान विभिन्न देशों के ऊपर से निर्धारित गलियारों में से ही गुजर
सकता है।
(iii) वायुयान निर्धारित समय-सारिणी के अनुसार ही उड़ान भरते हैं।
(iv) जल्दी खराब होने वाले पदार्थों तथा कीमती सामान को सुगमता से पहुँचाया जा
सकता है।
(v) ऊबड़-खाबड़ क्षेत्रों, पठारी क्षेत्रों, दलदली क्षत्रों तथा वनों से आच्छादित क्षेत्रों के लिए
वायुयान उपयोगी साधान है।
प्रश्न 9. नीचे दिए गए मानचित्र का अध्ययन कीजिए और दिए गए प्रश्नों का उत्तर दें।
(Study the map given below and answer the questions that follow 🙂
(i) मानचित्र में दिखाई गई नहर से जुड़े दो सागरों के नाम बताइए।
(ii) इस मानचित्र में सं. 1 और 2 से दिखाए गए पत्तनों के नाम बताइए।
(Name the two ports marked in the map by No. I and 2.)
(iii) क और ख से प्रदर्शित झीलों के नाम बताइए ।
(Name the lakes shown by A and B.)
उत्तर-(i) उत्तर में भूमध्यसागर तथा दक्षिण में लाल सागर ।
(ii) संख्या । पर पोर्ट सईद तथा संख्या 2 पर स्वेज।
(iii)’क’ स्थान पर लिटिल बिटर झील तथा ‘ख’ स्थान पर ग्रेट विटर झील।
प्रश्न 10. संयुक्त राज्य अमेरिका की प्रसिद्ध पाइप लाइन कौन-सी है ? पाइप लाइन
परिवहन के चार लाभों का उल्लेख कीजिए।
(Which is the famous pipeline of USA ? State four advantages of pipeline transportation)
उत्तर-संयुक्त राज्य अमेरिका की प्रसिद्ध पाइप लाइन का नाम विग इंच है। पाइप लाइन
परिवहन के लाभ निम्नलिखित है-
(i) पाइपलाइन से तरल तथा गैसीय पदार्थों को दूर स्थानों तक ले जाया जाता है । इनसे पानी,
पेट्रोल, गैस आदि ले जाए जाते है।
(ii) पाइपलाइन निर्माण में एक बार ही पूँजी निवेश करना पड़ता है। फिर खर्च में कमी आ
जाती है और परिवहन सुगम हो जाता है।
(iii) पाइनलाइनों से तरल पदार्थों की आपूर्ति निरंतर बनी रहती है।
(iv) पाइपलाइन को सभी प्रकार के धरातल- ऊबड़-खाबड़, पठारी, पर्वतीय व कठिन
भू-भागों यहाँ तक कि पानी के नीचे भी बिछाया जा सकता है।
(v) इनसे समय की बचत होती है।
(vi) पाइपलाइन द्वारा परिवहन पर्यावरण-हितैषी तीव्र एवं सस्ता है।
प्रश्न 11. सड़क परिवहन सुविधाजनक क्यों होता है ?
(Why is road transport easier ?)
उत्तर-(i) सड़क परिवहन अपेक्षाकृत सस्ता है। इसकी लागत, मरम्मत और देखभाल
तुलनात्मक दृष्टि से कम है।
(ii) सड़कें उपभोक्ता के घर तक पहुँचती हैं। उत्पादक और व्यापारी सड़क परिवहन को
अधिक पंसद करते हैं क्योंकि माल को बार-बार उतारना या चढ़ाना नहीं पड़ता।
(iii) यह कम दूरी के लिए बहुत उत्तम है।
(iv) शीघ्र नष्ट होने वाली वस्तुयें, जैसे सब्जियाँ, फल, दूध उत्पाद आदि के लिए उपयोगी हैं।
(v) कहीं भी कभी भी अर्थात् समय और स्थान की पाबन्दी नहीं है। यात्री और सामान को
कहीं से कहीं भी ढोया जा सकता है।
(vi) पैकिंग आदि की आवश्यकता नहीं। फल, सब्जियाँ आदि सीधे ट्रकों से ढोई जा
सकती हैं।
प्रश्न 12. आधुनिक संचार तंत्र ने पूरे संसार को एक “वैश्विक ग्राम” के रूप में किस
प्रकार बदल दिया है ? चार उपयुक्त उदाहरणों सहित व्याख्या कीजिए।
(How has modern communication system converted the whole world into a ‘global village’ ? Explain with four suitable examples.)
उत्तर-मनुष्य प्राचीन समय से ही संचार के साधनों का प्रयोग करता आ रहा है, लेकिन
आधुनिक समय के संचार के साधनों ने सारे विश्व को एक वैश्विक ग्राम बना दिया है।
(i) दूर संचार की नई अग्रिम तकनीक ने इस क्षेत्र में अधिक कार्य किया है
(ii) रेडियो, दूरदर्शन तथा फैक्स और इंटरनेट ने इस क्षेत्र में क्रांति ला दी है। हम फैक्स
अथवा इन्टरनेट के द्वारा थोड़े से समय में दूर तक संदेश भेज सकते हैं।
(iii) अंकीय सूचना संचार कम्प्यूटर प्रणाली में मिश्रित हो गया है। कम्प्यूटर के द्वारा विश्व
के किसी भाग में भी हम सूचना एकत्र कर सकते हैं।
(iv) आज के समय में इंटरनेट का इलेक्ट्रॉनिक जाल संचार का सबसे बड़ा साधन है, जिसके
द्वारा एक अरब लोग एक साथ जुड़ सकते हैं।
प्रश्न 13. संचार, परिवहन तथा व्यापार में क्या अंतर हैं?
(Distinguish between communication, transport and trade.)
उत्तर-संचार (Communication)-संचार के साधन एक स्थान से दूसरे स्थान को सूचना
भेजते हैं और प्राप्त करते हैं । डाक सेवाओं, टेलीफोन, फैक्स, इंटरनेट, समाचारपत्रों, टेलीग्राम आदि द्वारा सूचनायें भेजी और प्राप्त की जाती हैं।
परिवहन (Transport)-परिवहन से अभिप्राय मनुष्य तथा आवश्यक उपयोगी वस्तुओं को
एक स्थान से दूसरे स्थान पर लाने ले जाने की प्रक्रिया है। परिवहन स्थल, जल और वायु द्वारा
विभिन्न प्रकार के वाहनों द्वारा किया जाता है। कभी-कभी परिवहन के रूप में पशुओं, और स्वयं मानव का उपयोग भी होता है।
व्यापार (Trade)-व्यापार बाजार के माध्यम से वस्तुओं और सेवाओं का आदान-प्रदान
वस्तुओं के मूल्य में अंतर अथवा माँग और आपूर्ति व्यापार के लिए उत्तरदायी हैं। इस प्रकार
व्यापार से अभिप्राय दो स्थानों के बीच वस्तुओं और सेवाओं का प्रवाह है।
प्रश्न 14. नीचे दिए गए मानचित्र का अध्ययन कीजिए और निम्नलिखित प्रश्नों के
उत्तर दीजिए-
(i) इस मानचित्र में दिखाई गई रेलवे लाइन का नाम बताइए।
(ii) यह रेलवे लाइन किस देश में है?
(iii) उन दो महासागरों के तटों के नाम लिखिए जिन्हें यह रेलवे लाइन जोड़ती है।
उत्तर-(i) आस्ट्रेलियाई अंतरमहाद्वीपीय रेलमार्ग।
(ii) आस्ट्रेलिया में।
(iii) पश्चिम में हिंद महसागर तथा पूर्व में प्रशांत महसागर ।
प्रश्न 15. समुद्री जल यातायात के क्या लाभ हैं ?
(What are the advantages of sea water transport ?)
उत्तर-सामुद्रिक जलमार्ग के निम्नलिखित लाभ हैं-
(i) जल परिवहन एक देश से दूसरे देश के लिए भारी माल की ढुलाई का सस्ता और सरल
साधन है।
(ii) महासागर सभी महाद्वीपों को एक-दूसरे से मिलाते हैं।
(iii) समुद्री परिवहन द्वारा जितना सामान एक साथ जलयानों द्वारा ढोया जा सकता है वह
किसी अन्य साधन द्वारा संभव नहीं।
(iv) विशाल जलयानों में प्रशीतित कक्ष के बन जाने से शीघ्र नष्ट होने वाली वस्तुओं को
ले जाना संभव हो गया है।
(v) खनिज तेल अथवा गैस आदि को ढोने के लिए विशाल टैंकरों का उपयोग किया जा
सकता है।
(vi) पत्तनों पर कंटेनरों के प्रयोग से सामान को उतारना या चढ़ाना आसान है।
(vii) आधुनिक जहाज रडार, वायरलेस आदि से सज्जित होते हैं। इसलिए खराब मौसम
में भी रुकावट नहीं आती।
प्रश्न 16. मिस्र देश की जहाजी नहर का नाम बताइए। इसकी चार विशेषताएँ भी
लिखिए।
(Name the shipping canal of Egypt Write four characteristics of it.)
उत्तर-मिस्र देश की जहाजी नहर का नाम स्वेज नहर है। इसकी चार विशेषतायें निम्न हैं-
1. यह नहर 165 मी० लम्बी, 60 मीटर चौड़ी तथा 10 मीटर गहरी है।
2. विश्व का 15% व्यापार इसी नहर के द्वारा होता है।
3. यह यूरोप के औद्योगिक तथा एशिया के विकासशील देशों के बीच संपर्क स्थापित
करती है।
4. इस मार्ग के अपनाने से ब्रिटेन तक पहुंचने में लगभग 8,000 किमी० की दूरी की बचत
होती है।
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न (Long Answer Type Question)
प्रश्न 1. विश्व के वे कौन-से प्रमुख प्रदेश हैं जहाँ वायुमार्ग का सघन तंत्र पाया
जाता है?
(Which are the major regions of the world having a dense network at
airways)
उत्तर-संसार में सघन वायु मार्ग वाले क्षेत्र हैं-
1. पश्चिमी यूरोप।
2. पूर्वी संयुक्त राज्य अमेरिका।
3. दक्षिणी-पूर्वी एशिया।
अमेरिका अकेला ही विश्व के 60% वायु परिवहन का प्रयोग करता है। न्यूयार्क, लन्दन,
पेरिस, अर्सटरडम, फ्रेन्क फर्ट रोम, बैकांक, मुम्बई, करांची, नई दिल्ली, लास एंजिल्स आदि ऐसे केन्द्र हैं जहाँ से वायु परिवहन भिन्न देशों को जाता है अथवा इन केन्द्रों पर आता है।
अफ्रीका, रूस का एशियाई भाग तथा दक्षिणी अमेरिका में वायु सेवा कम है।
प्रश्न 2. वे कौन-सी विधाएँ हैं जिनके द्वारा साइबर स्पेस मनुष्यों के समकालीन आर्थिक
और सामाजिक स्पेस की वृद्धि करेगा?.
(What are the modes by which cyber space will expand the comtemporary economic and social space of humans?)
उत्तर-साइबर स्पेस इलेक्ट्रॉनिक कम्प्यूटराइज्ड स्पेस की दुनिया है। यह इन्टरनेट जैसे
w.w.w द्वारा घेरा हुआ है। यह इलेक्ट्रॉनिक डिजीटल है जो कम्प्यूटर नेटवर्क द्वारा सूचना भेजने के लिए होता है जिसमें प्रेषक और प्राप्तकर्ता को कोई भौतिक गति नहीं करनी होती। साइबर स्पेस सभी स्थानों पर होता है। यह कार्यालय नाव, वायुयान तथा अन्य सभी स्थानों पर होता है।
इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क की गति जिस पर यह कार्य करता है, असामान्य होती है जो मानव
इतिहास में अद्वितीय है। 1955 में इण्टरनेट के उपयोगकर्ता की संख्या 50 मिलियन थी जो 2000 में बढ़कर 400 मिलियन हो गई और 2005 में बढ़कर एक बिलियन से भी अधिक है। 2000 तक इसमें अन्य बिलियन और मिल जायेंगे। पिछले पांच सालों में सं. रा. अमेरिका के उपभोग में परिवर्तन आ गया है । यू. एस.ए. का प्रतिशत 66 से घटकर 1995 से 2005 तक 25 रह गया है। विश्व के उपभोगकर्ताओं में यू. एस. रा. के जर्मनी, जापान, चीन और भारत की संख्या अधिक है।
साइवर रचेस समकालीन आर्थिक और सामाजिक क्षेत्र में ईमेल, ई-कामर्स-लर्निंग आदि द्वारा
परिवर्तन लायेगा । फैक्स, टी. वी. रेडियो के साथ इण्टरनेट प्रत्येक व्यक्ति की पहुंच में हो जायेगा। यह आधुनिक संचार प्रणाली है।
प्रश्न 3. “एक सुप्रबंधित परिवहन प्रणाली में विभिन्न साधन एक-दूसरे को संपूरक होते
हैं,” इस कथन को स्पष्ट कीजिए।
(Elucidate the statement, “In a well managed transport system, various
modes complement each other.”‘)
उत्तर-सुव्यवस्थित परिवहन प्रणाली परिवहन के सभी साधन एक-दूसरे के पूरक होते हैं,
यह कथन सही है । सुव्यवस्थित प्रणाली का अर्थ हैं महामार्ग, रेलमार्ग, वायुमार्ग तथा विकसित
जल मार्ग।
सड़क महामार्गों द्वारा बंदरगाह तथा बड़े-बड़े व्यापारिक केन्द्र जुड़े होते हैं। जो बंदरगाह
को पृष्ठदेश से निर्यात के लिए माल की ढुलाई करते हैं और आयात किये हुए माल का वितरण
देश के आन्तरिक भागों में करते हैं। बंदरगाह का विकसित होना रेलमार्ग तथा सड़क मार्ग के
विकसित होने पर ही निर्भर करता है। जलमार्ग द्वारा विदेशों से व्यापार संभव होता है
देश के आन्तरिक भागों में विकास के लिए जलमार्गों का भी महत्त्व होता है। जलमार्गों द्वारा
भारी माल की ढुलाई की जाती है जिससे परिवहन खर्च कम आता है।
वायुमार्ग प्राय : ऐसे क्षेत्रों में जहाँ सड़क मार्ग अथवा रेल मार्ग निर्माण असंभव और कठिन
है उपयोग में लाये जाते हैं। वायुमार्ग महँगा होते हुए भी ऐसी वस्तुएँ जो प्राय : शीघ्र नष्ट होने
वाली होती हैं, की ढुलाई में उपयोगी है। इस प्रकार परिवहन के सभी साधन एक-दूसरे के
पूरक हैं।
प्रश्न 4. उत्तर एवं दक्षिणं अटलांटिक मार्ग का वर्णन करें।
(Describe the North and South Atlantic Ocean routes.)
उत्तर-उत्तरी अटलांटिक मार्ग (North Atlantic Routes)
(i) पश्चिमी यूरोप और उत्तर अमेरिका के पूर्वी तट के मध्य संसार का व्यस्ततम समुद्री
मार्ग है।
(ii) दोनों ही क्षेत्रों में औद्योगिक और कृषि उत्पादन अधिक है जिसे अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार की
आवश्यकता है।
(iii) संसार के 25% जहाज इसी मार्ग से जाते हैं।
(iv)पश्चिमी यूरोप के प्रमुख बंदरगाह ग्लासगो, लन्दन, रोटरडम एंटीवर्ष होर्वे वोर्डी आदि हैं।
(v) उत्तर अमेरिका के प्रमुख बंदरगाह क्यूबेक मान्ट्रियल, बोस्टन, न्यूयार्क व बाल्टीमोर हैं।
(vi) परिवहन की वस्तुओं में वस्त्र, रसायन, मशीनें, उर्वरक, इस्पात, शराब आदि हैं।
(vii) पश्चिमी यूरोप को जाने वाली वस्तुओं में खाद्य पदार्थ, गेहूँ, लुग्दी, तांबा, लोहा-इस्पात
आदि हैं।
दक्षिण अटलांटिक मार्ग (South Atlantic Routes)-
(i) इस मार्ग से दक्षिण अमेरिका देशों तथा यूरोप के मध्य व्यापार होता है। ब्राजील,
अर्जेन्टाइना, दक्षिण अमेरिका के प्रमुख देश हैं।
(ii) प्रमुख बंदरगाह लंदन, लिवरपूल, हेमबर्ग किंगस्टन, हवाना, दक्षिणी द्वीपसमूह, रियो दि
जेनरो तथा ब्यून आयर्स आदि हैं।
(iii) परिवहन के सामान में दक्षिण अमेरिका और पश्चिम द्वीप से यूरोप को कहवा, रबड़,
चीनी, मांस, ऊन, गेहूँ भेजा जाता है। पश्चिमी यूरोप से इन देशों को कोयला, मशीनें तथा
औद्योगिक उत्पादन भेजे जाते हैं।
प्रश्न 5. परिवहन के रूप में रेलमार्गों के महत्त्व और उनके वितरण प्रारूप की विवेचना
कीजिए।
(Discuss the importance of railways a means of transport and its
distribution pattern.)
उत्तर-रेलमार्गों का महत्त्व (Importance of Railways)-रेल स्थल पर तीव्र गति से
चलने वाला परिवहन साधन है।
इसकी प्रमुख विशेषताएँ निम्नलिखित हैं-
(i) रेलमार्गों द्वारा मोटरों एवं ट्रकों की अपेक्षा अधिक माल एवं यात्रियों को एक स्थान से
दूसरे स्थान पर ले जाया जाता है।
(ii) रेलमार्गों द्वारा अधिक भार वाले माल को ढोना आसान होता है।
(iii) रेलमार्ग लम्बी दूरी के लिए उत्तम परिवहन का साधन है।
(iv) यात्री रेलगाड़ियों में यात्रियों को सभी सुख-सुविधाएँ उपलब्ध होती हैं।
(v) औद्योगिकी विकास के साथ-साथ रेलें किसी देश की राजनैतिक स्थिरता बनाए रखने
में भी सहायक होती हैं।
(vi) शीघ्रनाशी वस्तुओं के परिवहन के लिए प्रशीतित डिब्बों का प्रयोग किया जाता है।
(vii) रेलों द्वारा देश के आर्थिक विकास में बहुत मदद मिलती है।
वितरण प्रारूप (Distribution Pattern)-संसार के आर्थिक रूप से विकसित देशों में
रेलों का जाल बिछा हुआ है।
(i) दक्षिणी अमेरिकी इस महाद्वीप में अर्जेन्टाइना और ब्राजील के आन्तरिक भाग, बंदरगाहों
से रेलमार्ग द्वारा जुड़े हैं। इस क्षेत्र में रेलों का सघन जाल है। पंपास का गेहूँ, रेलों द्वारा बंदरगाहों तक लाया जाता है।
(ii) पश्चिम यूरोप में रेलमार्गों का सघन जाल है। बेल्जियम में रेलों का संसार में सघनतम
जाल है। यहाँ रेलों का घनत्व 6.5 वर्ग कि०मी० क्षेत्र में 1 कि० मी० है।
(iii) उत्तरी अमेरिका में रेलों का सघन जाल है। संसार के 40% रेल मार्ग इसी महाद्वीप
में हैं। यहाँ खनिज, अनाज, इमारती लकड़ी की ढुलाई रेलों द्वारा होती है।
(iv) उपनिवेशों में रेलमार्ग : यूरोप के उपनिवेशवादी देशों ने एशिया और अफ्रीका के
आन्तरिक भागों को बंदरगाहों से जोड़ा था जिनसे कच्चा माल बंदरगाहों तक आता था ।
इनके अतिरिक्त विश्व में अन्तरमहाद्वीपीय रेलमार्गों का भी निर्माण हुआ है। इनमें से कुछ
प्रमुख हैं-
1. ट्रांस-साइबेरियन रेलवे (Trans-Siberian Railways)-यह रेलमार्ग विश्व का सबसे
लम्बा रेलमार्ग है। इसकी लम्बाई 933 किमी है। यह पश्चिम में लेनिनग्राड को पूर्व में
लाडीवोस्टक से जोड़ता है। इस रेलमार्ग के प्रमुख स्टेशन खवारोवस्क, इर्कुटस्क, तामशेट,
ओमस्क, टोमस्क, पर्म तथा मास्को हैं।
आर्थिक महत्त्व-मास्को क्षेत्र से मशीनरी और औद्योगिकी उत्पाद पूर्व की ओर जाता है।
यूराल क्षेत्र के धातु खनिज और मशीनरी पश्चिम की और जाते हैं। कोयला, लकड़ी, खनिज तेल, कृषि और औद्योगिक उत्पादों का पूर्व से पश्चिम के बीच परिवहन होता है ।
कई नाव्य नदियों जैसे वोल्गा, ओबे, यनीशी, आमूर को रेलमार्ग पार करता है। नदी मार्गों
द्वारा दक्षिण की ओर माल भेजता है।
2. कनाडियन पैसिफिक रेलमार्ग (Canadian Pacific Railways)-यह रेलमार्ग पूर्व में
हैलीफेक्स से पश्चिम में बैंकूवर तक जाता है । यह रेलमार्ग 7050 किमी० लम्बा है। इस रेलमार्ग के प्रमुख स्टेशन हैं : मान्ट्रियल, ओटावा, एडबरी, विनिपेग आदि ।
इस रेलमार्ग का कनाडा के आर्थिक विकास में महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है। इसकी एक शाखा
क्यूबेक से हस्र्ट होती हुई विनिपेग तक जाती है। यह रेलमार्ग क्यूबेक माण्ट्रियल के औद्योगिक
प्रदेशों को मुलायम लकड़ी के क्षेत्र तथा प्रेयरी के गेहूँ प्रदेश से जोड़ता है। प्रेयरी के गेहूँ को सेंट
लारेंस जल मार्ग तक पहुँचाता है।
आस्ट्रेलियन अन्तरमहाद्वीपीय रेलमार्ग (Australian Transcontinental Railways)-
यह रेलमार्ग पूर्व में सिडनी से पश्चिम में पर्थ तक जाता है। पूर्व से पश्चिम की ओर प्रमुख स्टेशन
हैं- ब्रोकनहिल, टारकूला डीकिन, कालगूली और नार्थन । इस रेलमार्ग से लौह अयस्क की ढुलाई की जाती है।
प्रश्न 6. विश्व में सड़कों और महामार्गों के वितरण का वर्णन कीजिए।
(Describe the distribution of roads and highways in the world.)
उत्तर-विश्व में सड़कों का विकास मुख्यत: उन देशों में हुआ है जो आर्थिक दृष्टि से अधिक
विकसित है। विश्व में सड़कों की लम्बाई रेलमार्गों की लम्बाई से 13 गुना अधिक है।
महामार्गों का वितरण (Distribution of Highways)-
(i) संयुक्त राज्य अमेरिका में लम्बी दूरी के महामार्गों का घना जाल है। यहाँ महामार्गों द्वारा
देश के पूर्वी तट पर स्थित नगरों को पश्चिमी तट के नगरों से मिलाते हैं। यहाँ इन महामार्गों
को मोटर वेज कहते हैं।
(ii) कनाडा के उत्तर में स्थित नगर भी महामार्गों द्वारा दक्षिण में मेक्सिको के नगरों से जुड़े
हैं जो संयुक्त राज्य अमेरिका से होकर गुजरते हैं।
(iii) कनाडा पारीय महामार्ग पश्चिमी तट के वैंकूवर को पूर्वी तट के न्यूफाउंडलैंड से
जोड़ता है।
(iv) अलास्का महामार्ग दक्षिणी कनाडा के एडमांटन नगर को अलास्का के अंकरेज नगर
से जोड़ता है।
(v) भारत में भी अनेक राष्ट्रीय महामार्ग हैं। ये महामार्ग देश के बड़े नगरों को आपस में
जोड़ते हैं।
(vi) प्रस्तावित पैन अमेरिकन महामार्ग विश्व का सबसे लम्बा महामार्ग है जो दक्षिण अमेरिका
में चिली के नगर को उत्तर अमेरिका में अलास्का के नगरों से जोड़ेगा। इसका अधिकांश भाग
बनकर तैयार है।
(vii) चीन में उत्तर-दक्षिण, पूर्व तथा पश्चिम के नगरों को महामार्गों द्वारा जोड़ा गया है।
(viii) अफ्रीका में एक महामार्ग अल्जीयर्स को एटलस पर्वत तथा सहारा मरुस्थल के पार
गिनी में स्थित कोनाक्री से जोड़ता है।
प्रश्न 7. वर्तमान युग को परिवहन के क्षेत्र में वायु युग क्यों कहा जाता है ? वायु
परिवहन की विशेषताएं तथा दोष बताइए।
(Why is the present age called air age in the bild of transpartation ?
Mention some characteristics with its disadvantages.)
उत्तर-आधुनिक युग अत्यन्त तीव्रगामी परिवहन का युग है। रेल तथा मोटर वाहनों की गति
में कितना भी सुधार कर लें वायु परिवहन की तुलना नहीं कर सकते ।
इस युग में वायु परिवहन का प्रचलन इतना अधिक है कि आधुनिक युग को हवाई युग कहा
जाने लगा है।
वायु परिवहन की विशेषतायें (Characteristics of Air Transport)
(i) वायु परिवहन अन्य साधनों की तुलना में अत्यंत तीव्र गति का साधन है, परंतु इसकी
सबसे बड़ी समस्या इसका महँगापन है।
(ii) वायुमार्ग पर चलने के कारण वायु यातायात को पर्वत, वनों, दलदलों तथा मरुस्थलों जैसे
अवरोधों का सामना नहीं करना पड़ता।
(iii) वायु यातायात हल्की, अधिक मूल्यवान वस्तुओं को भेजने का अच्छा साधन है।
(iv) तीव्र गति होने के कारण लम्बी दूरी की यात्राओं के लिए वायु परिवहन को सबसे अच्छा
माना जाता है।
(v) कुछ क्षेत्रों में विषम भौतिक लक्षणों के कारण वायु यातायात सबसे अच्छा साधन है।
वायु परिवहन के दोष (Demerits of Air Transport)-
(i) वायु परिवहन महँगा साधन है। इसका लाभ केवल धनी वर्ग ही ले सकते हैं।
(ii) खराब मौसम में वायु यातायात में बाधा आती है।
(iii) वायु दुर्घटनायें कई बार भयंकर रूप ले लेती हैं।
प्रश्न 8. इंटरनेट क्या है, इसकी विशेषतायें बताइए।
(What is internet? Mention its features.),
उत्तर-इंटरनेट कम्प्यूटर प्रणाली दूर संचार के लिए एक सशक्त माध्यम है। यह सूचनाओं
के आदान-प्रदान के लिए प्रयोग की जाने वाली संसार की सबसे बड़ी इलेक्ट्रानिक प्रणाली है।
यह लगभग 100 देशों के 1 अरब से भी अधिक लोगों को आपस में जोड़ता है।
इन्टरनेट की सुविधाजनक सम्पर्क प्रणाली द्वारा कोई प्रयोगकर्ता माइक्रो कम्प्यूटर और मोडम
के माध्यम से साइबर स्पेस से जुड़ सकता है। इस प्रकार वह विश्व के किसी केन्द्र से जुड़कर
जानकारी प्राप्त कर सकता है। साइबर स्पेस एक ऐसा इलेक्ट्रानिक कम्प्यूटरीकृत क्षेत्र का संसार है जो इंटरनेट और वर्ल्ड वाइड वेब की प्रौद्योगिकी से संचालित होता है।
आज लाखों ग्राहक इंटरनेट से जुड़े रहते हैं। सूचना संसार के आकार, प्रयोग, तथा महत्व
में वृद्धि हो रही है। इंटरनेट के अन्तर्गत ई-मेल व इलेक्ट्रानिक वाणिज्य (ई-मेल) भी
शामिल हैं।
प्रश्न 9. उपग्रह संचार पर एक नोट लिखें।
(Write a note on Statellite communication.)
उत्तर-आधुनिक तकनीकी ज्ञान के आधार पर मनुष्य ने संचार व्यवस्था के लिए उपग्रह का
प्रयोग करना शुरू कर दिया है। विश्व के अनेक विकसित और विकासशील देशों में उपग्रहों से
संचार का काम लिया जा रहा है। उपग्रह संचार के क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के शोध कार्य होते
रहते हैं।
अंतरिक्ष शोध में संयुक्त राज्य अमेरिका एवं रूस अग्रणी हैं । इन देशों द्वारा ही कृत्रिम उपग्रहों
को पृथ्वी की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित किए जाने के प्रयास से संचार के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन हुए। जब से 1970 के दशक में उपग्रहसंचार प्रणाली का प्रारंभ हुआ, दूरी के संदर्भ में संचार के मूल्य और समय लगभग एक हैं। अतः उपग्रह के माध्यम से संदेश भेजने का खर्च 500 मी० से 5000 मी० तक लगभग समान हो गया है। भारत ने भी अंतरिक्ष शोध में अत्यधिक प्रगति की है। प्रथम भारतीय संचार उपग्रह आर्यभट्ट 19 अप्रैल, 1975 को पूर्वकालिक सोवियत संघ के इंटरकॉसमास राकेट द्वारा छोड़ा गया। 7 जून, 1997 को भास्कर-1 तथा 18 जुलाई, 1980 को भारत के कास्मोड्रोम श्रीहरिकोटा से रोहिणी उपग्रह को प्रक्षेपित किया गया ।
19 जून, 1981 को एक प्रायोगिक दूरसंचार उपग्रह एप्पल (एरियन पैसेंजर पेलोड
एक्सपेरिमेंट APPLE ) एरियन राकेट के द्वारा छोड़ा गया। भास्कर-2 का प्रक्षेपण 20 नवंबर,
1981 को हुआ जो भास्कर-1 की भाँति ही दूरसंवेदन उपग्रह था। 10 अप्रैल, 1982 को इनसेट-1 ए उपग्रह का प्रक्षेपण हुआ, परंतु सितंबर 1982 में इसने कार्य करना बंद कर दिया । अत: 30 अगस्त, 1983 को इनसेट 1-बी को अंतरिक्ष शटल चैलेंजर के द्वारा छोड़ा गया। इनसेट-1 बी से रेडियो, टेलीविजन तथा दूरसंचार के अन्य माध्यमों क्रांतिकारी क्षमता आ गई। आज हम टेलीविजन पर मौसम की जानकारी प्राप्त करते हैं। आँधी और तूफानों की पूर्व सूचना भी प्रभावशाली तरीके से दी जा रही है।
सबसे अच्छे उपग्रह चित्र नासा के लैंडसेट उपग्रहों द्वारा उपलब्ध हो रहे हैं। प्रथम इ.आर.
टी. एस. (अर्थ रिसोर्सेज टेक्नोलॉजी सेटेलाइट) अर्थात् पृथ्वी संसाधन प्रौद्योगिकी उपग्रह को
1972 में अंतरिक्ष में छोड़ा गया था। नासा और संयुक्त राज्य भौमिकीय सर्वेक्षण विभाग के
संयुक्त प्रयास से कार्य करने वाले लैंडसेट को अप्रैल 1999 में छोड़ा गया। इन उपग्रहों ने पृथ्वी
से संबंधित विस्तृत सूचनाएँ प्रदान की हैं जिनका प्रयोग विभिन्न वैज्ञानिकों तथा मानचित्र
निर्माणकर्ताओं द्वारा हो रहा है।
अमेरिकी तथा रूसी सरकारों ने टोही उपग्रहों द्वारा संग्रह किए गए आँकड़ों पर लगे प्रतिबंध
ढीले कर दिए हैं, इसके परिणामस्वरूप निजी कंपनियों द्वारा उनका उपयोग असैन्य कार्यों में जैसे, मौसम के पूर्वानुमान, वनोन्मूलन अनुप्रयोगों जैसे क्षेत्रों की स्थिति का निर्धारण और खनिजों के भंडार और सैकड़ों भौतिक प्रारूपों तथा प्रतिक्रियाओं की पहचान, प्रदूषण का अनुमान तथा गृह-स्थलों के विश्लेषण में सर्वाधिक किया जा रहा है। ज्यों-ज्यों प्रौद्योगिकी का विकास हो रहा है, सरकारों, शिक्षण संस्थाओं, बुद्धिजीवियों तथा व्यावसायिकों द्वारा इन उपग्रह चित्रों के नए प्रयोग के क्षेत्र खोजे जा रहे हैं।
वस्तुनिष्ठ प्रश्न (ObjectiveAnswer Type Question)
नीचे दिए गए चार विकल्पों में से सही उत्तर का चयन कीजिए
(Choose the right answers from the four alternatives given below)
प्रश्न 1. पारमहाद्वीपीय स्टुवर्ट महामार्ग किनके मध्य से गुजरता है-
(क) डार्विन और मेलबोर्न
(ख) एडमंटन और एकॉरेज
(ग) बैंकूवर और सेंट जॉन नगर
(घ) चेगडू और ल्हासा ।
प्रश्न 2. किस देश में रेलमार्गों के जाल का सघनतम घनत्व पाया जाता है ?
(क) ब्राजील
(ख) कनाडा
(ग) संयुक्त राज्य अमेरिका
(घ) रूस
प्रश्न 3. बृहद ट्रंक मार्ग जाता है-
(क) भूमध्यसागर हिंदू महासागर से होकर
(ख) उत्तर अटलांटिक महासागर से होकर
(ग) दक्षिण अटलांटिक महासागर से होकर
(घ) उत्तर प्रशांत महासागर से होकर
प्रश्न 4. ‘बिग इंच’ पाइप लाइन के द्वारा परिवहन किया जाता है।
(क) दूध
(ख) जल
(ग) तरल पेट्रोलियम गैस (LPG)
(घ) पेट्रोलियम
प्रश्न 5. चैनल टनल जोड़ता है-
(क) लंदन-बर्लिन
(ख) बर्लिन-पेरिस
(ग) पेरिस-लंदन
(घ) बार्सीलोना-बर्लिन
प्रश्न 6. छोटी दूरियों की यात्रा के लिए सबसे सरल माध्यम
(क) सड़क परिवहन
(ख) रेलमार्ग
(ग) वायुमार्ग
(घ) तीनों
प्रश्न 7. भारत में रेलमार्ग की कुल लम्बाई है:
(क) 63000 किमी,
(ख) 60,000 किमी.
(ग) 65000 किमी.
(घ) 6000 किमी.
प्रश्न 8. एक स्थान से दूसरे स्थान तक वस्तुओं और यात्रियों का लाना-ले जाना
कहलाता है?
(क) परिवहन
(ख) आवागमन
(ग) संसाधन
(घ) उत्पादन
प्रश्न 9. विश्व का सबसे लंबा रेलमार्ग है:
(क) पैन अमेरीकी
(ख) कनाडियन पैसेफिक
(ग) आस्ट्रेलियन अंतर्महाद्वीपीय
(घ) ट्रांस-साइबेरियन
प्रश्न 10. संसार की सबसे लंबी पाइप लाइन की लम्बाई कितनी है?
(क) 4,800 किमी.
(ख) 4,500 किमी.
(ग) 480 कि.मी.
(घ) 48,000 किमी.
प्रश्न 11. निम्नलिखित में से किसका प्रयोग जल और पेट्रोलियम जैसे तरल पदार्थों
के परिवहन के लिए किया जाता है-
(क) पाइपलाइनों का
(ख) सड़कों का
(ग) टैंकरों का
(घ) जलमार्ग का
प्रश्न 12. परिवहन का सबसे तीव्र किन्तु सर्वाधिक महँगा साधन है:
(क) वायुयान
(ख) जलयान
(ग) कार
(घ) मैट्रो रेल
प्रश्न 13. भारत का सबसे लम्बा महामार्ग है :
(क) राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 5
(ख) राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 4
(ग) राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 7
(घ) राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 2
प्रश्न 14. विश्व में सघनतम रेल जाल किस महाद्वीप में है?
(क) यूरोप
(ख) अफ्रीका
(ग) एशिया
(घ) अमेरिका
प्रश्न 15. भारतीय रेलवे विश्व की बड़ी रेलवे है:
(क) पहली
(ख) दूसरी
(ग) तीसरी
(घ) चौथी
उत्तर
1. (क) 2. (ख) 3. (क) 4. (घ) 5. (ख) 6. (क) 7. (क) 8. (क) 9.(क) 10. (क)
11. (क) 12. (क) 13. (ग) 14. (क), 15. (क)

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!