Biography

Sunil Gavaskar Biography In Hindi – सुनील गावस्कर की जीवनी

Sunil Gavaskar Biography In Hindi – सुनील गावस्कर की जीवनी

Sunil Gavaskar Biography In Hindi

आज बात करने जा रहे सुनील गावस्कर की जिन्होंने  10,000 टेस्ट रन बनाने वाले  बल्लेबाज थे ..सर डाॅन ब्रेडमैन के 29 शतकों का कीर्तिमान सर्वप्रथम सुनील गावस्कर ने ही भंग किया था। जब यह भारतीय टीम में थे, तब दुनिया का प्रत्येक गेंदबाज इनको आउट करने का सपना संयोजा करता था। भारतीय बल्लेबाजी क्रम को इन्होंने बहुत मजबूती प्रदान की।सुनील मनोहर गावस्कर का जन्म 10 जुलाई 1949 को बम्बई में हुआ था | उन्हें हम सन्नी के नाम से भी जानते है | वे नि:संदेह भारतीय टेस्ट क्रिकेट के महानतम ओपनिंग बल्लेबाजो में से है | 1971 में उन्होंने पहले ही टेस्ट श्रुंखला में वेस्ट इंडीज के खिलाफ 774 रन बनाकर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया | उन्होंने अपने करियर के दौरान वेस्ट इंडीज के खिलाफ प्रति पारी 70.20 रन का औसत दिया , कोई भी तत्कालीन बल्लेबाज इस रिकॉर्ड को पार नही कर पाया था | वे सेवानिवृति तक प्रमुख बल्लेबाज बने रहे |1983 में इन्होंने क्रिकेट खेल का पुराना व प्रतिष्ठित रिकाॅर्ड तोड़ा जो डोनाल्ड बे्रडमैन का 29 टेस्ट शतकों का था। गावस्कर का 34 टेस्ट शतक का रिकाॅर्ड 2005 तक कायम रहा। फिर इसे सचिन ने तोड़ा। ये सर्वप्रथम खिलाड़ी रहे, जिन्होंने टेस्ट की दोनों पारियों में तीन बार शतक जड़े।ये 10,000 टेस्ट रन तक पहुंचने वाले प्रथम बल्लेबाज भी थे, फिर इस कीर्तिमान को एलन बाॅर्डर ने तोड़ा। 70 तथा 80 के दशक में ये कई दफा भारतीय टीम के कप्तान रहे।सुनील 1980 के ’विस्डन क्रिकेटर’ भी बने। भारत सरकार ने इन्हें इनकी उपलब्धियों के लिए पद्मभूषण से भी सम्मनित किया। दिसंबर 94 में ये एक वर्ष के लिए मुबंई के शेरिफ भी नियुक्त हुए। अब ये टीवी तथा प्रिंट मीडिया में क्रमशः कमेंटेटर और क्रिकेट विश्लेषक के रूप में जुड़े हैं। ये भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलाहकार और आईसीसी क्रिकेट कमेटी के चेयरमैन भी रह चुके हैं। इन्होेंने क्रिकेट पर चार पुस्तकें लिखी हैं- सनी डेज़, आइडल्स, रन्स एंड रूइन्स और वन डे वंडर्स। इनका पुत्र रोहन गावस्कर भी भारत के लिए खेल चुका हैं।

क्र. म. जीवन परिचय बिंदु जीवन परिचय
1. पूरा नाम सुनील मनोहर गवास्कर
2. निक नाम सनी और लिटिल मास्टर
3. जन्म 10 जुलाई 1949
4. जन्म स्थान मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
5. पिता मनोहर गावास्कर
6. माता मीनल गवास्कर
7. पत्नी मार्शनील
8. बेटा रोहन गवास्कर
9. कद 5 फूट 5 इंच
10. बल्लेबाजी का तरीका दाएँ हाथ के बल्लेबाज
11. गेंदबाजी का तरीका दाएँ हाथ के मध्यम

सुनील गावस्कर का घरेलू क्रिकेट:-

सुनील गावस्कर ने अपने स्कूल के दिनों से ही क्रिकेट खेलना सीख लिया था. स्कूल में अच्छे खेल के बदौलत उन्हें 1966 में रणजी के लिए चुना गया. सुनील ने रणजी के पहले ही मैच में कर्नाटक के विरुद्ध खेलकर दोहरा शतक लगाया था.

सुनील गावस्कर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर:-

सुनील गावस्कर का अन्तर्राष्ट्रीय मैचों में पदार्पण सन 1971 में वेस्ट-इंडीज के खिलाफ हुई. सनी ने अपने टेस्ट करियर में कुल 125 टेस्ट मैच में 10,122 टेस्ट रन बनाये. उस समय गावस्कर के 10 हजार रनों का भी एक विश्व रिकार्ड था जो बाद में आस्ट्रेलिया के एलन ने तोड़ दिया था.सुनील गावस्कर का 34 शतकों का विश्व रिकार्ड 20 साल से भी ऊपर रहा था. जो बाद में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने तोड़ दिया था. टेस्ट मैच में गावस्कर का सर्वोत्तम स्कोर 236 रनों का हैं. गावस्कर का सबसे ज्यादा शतक आस्ट्रेलिया और वेस्ट-इंडीज के खिलाफ ही हैं.

सुनील गावस्कर के एकदिवसीय मैच :

गावस्कर की वनडे शुरुआत इंग्लैंड के साथ हुई. गावस्कर का वनडे करियर काफी धीमा रहा लेकिन टेस्ट करियर अच्छा रहा. सुनील गावस्कर ने वनडे में कई यादगार मैच खेले.गावस्कर का वनडे में 88 गेंदों में मारा हुआ शतक काफी यादगार रहा हैं. सुनील गावस्कर और श्रीकांत की जोड़ी किसी जमाने में बेस्ट ओपनिंग जोड़ी हुआ करती थी.

विवाद:- 

सुनील गावस्कर खेलते हुए और खेलने के बाद भी विवादों से घिरे रहे. 1981 में मेलर्बोन में गावस्कर को आउट दिये जाने पर, उन्होंने अपने साथी खिलाड़ी को भी मैदान से खींच के बाहर कर दिया. इस बात पर मीडिया ने गावस्कर के लेकर तीखी आलोचना की. इसके बाद हरभजन सिंह के मंकीगेट के बयान पर भी आस्ट्रेलियन मीडिया ने गावस्कर की आलोचना की.

अवार्ड्स:-

  • 1975: -‘अर्जून अवार्ड
  • 1980: – भारत सरकार द्वारा ‘पदमभूषण’
  • 1980: -आईसीसी द्वारा विस्डेन अवार्ड

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!