History

प्लास्टिक की खोज किसने की थी?

प्लास्टिक की खोज किसने की थी?

image

प्लास्टिक की खोज किसने की थी?

प्लास्टिक का आविष्कार किसने और क्यों किया?

प्लास्टिक एक ऐसी सामग्री है जो सिंथेटिक या अर्ध-सिंथेटिक कार्बनिक यौगिकों की एक विस्तृत श्रृंखला है, जो लचीला पदार्थ हैं और इसलिए उसे ठोस वस्तुओं में ढाला जा सकता है। प्लास्टिक आमतौर पर उच्च आणविक द्रव्यमान के कार्बनिक पॉलिमर होते हैं और अक्सर अन्य पदार्थ होते हैं। वे आमतौर पर सिंथेटिक होते हैं, जो आमतौर पर पेट्रोकेमिकल से प्राप्त होते हैं।

पहला मानव निर्मित प्लास्टिक अलेक्जेंडर पार्क्स द्वारा बनाया गया था, जिन्होंने सार्वजनिक रूप से लंदन में 1862 की महान अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी में इसका प्रदर्शन किया था।

दुनिया का पहला पूरी तरह से सिंथेटिक प्लास्टिक का आविष्कार 1907 में लियो बेकलैंड द्वारा किया गया था जिसने ‘प्लास्टिक’ शब्द गढ़ा था। इस पदार्थ को बेकेलाइट कहा जाता है, जो उसके रासायनिक नाम से बहुत आसान था। कई केमिस्टों ने प्लास्टिक के भौतिक विज्ञान में योगदान दिया है, जिसमें नोबेल पुरस्कार विजेता हरमन स्टुडिंगर, जिन्हें “बहुलक रसायन विज्ञान का पिता” और हरमन मार्क जिन्हे “बहुलक भौतिकी के पिता” के रूप में जाना जाता है.

प्लास्टिक का अविष्कार दरसल वर्ष 1862 में एलेग्जेंडर पार्क्स ने किया था, जो पहला मानव रचननित प्लास्टिक था. उन्होंने उसे “ग्रेट इंटेरनेशनल एक्सहिबिशन इन लंदन ” में सबके समक्ष प्रदर्शित किया था. यह प्लास्टिक को पार्कसिने नाम दिया गया था, तथा ये एक आर्गेनिक मटेरियल ( कार्बनिक पदार्थ ) का बना था, ये आर्गेनिक मटेरियल\ कार्बनिक पदार्थ सेल्यूलोस था. जिसे पहले गरम किया जाता, फिर मनचाहा आकार दिया जाता, और ठंडा होने के बाद वह उसी आकर का रहता था.

और अब उस प्लास्टिक की बात करते है, जो आज हम इस्तेमाल कर रहे है. जो प्लास्टिक हम आज इस्तेमाल कर रहे है, वह दरसल पॉलीमर प्लास्टिक है, इस प्लास्टिक का अविष्कार ” लियो हेंड्रिक बैकलित ” ने किया था, जिसे उन्होंने ” बकेलिते ” नाम दिया था . ये प्लास्टिक का बेस सिंथेटिक पॉलीमर थे, मतलब ये प्लास्टिक “फिनॉल” तथा ” फोर्मेल्ड़ेहीदे” से बना था. ये पहला प्लास्टिक था जो कम पैसे तथा सस्ती तकनीक से बना था. तथा ये बोहोत उपयोगी था .

प्लास्टिक के अविष्कार से उस समय के लोगो को बहुत फायदा हुआ, क्योँकि वह किफायती था, काम कहरचे में बन रहा था, तथा जो उसकी विशेषताएं भी थी जैसे पानी उसके आरपार नहीं जा सकता था, वह इलास्टिक था, और सबसे बड़ा फायदा वह वज़न में हल्का था. प्लास्टिक के अविष्कार में सबसे बड़ा कारण ये मन जाता है, की उस समय लोगो छोटी चीज़ो को भी कही पर ले जाने के लिए लकड़ी के दबो का इस्तेमाल करना पड़ता था जो काफी भरी होते थे, तथा लकड़ियों के लिए पेड़ो को भी काटना पड़ता था, तोह ये दोने परेशानियों के इलाज का समाधान आज प्लास्टिक के रूप में हमारे सामने है

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!