Biography

Donald Trump Biography In Hindi – प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी

Donald Trump Biography In Hindi – प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी

Donald Trump Biography In Hindi

डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिकी(America) के 45वें प्रेसीडेंट हैं।

ट्रंप के किरदार और उनकी कामयाबी की दास्तां को जानने में अमरीका ही नहीं पूरी दुनिया दिलचस्पी दिखा रही है कि आख़िर डोनल्ड ट्रंप हैं कौन? आज हम आपको बताएंगे की आखिर कौन हैं डोनाल्ड ट्रंप और कैसे तय की उन्होंने एक बिजनेसमैन से लेकर दुनिया के सबसे ताकतवर इंसान बनने की राह ।

डोनाल्ड ट्रम्प का पूरा नाम डोनाल्ड जॉन ट्रम्प हैं का जन्म 14 जून, 1946 को अमेरिका के क्वीन न्यूयॉर्क मे हुआ था। डोनाल्ड ट्रम्प. ट्रम्प सी फ्रेड एवं मरियम एनी के चौथे संतान हैं। इनके अन्य चार भाई बहन और हैं। डोनाल्ड के बड़े भाई फ्रेड जूनियर, 1981 में 43 की उम्र में मर गया। ट्रम्प के पिता और दादा दादी जर्मन आप्रवासियों रहे थे। उनके दादा जी ने 1885 मे अमेरिकन नागरिकता प्राप्त कर ली। डोनाल्ड के पिता व्यसायी थे. जो की एलिजाबेथ ट्रम्प एंड सन्स (Elizabeth Trump & Son) के नाम से कंस्ट्रक्शन का व्यवसाय करते थे।

डोनाल्ड बचपन से ही एक ऊर्जावान, मुखर बच्चा था। इनके पिता उन्हे 13 साल की उम्र मे न्यू यॉर्क के मिलिटरी अकॅडमी मे एडमिसन करवा दिए. ताकि उनके अंदर डीसिपलिन और पॉज़िटिव सोच पैदा हो।

ट्रम्प अकॅडमी में अच्छा प्रदर्शन किया और 1964 मे अपने कॉलेज के लीडर चुने गये। वे अपने कॉलेज मे कई खेल के कप्तान भी रह चुके हैं। ट्रम्प पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल को स्थानांतरित करने से पहले दो साल के लिए फॉर्डम विश्वविद्यालय में भाग लिया। वह अर्थशास्त्रमें एक विज्ञान स्नातक के साथ 1968 में स्नातक उपाधि प्राप्त की।

एक नजर डोनाल्ड ट्रम्प के निजी जीवन पर
डोनाल्ड ट्रम्प की तीन शादियां हो चुकी हैं। इवाना और मार्ला मेपलेस से उनका तलाक हो चुका है। अभी उनकी लाइफ पार्टनर मेलानिका हैं। ट्रम्प से 2005 में उनकी शादी हुई थी। ट्रम्प के तीन बेटे और दो बेटियां हैं।
डोनाल्ड ट्रम्प पर महिलाओं से संबंध और बदसलूकी करने के आरोप लगते रहे हैं। लेकिन उनकी वाइफ मेलानिका हमेशा ट्रम्प का बचाव करती रही हैं।

बिज़्नेस कॅरियर की शुरुआत – Donald Trump Career

1980 में द ग्रैंड हयात होटल को किया शुरू

सन् 1971 में ट्रंप मैनहट्टन में एक लाभदायक परियोजनाओं के निर्माण में शामिल हो गए थे। जिसके बाद 70 के दशक में ही ट्रंप ने घाटे में चल रहे कमोडोर होटल को 7 करोड़ डॉलर में खरीदा। और बाद में 1980 में उन्होंने इस होटल को द ग्रैंड हयात के नाम से शुरू किया।1982 में डोनल्ड ट्रंप ने न्यूयॉर्क में ट्रंप टॉवर बनवाया। ये न्यूयॉर्क की मशहूर इमारतों में से एक है। कहते हैं कि इसे बनाने में पोलैंड से ग़ैरक़ानूनी तरीक़े से आए मज़दूरों का बड़ा योगदान रहा था

बिजनेस में हुए नुकसान ने खोली राजनीति में आने की राह

90 के दशक में ट्रंप के रियल एस्टेट बिजनेस को काफी नुकसान पहुंचा। ताज महल इन अटलांटिक सिटी और 1992 में ट्रंप प्लाजा को भी दिवालिया घोषित किया गया। 1999 में डोनाल्ड ट्रंप ने राजनीति में भी हाथ आज़माया। उन्होंने रिफ़ॉर्म पार्टी बनाई। डोनल्ड का इरादा था कि साल 2000 में रिफ़ॉर्म पार्टी उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाए । लेकिन, रिफ़ॉर्म पार्टी के अंदरूनी झगड़ों से तंग आकर उन्होंने फ़रवरी 2000 में ख़ुद को चुनाव से अलग कर लिया

राजनीतिक कॅरियर की शुरुआत :-

ट्रम्प ने अपनी राजनीतिक कॅरियर की शुरुआत अक्तूबर 1999 मे रिफ़ॉर्म पोलिटिकल पार्टी के ज़रिए 2000 के राष्ट्रपति इलेक्शन की दौड़ मे शामिल हुए। लेकिन बिज़्नेस मे कुछ परेशानियो के कारण अगस्त 2000 मे ट्रम्प को वापस अपने काम तरफ जाना पड़ा।

फिर 2012 मे इन्होने फिर से राजनीतिक की तरफ रुख़ किया और प्रेसीडेंट की रेस के लिए खुद को उम्मीदवार घोसित किया। ट्रम्प ने हमेशा ही राष्ट्रपति बराक ओबामा को आड़े हाथ लिया। उनके यूनाइटेड स्टेट के जन्म ना होने के भी आलोचना की। साथ कई पोलिटिकल मुद्धो मे भी उन्होने बराक ओबामा के खिलाफ बयान दिया। ट्रम्प अपनी बेबाक कटु और आलोचना के लिए भी जाने जाते हैं।

16 जून 2015 मे ट्रम्प ने अधिकारिक तौर पे खुद को रिपब्लीकेशन पार्टी की तरफ से टिकट मिलने के बाद राष्ट्रपति पद के दौड़ मे शामिल किये। उन्होने यह घोषणा ट्रम्प हाउस न्यूयॉर्क से की। उनके ओप्पोज़िट हिलेरी क्लिंटन थी। इसके बाद अरबपति डोनाल्ड ट्रंप ने सभी बाधाओं को पार करते हुए कांटे के चुनावी मुकाबले में अनुभवी नेता हिलेरी क्लिंटन को मात दे दी और इसके साथ ही उनके चुनाव सर्वेक्षकों को हैरान करते हुए अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति बन गये। ट्रंप ने निर्वाचन मंडल के 288 मत हासिल करके शानदार जीत हासिल की जबकि हिलेरी को 215 मत मिले।

हालाँकि जिस तरह से मीडीया वाले ट्रम्प को कट्टरवादी तौर पे पेश करते हैं ऐसा कुछ नही, वे सबके लिए समान आदर का भावना रखते हैं। वे एक सिंपल जीवन जीने वाले इंसान हैं, और हमेशा अपने दिमाग़ मे पोसिटिव सोच रखते हैं।

हालाँकि राष्ट्रपति बनने के बाद ट्रम्प के कुछ फैसलों पर विवाद भी हुवा। नवंबर 2015 पेरिस के हमलों के बाद, ट्रम्प ने मुस्लिम विदेशियों को संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रवेश करने से रोकने के लिए एक विवादास्पद प्रस्ताव दिया जब तक कि मजबूत वीटिंग सिस्टम लागू नहीं किए जा सकें। बाद में उन्होंने “आतंकवाद के सिद्ध इतिहास” वाले देशों पर लागू होने के लिए प्रस्तावित प्रतिबंध को दोहराया।

27 जनवरी, 2017 को, ट्रम्प ने कार्यकारी आदेश 13769 पर हस्ताक्षर किए, जिसने 120 दिनों के लिए शरणार्थियों के प्रवेश को निलंबित कर दिया और इराक, ईरान, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन के नागरिकों को सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए प्रवेश किया। आदेश चेतावनी के बिना लगाया गया था और तुरंत प्रभाव पड़ा। भ्रम और विरोध ने हवाई अड्डे पर अराजकता उत्पन्न की। प्रशासन ने तब स्पष्ट किया कि ग्रीन कार्ड वाले आगंतुकों को प्रतिबंध से मुक्त किया गया था।

मुसमानों पर दिया था विवादित बयान

7 दिसंबर 2015 को डोनल्ड ट्रंप ने अपना सबसे विवादित बयान दिय था। उन्होंने साउथ कैरोलिना में एक चुनावी रैली में कहा कि मुसलमानों के लिए अमरीका के दरवाज़े पूरी तरह बंद कर दिए जाने चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि अमरीका में रहने वाले मुसलमानों के बारे में पूरी जांच पड़ताल होनी चाहिए।

उन्होंने अपने इस सख़्त प्रस्ताव से सिर्फ़ लंदन के मेयर सादिक़ ख़ान को ही छूट दी थी। इस पर काफ़ी हंगामा मचा था। आज भी बहुत से लोगों को लगता है कि ट्रंप की मुस्लिम विरोधी छवि पूरी दुनिया के लिए ख़तरनाक है।

ऑडियो आया था सामने

डोनल्ड ट्रंप का एक ऑडियो सामने आया था जिसमें वो महिलाओं के बारे में अभद्र बातें करते सुने गए. ये वीडियो एक टीवी शो की शूटिंग के दौरान का था

विवादों के बावजूद रिपब्लिकन पार्टी ने बनाया उम्मीदवार

अपने तमाम विवादों के बावजूद 19 जुलाई 2016 को डोनल्ड ट्रंप अमरीका की ग्रैंड ओल्ड पार्टी या रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनने में कामयाब हो गए

उम्रदराज प्रेसिडेंट होंगे ट्रम्प
यूएस के सबसे उम्रदराज प्रेसिडेंट बनने जा रहे हैं। इस समय ट्रंप की उम्र 70 साल है इससे पहले अमेरिका में सबसे ज्यादा उम्र में प्रेसिडेंट बनने वाले रोनाल्ड रीगन हैं। जब वे प्रेसिडेंट बने, उनकी उम्र 69 साल 349 दिन थी।

60 साल में पहले ऐसे राष्ट्रपति जो कभी गर्वनर नहीं रहा
ट्रम्प जीते तो 60 साल में पहले ऐसे राष्ट्रपति होंगे जो गवर्नर नहीं रहा और जिसका कोई खास पॉलिटिकल ब्रैकग्राउंड नहीं है।इससे पहले 1953 में ड्विट आइजनहावर अमेरिका के प्रेसिडेंट बने थे। वे सेकंड वर्ल्ड वॉर में सुप्रीम कमांडर रहे थे।

  • डोनाल्ड ट्रम्प अनमोल वचन कोट्स :
  1. कभी – कभी किसी लड़ाई को हारने से हमें एक नयी राह मिलती हैं जो हमें जीत दिला सकती हैं .
  2. एक विजेता वही हो सकता हैं जो किसी भी अधिकता को समझता हो, कभी कभी व्यक्ति लड़ाई छोड़ कर आगे बढ़ जाता हैं और किसी अन्य का हिस्सा बन जाता हैं .
  3. अगर कोई तुम्हे चुनौति दे रहा हैं तो उससे लड़ो और उसके लिए क्रूर और कठोर बनो .
  4. बिना सैयम के तुम्हारे पास उर्जा नहीं हैं, और बिना उर्जा के तुम कुछ नहीं हो .
  5. जिन्दगी में जो भी हैं वो भाग्य हैं .
  6. मैं बड़ा सोचना पसंद करता हूँ अगर आप कुछ भी सोच सकते हैं तो बड़ा भी सोच सकते हैं .
  7. आप हारने वाले और जितने वाले को ऐसे पहचान सकते हैं कि वे जीवन में आने वाले नये मोड़ के प्रति कैसे अपने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं .
  8. मैं अपने बीते कल से सीखता हूँ लेकिन अपने फ्यूचर की प्लानिंग अपने वर्त्तमान की स्थिती से करता हूँ इसी में मजा हैं .

Leave a Comment

error: Content is protected !!