11-geography

bihar board 11 geography notes | भारत : स्थिति

bihar board 11 geography notes | भारत : स्थिति

bihar board 11 geography notes | भारत : स्थिति

भारत : स्थिति
(INDIA : LOCATION)
पाठ्य-पुस्तक के प्रश्न एवं उसके आदर्श उत्तर
1. बहुवैकल्पिक प्रश्न :
(i) भारत के विस्तार के संबंध कौन-सा कथन सही है-
(क) 8°41’N-35°5’N
(ख) 8°4’N-35°6’N
(ग) 8°4’N-37°5’N
(घ) 6°45’N-35°6’N
उत्तर- -(ग)
(ii) भारत के साथ किस देश की स्थल सीमा सबसे लम्बी है-
(क) बंगलादेश
(ख) पाकिस्तान
(ग) चीन
(घ) म्यामार।
उत्तर-(ख)
(iii) कौन-सा देश क्षेत्रफल में भारत से अधिक बड़ा है-
(क) चीन
(ख) फ्रास
(ग) मिख
(घ) ईरान
उत्तर-(क)
(iv) निम्नलिखित याम्योत्तर में से कौन-सा भारत का मानक याम्योत्तर है?
(क) 69°30’E
(ख) 75°30’E
(ग) 82°30’E
(घ) 90°30’E
उत्तर-(ग)
(v) यदि आप एक सीधी रेखा में राजस्थान से नागालैंड की यात्रा करें तो
निम्नलिखित नदियों में से किसको आर-पार नहीं करेंगे?
(क) यमुना
(ख) सिंधु
(ग) ब्रह्मपुत्र
(घ) गंगा
उत्तर-(ख)
(vi) क्षेत्रफल की दृष्टि से विश्व में भारत का स्थान है।
(क) तीसरा
(ख) चौथा
(ग) पांचवाँ
(घ) सातवां
उत्तर-(घ)
2. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लगभग 30 शब्दों में दीजिए-
(i) क्या भारत को एक से अधिक मानक समय की आवयश्यकता है? यदि हाँ, तो आप ऐसा क्यों सोचते हैं?
उत्तर-हाँ, भारत को एक से अधिक मानक समय की आवश्यकता है क्योंकि देशांतर रेखाओं के मानों से स्पष्ट होता है कि इनमें लगभग 30 डिग्री का अंतर है जो हमारे देश के सबसे पूर्वी व सबसे पश्चिमी भागों के समय में लगभग 2 घंटों का अंतर पैदा करता है। कुछ ऐसे देश हैं जिनमें अधिक पूर्व-पश्चिम विस्तार के कारण एक से अधिक मानक देशांतर
रेखाएं हैं। उदाहरण संयुक्त राज्य अमेरिका में छह समय कटिबंध हैं।
(ii) भारत की लम्बी तट रेखा के क्या प्रभाव है?
उत्तर-भारत की लम्बी तट रेखा द्वीप समूहों समेत 7,517 किमी विस्तृत है। अतः एक देश के रूप में भारत भौतिक दृष्टि से विविधतापूर्ण भूभाग है, जिसके कारण यहाँ विभिन्न प्रकार के संसाधन पाए जाते हैं और लम्बी तट रेखा पत्तनों एवं बंदरगाहों के लिए प्राकृतिक परिस्थितियाँ प्रदान करती है।
(iii) भारत का देशांतरीय फैलाव इसके लिए किस प्रकार लाभप्रद है?
उत्तर-देशांतरीय रेखाओं के मानों से स्पष्ट होता है कि इनमें लगभग 30° का अंतर है जो हमारे देश के सबसे पूर्वी और सबसे पश्चिमी भागों के बीच लगभग 2 घंटे का अंतर पैदा करता है। यह स्थिति देश में भू-आकृति, जलवायु, मिट्टी के प्रकारों तथा प्राकृतिक वनस्पति में पाई जाने वाली भारी भिन्नता के लिए उत्तरदायी है।
(iv) जबकि पूर्व में, उदाहरणत: नागालैंड में, सूर्य पहले उदय होता है और पहले ही अस्त होता है, फिर कोहिमा और नई दिल्ली में घड़ियाँ एक ही समय क्यों दिखाती हैं?
उत्तर-विश्व के देशों में आपसी समझ के आधार पर मानक याम्योत्तर को 7°30 देशांतर के गुणांक पर चुना जाता है। यही कारण है कि 82°30° पूर्व याम्योत्तर को भारत की मानक याम्योत्तर चुना गया है। भारतीय मानक समय ग्रीनविच माध्य समय से 5 घंटे 30 मिनट आगे है।
3. परिशिष्ट-1 पर आधारित क्रियाकलाप (इस अभ्यास को समझने व विद्यार्थियों से करवाने में अध्यापक सहायता कर सकते है।)
(i) एक ग्राफ पेपर पर प्रध्य प्रदेश, कर्नाटक, मेघालय, गोवा, केरल तथा
हरियाणा के जिलों की संख्या को आलेखित कीजिए। क्या जिलों की संख्या का राज्यों के क्षेत्रफल से कोई संबंध है?
उत्तर-हाँ, सूक्ष्म अवलोकन करने से पता चलता है कि प्रत्येक राज्य के जिलों की संख्या का उस राज्य के क्षेत्रफल से गहरा सम्बन्ध है। जिन राज्यों का क्षेत्रफल अधिक है उन राज्यों में जिलों की संख्या अधिक है। जिन राज्यों का क्षेत्रफल कम है उन राज्यों के जिलों की संख्या कम है। उदाहरणतया मध्य प्रदेश का क्षेत्रफल अधिक होने के कारण वहाँ पर जिलों की संख्या अधिक है। जबकि मेघालय, गोवा आदि का क्षेत्रफल कम होने के कारण उन राज्यों में जिलों की संख्या कम है।
(ii) उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, गुजरात, अरुणाचल प्रदेश, तमिलनाडु, त्रिपुरा, राजस्थान तथा जम्मू और कश्मीर में से कौन-सा राज्य सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाला और कौन-सा न्यूनतम जनसंख्या घनत्व वाला राज्य है?
उत्तर-पश्चिम बंगाल राज्य सबसे अधिक जनसंख्या घनत्व वाला राज्य है जबकि अरुणाचल प्रदेश सबसे कम घनत्व वाला राज्य है।
(iii) राज्य के क्षेत्रफल व जिलों की संख्या के बीच संबंध को ढूंढिए।
उत्तर-राज्यों के क्षेत्रफल व जिलों की संख्या का सबंध (i) भौतिक कारकों जैसे भू-आकार, जलवायु तथा मृदा (ii) सामाजिक-आर्थिक कारक जैसे राजनैतिक कारक, आर्थिक(प्राकृतिक संसाधनों की उपलब्धताओं से है।
(iv) तटीय सीमाओं से संलग्न राज्यों की पहचान कीजिए।
उत्तर-गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, आन्ध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, उड़ीसा, त्रिपुरा, पं.बंगाल।
(v) पश्चिम से पूर्व की ओर स्थलीय सीमा वाले राज्यों का क्रम तैयार कीजिए।
उत्तर-राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड।
4. परिशिष्ट-II पर आधारित क्रियाकलाप (इस अभ्यास को समझने व विद्यार्थियों से करवाने में अध्यापक सहायता कर सकते हैं।)
(i) उन केंद्र शासित क्षेत्रों की सूची बनाइए जिनकी स्थिति तटवर्ती है।
उत्तर-अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, दमन व दीव, दादरा व नगर हवेली, पांडिचेरी।
(ii) राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली तथा अंडमान व निकोबार द्वीप समूह के क्षेत्रफल और जनसंख्या में अंतर की व्याख्या आप किस प्रकार करेंगे?
उत्तर-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की जनसंख्या 13,850,507 है और इसका क्षेत्रफल 1,483 वर्ग किमी है। जबकि अंडमान व निकोबार केंद्र शासित प्रदेश की जनसंख्या 356,152 है और इसका क्षेत्रफल 8,243 वर्ग किमी है।
अंडमान व निकोबार का क्षेत्रफल अधिक होते हुए भी वहां की जनसंख्या राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली से काफी कम लगभग 30 गुणा कम है। ये अंतर आर्थिक, राजनैतिक तथा भौगोलिक कारणें से है।
(iii) एक ग्राफ पेपर पर दंड आरेख द्वारा केंद्र शासित क्षेत्रों के क्षेत्रफल व जनसंख्या को आलेखित कीजिए।
उत्तर-
अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न एवं उसके आदर्श उत्तर
अतिलघु उत्तरीय प्रश्न
1. कौन-सी अक्षांश रेखा भारत के केन्द्र से गुजरती है?
उत्तर-कर्क रेखा(23और1/2°उत्तर)।
2. कर्क रेखा द्वारा भारत में निर्मित दो प्रदेशों के नाम लिखो।
उत्तर- उष्ण कटिबन्ध तथा शीतोष्ण कटिबन्ध।
3. भारत की तट रेखा की कुल लम्बाई लिखो।
उत्तर- -75166.6 किलोमीटर।
4. कौन-सी स्ट्रीट भारत को श्रीलंका से अलग करती है?
उत्तर-पार्क स्ट्रीट।
5. कौन-सा महासागरीय मार्ग भारत को यूरोप से जोड़ता है?
उत्तर -स्वेज नहर मार्ग।
6. भारत का सबसे बड़ा राज्य (क्षेत्रफल) कौन-सा है?
उत्तर-राजस्थान।
7. भारत का सबसे छोटा राज्य कौन-सा है?
उत्तर-गोआ।
8. भारत में सबसे छोटे केन्द्र शासित देश का नाम लिखें।
उत्तर- -लक्षद्वीप।
9. कौन-सा राज्य पांच राज्यों से घिरा हुआ है?
उत्तर-मध्य प्रदेश।
10. भारत में कितने तटीय राज्य हैं?
उत्तर-नौ राज्य तटीय राज्य है-गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोआ, केरल,
तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा तथा पश्चिमी बंगाल।
11. अण्डमान-निकोबार द्वीप समूह में कुल कितने द्वीप हैं?
उत्तर-204
12. लक्षद्वीप में कुल कितने द्वीप हैं?
उत्तर-36
13. मूंगे के द्वीपों के समूह का नाम बताएं।
उत्तर-लक्षद्वीप।
14. भारत की वास्तविक शक्ति क्या है?
उत्तर-अनेकता में एकता।
15. भारत का कुल कितना क्षेत्रफल है?
उनर-36,67,263 किलोमीटर पर पावर 2।
16. भारत के किस राज्य से कर्क रेखा तथा प्रमाणिक रेखाएं अधिक दूरी तय करती हैं?
उत्तर-मध्य प्रदेश।
19. भारत के मध्य से कौन-सी अक्षांश रेखा गुजरती है?
उत्तर-कर्क रेखा।
20. भारत में कर्क रेखा पर स्थित दो शहरों के नाम लिखो।
उत्तर-अहमदाबाद तथा जबलपुर।
21. भारत तथा चीन के मध्य सीमा का नाम लिखो।
उत्तर-मैक्मोहन लाइन।
22. किस राज्य को Land of Dawn कहते हैं?
उत्तर-अरुणाचल प्रदेश।
23. क्षेत्रफल के आधार पर भारत का विश्व में कौन-सा स्थान है?
उत्तर-सातवां।
24. जनसंख्या के आधार पर भारत का विश्व में कौन-सा स्थान है?
उत्तर-दूसरा।
25. कौन-सी अक्षांश रेखाएं भारत की उत्तरी तथा दक्षिणी विस्तार बनाती हैं?
उत्तर-37° उत्तर तथा 8° उत्तर।
26. भारत के पूर्वी तथा पश्चिमी सिरे में कितना समय लगता है?
उत्तर-2 घंटे।
27. उस राज्य का नाम बतायें जिसकी सबसे लम्बी तट रेखा है?
उत्तर-गुजरात।
28. अण्डमान तथा निकोबार द्वीपों का कैसे निर्माण हुआ है ?
उत्तर-जलमग्न पहाड़ियों के शिखरों के कारण।
29. हिन्द महासागर के पूर्वी तथा पश्चिमी भाग में सागरों के नाम लिखो।
उत्तर-अरब सागर तथा बंगाल की खाड़ी।
30. हिन्द महासागर के साथ कौन-से महाद्वीप हैं?
उत्तर-अफ्रीका, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, अण्टार्कटिका।
31. ‘संसार की छत’ किसे कहते हैं?
उत्तर-पामीर को।
32. किसके नाम पर हमारे देश का नाम भारत पड़ा है?
उत्तर-राजा दुष्यन्त के पुत्र भरत के नाम पर।
लघु उत्तरीय प्रश्न-
1 उप-महाद्वीप किसे कहते हैं? इसकी व्याख्या दक्षिण एशिया की हिमालय पर्वत श्रेणी के दक्षिण स्थित देशों के सदर्भ में कीजिए।
उत्तर-उप-महाद्वीप एक विशाल स्वतन्त्र भौगोलिक इकाई को कहा जाता है। यह स्थल खण्ड मुख्य महाद्वीप से स्पष्ट रूप से अलग होता है। इस विशालता के कारण इस भू-भाग में आर्थिक, सामाजिक तथा सांस्कृतिक स्वरूपों में विभिन्नताएं पाई जाती है। भू-भाग की सीमाएं विभिन्न स्थलाकृतियों द्वारा बनाई जाती है जो सीमावर्ती प्रदेश से पृथक् करती है।
भारत एक महान देश है। इसे प्रायः भारतीय उप-महाद्वीप (Indian Sub -contient) भी कहा जाता है। हिमालय पर्वत की प्राकृतिक सीमा भारतीय उप-महाद्वीप को एक परिबद्ध चरित्र देकर विलगता प्रदान करती है। यह भौगोलिक इकाई इस भूखण्ड को एशिया महाद्वीप से अलग करती है। इसमें पाकिस्तान, भारत, नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, श्रीलंका तथा मालदीव के देश स्थित है। इन्हें सार्क (SAARC) देश भी कहते है।
2. क्षेत्र के आधार पर संसार के देशों में भारत की स्थिति क्या है?
उत्तर-क्षेत्रफल के आधार पर भारत संसार में सातवां बड़ा देश है। भारत से अधिक क्षेत्रफल वाले छः देश रूस, ब्राजील, कनाडा, सयुक्त राज्य अमेरिका, चीन, ऑस्ट्रेलिया हैं। भारत का क्षेत्रफल रूस को छोड़ कर पूरे यूरोप के बराबर है। यह इंग्लैण्ड से 13 गुणा तथा जापान से 9 गुणा बड़ा है, परन्तु रूस भारत से 7 गुणा तथा संयुक्त राज्य अमेरिका से तीन गुणा बड़ा है। भारत का पूर्व-पश्चिम तथा उत्तर-दक्षिण विस्तार पृथ्वी की परिधि का लगभग 1/2 भाग है।
3. उत्तर-पश्चिमी भारत में स्थित दर्रे तथा इनका महत्व बताएँ।
उत्तर-विदेशी उत्तर-पश्चिम में स्थित खैबर और बोलन दर्रों से होकर ही भारत में प्रवेश कर सकते थे। खैबर, हिन्दुकुश पर्वत में सफेद कोह के निकट तथा बोलन, सुलेमान और किरथर पर्वत श्रेणियों के मध्य स्थित है। पहले तो मध्य और पश्चिम एशिया की जन-जातियां इन्हीं मार्गों द्वारा भारत में आई और बाद में सिकंदर, अफगानी तथा फारसी फौजों ने भी इन्हीं भागों का अनुसरण किया। व्यापार के लिए भारत पश्चिम एशिया, पूर्व-अफ्रीका और दक्षिण-पूर्व एशिया से समुद्री मार्गों द्वारा जुड़ा था।
4. भारतीय उपमहाद्वीप के हिमालय पर्वत को पार करने वाले चार दर्रों के नाम बताएं।
उत्तर-भारत के उत्तर में हिमालय एक पर्वतीय दीवार के रूप में आवागमन साधनों के लिए एक रूकावट है। फिर भी इस पर्वत को पार करने के लिए कई दर्रें लाभदायक है,जैसे-
(i) सतलुज गार्ज से शिपकी ला दर्रा (भारत-तिब्बत सड़क मार्ग)।
(ii) कराकोरम दर्रे से कश्मीर लेह मार्ग।
(iii) सिक्किम में नाथूला दर्रा ।
(iv) सिक्किम में जैल्पला दर्रा (ल्हासा-कालिम्पोंग मार्ग)।
5. उन राज्यों और संघीय प्रदेशों के नाम बताइए जिनकी सीमा वांग्लादेश से मिलती है। अथवा, भारत की स्थल सीमाओं का वर्णन करें। भारत के कौन-से राज्य सीमावर्ती देशों के साथ लगते हैं?
उत्तर-(i) बांग्लादेश के साथ स्थल सीमा-भारत तथा बांग्लादेश के मध्य पूर्व में एक स्थलीय सीमा है। बांगला देश के पूर्व में असम, मेघालय, त्रिपुरा राज्य तथा मिजोरम प्रदेश की सीमाएं हैं। बांगला देश के पश्चिम में पश्चिमी बंगाल राज्य की सीमा है।
(ii) पाकिस्तान के साथ स्थल सीमा-भारत तथा पाकिस्तान के बीच कश्मीर से लेकर खाड़ी कच्छ तक एक स्थलीय सीमा है। इस सीमा के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर, पंजाब, राजस्थान तथा गुजरात राज्यों की सीमाएँ मिलती हैं।
(iii) नेपाल के साथ स्थल सीमा -भारत के उत्तर में हिमालय पर्वतों में स्थित नेपाल देश है। इन देशों के बीच यह एक प्राकृतिक सीमा है। इस सीमा के साथ-साथ उत्तर प्रदेश, उत्तरांचल, बिहार, पश्चिमी बंगाल तथा सिक्किम राज्यों की सीमाएँ मिलती है।
(iv) म्यंमार के साथ स्थल सीमा-हिमालीय पर्वत की पूर्वी शाखाए भारत-वर्मा सीमा बनाती हैं। यह एक प्राकृतिक स्थलीय सीमा है। इस सीमा के साथ-साथ नागालैण्ड, मणिपुर राज्य, अरुणाचल और मिजोरम प्रदेश की सीमाए बनाते है।
(v) पामीर गांठ के शीर्ष के साथ देश -भारत की उत्तरी सीमा के शीर्ष (पामीर गाठ)पर पांच देशों की सीमाएं आपस में मिलती हैं। इस मिलन बिन्दु पर भारत, चीन, तजाकिस्तान, अफगानिस्तान तथा पाकिस्तान की सीमाएं मिलती है। पामीर गांठ को ‘संसार की छत'(Coof of the world) कहते है।
6. मैक्मोहन रेखा किसे कहते हैं? इसका क्या महत्व है? इसका निर्धारण किस सिद्धान्त पर किया गया है?
उत्तर-मैक्मोहन रेखा भारत तथा चीन के मध्य सीमा रेखा है। यह सीमा रेखा हिमालय रेखा के साथ-साथ कश्मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक फैली हुई है। इस सीमा के पार चीन के सिक्यांग तथा तिब्बत पठार स्थित है। इसके उत्तर-पूर्वी भाग में मयन्मार (बर्मा), चीन एवं भारत आपस में मिलते है। यह सीमा रेखा अधिकाशतः प्राकृतिक है तथा ऐतिहासिक रूप से निर्धारित है। हिमालय पर्वत हमारी उत्तरी सीमा का प्रहरी है। उच्च हिमालय के शिखर भारत तथा चीन को अलग-अलग करते हैं। ये शिखर एक जल विभाजक के रूप में फैले हुए है तथा चीन सीमा रेखा को प्राकृतिक रूप देते है।
7. भारत के विस्तार का वर्णन करें। भारत के निकटवर्ती 6 पड़ोसी देश तथा तुलनात्मक रूप से कुछ दूर के 6 पड़ोसी देश वताएँ। भारतीय भूखण्ड का कौन-सा भाग इण्डोनेशिया के निकटतम है?
उत्तर-क्षेत्रफल के आधार पर भारत संसार का सातवा बड़ा देश है। इसका अक्षांशीय विस्तार 8°-4° से 37°-6′ उत्तर तव है। इसका देशान्तरीय विस्तार 68°-7′ से 97°-25′ पूर्व तक है। भारत की उत्तर दक्षिण दूरी 3214 किमी है। भारत की पश्चिम-पूर्व दूरी 2933 कि.मी. है। इन्दिरा प्वाईंट (निकोबार द्वीप) भारत का दक्षिणी छोर है। भारत के छ: निकटवर्ती पड़ोसी देश पाकिस्तान, नेपाल, म्यंमार, चीन, श्रीलका तथा यांग्लादेश है। भारत के तुलनात्मक रूप से कुछ दूर के छः पड़ोसी देश अफगानिस्तान, ईरान, रूस, मलेशिया, इण्डोनेशिया तथा थाईलैण्ड है। निकोबार द्वीप इण्डोनेशिया के निकट है।
8. भारत के दक्षिण में स्थित महासागर को ‘हिन्द महासागर’ क्यों कहा जाता है? हिन्द महासागर भारत को किन देशों से जोड़ता है?
उत्तर -हिन्द महासागर सचमुच ‘हिन्द’ (भारत) का महासागर है। यह संसार में एकमात्र महासागर है जिसका नाम किसी देश के नाम के कारण है। भारत की तट रेखा हिन्द महासागर के अधिकतार भाग को घेरती है। इस क्षेत्र में भारत जैसे महत्वपूर्ण देश का प्रभाव है। प्राचीन काल में इस क्षेत्र में भारत ही सब से उन्नत देश था। इस महत्व के कारण ही इसे हिन्द महासागर कहा जाता है। हिन्द महासागर भारत को पूर्वी अफ्रीका, दक्षिण पश्चिमी एशिया, यूरोप तथा उत्तरी अमेरिका से स्वेज मार्ग द्वारा जोड़ता है। पूर्व में यह चीन, जापान तथा इण्डोनेशिया से जुड़ा हुआ है।
9. जब अरुणाचल में सूर्योदय हो चुका होता है तब सौराष्ट्र में रात होती है। कारण बताएँ। अथवा, भारत के सबसे पूर्वी भाग अरुणाचल प्रदेश और सबसे पश्चिमी भाग गुजरात के स्थानीय समय में दो घण्टे का अन्तर क्यो है? अथवा, भारत का देशान्तरीय विस्तार हमें किस प्रकार प्रभावित करता है?
उत्तर-भारत पूर्व से पश्चिम की ओर लगभग तीन हजार किलोमीटर की दूरी में फैला हुआ है। इसका सबसे पश्चिमी सीमा बिन्दु सौराष्ट्र में है, जबकि पूर्वी सीमा बिन्दु अरुणाचल प्रदेश में है। इस प्रकार भारत का पूर्व पश्चिम विस्तार 30° देशान्तर है। सूर्य को 1° देशान्तर पार करने के लिए 4 मिनट का समय लगता है। इसलिए 30° देशान्तर के लिए (30x 4 =120)
 मिनट या दो घण्टे का समय लगेगा। अरूणाचल प्रदेश पूर्व में है। यह भाग सूर्य के सामने अंत में आता है, इसलिए वहां सूर्योदय बाद में अर्थात् दो घण्टे देर से होता है तो सौराष्ट्र में रात होती है। इसलिए अरुणाचल में सूर्य उदय हो चुका होता है तो सौराष्ट्र में रात होती है। इसलिए अरुणाचल को ‘सूर्योदय का प्रदेश (Land of Dawn) भी कहते हैं। इस तथ्य से भारत की विशालता का ज्ञान होता है परन्तु आधुनिक जेट युग में दूरियां अपना महत्व खो चुकी हैं। आप श्रीनगर में नाश्ता करके दोपहर के खाने पर तिरूवनन्तपुरम पहुंच सकते हैं। जामनगी और गुवाहाटी के मध्य की यात्रा उतना ही समय लेगी जितनी देर में आप एक भारतीय फिल्म देखते हैं।
10. ‘भारत न तो दानव है और न बौना’ इस कथन की व्याख्या कीजिए।
अथवा, “भारत न तो संसार का सबसे बड़ा देश है और न ही सबसे छोटा।” उदाहरण सहित व्याख्या करो।
उत्तर-भारत एक विशाल देश है। क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का विश्व में सातवां स्थान है। भारत पृथ्वी के धरातल के लगभग 2.2% क्षेत्रफल में फैला हुआ है फिर भी कई देशों का आकार भारत से बड़ा है। रूस भारत से लगभग सात गुना बड़ा है। भारत इंग्लैंड से 13 गुना तथा जापान से नौ गुणा बड़ा है।
इस प्रकार क्षेत्रफल के आधार पर भारत न बहुत बड़ा और न ही बहुत छोटा देश है। इसलिए यह कथन सही है कि “भारत न तो दानव है और नह ही बौना” (“India is neither a gaint nor a pigmy’)!
11. “भारत को हिन्द महासागर में सर्वाधिक केन्द्रीय स्थिति प्राप्त है।” यह कथन कहां तक सही है?
उत्तर-हिन्द महासागर का विस्तार 40° पूर्व से 120° पूर्व देशान्त तक है। भारत का दक्षिणी सिरा कन्याकुमारी लगभग 80° पूर्वी देशान्तर पर स्थित है। इस प्रकार भारत को हिन्द महासागर में केन्द्रीय स्थिति प्राप्त है। भारतीय प्रायद्वीप अरब सागर तथा खाड़ी बंगाल के मध्य में स्थित है। हिन्द महासागर में किसी भी देश की तट रेखा भारतीय तट रेखा जितनी लम्बी नहीं है। सभी समुद्री मार्ग भारत के तट को छू कर गुजरते हैं। भारत पूर्व तथा पश्चिम दानों दिशाओं में स्थित देशों के माध्य में स्थित है। इसलिए भारत को हिन्द महासागर में सर्वाधिक केन्द्रीय स्थिति प्राप्त है। भारत हिन्द महासागर में है। अतः हिन्द महासागर वास्तव में “हिन्द महासागर” है।
12. भारत का प्रायद्वीपीय आकार किस प्रकार लाभदायक है? तीन उदाहरण देकर स्पष्ट करें। अथवा, भारत की प्रायद्वीपीय स्थिति के तीन प्रभाव बताएँ।
उत्तर-भारतीय प्रायद्वीप त्रिभुजाकार है। इससे भारत के तीन पड़ोसी सागरों तक (बंगाल की खाड़ी, अरब सागर, हिन्द महासागर) पहुंचना बहुत सुगम है। इस आकार के कारण मालबार तट तथा कोरोमण्डल तट पर मत्स्य क्षेत्रों का विकास हुआ है। दोनों तटों पर कई प्राकृतिक बदरगाहों जैसे – विशाखापट्टनम्, चेन्नई, कोचीन, मुम्बई आदि का विकास हुआ है जहाँ से अन्तर्राष्ट्रीय समुद्री मार्ग गुजरते हैं।
13. पूर्वी दुनिया में भारत के महत्व का वर्णन कीजिए।
उत्तर-पूर्वी दुनिया में भारत की स्थिति-भारत पश्चिमी एशिया तथा पूर्वी एशिया के मध्य में स्थित है। अफ्रिका, ओद्योगिक दृष्टि से विकसित यूरोप तथा तेल-सम्पन्न पाश्चमी एशिया को दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों, चीन, विकसित उद्योग वाले जापान, आस्ट्रेलिया तथा संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के पश्चिमी तट जोड़ने वाले महासागरपारीय जल-मार्ग भारत से होकर गुजरते हैं। दक्षिण-पूर्वी एशिया, पश्चिमी एशिया तथा अफ्रीका के पूर्वी तटवर्ती पड़ोसी देशों के साथ भारत के विदेशी सम्बन्धों में सागर की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। दक्षिण-पूर्वी एशिया में भारतीय और चीनी संस्कृति का संगम हुआ है। इन दोनों संस्कृतियों ने स्थानीय संस्कृति के साथ मिलकर एक नई मिली-जुली संस्कृति को जन्म दिया है, जो हिन्द-चीन जैसे शब्दों में प्रतिबिबित हुई है। इसके बाद इस्लाम, ईसाई धर्म और यूरोपवासियों के आवागमन से यह प्रदेश और समृद्ध हो गया। इससे यहां की संस्कृति में विविधता के नए रंग भर गए हैं, जो आज दक्षिण-पूर्वी एशिया में झलकते है। जिन देशों में भारतीय संस्कृति की छाप आज भी स्पष्ट है, उनमें लाओस, कंबोडिया, थाईलैंड, म्यामार, मलेशिया और इंडोनेशिया उल्लेखनीय है। इन्डोनेशिया के द्वीपों के नाम जैसे सुमात्रा, जावा और वाली भारतीय प्रभाव के स्पष्ट उदाहरण हैं। थाईलैंड (पुराना नाम स्याम) और कंबोडिया की स्थिति भी समान ही है।
14. भारत में वन्य जीव अभ्यारण्य तथा राष्ट्रीय उद्यान में अंतर बताएँ।
उत्तर-वन्य जीव अभ्यारण्य तथा राष्ट्रीय उद्यान में निम्नलिखित अंतर है जो सूक्ष्म हैं।
(1) वन्यजीव अभ्यारण्य-भारत में कुल 482 वन्यजीव अभ्यारण्य है, जिनका कुल क्षे- 1, 15,40,000 हेक्टेयर हैं। देश के प्रमुख वन्य जीव अभ्यारणों में चन्द्रप्रभा, दाचीगाम, पेरियार आदि के नाम हैं। अभ्यारणों में मानवीय क्रियाकलापों की अनुमति होती है। अनुमति वगैर इनमें शिकार करना मना होता है, लेकिन चराई और गो-पशुओं का आना-जाना नियमित होता है।
(2) राष्ट्रीय उद्यान-राष्ट्रीय उद्यान एक या अनेक परितंत्रों व्यापक वृहत क्षेत्र होता है। यह क्षेत्र मानव के शक्ति और अधिग्रहरण द्वारा अभी तक परिवर्तित नहीं हुआ है। विशिष्ट वैज्ञानिक शिक्षा और मनोरंजन हेतु इसके पेड़ पौधों और जीव-जंतुओं की प्रजातियों भू-आकृतिक स्थलों और आवासों को संरक्षित किया गया है। राष्ट्रीय उद्यानों में शिकार और चारण पूर्णतया वर्जित होते हैं। भारत के कुल 40,60,000 हेक्टेयर भूमि में राष्ट्रीय उद्यान स्थित है। इनमें काजीरंगा, मानस, कान्हा, दुधवा आदि प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान है।
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न
1. क्या भारत को एक उप-महाद्वीप कहा जा सकता है?
उत्तर-भारत : एक उप-महाद्वीप (India: A Sub-Continent)-भारत एक विशाल देश है। क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का विश्व में सातवां स्थान है। भारत से अधिक क्षेत्रफल वाले छः देश रूस, ब्राजील, कनाडा, संयुक्त राज्य अमेरिका, चीन, ऑस्ट्रेलिया है। भारत पृथ्वी के धरातल के लगभग 2.2% क्षेत्रफल में फैला हुआ है फिर भी कई देशों का आकार भारत से बड़ा है। रूस भारत से लगभग सात गुना तथा संयुक्त राज्य अमेरिका
लगभग तीन गुना बड़ा है।
इस प्रकार क्षेत्रफल के आधार पर भारत न बहुत बड़ा और न ही बहुत छोटा देश है। इसलिए यह कथन सही है कि भारत न तो ‘दानव है और न ही बौना” (India is neither a Gaint nor a Pigmy.)!
उप-महाद्वीप एक विशाल स्वतन्त्र भौगोलिक इकाई कहा जाता है। यह स्थल खण्ड मुख्य महाद्वीप से स्पष्ट रूप से अलग होता है। इस विशालता के कारण इस भू-भाग में आर्थिक, सामाजिक तथा सांस्कृतिक स्वरूपों में विभिन्नताएं पाई जाती है। भू-भाग की सीमाएं विभिन्न स्थलाकृतियों द्वारा बनाई जाती है जो इसे सीमावर्ती प्रदेश से पृथक् करती है। भारत एक
महान् देश है। इसे प्रायः भारतीय उप-महाद्वीप (Indian Sib continent) भी कहा जाता है।
 डॉ० कैसी के अनुसार भारत को यूरोप की भांति एक महाद्वीप कहलाने का अधिकार है।प्रायः ये कथन विशाल क्षेत्रफल तथा जनसंख्या के आधार पर कहे जाते हैं। ग्लोब पर एशिया महाद्वीप के दक्षिणी भाग में एक विशाल स्थलखण्ड के रूप में भारतीय उप-महाद्वीप दिखाई देता है। इसे उप -महाद्वीप कहे जाने के कई कारण हैं-
(i) प्राकृतिक सीमाएं-भारत की प्राकृतिक सीमाएं इसे एक विलगता का स्वरूप प्रदान करती हैं। उत्तर में हिमालय पर्वत, दक्षिण में हिन्द महासागर, पूर्व में घने वन तथा पश्चिम में थार मरूस्थल इसे मुख्य महाद्वीप से पृथक् करके उप-महाद्वीप का स्वरूप प्रदान करते हैं।
(ii) परिबद्ध चरित्र-भारत चारों ओर से एशिया के मुख्य क्षेत्रों से घिरा है। इसे विशाल पर्वतों ने हजारों किलोमीटर तक अखंड रूप से घेर कर परिबद्ध (Enclosed) चरित्र दे दिया है। इस पर्वतीय घेरे के कारण यह एशिया के अन्य क्षेत्रों से व्यावहारिक रूप से अलग-अलग है।
(iii) क्षेत्रफल तथा जनसंख्या-क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत संसार का सातवां बड़ा देश है। यह देश भू-मण्डल के एक बड़े भाग में फैला हुआ है। चीन को छोड़कर यह संसार के सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है। यहां के लोगों की शारीरिक बनावट, रहन-सहन तथा संस्कृति संसार के दूसरे प्रदेशों से भिन्न है।
(iv) विविधता में एकता-भारत विभिन्नताओं का देश है, फिर भी भारतीय सभ्यता में एक विशिष्ट एकरूपता विद्यमान है। इस आधार पर कई लेखकों ने इस भू-भाग को एक उप-महाद्वीप की संज्ञा दी है।
(v) जलवायु- -जलवायु के आधार पर सम्पूर्ण देश में उष्ण मानसूनी जलवायु पाई जाती है। इस भू-भाग पर मानसून पवनें स्वतन्त्र रूप में उत्पन्न होती हैं। मानसून पवनों का पूर्ण रूप इसी उप-महाद्वीप पर मिलता है। सम्पूर्ण देश में ऋतुओं का एक जैसा क्रम पाया जाता है। ये पवनें इसे एशिया महाद्वीप में पृथक् प्रकार की जलवायु प्रदान करके उप-महाद्वीप का स्वरूप प्रदान करने में सहायक है।
(vi) प्राकृतिक संसाधन-भारत में प्रकृतिक साधनों की प्रचुरता है। सारे देश की आर्थिकता कृषि पर आधारित है। ये साधन किसी महाद्वीप में मिलने वाले साधनों की तुलना में कम नहीं हैं।
इन विशेषताओं के आधार पर भारत को एक उप-महाद्वीप कहना सही है।
2. “भारत की सीमाएं अधिकांशतः प्राकृतिक हैं और वे ऐतिहासिक रूप से निर्धारित हैं।” उदाहरण सहित स्पष्ट करो।
उत्तर-भारतीय सभ्यता बहुत प्राचीन है। इसकी सीमाएं ऐतिहासिक हैं तथा
अधिकांशतः प्राकृतिक हैं।
(i) हिन्द महासागर भारत की दक्षिणी सीमा बनाता है। समुद्र के पार हमारा निकटतम पड़ोसी देश श्रीलंका है जिसे पाक जलडमरू मध्य भारत से अलग करता है।
(ii) इण्डोनेशिया निकोबार द्वीप के दक्षिण में अलग-अलग स्थित है।
(iii) भारत की पूर्वी सीमा पर बंगाल की खाड़ी के पास बांग्लादेश, मलेशिया, मयन्मार, थाईलैण्ड, कम्बोडिया, वियतनाम तथा लाओस स्थित हैं। यह सीमा घने जंगलों तथा पूर्वांचल की पहाड़ियों द्वारा बनी हुई है।
(iv) पश्चिम की ओर अरब सागर से परे ईराक, ईरान, अरब, मिश्र, सूडान, इथोपिया, केनिया आदि देश स्थित हैं।
(v) भारत की उत्तरी सीमा पर हिमालय पर्वत की एक अखण्ड दीवार के परे तिब्बत, चीन, सिक्यिांग, बेसिन, तजाकिस्तान तथा अफगानिस्तान स्थिति हैं। मैक्मोहन रेखा भारत तथा चीन के मध्य एक प्राकृतिक सीमा है।
(vi) भारत की उत्तरी सीमा पर नेपाल तथा भूटान स्थित हैं।
(vii) हमारी पश्चिमी सीमा पाकिस्तान से लगती है। यह देश ऐतिहासिक रूप से प्राचीन सभ्यता के समय से भारत का सहभागी रहा है। पांच नदियों का देश (पंजाब) तथा राजस्थान मरूभूमि एवं सिंध (पाकिस्तान) ऐतिहासिक रूप से समकालीन प्रदेश हैं।
इससे स्पष्ट है कि भारत की सीमाएं अधिकांशतः प्राकृतिक है तथा  ऐतिहासिक रूप से निर्धारित है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!