9TH SST

bihar board 9th class civics notes – लोकतंत्र क्या और क्यों?

लोकतंत्र क्या और क्यों?

bihar board 9th class civics notes – लोकतंत्र क्या और क्यों?

class – 9

subject – civics

lesson 2 – लोकतंत्र क्या और क्यों?

लोकतंत्र क्या और क्यों?

अध्याय की मुख्य बातें —वैसी शासन व्यवस्था जो लोगों द्वारा चुनी जाती है और लोगों के हित में शासन करती है उसे लोकतंत्र या लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था कहा जाता है तथा जो सरकार तख्तापलट, पारिवारिक, परंपरा आदि से स्थापित होती है उसे गैर-लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था कहा जाता है।
भारत में सरकार का निर्माण चुनावों के माध्यम से होता है । इसके लिए प्रत्येक पाँच वर्ष पर चुनाव होते हैं जिसमें 18 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिक अपना मत देते हैं । इस चुनाव में जिसे सबसे ज्यादा वोट आता है वे चुनाव जीत जाते हैं । वे देश के लोगों के प्रतिनिधि कहलाते हैं और वे लोग सरकार का निर्माण करते हैं और शासन के संचालन में भागीदारी निभाते हैं। इस तरह लोगों की भागीदारी वाली सरकार लोकतांत्रिक कहलाती है और जिसमें लोगों की भागीदारी नहीं होती है वह गैर लोकतांत्रिक होती है।
अब्राहम लिंकन की लोकतंत्र की परिभाषा-“लोकतंत्र ऐसा शासन है जिसमें लोगों का लोगों के लिए और लोगों द्वारा शासन किया जाता है।” लोकतंत्र के दो प्रकार होते हैं—प्रत्यक्ष तथा अप्रत्यक्ष लोकतंत्र । प्रत्यक्ष लोकतंत्र में जनता की शासन में सीधे भागीदारी होती है जबकि अप्रत्यक्ष
लोकतंत्र में जनता की प्रतिनिधियों के द्वारा शासन में भागीदारी सुनिश्चित होती है।
लोकतंत्र में संविधान के अनुसार देश का शासन चलता है। लोकतंत्र में लोगों के मौलिक की गारंटी होती है ।लोगों को सोचने की, अपने विचार देने की, संगठन बनाने की, राजनीतिक गतिविधियों में भाग लेने की स्वतंत्रता होती है। कानून की नजर में सबकी बराबर होते हैं यानी समानता की भावना साफ झलकती है । मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए स्वतंत्र न्यायपालिका होती है जिसकी आदेशों का पालन हम सब करते हैं।
लोकतंत्र में सरकारी सेवकों की जिम्मेदारियाँ संविधान द्वारा तय की जाती है और वे जनता के प्रति उत्तरदायी होते हैं इस प्रकार लोकतंत्र में लोगों के अधिकरों की गारंटी होती है और सरकार संवैधानिक कानूनों के भीतर ही काम करती है।
लोकतंत्र में बहुमत प्राप्त दल का ही शासन होता है। इसमें लोगों द्वारा चुने हुए प्रतिनिधि ही सारे फैसले लेते हैं। चुनाव निष्पक्ष एवं स्वतंत्र होते हैं। चुनाव से बनी सरकार संविधान द्वारा निर्धारित तौर-तरीकों एवं नियमों के अंदर ही कार्य करती है और सरकार लोगों के अधिकारों को सुरक्षित रखती है। चुनाव में अनेक दलों की भागीदारी होती है जिसके कारण लोगों के पास शासकों को बदलने के विकल्प और अवसर उपलब्ध होते हैं।
लोकतंत्र के विपक्ष में तर्क पेश किये जाते हैं कि यह खर्चीला शासन है तथा इससे यह भ्रष्ट नेताओं के हाथ का खिलौना बन जाता है इसमें नैतिकता की कोई जगह नहीं होती है आदि-आदि । इन तर्कों से लगता है कि लोकतंत्र एक आदर्श शासन नहीं है फिर भी हमारे सामने जितने भी शासन है उनमें लोकतंत्र ही बेहतर शासन प्रतीत होता है।
लेकिन लोकतंत्र के पक्ष में यह तर्क दिए जाते हैं कि इसमें लोगों को स्वतंत्रता के अधिकार, समानता का अधिकार, जीवन जीने का अधिकार आदि मानवाधिकार का उपयोग व्यक्ति अपने व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास करने में कर सकता है। इसमें व्यक्ति की गरिमा और सम्मान को बढ़ावा मिलता है जो लोकतंत्र का सर्वप्रमुख गुण है।
लोकतंत्र एक आदर्श के रूप में तभी आयेगा जब देश के कोई भी व्यक्ति भूखे पेट नहीं सोयेगा, सभी को समानता का अधिकार मिलेगा, सूचना उपलब्ध होगा,शिक्षा उपलब्ध होगा। इस आदर्श पर ही लोकतंत्र में समस्याओं का समाधान को ढूंढा जा सकता है। व्यापक अर्थ में लोकतंत्र एवं राजनीतिक व्यवस्था ही नहीं वरन् एक नैतिक धारणा तथा सामाजिक परिस्थिति भी है जो मनुष्य में निष्ठा पैदा करती है तथा जीवन जीने का एक ढंग प्रदान करती है।

प्रश्न और उत्तर
प्रश्न 1. इनमें से कौन लोकतंत्र के लिए आवश्यक नहीं है?
(क) लोगों द्वारा चुनी हुई सरकार हो।
(ख) चुनाव निष्पक्ष हो।
(ग) न्यायालय पर किसी व्यक्ति का नियंत्रण हो।
(घ) सरकार द्वारा लिए गए फैसलों में लोगों की भागीदारी हो।
उत्तर-(ग) न्यायालय पर किसी व्यक्ति का नियंत्रण हो ।

प्रश्न 2. आज दुनिया में सबसे बेहतर शासन किसे माना जाता है ?
(क) लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था को।
(ख) सैनिक शासन व्यवस्था को।
(ग) कम्युनिस्ट शासन व्यवस्था को
(घ) राजशाही शासन व्यवस्था को।
उत्तर-(क) लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था को।

प्रश्न 3. लोकतांत्रिक एवं गैर लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था में अंतर किस आधार किया जा सकता है?
(क) मतदान के अधिकार के आधार पर
(ख) बहुदलीय व्यवस्था के आधार पर ।
(ग) समय सीमा के अंदर चुनाव होने के आधार पर ।
(घ) सरकार के निर्णय के प्रक्रिया के आधार पर ।
उत्तर-(घ) सरकार के निर्णय के प्रक्रिया के आधार पर ।

प्रश्न 4. लोकतंत्र में शासन कौन करते हैं?
(क) जनता
(ख) सैनिक
(ग) न्यायाधीश
(घ) चुनाव आयोग
उत्तर-(क) जनता।

प्रश्न 5. सैनिक शासन में शासन की जिम्मेवारी किसके हाथ में होती है ?
(क) संसद के हाथ में।
(ख) जनता के हाथ में।
(ग) सेना या फौज के हाथ में।
(घ) न्यायाधीशों के हाथ में
उत्तर-(ग) सेना या फौज के हाथ में।

प्रश्न 6. वर्ष 2005 में बिहार विधान सभा के चुनाव में अनीता भी अपने माता-पिता के साथ वोट देने गयी थी। लेकिन अनीता को वोट देने से रोक दिया गया। कहा गया कि उसकी उम्र अभी वोट देने की नहीं हुई है। आप हमें बताएं कि भारत में वोट देने की न्यूनतम उम्र सीमा क्या है?
(क) 20 वर्ष
(ख) 21 वर्ष
(ग) 18 वर्ष
(घ) 16 वर्ष
उत्तर-(ग) 18 वर्ष ।

प्रश्न 7. यहाँ आपके सामने कुछ शासन व्यवस्था का प्रारूप है । उसके सामने देशों के नाम हैं जो गलत है। आप मिलान कर उसे ठीक करें।
(क) लोकतांत्रिक शासन। –म्यांमार (वर्मा)
(ख) सैनिक शासन। –भूटान
(ग) कम्युनिस्ट शासन। –भारत
(घ) राजशाही शासन। –चीन

उत्तर-
(क) लोकतांत्रिक शासन। –भारत
(ख) सैनिक शासन। –म्यांमार (वर्मा)
(ग) कम्युनिस्ट शासन। –चीन
(घ) राजशाही शासन। –भूटान

प्रश्न 8. यहाँ कुछ पार्टियों के चिह्न हैं और उनके सामने पार्टी का नाम है जो गलत हैं। आप हमें यह बताएं कि इन चिह्नों के सामने कौन-सी पार्टी होगी?
(क) पंजा छाप। –भारतीय जनता पार्टी
(ख) कमल छाप। –जनता दल यूनाइटेड
(ग) लालटेन छाप। –कांग्रेस पार्टी
(घ) तीर छाप। –राष्ट्रीय जनता दल
उत्तर
(क) पंजा छाप। –कांग्रेस पार्टी
(ख) कमल छाप। –भारतीय जनता पार्टी
(ग) लालटेन छाप। –राष्ट्रीय जनता दल
(घ) तीर छाप। –जनता दल यूनाइटेड

प्रश्न9.यहाँ आपके सामने चार तरह के देशों के बारे में
सूचनाएं हैं।आप ईन देशों का वर्गीकरण किस तरह करेंगे। इनके सामने लोकतांत्रिक, गैर लोकतांत्रिक एवं ‘पता नहीं लिखें।
(क) देश (क)- जहाँ शासन लोग अपने प्रतिनिधि के माध्यम से करते हैं।
(ख) देश (ख)- शासन में फैसला लेने की शक्ति केवल सेना को है।
(ग) देश (ग) – जहाँ पुरुषों के मत का महत्व महिलाओं से अधिक है।
(घ) देश (घ)- जहाँ वोट देने का अधिकार सभी लोगों को नहीं है।
उत्तर-(क) लोकतांत्रिक।
(ख) गैर लोकतांत्रिक।
(ग) पता नहीं।
(घ) गैर लोकतांत्रिक

प्रश्न 10, यहाँ भी चार अन्य देशों के बारे में सूचनाएँ दी गई है। इन सूचनाओं के आधार पर इन देशों का वर्गीकरण किस तरह करेंगे। यहाँ भी इनके आगे ‘लोकतांत्रिक
‘गैर लोकतांत्रिक’ एवं ‘पता नहीं’ लिखें।
(क) देश (क) – चुनाव में एक ही दल के उम्मीदवार खड़े हों।
(ख) देश (ख)-स्वतंत्र, चुनाव आयोग नहीं है।
(ग) देश (ग)- धर्म के आधार पर मत देने का अधिकार है।
(घ) देश (घ)- मत देने से बुजूर्गों को रोका गया है।
उत्तर-(क) गैर लोकतांत्रिक ।
(ख) गैर लोकतांत्रिक।
(ग) गैर लोकतांत्रिक ।
(घ) गैर लोकतांत्रिक।

प्रश्न 11. नीचे लोकतंत्र के बारे में कुछ गलत वाक्य है। हर एक में की गई गलती को पहचाने और इस अध्याय के आधार पर उसको ठीक कर लिखें।
(क) लोकतांत्रिक शासन में सभी लोगों की भागीदारी हो ही नहीं सकता क्योंकि सभी व्यक्ति समान नहीं होते हैं।
(ख) लोकतांत्रिक सरकार यदि गलत फैसला लेता है तो उसे सहज स्वीकार कर लेते हैं।
(ग) जिन देशों में चुनाव होता है, वहीं माना जाता है कि वहाँ लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था है।
(घ) लोकतंत्र में सरकार का नियंत्रण नहीं होती है। सरकार फैसला अपने इच्छानुसार लेती है।
(ङ) यह कोई आवश्यक नहीं है कि लोकतंत्र में स्वतंत्र न्यायपालिका हो।
उत्तर-(क) लोकतंत्र में लोग अपने प्रतिनिधि लोगों के माध्यम से शासन करते हैं। प्रतिनिधि लोगों की इच्छाओं, भावनाओं और आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर शासन करते हैं।
(ख) लोकतांत्रिक सरकार जल्दबाजी में कोई गलत फैसला ले लेती है तो सार्वजनिक चर्चा एवं बहस के द्वारा उस पर सरकार का ध्यान आकृष्ट कर दिया जाता है, जिससे सरकार के पास इस तरह के फैसलों में सुधार का विकल्प रहता है। यदि सरकार अपने गलत फैसलों को हो बदलती है।
(ग) जिन देशों में स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव होता है वहाँ लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था होती है।
(घ) लोकतंत्र में सरकार का नियंत्रण नहीं होती है। सरकार फैसला आम जनता के हित के अनुसार हो लेती है। यदि सरकार गलत फैसला लेती है तो जनता अगले चुनाव में ठसे बदल देते हैं।
(ङ) लोकतंत्र की सफलता की सबसे महत्वपूर्ण शर्त स्वतंत्र न्यायपालिका है क्योंकि यही लोगों को अधिकार तथा स्वतंत्रता प्रदान करती है।
प्रश्न 12 नीचे कुछ वक्तव्य दिए गए हैं। इनमें से किसे लोकतंत्र के खिलाफ मानते हैं और क्यों?
(क) लोकतंत्र में सभी लोगों का वोट का मूल्य बराबर होता है।
(ख) लोकतांत्रिक सरकार लोगों के कल्याण के लिए कार्य करती है।
(ग) लोकतांत्रिक सरकार ज्यादा मनमानी करती है।
(घ) लोकतांत्रिक देश में सरकार लोगों के प्रति उत्तरदायी होती है।
उत्तर-(ग) लोकतांत्रिक सरकार ज्यादा मनमानी करती यह लोकतंत्र के खिलाफ मत है। क्योंकि लोकतंत्र में मनमानी की कोई जगह नहीं होती है इसमें जो भी निर्णय लिये जाते हैं उसमें बहुमत को ध्यान में रखा जाता है।

प्रश्न 13. नीचे कुछ कथन दिए गए हैं जिसमें कुछ लोकतांत्रिक एवं गैर लोकतांत्रिक । आप बताएं कि यह कथन लोकतांत्रिक एवं गैर लोकतांत्रिक क्यों है।
(क) भारत सरकार के एक मंत्री ने कहा-संसद को ऐसे कानून बनाने चाहिए जो प्रेस की स्वतंत्रता पर प्रतिबंध लगाये।
(ख) मुखिया जो एक बुजुर्ग महिला को वोट देने से इस आधार पर मना कर दिये कि वह अनपढ़ थी।
(ग) बिहार सरकार ने दलितों के विकास के लिए महादलित आयोग बनाया है।
(घ) महिला संगठनों ने संसद में अपनी पूर्ण भागीदारी के लिए आरक्षण की मांग की है।
उत्तर-(क) लोकतांत्रिक व्यवस्था में प्रेस सरकार का चौथा स्तम्भ होती है इसलिए इस पर प्रतिबंध नहीं लगायें आ सकते हैं क्योंक यही जनता की आवाज सरकार तक पहुँचाती है। यह कथन गैर लोकतांत्रिक है।
(ख) लोकतंत्र में सभी व्यक्तियों के मतों का बराबर महत्व होता है इसमें शिक्षित और अशिक्षित में कोई अंतर नहीं पड़ता है। यह कथन गैर लोकतांत्रिक है।
(ग) यह कथन लोकतांत्रिक है क्योंकि लोकतांत्रिक व्यवस्था में पिछड़े वर्गों तथा दलितों के विकास के लिए इस प्रकार के संगठन बनाना आवश्यक है।
(घ) यह कथन लोकतांत्रिक है क्योंकि लोकतंत्र में विचार एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है।

प्रश्न 14. बिहार में एक गाँव ऐसा है जहाँ अभी तक एक भी स्कूल नहीं खुला है। इस गांव के लोगों ने एक बैठक कर सरकार की प्यान इस ओर दिलाने के लिए कई तरीकों पर विचार किया। इसमें कौन-सा तरीका लोकतांत्रिक नहीं है और क्यों ?
(क) अदालत में शिक्षा पाने के अधिकार को अनिवार्य एवं मौलिक अधिकार बताते हुए केस दायर किया।
(ख) सरकार के खिलाफ जनसभाएँ एवं बैठक की।
(ग) अपने गाँव में आये अधिकारियों को बंधक बनाया और अभद्र व्यवहार किया।
(घ) अगले चुनाव में मतदान बहिष्कार का फैसला किया।
उत्तर-(ग) यह तरीका लोकतांत्रिक नहीं है क्योंकि हमसे गाँव में कोई भी अधिकारी जाना नहीं चाहेंगे । फलत: वहाँ शिक्षा का प्रसार में रूकावट आयेगी।
(घ) यह तरीका लोकतांत्रिक नहीं है क्योंकि लोकतंत्र में मतदान के द्वारा ही जनता अपने सही प्रतिनिधि का चुनाव कर अपनी समस्या का स्वयं समाधान पाते हैं ।

प्रश्न 15. इनमें से किस कथन को आप लोकतांत्रिक समझते हैं और क्यों ?
(क) एक नेताजी इस बार के चुनाव में जो मुझे वोट देगा उसे घोती, साड़ी एवं कम्बल मुफ्त में दिया जाएगा।
(ख) मजदूर से किसान तुम्हारी पत्नी को काम के बदले आधी मजदूरी मिलेगी क्योंकि वह औरत है।
(ग) अधिकारियों से कर्मचारी हमारे काम के दौरान सरकार द्वारा निर्धारित सुविधाएँ मिलनी चाहिए।
उत्तर-(ग) यह कथन लोकतांत्रिक है क्योंकि लोकतंत्र में सभी व्यक्ति को सरकार के द्वारा निर्धारित सुविधाएँ मिलती है। जिससे वहाँ का शासन व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित होती है।

प्रश्न 16. वर्ष 2008 के सितम्बर महीने में अखबारों में छपे दो समाचार आपके सामने हैं। प्रथम गुड्डी जो वयस्क लड़की है अपनी इच्छानुसार शंकर से शादी कर ली। शंकर दूसरी जाति का है । इस पर गाँव वालों ने विरोध किया और शंकर के पिता को गाँव वालों ने गाँव छोड़ने पर मजबूर कर दिया। इसकी खबर है कि अपनी मांगों के समर्थन में सरकार के समक्ष प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने लाठियां बरसायी । इन दोनों खबरों पर विचार करें और बताएं कि यह खबर लोकतंत्र के अनुकूल है या नहीं अपने समर्थन में तर्क दीजिए।
उत्तर–पहली खबर गुड्डी और शंकर का अपनी इच्छा से शादी करना लोकतांत्रिक है जबकि प्रदर्शनकारियों पर पुलिस के द्वारा लाठियाँ बरसाना लोकतांत्रिक नहीं है क्योंकि लोकतंत्र में लोगों को अपनी मांग को मनवाने के लिए प्रदर्शन करने की स्वतंत्रता प्रदान की गई है तथा गुड्डी
और शंकर का अपनी इच्छा से शादी करना लोतांत्रिक है क्योंकि लोकतंत्र में जनता की इच्छा ही सर्वोपरि होती है। उसकी इच्छाओं का सम्मान किया जाना लोकतंत्र के अनुकूल है।

प्रश्न 17. 26 सितम्बर, 2008 को दैनिक हिन्दुस्तान समाचार पत्र में कि-“परमाणु करार के विरोध में विपक्षी सांसदों ने संसद मत-परिसर में धरना, प्रदर्शन किया और इस मुद्दे देर बहस के लिए संसद की बैठक बुलाने की माँग सरकार से की। इस खबर पर विचार करें और बताएं कि विपक्षियों का यह तरीका लोकतांत्रिक है या गैर लोकतांत्रिक अपने समर्थन में तर्क दीजिए।
उत्तर-परमाणु करार जैसे मुद्दे आम जनता से जुड़े हुए हैं। इसलिए विपक्षी सांसदों के द्वारा धरना, प्रदर्शन इसकी बहस के लिए संसद की बैठक बुलाने की माँग सरकार से करना पूरी तरह लोकतांत्रिक है। क्योंकि बहस के दौरान ही इस पर विचार-विमर्श हो सकता है कि यह सही है या गलत है । इससे जनता को परमाणु करार जैसे मुद्दे के गुण-दोषों से सीधा-सीधा साक्षात्कार होता है जिससे उन्हें राजनीतिक प्रशिक्षण भी प्राप्त होता

Leave a Comment

error: Content is protected !!