8th hindi

8th class hindi note | अशोक का शस्त्र – त्याग

अशोक का शस्त्र – त्याग

8th class hindi note

वर्ग – 8

विषय – हिंदी

पाठ 9 – अशोक का शस्त्र – त्याग

 अशोक का शस्त्र – त्याग
                                            -वंशीधर श्रीवास्तव

वंशीधर श्रीवास्तव रचित…….दृष्टि से पाठ विशिष्ट है ।

सारांश :-

स्थान : मैदान जिसमें मगध के सैनिकों का शिविर है । बीच में एक पताका पहरा रही है वहीं पर सम्राट अशोक का शिविर है । संध्या बीत चुकी है । तारे चमकने लगे हैं । दीपक जल रहे हैं । अशोक टहलते हुए दिखते हैं उनके मुख पर चिन्ता की छाया है कुछ सोचते हुए आसन पर बैठ जाते हैं ।
अशोक सोचते हुए ( स्वत : ) — चार साल से युद्ध हो रहा है । लाखों मारे गये , लाखों बायल हुए लेकिन कलिंग नहीं जीता जा सका है ।
उसी समय द्वारपाल – गुप्तचर आकर संवाद देता है कि कलिङ्ग के महाराज लड़ाई में मारे जा चुके । लेकिन कलिंग का दरवाजा अभी भी बंद है ।
अशोक उत्तेजित होकर काल स्वयं सेना का संचालन करते हैं ।
मगध की सेना कलिंग के द्वार पर अस्त्र – शस्त्र से सजी हैं और सेनाओं को कलिंग विजय या मृत्यु प्राप्त करने को ललकारते हैं । उसी समय फाटक खुलता है , हजारों स्त्रियाँ वीर वेश में द्वार से बाहर हो मगध की सेना को चुनौतियाँ देती हैं ।
लेकिन सम्राट अशोक स्त्रियों पर हाथ उठाना , उससे युद्ध करना उचित नहीं मानकर शस्त्र त्याग कर युद्ध नहीं करने की प्रतिज्ञा लेते हैं ।
पद्मा भी उन्हें क्षमा कर देती है । अशोक बौद्ध धर्म स्वीकार कर लेते हैं ।
बौद्ध भिक्षु उन्हें –
बुद्धं शरणं गच्छामि ।
धर्म शरणं गच्छामि ।
संघ शरणं गच्छामि ।
का पाठ पढ़ाया ।

शब्दार्थ –

शस्त्र = फेंककर चलाया जाने वाला हथियार । त्याग = छोड़ना । संवाददाता = संवाद पहुँचानेवाला । गुप्तचर = निजी बातों की जानकारी देने वाला । संचालन = नेतृत्व , सुचारू रूप से चलाना । आत्मसमर्पण = अपने – आपको उपस्थित करना , स्वयं पकड़ में आना । पराधीन = दूसरों के अधीन । वीरांगना = वीर महिला , युद्ध में लड़ने वाली महिला । साक्षात् = सामने । प्रतिज्ञा = प्रण निश्चय ।

प्रश्न – अभ्यास

पाठ से

1. पद्मा के ललकारने पर भी अशोक ने युद्ध करना स्वीकार क्यों नहीं किया ?

उत्तर– पद्मा स्त्रियों की सेना लेकर युद्ध के लिए ललकार रही थी । लेकिन अशोक ने युद्ध स्वीकार नहीं किया क्योंकि अशोक स्त्रियों पर हाथ उठाना पाप मानते थे । स्त्रियों के साथ पुरुष का युद्ध करना शास्त्र में अनुचित कहा गया है ।

2. पद्मा को अशोक से बदला लेने का अच्छा अवसर था , तब भी उसने अशोक को जीवित क्यों छोड़ दिया ?

उत्तर — पद्मा के सामने सम्राट अशोक नतमस्तक थे । वे शस्त्र का त्याग कर चुके थे तथा प्रण कर लिए कि आगे कभी युद्ध नहीं करूंगा । वीर सैनिक कभी भी निहत्थों पर वार नहीं करते इसीलिए पद्मा अवसर पाकर भी अशोक से बदला नहीं लेकर जीवित छोड़ दिया ।

3 . बुद्धं शरणं गच्छामि ।
धर्म शरणं गच्छामि ।
संघं शरणं गच्छामि ।
ऊपर में दिए गए उपयुक्त वाक्य संस्कृत भाषा में लिखे गये हैं । इन्हें हिन्दी में अनुवाद कीजिए ।

उत्तर – भगवान बुद्ध के शरण में जाता हूँ ।
बौद्ध धर्म के शरण में जाता हूँ ।
संघ के शरण में जाता हूँ ।

पाठ से आगे

1. सैनिकों को उत्साहित करने के लिए राजकुमारी पदमा और सम्राट अशोक द्वारा कही गई बातों की तुलना कीजिए और बताइए कि अधिक प्रभावशाली कौन है ?

उत्तर — तुलनात्मक दृष्टिकोण से राजकुमारी पद्मा द्वारा कही गई बातें सैनिकों के लिए अधिक प्रभावशाली थे । अशोक ने कलिंग पर विजय कर अधिकार में लेने या मृत्यु प्राप्त करने की बात अपने सैनिकों से कहा । लेकिन पद्मा अपने सैनिकों को वीर कन्या , वीर भगनी , वीरों की पत्नी कह स्त्रियों में वीर रस का संचार कर देती है । इसके साथ – साथ पिता , भाई , पुत्र – पति के हत्यारों से लोहा लेकर मातृभूमि को पराधीन होते नहीं देखने की प्रतिज्ञा करवाती है । जो अधिक प्रभावशाली है ।

2. इस एकांकी को कहानी रूप में लिखिए ।

उत्तर – कहानी रूप में सारांश है । उन्हें लिख देने से उत्तर हो जायेगा ।

3 अगर आप अशोक या पद्मा की जगह होते तो क्या करते और क्यों ?

उत्तर – अगर हम अशोक या पद्मा की जगह होते तो वही व्यवहार करते जो वीरोचित व्यवहार दोनों ने किया ।

4. कल्पना कर बताइए कि यदि अशोक और पद्मा का युद्ध हो गया होता तो क्या होता ?

उत्तर — अगर अशोक और पद्मा का युद्ध हो गया होता तो कल्पना किया जा सकता है कि लाखें लोग मारे जाते , लाखों घायल होते तथा अशोक और भी क्रुर हो जाता । वह बौद्ध धर्म स्वीकार नहीं करता ।

5. अस्त्र और शस्त्र के अंतर को लिखिए ।

उत्तर – अस्त्र – वह हथियार है जो हाथ में लेकर चलाया जाता है । जैसे – तलवार , गदा , फलसा इत्यादि । शस्त्र — वह हथियार जिसको फेंककर चलाया जाता है । जैसे — तीर , भाला , बम इत्यादि ।

6. ” युद्ध से हानियाँ ” विषय पर अपने मित्र को एक पत्र लिखिए ।

उत्तरः – प्रिय मित्र ।                           पटना सिटी
कवीन्द्र नमस्ते                दिनांक 17-2-2012
मैं कुशल से हूँ । तुम भी सपरिवार कुशल होगे । आगे पत्र में युद्ध से हानियों के विषय में लिखना चाहूँगा । आज के परमाणु युग में युद्ध बहुत हानिकारक साबित होगा । युद्ध से मानव का विनाश निश्चित है । लाखों लोग निरापराध मारे जाते हैं । धन – जन की अपार हानियाँ होती है।
हमारे विचार से युद्ध से होने वाली हानियों के मद्देनजर रखते हुए युद्ध का अंत अनिवार्य है।
            तुम्हारा मित्र
                महेश

व्याकरण

1. नीचे तीन वाक्य दिए गए हैं जो प्रश्नवाचक , पूर्णविराम और विस्मयादि स्थितियों को प्रकट करते हैं । पढ़िए और समझिए ।

( क ) मगध की विजय हुई है ?
( ख ) मगध की विजय हुई है ।
( ग ) मगध की विजय हुई है ।

उक्त उदाहरण के आधार पर ऐसे ही तीन वाक्यों को लिखिए ।

उत्तर– रमेश संस्कृत पढ़ा है ?
रमेश संस्कृत पढ़ा है ।
रमेश संस्कृत पढ़ा है ।

2. वाक्य में प्रयोग करके ” शस्त्र और शास्त्र ” में अन्तर स्थापित कीजिए ।

उत्तर – शस्त्र से युद्ध होता है । शास्त्र अध्ययन योग्य है।

गतिविधि

1. इस एकांकी के कुछ संवाद जोशीली आवाज में कहे गये हैं और कुछ नरम आवाज़ में ऐसे दो – दो संवादों को लिखिए और अभिनीत कीजिए ।

उत्तर – छात्र स्वयं करें ।

2. किसी भी उत्सव के मौके पर इस एकांकी का मंचन कीजिए ।

उत्तर — छात्र स्वयं करें ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!