8th hindi

bihar board 8th class hindi note | “ खुशबू रचते हैं हाथ”

“ खुशबू रचते हैं हाथ”

bihar board 8th class hindi note

वर्ग – 8

विषय – हिंदी

पाठ 17 – “ खुशबू रचते हैं हाथ”

 “ खुशबू रचते हैं हाथ”
              –अरुण कमल
( यह कविता वंचित …………………..करती है)

भावार्थ –
जहाँ हाथ से रच – रचकर खुशबूदार अगरबत्तियाँ बनाई जाती उस लघु उद्योग वाले स्थान प्राय : गंदे होते हैं । यह उद्योग प्रायः गली , नालों के किनारे , कुड़े के ढेरों के बगल में ही होते हैं । इस उद्योग में काम करने वाले बूढे , जवान , बच्चे एवं नवयुवतियाँ भी होती हैं । इस उद्योग में जुड़े लोग प्रायः गंदे दिखते हैं लेकिन वे अपने हाथों से खुशबूदार विविध प्रकार की अगरबत्तियों का निर्माण करते हैं ।

शब्दार्थ –
जख्म = घाव । रातरानी = एक तरह का सुगंधित फूल । मुल्क = देश । मशहूर प्रसिद्ध । केवड़ा = एक तरह का सुगंधित फूल । खस = पोस्ता ।

पाठ से

1. खुशबू रचने वाले हाथ कैसी परिस्थितियों में रह रहे हैं ?

उत्तर – खुशबू रचने वाले हाथ अर्थात् जो लोग अगरबत्तियाँ बनाकर संसार को खुशबू प्रदान करते हैं । वे लोग विषम परिस्थितियों में रह रहे हैं । उनके टोले या मुहल्ले तथा गली गंदगियों से भरे रहते हैं । उनके वस्त्र भी प्रायः मैले – कुचले होते हैं ।

2. खुशबू रचते हैं हाथ से क्या तात्पर्य है ?

उत्तर– ” खुशबू रचते हैं हाथ ” से तात्पर्य है खुशबूदार विविध प्रकार की अगरबतियाँ बनाने वाले लोग ।

पाठ से आगे

1. आपके विचार से इस कविता का मुख्य उद्देश्य क्या हो सकता है ?

उत्तर – हमारे विचार से इस कविता का मुख्य उद्देश्य लघु उद्योग में जुड़े लोगों को परिस्थितियों को जानकारी देना ।

2. व्याख्या कीजिए –
यहीं इस गली में बनती हैं
          मुल्क की मशहूर अगरबत्तियाँ
          इन्हीं गंदे मुहल्लों के गंदे लोग ।
          बनाते हैं केवड़ा , गुलाब , खस और रातरानी     
          अगरबत्तियाँ । ll

उत्तर – प्रस्तुत पंक्तियाँ ” अरूण कमल ” जी रचित ” खुशबू रचते हैं हाथ ” कविता से उद्धत हैं । जिसमें लघु उद्योग वाले मुहल्लों / गलियों या टोले की परिस्थितियों को दर्शाया गया है । यह उद्योग जिस गली में होते हैं वह स्थान गंदगियों से भरा होता है दुर्गन्धों से भरे उस स्थान पर रहकर भी लोग अपने हाथों से केवड़ा , गुलाब , खस , रातरानी इत्यादि सुगन्धयुक्त अगरबत्तियों का निर्माण करते हैं ।

3. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए

( क ) “ उभरी नसों वाले हाथ ” का क्या अर्थ है ?

उत्तर– ” उभरी नसों वाले हाथ ” का अर्थ है बूढ़े लोग ।

( ख ) “ पीपल के पत्ते से नए – नए हाथ ” का क्या अर्थ है ?

उत्तर– ” पीपल के पत्ते से नए – नए हाथ ” का अर्थ है नन्हें – नन्हें बच्चों का कोमल हाथ ।

4. अमीरी एवं गरीबी की खाई को कैसे पाटा जा सकता है – अपना सुझाव दीजिए ।

उत्तर – अमीरी एवं गरीबी अर्थात् अमीर और गरीब के बीच की खाईयों को हम साम्यवाद के द्वारा ला सकते हैं । जिसके अन्दर अमीर लोग गरीबों को मदद देकर उनकी उन्नति में सहायक बनें । सरकार भी गरीबों के रोजगारयुक्त करने के लिए यथोचित मदद करें । गरीब लोगों को रोजगार प्रदान करें तो अमीरी – गरीबी के बीच खाई पाटा जा सकता है ।

गतिविधि

1 . पता कीजिए कि जहाँ अगरबत्तियाँ बनती हैं , वहाँ का माहौल कैसा होता है ?

उत्तर – छात्र स्वयं करें ।

2. अगरबत्ती बनाना , माचिस बनाना , मोमबत्ती बनाना , पापड़ बनाना , मसाले का निर्माण करने जैसे लघु उद्योगों में से किसी एक के बारे में जानकारी एकत्रित कीजिए ।

उत्तर – छात्र स्वयं करें ।

3. नवगीत के बारे में अपने शिक्षक से जानिए ।

उत्तर – छात्र स्वयं करें ।

4. मजदूरों द्वारा किए जाने वाले कार्यों की सूची बनाइए ।

उत्तर — छात्र स्वयं करें ।

5. इस कविता से मिलती – जुलती कुछ रचनाएँ संकलित कीजिए और कक्षा में सुनाइए ।

उत्तर – छात्र स्वयं करें ।

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!