10 Science

bseb class 10th science notes | तत्वों का आवर्त वर्गीकरण

image

bseb class 10th science notes | तत्वों का आवर्त वर्गीकरण

                                              पाठगत प्रश्नोत्तर
प्रश्न 1. क्या डॉबेराइनर के त्रिक, न्यूलैंड्स के अष्टक के स्तम्भ में भी पाए जाते हैं?
तुलना करके पता कीजिए।
उत्तर-हाँ, डॉबेराइनर के त्रिक, न्यूलैंड्स के अष्टक के स्तम्भ में पाए जाते हैं । उदाहरण
Li, Na, K डॉबेराइनर के त्रिक हैं जो न्यूलैंड्स के अष्टक के स्तम्भ हैं ।
प्रश्न 2. डॉबेराइनर के वर्गीकरण की क्या सीमाएँ हैं ?
उत्तर-1. उस समय ज्ञात सभी तत्वों का वर्गीकरण डॉबेराइनर के त्रिक के आधार पर नहीं
हो सका।
2. डॉबेराइनर केवल तीन तत्वों के त्रिक को उस समय पहचान सके ।
यही कारण है कि डॉबेराइनर के त्रिक को मान्यता प्राप्त नहीं हुई।
प्रश्न 3. न्यूलैंड्स अष्टक नियम की क्या सीमाएंँ थीं?
उत्तर-1. यह नियम केवल Ca तक के परमाणु भार वाले तत्वों को वर्गीकृत कर पाता है।
इसके बाद आठवाँ तत्व प्रथम तत्व से समानता प्रदर्शित नहीं करता है।
2. न्यूलैंड्स ने माना कि केवल 56 तत्व ही संभव हैं, अन्य तत्वों का आविष्कार नहीं हो
सकता।
3. न्यूलैंड्स के अष्टक में कुछ ऐसे भी तत्व हैं जिनके गुणों में समानता नहीं पाई जाती है।
                                        क्रियाकलाप 5.1
प्रश्न 1. क्षार धातुओं एवं हैलोजन कुल की समानता को ध्यान में रखते हुए हाइड्रोजन
को मेन्डेलीफ की आवर्त सारणी में उचित स्थान पर रखिए ।
उत्तर-हाइड्रोजन को मेन्डेलीफ आवर्त सारणी के क्षारीय धातुओं के साथ रखा गया है किन्तु
इसके कुछ गुण हैलोजन से भी मिलते हैं। आवर्त सारणी में हाइड्रोजन का स्थान उचित है क्योंकि
इसके गुण क्षारीय धातुओं के समान ज्यादातर हैं । जैसे वह इलेक्ट्रॉन को त्याग कर विद्युत
घनात्मकता के गुण को प्रदर्शित करता है।
प्रश्न 2 हाइड्रोजन को किस समूह एवं आवर्त में रखना चाहिए ?
उत्तर-प्रथम समूह एवं प्रथम आवर्त ।
                                         क्रियाकलाप 5.2
• क्लोरीन के समस्थानिक Cl-35 तथा Cl-37 पर विचार कीजिए ।
प्रश्न 1. उनके परमाणु द्रव्यमान भिन्न-भिन्न होने के कारण क्या आप उन्हें अलग-अलग
रखेंगे?
उत्तर-नहीं, क्योंकि तत्वों के वर्गीकरण के लिए परमाणु संख्या अधिक उपयोगी मौलिक
गुण है परमाणु द्रव्यमान नहीं ।
प्रश्न 2. यह रासायनिक गुणधर्म समान होने के कारण आप दोनों को एक ही स्थान
पर रखेंगे?
उत्तर-हाँ, दोनों ही समस्थानिकों की परमाणु संख्या एक समान है अतः इन्हें एक ही स्थान
पर रखा जा सकता है।
                                                 पाठगत प्रश्नोत्तर
प्रश्न 1. मेन्डेलीफ की आवर्त सारणी का उपयोग कर निम्नलिखित तत्वों को ऑक्साइड
सूत्र का अनुमान लिखिए।
                                      K, C, Al, Si, Ba
उत्तर-K―K2O,C―CO2,Al―AI2O3,Si―SiO2, Ba―BaO
प्रश्न 2. गैलियम के अतिरिक्त अब तक कौन-कौन से तत्वों का पता चला है जिसके
लिए मेन्डेलीफ ने अपनी आवर्त सारणी में खाली जगह छोड़ दी थी । दो उदाहरण दीजिए।
उत्तर-1. स्कैडियम 2. जरमेनियम
प्रश्न 3. मेन्डेलीफ ने अपनी आवर्त सारणी तैयार करने के लिए कौन-सा मापदंड
अपनाया ?
उत्तर-1. उन्होंने तत्वों को उनके बढ़ते हुए परमाणु द्रव्यमान के क्रम में सजाया ।
2. उन्होंने समान गुण वाले तत्वों को एक समूह में रखने का प्रयास किया ।
3. तत्वों के हाइड्राइडों एवं ऑक्साइडों के अणु-सूत्रों को एक आधारभूत गुण मानकर तत्वों
का वर्गीकरण किया ।
प्रश्न 4. आपके अनुसार उत्कृष्ट गैसों को अलग समूह में क्यों रखा गया ?
उत्तर-अक्रिय या उत्कृष्ट गैसों को अलग समूह में रखा गया क्योंकि-
(क) ये गैसें बहुत ही अक्रियाशील होती हैं एवं इनकी खोज बहुत बाद में हुई ।
(ख) इन गैसों को एक नये समूह में बिना आवर्त सारणी को छेड़-छाड़ किए हुए रखा गया ।
क्रियाकलाप 5.3
प्रश्न 1. आधुनिक आवर्त सारणी में कोबाल्ट एवं निकल के स्थान कैसे निर्धारित किए
गए हैं?
उत्तर-कोबाल्ट का परमाणु संख्या 27 एवं निकल का 28 होता है । अतः आधुनिक आवर्त
सारणी में कोबाल्ट को निकेल से पहले रखा गया है।
प्रश्न 2. आधुनिक आवर्त सारणी में विभिन्न तत्वों के समस्थानिकों का स्थान कैसे
सुनिश्चित किया गया है ?
उत्तर-सभी समस्थानिकों की परमाणु संख्या एक समान होती है । अतः सभी समस्थानिकों
को उस तत्व के साथ आधुनिक आवर्त सारणी में एक ही जगह (स्थान) प्राप्त है।
प्रश्न 3. क्या 1.5 परमाणु संख्या वाले किसी तत्व को हाइड्रोजन एवं हीलियम मध्य
रखा जा सकता है?
उत्तर-नहीं । यह संभव नहीं है क्योंकि परमाणु संख्या सदैव पूर्ण संख्या होती है ।
प्रश्न 4. आपके अनुसार आधुनिक आवर्त सारणी में हाइड्रोजन को कहाँ रखना चाहिए?
उत्तर-हमारे अनुसार हाइड्रोजन का आवर्त सारणी में उचित स्थान है।
                                          क्रियाकलाप 5.4
प्रश्न 1. आधुनिक आवर्त सारणी के समूह 1 में उपस्थित तत्वों के नाम बताइए।
उत्तर-हाइड्रोजन (H), लिथियम (Li), सोडियम (Na), पोटैशियम (K), रूबिडियम (Rb),
सीजियम (Cs) तथा फ्रान्सियम (Fr) ये सभी तत्व समूह 1 के हैं।
प्रश्न 2. समूह 1 के पहले तीन तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए ।
उत्तर- फोटो-1
प्रश्न 3. इन तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास में क्या समानता है ?
उत्तर-इनकी अन्तिम कक्षा में एक इलेक्ट्रॉन है।
प्रश्न 4. इन तीनों तत्वों में कितने संयोजी इलेक्ट्रॉन हैं ?
उत्तर-एक संयोजी इलेक्ट्रॉन ।
                                          क्रियाकलाप 5.5
प्रश्न 1. यदि आप आवर्त सारणी के लम्बे रूप को देखें तो आपको पता चलेगा कि
Li, Be, B, C,N, O, F तथा Ne दूसरे आवर्त के तत्व हैं । इनका इलेक्ट्रॉनिक विन्यास
लिखिए।
उत्तर- Li―2.1           Be ― 2,2
         B―2.3            C  ―  2,4
         N―2,5            O  ―  2,6
         F―2,7            Ne ―  2,8
प्रश्न 2. क्या इन सभी तत्वों के भी संयोजकता इलेक्ट्रॉनों की संख्या एक समान है?
उत्तर-नहीं।
प्रश्न 3. क्या इनके कोशों की संख्या समान है?
उत्तर-हाँ।
नोट : एक ही आवर्त के तत्वों में कोशों की संख्या समान होती है किन्तु संयोजी इलेक्ट्रॉनी
की संख्या असमान होती है।
                                        क्रियाकलाप 5.6
प्रश्न 1. किसी तत्व के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास से आप उसकी संयोजकता का परिकलन
कैसे करेंगे?
उत्तर-1. धातुओं की संयोजकता = संयोजी इलेक्ट्रॉनों की संख्या (1,2,3)
2. अधातुओं की संयोजकता = 8―संयोजी इलेक्ट्रॉनों की संख्या
प्रश्न 2. परमाणु संख्या 12 वाले मैग्नीशियम तथा परमाणु संख्या 16 वाले सल्फर की
संयोजकता क्या है?
उत्तर-Mg―2,8,2 (धातु) संयोजकता =2
S―2,8,6 (अधातु) संयोजकता =8-6=2
प्रश्न 3. इसी प्रकार पहले 20 तत्वों की संयोजकता ज्ञात कीजिए। .
उत्तर-तत्व              संयोजकता              संयोजी इलेक्ट्रॉन
H                               1                               1
He                             2                               2
Li                               1                               1
Be                              2                               2
B                                3                               3
C                                4                               4
N                                5                               8―5 = 3
O                                6                               8―6 = 2
F                                 7                               8―7 = 1
Ne                              8                               8―8 = 0
Na                              9                               1
Mg                             2                               2
AI                               3                               3
Si                               4                                4
P                                5                                8―5 = 3
S                                6                                8―6 = 2
Cl                               7                                8―7 = 1
Ar                              8                                8―8 = 0
K                                1                                1
Ca                              2                                2
प्रश्न 4. आवर्त में बाईं से दायीं ओर जाने पर संयोजकता किस प्रकार परिवर्तित होती है ?
उत्तर-संयोजकता पहले बढ़कर 4 हो जाती है फिर धीरे-धीरे घटकर शून्य हो जाती है।
(1,2,3,4,3,2, 1,0)
प्रश्न 5. समूह में ऊपर से नीचे जाने पर संयोजकता किस प्रकार परिवर्तित होती है?
उत्तर-संयोजकता एक समान रहती है क्योंकि संयोजी इलेक्ट्रॉनों की संख्या समान रहती है।
                                        क्रियाकलाप 5.7
प्रश्न 1. दूसरे आवर्त के तत्वों की परमाणु त्रिज्याएँ नीचे दी गई हैं :
दूसरे आवर्त के तत्व         B       Be       C       N       Li        C
परमाणु त्रिज्या (pm)       88    111     66     74    152      77
इन्हें परमाणु त्रिज्या के अवरोही क्रम में व्यवस्थित कीजिए ।
उत्तर-          Li            Be          B          C        N           O
                152         111         88        77      74         66
प्रश्न 2. क्या ये तत्व अब आवर्त सारणी के आवर्त की तरह ही व्यवस्थित है ?
उत्तर-हाँ।
प्रश्न 3. किस तत्व का परमाणु सबसे बड़ा है एवं किसका सबसे छोटा है ?
उत्तर-सबसे बड़ा परमाणु ― Li
        सबसे छोटा परमाणु ― O
प्रश्न 4. आवर्त में बाई से दाईं जाने पर परमाणु त्रिज्या किस प्रकार बदलती है ?
उत्तर-परमाणु त्रिज्या आवर्त में बाई से दाई ओर जाने पर सदैव घटती है ।
                                 क्रियाकलाप 5.8
प्रश्न 1. प्रथम समूह के तत्वों के परमाणु त्रिज्या में परिवर्तन का अध्ययन कीजिए तथा
उन्हें आरोही क्रम में व्यवस्थित कीजिए।
प्रथम समूह के तत्व            Na          Li         Rb        Cs         K
परमाणु त्रिज्या (pm)-        86         152       244      262      231
उत्तर-    Na        Li            K           Rb            Cs
            86       152        231        244           262
प्रश्न 2. किस तत्व का परमाणु सबसे छोटा तथा किसका सबसे बड़ा है ?
उत्तर-सबसे छोटा― Na (86)
        सबसे बड़ा― Cs (262)
प्रश्न 3. समूह में ऊपर से नीचे जाने पर परमाणु साइज में कैसा परिवर्तन होगा?
उत्तर-परमाणु साइज बढ़ता है।
                                      क्रियाकलाप 5.9
प्रश्न 1. तीसरे आवर्त के तत्वों की जाँच कर उन्हें धातु एवं अधातु वर्गीकृत कीजिए।
उत्तर-तीसरा आवर्त तत्व-Na(11),Mg(11), AI(13), Si(14), P(15),S(16),CI(17),
Ar(18).
          धातु― Na,Mg, AI
       अधातु― Si, P, S, CI, Ar
प्रश्न 2. सारणी के किस ओर धातुएँ स्थित हैं ?
उत्तर-सारणी के बाईं ओर धातुएँ स्थित हैं।
प्रश्न 3. सारणी के किस ओर अधातुएँ स्थित हैं ?
उत्तर-सारणी के दाईं ओर अधातुएँ स्थित हैं।
                                           क्रियाकलाप 5.10
प्रश्न 1. समूह में इलेक्ट्रॉन त्यागने की प्रवृत्ति किस प्रकार बदलती है
उत्तर-समूह में इलेक्ट्रॉन त्यागने की प्रवृत्ति ऊपर से नीचे जाने पर बढ़ती जाती है ।
प्रश्न 2. आवर्त में यह प्रवृत्ति कैसे बदलेगी?
उत्तर-आवर्त में इलेक्ट्रॉन त्यागने की प्रवृत्ति बाएँ से दाएँ जाने पर घटती जाती है।
                                             क्रियाकलाप 5.11
प्रश्न 1. आवर्त में बाई से दाईं ओर जाने पर इलेक्ट्रॉन ग्रहण करने की प्रवृत्ति कैसे
परिवर्तित होगी?
उत्तर-आवर्त में बाई से दाई ओर जाने पर इलेक्ट्रॉन ग्रहण करने की प्रवृत्ति बढ़ती जाती है।
यह प्रवृत्ति 18वें समूह के तत्वों के लिए घटती है।
प्रश्न 2. समूह में ऊपर से नीचे जाने पर इलेक्ट्रॉन ग्रहण करने की प्रवृत्ति कैसे परिवर्तित
होगी?
उत्तर-इलेक्ट्रॉन ग्रहण करने की प्रवृत्ति नीचे जाने पर समूहों में घटती जाती है।
                                            पाठगत प्रश्नोत्तर
प्रश्न 1. आधुनिक आवर्त सारणी द्वारा किस प्रकार से मेन्डेलीफ के आवर्त सारणी को
विविध विसंगतियों को दूर किया गया ?
उत्तर-1. आधुनिक आवर्त सारणी में हाइड्रोजन का प्रथम समूह में तर्कसंगत स्थान है क्योंकि
हाइड्रोजन विद्युत धनात्मक होती है।
2. आधुनिक आवर्त सारणी में तत्वों को उनके बढ़ते हुए परमाणु संख्या के क्रम में रखा
गया है इसलिए किसी तत्व के समस्थानिकों को तत्व के साथ उसी स्थान पर आवर्त सारणी में
रखा गया है।
3. भारी एवं हल्के तत्वों का क्रम भी आधुनिक आवर्त सारणी में सही है जो मेन्डेलीफ के
आवर्त सारणी में नहीं था।
4. अक्रिय गैसों का स्थान भी तर्कसंगत 18वें समूह में है।
प्रश्न 2. मैग्नीशियम की तरह रासायनिक अभिक्रियाशीलता दिखाने वाले दो तत्वों के
नाम लिखिए । आप के चयन का क्या आधार है?
उत्तर-कैल्सियम (Ca) एवं बेरियम (Ba) क्योंकि
1. ये दोनों तत्व मैग्नीशियम समूह के हैं।
2. इन दोनों तत्वों में मैग्नीशियम की तरह 2 संयोजी इलेक्ट्रॉन हैं।
प्रश्न 3. इन तत्त्वों के नाम एवं सूत्र बताइए:
(a) तीन तत्वों जिनके बाहरी कोश में एक इलेक्ट्रॉन हो ।
(b) दो तत्व जिनके सबसे बाहरी कोश में दो इलेक्ट्रॉन उपस्थित हों।
(C) तीन तत्व जिनका बाहरी कोश पूर्ण हो ।
उत्तर-(a) Li,Na, K (लिथियम, सोडियम पोटैशियम)
(b) Mg, Ca (मैग्नीशियम, कैल्सियम)
(c) हीलियम (He), नियॉन (Ne), आर्गन (Ar)
प्रश्न 4.(a) लीथियम, सोडियम, पोटैशियम, ये सभी धातुएँ जल से अभिक्रिया कर
हाइड्रोजन गैस मुक्त करती हैं। क्या इन तत्वों के परमाणुओं में कोई समानता है ?
(b) हीलियम एक अक्रियाशील गैस है जबकि निऑन की अभिक्रियाशीलता अत्यन्त
कम है। इनके परमाणुओं में कोई समानता है ?
उत्तर-(a) लीथियम, सोडियम, पोटैशियम धातुओं के बाहातम कक्षा में केवल एक
इलेक्ट्रॉन है
(b) इन दोनों तत्वों की बाह्यतम कक्षा पूर्णतः इलेक्ट्रॉनों से भरी है।
प्रश्न-5. आधुनिक आवर्त सारणी में पहले दस तत्वों में कौन-सी धातुएँ हैं ?
उत्तर-केवल लीथियम, बेरीलियम एवं बोरॉन धातुएँ हैं ।
प्रश्न 6. आवर्त सारणी में इनके स्थान के आधार पर इनमें से किस तत्व में सबसे अधिक
धात्विक अभिलक्षण की विशेषता है?
Ga, Ge, As, Se, Be
उत्तर-Be में अधिकतम धात्विक लक्षण हैं क्योंकि शेष अन्य तत्व आवर्त सारणी में दाई
ओर रखे गए हैं । बाईं तरफ वाले तत्व धातु एवं दाईं तरफ वाले तत्व अधातु होते हैं ।
                                                   अभ्यास
प्रश्न 1. आवर्त सारणी में बाई स दाई ओर जाने पर प्रवृत्तियों के बारे में कौन-सा कथन
         असत्य है?
(a) तत्वों की धात्विक प्रकृति घटती है।
(b) संयोजकता इलेक्ट्रॉनों की संख्या बढ़ जाती है ।
(c) परमाणु आसानी से इलेक्ट्रॉन का त्याग करते हैं ।
(d) इनके ऑक्साइड अधिक अम्लीय हो जाते हैं।
उत्तर-निम्नलिखित कथन असत्य है―
(c) परमाणु आसानी से इलेक्ट्रॉन का त्याग करते हैं।
प्रश्न 2. तत्व X, XCI2 सूत्र वाला एक क्लोराइड बनाता है, जो एक ठोस है तथा
जिसका गलनांक अधिक है। आवर्त सारणी में यह तत्व संभवतः किस समूह के अन्तर्गत
होगा ?
(a) Na, (b) Mg, (e)AI (d) Si
उत्तर-(b) Mg क्योंकि इस समूह के क्लोराइड का अणु सूत्र XCI2 है ।
प्रश्न 3. किस तत्व में
(a) दो कोश हैं तथा दोनों इलेक्ट्रॉनों से पूर्ण हैं ?
(b) इलेक्ट्रॉनिक विन्यास 2,8,2 हैं?
(c) कुल तीन कोश हैं तथा संयोजकता कोश में चार इलेक्ट्रॉन हैं?
(d) कुल दो कोश हैं तथा संयोजकता कोश में तीन इलेक्ट्रॉन हैं?
(e) दूसरे कोश में पहले कोश से दोगुने इलेक्ट्रॉन हैं?
उत्तर-(a) नियॉन (10 (2,8) (b) मैग्नीशियम (Mg)
(c) सिलिकॉन (Si) (2,8,4) (d) बोरॉन (B) (2,3)
(e) कार्बन (C) (2,4)
प्रश्न 4. (a) आवर्त सारणी में बोरॉन के स्तम्भ के सभी तत्वों के कौन-से गुणधर्म समान हैं ?
(b) आवर्त सारणी में फ्लुओरीन के स्तंभ के सभी तत्वों के कौन-से गुणधर्म समान हैं?
उत्तर-(a) सभी तत्व धातुएँ हैं-और उनके गुणधर्म हैं-
(i) सभी विद्युत के सुचालक होते हैं। (ii) दोनों आघातवर्ध्य होते हैं।
(b) ये सभी अधातुएँ हैं और उनके गुणधर्म हैं-
(i) सभी विद्युत के कुचालक होते हैं। (ii) ये सभी भंगुर होते हैं।
प्रश्न 5. एक परमाणु का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास 2,8,7 है-
(a) इस तत्व की परमाणु संख्या क्या है ?
(b) निम्न में से किस तत्व के साथ इसकी रासायनिक समानता होगी? (परमाणु संख्या
कोष्ठक में दी गई है।)
N(7) F(9) P (15) Ar(18)
उत्तर-(a) परमाणु संख्या = 17
(b) F(9) के साथ इसकी रासायनिक समानता होगी ।
प्रश्न 6. आवर्त सारणी में तीन तत्व A,B तथा C की स्थिति निम्न प्रकार है-
         समूह 16                     समूह 17
        …………                         …………
        …………                            A
         ..………                        …………
             B                                C
अब बताइए कि:
(a) A धातु है या अधातु
(b) A की अपेक्षा अधिक अभिक्रियाशील है या कम?
(c) Cका साइज B से बड़ा होगा या छोटा?
(d) तत्व A, किस प्रकार के आयन, धनायन या ऋणायन बनाएगा?
उत्तर-(a) अधातु
(b) C कम क्रियाशील है।
(c) C का आकार B से छोटा होगा ।
(d) A ऋणायन बनाएगा।
प्रश्न.7. नाइट्रोजन (परमाणु संख्या 7) तथा फॉस्फोरस (परमाणु संख्या 15) आवर्त
सारणी के समूह 15 के तत्व हैं । इन दोनों तत्वों का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास लिखिए । इसमें
से कौन-सा तत्व अधिक ऋण विद्युत होगा एवं क्यों ?
उत्तर-नाइट्रोजन अधिक विद्युत-ऋणात्मक तत्व होगा, क्योंकि फॉस्फोरस एवं नाइट्रोजन दोनों
अधातुएँ हैं । फॉस्फोरस समूह में नाइट्रोजन से नीचे आता है । अतः नाइट्रोजन की विद्युत
ऋणात्मकता फॉस्फोरस से ज्यादा होगी । समूह में ऊपर से नीचे आने पर तत्व की विद्युत
ऋणात्मकता घटती है। इनके इलेक्ट्रॉनिक विन्यास निम्नलिखित हैं-
नाइट्रोजन― 2, 5
फॉस्फोरस― 2, 8, 5
प्रश्न 8. तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास का आधुनिक आवर्त सारणी में तत्व की स्थिति
से क्या संबंध है?
उत्तर-इलेक्ट्रॉनिक विन्यास तत्वों की आवर्त सारणी में स्थिति से संबंधित होता है। बाह्यतम
कोश में उपस्थित इलेक्ट्रॉनों की संख्या उस तत्व की समूह संख्या को सूचित करती है तथा बाह्यतम कोश संख्या उस तत्व की आवर्त को सूचित करता है ।
प्रश्न 9. आधुनिक आवर्त सारणी में कैल्सियम (परमाणु संख्या 20 ) के चारों ओर 12,
19,21 तथा 38 परमाणु वाले तत्व स्थित हैं। इनमें से किन तत्वों के भौतिक एवं रासायनिक
गुणधर्म कैल्सियम के समान हैं ?
उत्तर-परमाणु संख्या 12 वाले तत्व का भौतिक एवं रासायनिक गुण धर्म एक समान हैं
क्योंकि Ca(20) एवं परमाणु संख्या 12 एवं 38 वाले तत्वों के अन्तिम कोश में केवल 2 इलेक्ट्रॉन हैं। किन्तु अन्य परमाणु संख्याओं की स्थिति में ऐसा नहीं है-
परमाणु संख्या       ―              इलेक्ट्रॉनिक विन्यास
Ca (20)              ―                  2,8,8,2
12                       ―                  2,8,2
19                       ―                  2,8,8,1
21                       ―                  2,8,9,2 (संक्रमण धातु)
38                       ―                  2,8, 18,8,2
प्रश्न 10. आधुनिक आवर्त सारणी एवं मेन्डेलीफ की आवर्त सारणी में तत्वों की
व्यवस्था की तुलना कीजिए ।
उत्तर-1 मेन्डेलीफ की आवर्त सारणी तत्वों के परमाणु द्रव्यमान पर आधारित हैं एवं
आधुनिक आवर्त सारणी परमाणु-संख्या पर आधारित है ।
2. मेन्डेलीफ की आवर्त सारणी में अक्रिय गैसों का कोई स्थान नहीं था किन्तु आधुनिक
आवर्त सारणी में अक्रिय गैसों को 18वें समूह में रखा गया है।
3. आधुनिक आवर्त सारणी में मेन्डेलीफ की आवर्त सारणी के सारे दोषों को हटा दिया
गया है।
4. मेन्डेलीफ की आवर्त सारणी में 8 समूह हैं जबकि आधुनिक आवर्त सारणी में 18 समूह हैं ।
                                                ◆◆◆

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!