Health

ड्राई आइस किसे कहते हैं – What is dry ice

ड्राई आइस किसे कहते हैं

image

ड्राई आइस किसे कहते हैं

क्या आपको पता  है कि ड्राइ आइस क्या है! ड्राइ आइस ठोस रूप से कार्बन डाइऑक्साइड होती है और इसको ड्राइ आइस इसलिए कहा जाता है, क्योंकि जब यह गैस ठोस होती हैं, तो बर्फ की तरह दिखाई देती हैं. जानो क्या है ड्राइ
आइस का उपयोग.

साइंस वर्ल्ड
———–

* ड्राई आइस किसे कहते हैं।
ड्राइ आइस का मुख्य रूप से कुलिंग एजेंट की तरह
इस्तेमाल होता है और यह हमारे पृथ्वी के वायुमंडल का एक सामान्य हिस्सा है.
शुष्क बर्फ या ड्राइ आइस को पहली बार वर्ष 1835 में फ्रांसीसी आविष्कारक एड्रियन-जीन-पियर
थिलोरियर ने खोज किया था. यह वह गैस है, जिसे हम सांस लेने के दौरान निकालते है और पौधे फोटो सिंथेसिस में उपयोग करते हैं. सोडा पानी बनाने के लिए यह सामान्य रूप से पानी में जोड़ा जाने वाला गैस है. यह गैस अक्सर औद्योगिक प्रक्रियाओं में और फिर से सूखी बर्फ बनाने के लिए इस्तेमाल में आती है.

व्यापक रूप में है इसका प्रयोग:-

ड्राइ आइस विशेष रूप से ठंड के लिए उपयोगी है और ठंडे तापमान के कारण चीजों को -109.3 डिग्री फारेनहाइट या -78.5 डिग्री सेल्सियस पर जमे हुए रखती है. ड्राइ आइस का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है, क्योंकि यह जल्दी शुष्क हो जाती है और विद्युत-रोधित दस्ताने का
उपयोग भी करने में आसानी होती है. ड्राइ आइस सामान्य वातावरणीय स्थितियों में तरल पदार्थ में बिना बदले ही ठोस से गैस में सीधे बदल जाती है.

-फ्रीजर में नहीं रखते ड्राइआइस:-

तुम्हें जान कर आश्चर्य होगा कि फ्रीजर मे ड्राई आइस को स्टोर नहीं किया जाता है, क्योंकि इसको रखने से फ्रीजर का थर्मोस्टेट अत्यधिक ठंडा होने के कारण फ्रीजर को बंद कर देगा और इसे फ्रीजर भी टूट सकता है।

कहां कहां होता है ड्राई आइस का उपयोग:-

नन साइकिल के रेफ्रिजरेशन का उपयोग करके, ड्राई आइस खाद्य पदार्थों को संरक्षित करता है यह अक्सर वस्तुओं को पैक करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है, क्योंकि इन वस्तुओं को यांत्रिक कूलिंग के उपयोग के बिना ठंडा या जमे हुए रहना चाहिए, जैसे कि आइसक्रीम या बायोलॉजिकल सैंपल आदि।
अना6ज और अनाज उत्पादों के
बंद कंटेनर में किस गतिविधि को रोकने के लिए ड्राई आइस का इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि यह ऑक्सीजन को विस्थापित करता है, लेकिन स्वाद या खाद्य पदार्थो की गुणवत्ता में परिवर्तन नहीं करता है। इसी कारण से,यह खाद्य तेल और वसा को बासी होने से रोकता है

अन्य रोचक बातें
——————

• जब ड्राइ आइस को पानी में रखा जाता है, तो सबलिमेशन की प्रक्रिया तेज हो जाती है और कम डूबते हुए घने बादलों की तरह धुंध यानी फोग बनने लगती है. इसका उपयोग सिनेमाघरों में कोहरे की मशीनों में, नाटकीय प्रभावों के लिए नाइट क्लब आदि में किया जाता है. कार्बन डाइऑक्साइड के आकर्षण के कारण ड्राइ आइस का उपयोग मच्छरों, बेडबग और अन्य कीड़ों को मारने के लिए भी किया जा सकता है.
• ड्राइ आइस ब्लास्टिंग जो कि कार्बन डाइऑक्साइड
क्लीनिंग का ही एक रूप है, कई औद्योगिक अनुप्रयोगों में
उपयोग किया जाता है. यह तरल पदार्थ को काटने में भी
उपयोगी है.
•ड्राइ आइस बम एक गुब्बारे जैसा उपकरण है, जिसका उपयोग कंटेनर को सील करने के लिए भी होता है.
•ड्राइ आइस के लंबे समय तक इस्तेमाल करने में फ्रॉस्ट
बाइट और त्वचा को नुकसान भी हो सकता है. यहां तक
की कोहरे के उत्पादन में भी सुरक्षा बरतनी चाहिए, क्योंकि
यह कार्बन डाइऑक्साइड गैस की बड़ी मात्रा में
उत्सर्जन करता है.

आभार – प्रभात खबर

Leave a Comment

image
error: Content is protected !!