12-geography

class 12 geography notes | जनसंख्या : वितरण, घनत्व, वृद्धि

class 12 geography notes | जनसंख्या : वितरण, घनत्व, वृद्धि

जनसंख्या : वितरण, घनत्व, वृद्धि और संघटन
        [ Population : Distribution, Density,Growth and Composition ]
 
                                 भौगोलिक शब्द तथा परिभाषाएँ
जन्म दर (Birth Rate)-दो समय बिन्दुओं के मध्य जनसंख्या के प्रति हजार व्यक्तियों पर
किसी देश में जन्मे जीवित बच्चों की संख्या ।
जनसंख्या की प्राकृतिक वृद्धि दर (Natural Growth Rate Population)-किसी देश की मध्य वर्ष की जनसंख्या के प्रति हजार में जन्म दर तथा मृत्यु दर के बीच अन्तर । यह
प्रतिशत में व्यक्त किया जाता है।
संकेन्द्रण सूचकांक (Index Concentration)-देश की जनसंख्या का वह भाग जो किसी राज्य अथवा प्रदेश में पाया जाता है। इसे प्रतिशत में व्यक्त करते हैं।
दिक् परिवर्तन (Commutation)-किसी नगर या उसके समीपवर्ती क्षेत्रों में लोगों का
दैनिक स्थानान्तरण।
आप्रवास (In Migration)-जनसंख्या का किसी प्रदेश की ओर स्थानान्तरण आप्रवास
कहलाता है। आप्रवास के कारण जनसंख्या में भारी वृद्धि पाई जाती है।
उत्प्रवास (Out Migration)-किसी प्रदेश अथवा केन्द्र से अन्य किसी दूसरे प्रदेश की और जनसंख्या का स्थानान्तरण । इसके कारण जनसंख्या घटती है।
अधिशेष जनसंख्या (Surplus Population)-जब ग्रामीण क्षेत्रों में जहाँ उपलब्ध भूमि
संसाधन की अपेक्षा जनसंख्या अधिक होती है और जनसंख्या का एक भाग जीवन निर्वाह
के लिए नगरों अथवा महानगरों की ओर जाता है तो जनसंख्या का यह भाग अधिशेष
जनसंख्या कहलाता है।
सामाजिक सम्बन्ध (Social Relation)-नगरों में अनेक सांस्कृतिक केन्द्र विकसित हो
जाते हैं जिनका लाभ ग्रामवासी उठाते हैं। यह लाभ नगरों के सहयोग से मिलता है।
परिवहन संबंध (Transport Relation)-गाँव के लोग नगरों में काम की तलाश में
प्रतिदिन आते-जाते हैं। इस प्रकार एक-दूसरे के लिए लाभकारी बनते हैं।
कृषि संबंध (Agriculture Relation)-नगरों में कृषि उत्पादों की आवश्यकता की पूर्ति
ग्राम निवासी अपनी फसलों तथा कृषि उत्पादों से पूरा करते हैं। नगरों की सब्जी, फल, अन्न
तथा दूध, अंडे आदि की आपूर्ति गाँव से ही पूरी होती है।
ग्रामीण जनसंख्या (Rural Population)-ग्रामीण जनसंख्या मुख्यतः प्राथमिक व्यवसायों जैसे कृषि, वानिकी, पशुपालन आदि में लगी होती है और लोगों के बीच बहुत सुगठित सामाजिक संबंध होते हैं। भारत में ग्रामीण जनसंख्या लगभग 73% है।
                                           पाठ के कुछ तथ्य
◆प्रति इकाई क्षेत्रफल पर व्यक्तियों की जनसंख्या कहलाती है-जनसंख्या का घनत्व
(Density of Population)
◆किसी देश की कुल जनसंख्या तथा वहाँ की कृषि योग्य भूमि का अनुपात कहलाता है
-कायिक घनत्व (Physiographic Density)
◆समय के दो बिन्दुओं के बीच होने वाले जनसंख्या सम्बन्धी परिवर्तन को कहते हैं
-जनसंख्या की वृद्धि (Growth of Population)
◆2001 की जनगणना के अनुसार भारत की कुल जनसंख्या । -102.72 करोड़
◆2001 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या का वह प्रतिशत भाग जो गाँवों में रहता है
-72.22%
◆2001 में भारत का जनसंख्या घनत्व ।-324 मनुष्य प्रति वर्ग कि.मी.
◆2001 की जनगणना के अनुसार शहरों में रहने वाला भाग । -लगभग 28 प्रतिशत
◆भारत में गाँवों की कुल संख्या ।-5.81 लाख
◆विश्व का वह देश जिसका जनसंख्या घनत्व सबसे अधिक है-बंगलादेश
◆भारत का वह राज्य जिसका जनसंख्या संकेन्द्रण सूचकांक सबसे अधिक है
-उत्तर प्रदेश (16.17%)
◆भारत में न्यूनतम जनसंख्या घनत्व वाला एक जिला
-लाहोल (हिमाचल प्रदेश (20 मनुष्य प्रति वर्ग कि.मी.)
◆देश का वह क्षेत्र जिसमें उच्च घनत्व वाले जिलों की संख्या सबसे अधिक है
-गंगा और सतलुज के मैदान
◆वे नगर जिनकी जनसंख्या 10 लाख से अधिक होती है, कहलाते हैं। -महानगर (Metropolis)
◆स्त्री- -पुरुष संख्या का अनुपात कहलाता है
-लिंग अनुपात (Sex ratio)
◆केरल का लिंग अनुपात है।-1058
◆न्यूनतम लिंग अनुपात (861) वाला राज्य-हरियाणा
◆2001 की जनगणना के अनुसार कुल ग्रामीण व नगरीय जनसंख्या
-ग्रामीण 74.166 करोड़ नगरीय – 28.535 करोड़
◆1991 में भारत की जनणगना के अनुसार प्रति 1000 पुरुषों पर स्त्रियों की संख्या थी
-927
◆2001 की जनगणना के अनुसार प्रति एक हजार पुरुषों पर स्त्रियों की संख्या है -933
◆भारत में नगरीय जनसंख्या का लिंग अनुपात है-901
◆सबसे कम नगरीय लिंग अनुपात वाला राज्य (794)-हिमाचल प्रदेश
◆सबसे अधिक लिंगानुपात (1026) वाला जिला-आजमगढ़ (उत्तर प्रदेश)
◆वह राज्य जहाँ 2001 में ग्रामीण जनसंख्या का प्रतिशत सर्वाधिक था-अरुणाचल प्रदेश (94.5%)
◆वह राज्य जहाँ 2001 में नगरीय जनसंख्या का प्रतिशत सर्वाधिक था-गोवा (50.23%)
◆वह राज्य जिसमें मुख्य कामगारों का प्रतिशत सबसे अधिक है -अरुणाचल प्रदेश
◆2001 में कृषि में लगे पुरुष कामगारों का प्रतिशत-51.8%
◆कर्ज में डूबे मजदूर जो पीढ़ी दर पीढ़ी अपने मालिक की सेवा करने के लिए मजबूर कर
दिये जाते हैं, कहलाते हैं-बंधुआ मजदूर (Bonded Labour)
◆एक धार्मिक विश्वास जिसमें सभी वस्तुओं (वृक्ष, पत्थर, वायु आदि) में आत्मा का वास
माना जाता है,कहलाता है-जीव वास (Aminism)
◆आदिवासी जातियों के समुदाय का धार्मिक विश्वास जिसमें किसी वृक्ष या प्राणी को कुल
देवता मान लेते हैं, उसे कहते हैं-टोटेमवाद (Totemism)
◆भारत में ‘अनुसूचित जाति’ शब्द का पहली बार प्रयोग किया गया ।-1935 के अधितियम में
◆ अनुसूचित जातियों में शामिल कुल जातियाँ-542
◆अनुसूचित जाति की जनसंख्या में पुरुष और महिला सहभागिता दर-पुरुष-51.48% महिला
-25.48%
◆अनुसूचित जातियों में कामगारों का अनुपात जो प्राथमिक व्यवसायों में सम्मिलित है-75%
◆भारत में जनजातियों की कुल संख्या जिन्हें संविधान की सूची में शामिल किया गया है
-212
◆भारत में जनजातिय जनसंख्या के प्रमुख वर्गों में साक्षरता अनुपात -26.9%
◆वह भाषा जिसके बोलने वाले लोगों का अनुपात कुल जनसंख्या में सबसे अधिक-हिन्दी
-(40.42%)
       एन. सी. ई. आर. टी. पाठ्यपुस्तक एवं कुछ अन्य परीक्षोपयोगी प्रश्न
       अति लघु उत्तरीय प्रश्न (Very Short Answer Type Question)
प्रश्न 1. संसार में जनसंख्या के आकार और घनत्व के संदर्भ में भारत के स्थान
की विवेचना कीजिए।
(State the place of India in the world in terms of population size and
density.)
उत्तर-(i) विश्व में भारत जनसंख्या की दृष्टि से चीन के बाद दूसरे स्थान पर है।
(ii) क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सातवाँ स्थान है। भारत का क्षेत्रफल विश्व के कुल
क्षेत्रफल का 2.4% है।
(iii) भारत की कुल जनसंख्या (2001 की जनगणना) लगभग 102.87 करोड़ थी। यह
संसार की कुल जनसंख्या का 16.7% है।
(iv) भारत की कुल जनसंख्या उत्तरी अमेरिका, दक्षिणी अमेरिका तथा आस्ट्रेलिया की
सम्मिलित जनसंख्या से भी अधिक है।
प्रश्न 2. भारत के सबसे अधिक जनसंख्या वाले चार राज्यों के नाम बताइये ।
(Name four most populous states of India.)
उत्तर-सबसे घने जनसंख्या वाले चार राज्य हैं-
(i) उत्तर प्रदेश, (ii) बिहार,
(iii) पश्चिम बंगाल,(iv). महाराष्ट्र।
प्रश्न 3. भारत में कौन-से क्षेत्र मानव बस्ती के लिए आकर्षक नहीं है?
(What areas are not attractive in India for human habitation ?)
उत्तर-मानव बस्ती के लिए निम्न क्षेत्र आकर्षक नहीं हैं:
(i) पर्वतीय क्षेत्र (Hilly areas)-इन क्षेत्रों में धरातल बहुत ही ऊबड़-खाबड़ होता है । यहाँ
बस्तियाँ बसाना आसान नहीं है। अन्य सभी सुविधाओं का अभाव है। जैसे-हिमाचल प्रदेश,
सिक्किम आदि।
(ii) मरुस्थलीय प्रदेश (Desert regions)-मरुस्थलीय भागों में जल की कमी होती है गर्म
और शुष्क जलवायु होती है, वनस्पति नहीं उगती । इन्हीं कारणों से ये जनसंख्या बसने के अनुकूल नहीं होते।
(iii) वनाच्छादित प्रदेश (Forest cover regions)-ये क्षेत्र दुर्गम होते हैं । दलदली भूमि
आदि भौतिक बाधाएँ जनसंख्या को आकर्षित नहीं करती हैं।
प्रश्न 4. जनसंख्या की वृद्धि से क्या तात्पर्य है ?
(What is meant by growth of population ?)
उत्तर-दो समय बिन्दुओं के बीच जनसंख्या में होने वाले परिवर्तन को जनसंख्या वृद्धि कहते
हैं। जनसंख्या में होने वाले इस परिवर्तन को प्रतिशत में व्यक्त किया जाता है।
प्रश्न 5. भारत की जनांकिकी के चार चरण लिखिए।
(State the four phases of Indian demographic.)
उत्तर-भारतीय जनांकिकी के चार चरण हैं :
(i) प्रथम चरण-यह 1921 से पूर्व का समय है। इस अवस्था में जनसंख्या में बहुत धीमी
वृद्धि हुई।
(ii) दूसरा चरण-यह 1921 से 1951 के बीच का समय है। इस समय जनसंख्या में निरंतर
वृद्धि हुई।
(iii) तृतीय चरण-यह 1951 से 1981 के मध्य का समय है। इस अवस्था में जनसंख्या
में बहुत तीव्रता से वृद्धि हुई क्योंकि मृत्यु दर तेजी से गिरी।
(iv) चतुर्थ चरण-यह 1981 के बाद का समय है। इस अवस्था में जनसंख्या में वृद्धि
में कुछ गिरावट आई। वृद्धि दर का क्रमिक ह्रास हुआ।
प्रश्न 6. प्रत्येक उत्तरोत्तर जनगणना में जनसंख्या का घनत्व क्यों बढ़ रहा है?
(Why is the density of population increasing in every successive census?)
उत्तर-प्रत्येक उत्तरोतर जनगणना में जनसंख्या में वृद्धि हुई है लेकिन क्षेत्रफल में कोई अन्तर
नहीं होता है। जनसंख्या घनत्व किसी देश की एक निश्चित समय में कुल जनसंख्या तथा उस
देश के कुल क्षेत्रफल के बीच अनुपात होता है। उदाहरण के लिए 1991 की गनगणना के अनुसार भारत की कुल जनसंख्या 84.65 करोड़ थी तथा क्षेत्रफल 32.87 लाख वर्ग कि.मी. । अत: जनसंख्या घनत्व 274 व्यक्ति प्रति वर्ग कि.मी. था। लेकिन 2001 में जनसंख्या 102.72 करोड़ थी। क्षेत्रफल में कोई वृद्धि नहीं हुई इसलिए जन घनत्व 324 व्यक्ति प्रति वर्ग कि.मी. हो गया।
प्रश्न 7. जनसंख्या वृद्धि की परिभाषा दीजिए तथा जनसंख्या वृद्धि को प्रभावित करने
वाले तीन कारक बताएँ।
(Define population growth and mention three factors responsible for the population growth.)
उत्तर-जनसंख्या वृद्धि से तात्पर्य किसी क्षेत्र विशेष में निवासियों की संख्या में एक निश्चित
समय में हुए परिवर्तन से है। जनसंख्या वृद्धि को प्रभावित करने वाले कारक हैं :
(i) जन्म दर (ii) मृत्यु दर (iii) प्रवास
प्रश्न 8.जनसंख्या की प्रमुख जनांकिकीय विशेषताएँ कौन-सी हैं?
(What is the major demographic attributes of population ?
उत्तर-जनसंख्या की प्रमुख जनांकिकीय विशेषताएं निम्नलिखित है
(i) स्त्री-पुरुष अनुपात (Sex ratio)-भारत में पुरुषों की संख्या महिलाओं की तुलना में
अधिक है
(ii) नगरीय व ग्रामीण आवास (Urban and rural residence)-निवास के आधार पर
ही जनसंख्या को नगरीय तथा ग्रामीण जनसंख्या कहते हैं। भारत की लगभग तीन-चौथाई
(72.2%) जनसंख्या ग्रामीण है।
(iii) आयु संरचना (Age Composition)-आयु संघटन स तात्पर्य है- आयु के आधार
पर जनसंख्या का वर्गीकरण । भारत में किशोर जनसंख्या का प्रतिशत अधिक है।
(iv) कार्यरत तथा आश्रित जनसंख्या (Working and dependent population)-
कार्यरत जनसंख्या से तात्पर्य है कि देश में कितने प्रतिशत लोग लाभकारी कार्य करते हैं तथा कितने प्रतिशत लोग कार्यरत जनसंख्या पर निर्भर करते हैं।
प्रश्न 9. देश के किस भाग में ग्रामीण जनसंख्या का अनुपात राष्ट्रीय औसत से
अधिक है?
(In which part of the country rural population is higher than the national average?)
उत्तर- -देश में ग्रामीण जनसंख्या का राष्ट्रीय अनुपात 72.8% है। इससे अधिक ग्रामीण
अनुपात अरुणाचल प्रदेश में है जो 94.5% है।
प्रश्न 10. आश्रित अनुपात किसे कहते हैं तथा इसकी गणना कैसे की जाती है ? इसकी
विशेषतायें बातइए।
(What is dependency ratio and how is it calculated ? Give its features
also.)
उत्तर-भारत में आश्रित अनुपात 60.8% है। यह अनुपात कुल जनसंख्या में 15 वर्ष की आयु
से कम तथा 60 वर्ष और उससे अधिक आयु की जनसंख्या को मिलाकर निकाला जाता है।
विशेषताएं:
(i) आश्रित जनसंख्या वस्त्र, भोजन तथा शिक्षा आदि की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए
अर्जक जनसंख्या पर निर्भर करती है।
(ii) आर्थिक दृष्टि से यह वर्ग अनुत्पादक है।
(iii) किशोर तथा वृद्ध जनसंख्या के अतिरिक्त घरेलू महिलाओं का एक बड़ा भाग भी
आश्रित जनसंख्या का भाग है।
(iv) ग्रामीण क्षेत्रों में आश्रित अनुपात अधिक है।
प्रश्न 11. किशोर, प्रौढ़ और वृद्ध वर्गों की आयु सीमायें बताइएँ ।
(Define the limits of young. adult and old age group.)
उत्तर-आयु के आधार पर भारत में जनसंख्या को तीन समूहों में विभाजित किया जा
सकता है-
(i) 15 वर्ष से कम आयु की जनसंख्या को किशोर वर्ग में रखा गया है।
(ii) 15 से 59 वर्ष की आयु के लोगों को प्रौढ वर्ग में रखा गया है।
(iii) 60 वर्ष और इससे अधिक आयु के लोगों को वृद्ध वर्ग में रखा गया है।
प्रश्न 12. आयु पिरामिड की तीन प्रकार की आकृतियों से जुड़े जनसंख्या के तीन प्रकार की अवस्थाओं का उल्लेख कीजिए।
(Mention the three stages of poulation attached age pyramid.)
उत्तर
(i) स्थिर जनसंख्या (Stable population)- पिरामिड का ऊपर की ओर एक
नियमित रूप से संकीर्ण होता स्वरूप परिवर्तन रहित जन्म तथा मृत्यु दरों को दर्शाता है।
(ii) विकासशील जनसंख्या (Developing population) पिरामिड का चौड़ा आधार
तथा तेजी से पतला होता शीर्ष बढ़ती जन्म दर और उच्च जन्म दर को दर्शाता है।
(iii)घटती जनसंख्या (Decreasing Population)-पिरामिड का संकीर्ण पतला आधार तथा संकीर्ण शीर्ष घटती हुई जन्म दर तथा मृत्यु दर को दर्शाता है।
प्रश्न 13. कायर्रत जनसंख्या के आयु वर्ग की विशेषतायें लिखिए।
(Mention the characteristics of working group of population.)
उत्तर-कार्यरत अथवा अर्जक आय वर्ग की जनसंख्या की विशेषताएँ निम्नलिखित हैं-
(i) 1991 की जनगणना के अनुसार भारत में 15 से 59 वर्ष के आयु वर्ग में जनसंख्या कुल
जनसंख्या का 56.7% है। इस आयु वर्ग को प्रौढ़ वर्ग कहते हैं।
(ii) जैव दृष्टि से प्रौढ़ आयु सबसे अधिक प्रजनन सक्षम है।
(iii) यह आयु वर्ग आर्थिक दृष्टि से सबसे अधिक सक्रिय होता है। देश का सबसे अधिक
श्रमिक बल इसी आयु वर्ग से मिलता है।
(iv) यह आयु वर्ग जनांकिकीय दृष्टि से अधिक गतिशील है।
(v) इस आयु वर्ग को श्रमजीवी जनसंख्या के ऊपर देश की अन्य सभी जनसंख्या निर्भर
होती है। यह अन्य दो वर्गों की जनसंख्या का पोषण करता है।
प्रश्न 14. ग्रामीण जनसंख्या की विशेषताएँ बताएँ।
(Mention the characteristics of rural population.)
उत्तर-(i) जनसंख्या का वह भाग जो ग्रामीण क्षेत्रों में रहता है, ग्रामीण जनसंख्या कहलाता
है। इसकी अपनी व्यावसायिक संरचना होती है।
(ii) ग्रामीण जनसंख्या का प्रमुख व्यवसाय कृषि करना, पशुपालन, मत्स्य तथा वानिकी होता है।
(iii) ग्रामीण घर स्थानीय उपलब्ध सामग्री के बने होते हैं।
(iv) ग्रामीण जनसंख्या की अपनी शैली एवं विचार होते हैं।
(v) भारत की लगभग तीन-चौथाई जनसंख्या ग्रामीण जनसंख्या है। इनमें कृषक तथा कृषि
से सम्बन्धित लोग होते हैं।
(vi) भारत में ग्रामीण जनसंख्या में राज्य स्तर पर विविधता पाई जाती है। उत्तर प्रदेश, बिहार
तथा उत्तरी-पूर्वी राज्यों में यह जनसंख्या अधिक है।
प्रश्न 15. भारतीय संविधान के आठवें अनुच्छेद में जिन 18 मुख्य भाषाओं का उल्लेख
किया गया है उनके नाम बताओ।
(Name 18 languages which have been specifics in this eighth schedule of the Indian Constitution.)
उत्तर-भारत की 18 मुख्य भाषाएँ निम्नलिखित हैं:
प्रश्न 16. भारतीय भाषाओं से संबंधित चार भाषा परिवारों के नाम बताइए।
(Name the four language families to which Indian languages belong)
उत्तर-(i) भारोपीय भाषा परिवार, (ii) द्रविड़, (iii) आस्ट्रिक तथा (iv) चीनी-तिब्बती।
प्रश्न 17. कौन सी प्रमुख द्रविड़ भाषाएँ हैं तथा उनके क्षेत्र कौन से हैं ?
(Which are principal Dravidian languages and their areas ?)
उत्तर-द्रविड़ परिवार की भाषाएँ तथा क्षेत्र :
(i) तमिल , तमिलनाडु । (ii) मलयालम : केरल। (iii) कन्नड़ : कर्नाटक ।
प्रश्न 18. उत्तर पूर्वी राज्यों की भाषाएँ किस भाषा परिवार से सम्बन्धित हैं ?
Name the language family to which the languages of the north east-
states belong.)
उत्तर-चीनी तिबत्ती भाषा परिवार ।
प्रश्न 19. भारत किन चार प्रमुख धर्मों का जन्म स्थान है ?
(Which four major religion originated in India ?)
उत्तर-(i) हिन्दू धर्म, (ii) बौद्ध धर्म, (iii) जैन धर्म, (iv) सिक्ख धर्म ।
लघु उत्तरीय प्रश्न (ShortAnswer Type Question)
 
प्रश्न 1. भारत के अत्यंत ऊष्ण एवं शुष्क तथा अत्यंत शीत व आर्द्र प्रदेशों में जनसंख्या
का घनत्व निन है। इस कथन के दृष्टिकोण से जनसंख्या के वितरण में जलवायु की
भूमिका को स्पष्ट कीजिए ।।
(Very hot and dry and very cold and wet regions of India have low density of population. In the light of the statement explain the role of climate on the distribution of population)
उत्तर-विषम जलवायु क्षेत्रों में जनसंख्या का घनत्व कम पाया जाता है जैसे मरूस्थलीय प्रदेश
जो अधिक गर्म तथा शुष्क हैं। इसी प्रकार शीत और आर्द्र जलवायु में भी जनसंख्या का घनत्व
पाया जाता है। उपयुक्त जलवायु वाले प्रदेशों में जैसे उत्तरी मैदानों में घनी जनसंख्या पाई जाती है क्योंकि इन अंगों में जलवायु लगभग सम होती है।
प्रश्न 2. भारत के किन राज्यों में विशाल ग्रामीण जनसंख्या है ? इतनी विशाल ग्रामीण
जनसंख्या के लिए उत्तरदायी एक कारण को लिखिए।
(Which states live large rural population in India. Give one reason for
such large rural population.)
उत्तर-भारत में ग्रामो की संख्या 6385588 है। इनमें ग्रामीण जनसंख्या निवास करती है।
बिहार में सबसे अधिक ग्रामीण जनसंख्या पाई जाती है। कारण यह है कि इस प्रदेश में नगरी
करण कम हुआ है क्योंकि अभी पूर्ण रूप से औद्यागिक विकास नहीं है।
प्रश्न 3. भारत के कुछ राज्यों में अन्य राज्यों की अपेक्षा श्रम सहभागिता ऊंची क्यों हैं ?
(Why do some states of India have higher rates of work participation than others?)
उत्तर-सहभागिता दर राज्यों में विभिन्न पाई जाती है। प्राथमिक क्षेत्र में यह कम होती जा
रही है जबकि द्वितीय और तृतीय क्षेत्रों में सहभागिता दर बढ़ती जा रही है। उदाहरण के लिये
हिमाचल प्रदेश और नागालैंड में कृषि में सहभागिता दर अधिक है जबकि आन्ध्र प्रदेश, उड़ीसा, झारखंड आदि राज्यों में कृषि मजदूर की संख्या अधिक है।
प्रश्न 4. “कृषि सेक्टर में भारतीय श्रमिकों का सर्वाधिक अंश संलग्न है।” स्पष्ट
कीजिए।
(The agricultural sector has the largest share of Indian Workers.
 Explan.)
उत्तर -भारत का व्यवसायिक संघटन कृषि विनिर्माण, व्यापार तथा सेवा क्षेत्रों में पाया जाता
है। इनमें से सबसे अधिक 58.2% कृषक और कृषीय मजदूर हैं जबकि 4.2% घरेलू उद्योग
और 37.6% अन्य कार्यों में जिनमें व्यापार घरेलू उद्योग तथा अन्य सेवायें सम्मिलित हैं।
प्रश्न 5. चार बड़े राज्यों की जनसंख्या के आकार तथा क्षेत्रफल की तुलना कीजिए।
(Compare population size and area of four large states.)
उत्तर-राज्यों के अनुसार भारत में जनसंख्या वितरण में बड़ी असमानता है । यह असमानता
संसाधनों के कारण है । वे राज्य जिनका क्षेत्रफल अधिक है, में कम जनसंख्या पाई जाती है
तथा छोटे क्षेत्रफल वाले राज्यों की जनसंख्या अधिक है। भारत के बड़े राज्य उत्तर प्रदेश, बिहार महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश आदि में जनसंख्या अधिक है। इन राज्यों में देश की आधी से अधिक जनसंख्या निवास करती है। इसके विपरीत राजस्थान जो क्षेत्रफल की दृष्टि में सबसे बड़ा है, में देश की 5.50 प्रतिशत जनसंख्या है। इसी प्रकार मध्य प्रदेश क्षेत्रफल की दृष्टि से दूसरा स्थान रखता है लेकिन उसकी जनसंख्या 5.88 प्रतिशत है जबकि इसका क्षेत्रफल 9.3% है। इसके विपरीत उत्तर प्रदेश का क्षेत्रफल 7.26% है और जनसंख्या 16.17% है। विहार का क्षेत्रफल देश के क्षेत्रफल का 2.86% है तथा जनसंख्या 8.07% है
इस प्रकार यह ज्ञात होता है कि कुछ राज्य क्षेत्रफल में बड़े हैं लेकिन जनसंख्या कम है तथा
इसके विपरीत क्षेत्रफल में कम होते हुए अधिक जनसंख्या वाले राज्य भी हैं।
प्रश्न 6. सतलुज-गंगा के मैदान में सघन जनसंख्या के संकेन्द्रण के कारणों का वर्णन
कीजिए।
(Explain the causes of concentration of dense population in the Satluj-
Ganga plains.)
उत्तर-जनसंख्या वितरण को प्रभावित करने वाले कारकों में भौतिक कारकों के साथ
सामाजिक तथा आर्थिक कारक भी सम्मिलित हैं। सतलुज-गंगा के मैदान में सघन जनसंख्या
संकेन्द्रण के कारण निम्नलिखित हैं:
1. समतल मैदान (Levelled Plain)-सतलुज-गंगा का मैदान समतल है। मैदान के
उपजाऊ होने के साथ-साथ अन्य सभी सुविधायें उपलब्ध हैं।
2. निरन्तर जल आपूर्ति (Continuous Water Supply)-इस मैदान में अनेक सदावाही
नदियाँ है। अत: कृषि के लिए जल की आपूर्ति निरन्तर बनी रहती है।
3. जलवायु (Climate)-इस मैदान में मृदुल जलवायु के कारण वर्ष भर वर्धनकाल लम्बा
रहता है। इसलिए कृषि कार्य संभव है।
प्रश्न 7.जनसंख्या वितरण की व्याख्या करने के लिए सामाजिक-आर्थिक कारकों के
महत्व पर प्रकाश डालें।
(Throw light on the importance of socio-economic factors of population distribution.)
उत्तर-जनसंख्या के वितरण को भौतिक कारक तो प्रभावित करते ही हैं साथ ही सामाजिक
और आर्थिक कारक भी प्रभावित करते हैं जो निम्नलिखित हैं :
1. प्रौद्योगिक ज्ञान (Technological Knowledge)-प्रौद्योगिक ज्ञान से भौतिक कारकों
को बदलने का प्रयास मनुष्य द्वारा होता आया है। उन्हें अधिक उपयोगी बनाने के लिए मनुष्य
अपनी क्षमता का उपयोग करता है।
2. सामाजिक संगठन (Social Organisations)-सामाजिक संगठन भी जनसंख्या के
वितरण को प्रभावित करते हैं। इनमें शिक्षा का स्तर, रोजगार के अवसर आदि जनसंख्या के
वितरण को प्रभावित करते हैं।
3. पोषण क्षमता (Nurition efficiency)-किसी देश की पोषण क्षमताओं में व्यापक
अंतर पाया जाता है। पोषण क्षमता में वृद्धि जनसंख्या के वितरण को प्रभावित करती है। द्वितीयक और तृतीयक कार्यकलापों में पोषण क्षमता प्राय : अधिक होती है । इसलिए नगरीय और औद्योगिक क्षेत्रों में जनसंख्या का अत्यधिक घनत्व पाया जाता
प्रश्न 8. जन्म दर और मृत्यु दर की प्रवृत्ति ने भारत की जनसंख्या वृद्धि दर को किस
प्रकार निर्धारित किया है ?
(How the trend of birth rate and death rate in India has determined the
growth rate of population ?)
उत्तर-जनसंख्या वृद्धि को प्रभावित करने वाले कारक मुख्यतः जन्मदर, मृत्युदर तथा प्रवास
हैं लेकिन जन्मदर और मृत्युदर की प्रवृत्ति ने जनसंख्या वृद्धि को बहुत अधिक प्रभावित किया है।
1. 1921 से पहले भारत में जन्मदर और मृत्युदर बहुत ऊँची थी जो लगभग क्रमश : 49
और 43 प्रति हजार थी। 1911 से 1921 की अवधि में मृत्युदर अधिक होने से प्राकृतिक वृद्धि ऋणात्मक हुई और भारत की जनसंख्या 1911 की अपेक्षा कम हो गई।
2. 1921 से 1951 के मध्य स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के कारण मृत्यु दर को नियंत्रित कर
लिया। इसलिए जनसंख्या में वृद्धि हुई ।
3. 1951 से 1981 की अवधि में जनसंख्या की वृद्धि दर में क्रमिक विकास हुआ ।
4. 1981 के बाद जनसंख्या वृद्धि में गिरावट आई। 2001 की जनगणना के अनुसार
प्राकृतिक वृद्धि दर 17 प्रति हजार हो गई। निम्न तालिका जनसंख्या की प्राकृति वृद्धि दर को
दर्शाती है:
प्रश्न 9. भारत के उत्तर-पूर्वी और उत्तरी राज्यों में ग्रामीण जनसंख्या का कृषि पर दबाव.
अधिक क्यों है?
(Why is pressure of rural population on agriculture comparatively high
in northern and north-eastern states of India ?)
उत्तर-उत्तरी तथा उत्तर-पूर्वी भारत में कृषि पर जनसंख्या का दबाव अधिक है। इसके निम्न
कारण हैं-
1. भारत के उत्तरी तथा उत्तरी-पूर्वी राज्यों में ग्रामीण जनसंख्या अभी भी 80% है ।
2. इन राज्यों में कृषि योग्य उपजाऊ भूमि है तथा पर्याप्त जलापूर्ति के कारण कृषि संभव है।
3. इन राज्यों में कृषि पर निरन्तर दबाव बढ़ता जा रहा है क्योंकि कृषि के अतिरिक्त इन
भागों में रोजगार के अन्य अवसर कम हैं।
प्रश्न 10. 2001 की जनगणना के अनुसार भारत तथा उसके कुछ राज्यों की जनसंख्या तथा क्षेत्रफल नीचे दिए गए हैं :
भारत की जनसंख्या – 102.7 करोड़
क्षेत्रफल-31.7 लाख वर्ग कि.मी.
भारत के अन्तर्गत जोत का क्षेत्र -14.28 वर्ग कि. मी.
उपर्युक्त आँकड़ों का अध्ययन कर निम्न प्रश्नों के उत्तर दीजिए-
(i) भारत की जनसंख्या का अंकगणितीय तथा कायिक घनत्व ज्ञात कीजिए।
(ii) किस राज्य का जनसंख्या घनत्व सबसे कम है?
उत्तर-(i) जनसंख्या का अंकगणितीय घनत्व =कुल जनसंख्या/कुल क्षेत्रफल =
102.70/31.7=324व्यक्ति प्रति वर्ग कि.मी.
कायिकी घनत्व=1027015247/1428190=719 व्यक्ति प्रति वर्ग कि.मी.
(ii) अरुणाचल प्रदेश का।
प्रश्न 11. भारत के आयु पिरामिड की मुख्य विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
(Mention the salient characteristics of age pyramid of India.)
उत्तर-भारत के आयु पिरामिड में निन्न विशेषताएँ हैं:’
1. 15 वर्ष की आयु के बाद गिरावट आई है। इसी प्रकार का ह्रास 30 वर्ष के बाद भी
दृष्टिगोचर होता है।
2. ऊँचे आयु वर्गों में पिरामिड संकरा होता है।
3. देश की केवल 22%जनसंख्या ही 50 वर्ष की आयु को छू पाती है।
4. 60 वर्ष की आयु के लोग जनसंख्या के लगभग 12% हैं।
5. केवल 10% जनसंख्या 40-49वर्ष आयु वर्ग में पाई जाती है।
प्रश्न 12. देश में लिंग अनुपात क वितरण प्रतिरूपों का वर्णन कीजिए।
(State the pattern of sex ratio in the country.)
उत्तर-जनसंख्या का लिंग संघटन प्राय : एक अनुपात के द्वारा प्रकट किया जाता है जिसे
लिंग अनुपात कहते हैं। लिंग अनुपात प्रति एक हजार पुरषों पर महिलाओं की संख्या के रूप में व्यक्त किया जाता है। 2001 की जनगणना के आधार पर भारत का लिंग अनुपात 933 है जो इस बात को प्रकट करता है कि पुरुषो की तुलना में महिलाओं की संख्या कम है
भारत की जनसंख्या में 1901 नया 1991के दशकों को छोड़कर लिंग अनुपात घटता रहा
1991 में यह 927 था जो 2001 में बढ़कर 933 हो गया है। लिंग अनुपात राज्यों में भी
भिन्न है। केरल में सबसे अधिक 1058 है जबकि हरियाणा में यह 861 है। दमन और दीव
में तो केवल 709 है। लिंग अनुपात काम होने के अनेक  कारण हैं, जिनमें प्रमुख हैं :
1. पुत्रों को वरीयता । 2. महिला निरक्षरता । 3.जन्म से पूर्व लिंग निर्धारण । 4. बालिका उच्च
मृत्यु दर आदि।
प्रश्न 13. भारत में किसानों के अनुपात के वितरण प्रतिरूप का विवरण दीजिए।
(Describe the distributional pattern of proportion of cultivators in India.)
उत्तर-1971 की जनगणना के समय व्यवसायों को निम्नलिखित वर्गों में बाँटा गया था :
(i) कृषि । (ii) कृषि मजदूर। (iii) पशुपालन, वानिकी, मत्स्य ग्रहण, आखेट, रोपण,
फलोद्यान आदि । (iv) खनन । (v) उद्योग प्रक्रमण, सेवा तथा मरम्मत आदि ।
2001 की जनगणना के अनुसार भारत में 67.4% लोग कृषि कार्यों में लगे थे। इनमें से
38.72% किसान थे। शेष 26.9% खेतिहर मजदूर ।
कुल स्त्री कामगारों में से 71.9% कृषि कार्यों में थे जबकि कुल पुरुष कामगारों में से
52.9% कृषक हैं।
राज्य स्तर पर किसानों के अनुपात के वितरण में भारी अन्तर पाया जाता है। उदाहरण के
लिए चंडीगढ़ केन्द्रशासित क्षेत्र में मुख्य कामगारों में किसानों का अनुपात केवल 0.47% है जबकि नागालैंड में यह अनुपात 68.23% है। आन्ध्र प्रेदश में कृषि श्रमिकों का अनुपात सबसे अधिक (39.63%) है तो दूसरी और चंडीगढ़ में सबसे कम (0.11%) है।
प्रश्न 14. विगत कुछ वर्षों में भारत की जनसंख्या के आयु संघटन में परिवर्तनों
का उल्लेख कीजिए।
(Describe the changes in age composition in last some years.)
उत्तर-भारतीय जनगणना में जनसंख्या को तीन वृहद वर्गों में विभाजित किया गया है जो
युवा, प्रौढ़ तथा वृद्ध वर्ग हैं। 15 वर्ष से कम आयु की जनसंख्या को युवा वर्ग में रखा गया
है। प्रौढ़ वर्ग में 15 से 59 वर्ष की जनसंख्या को रखा गया है जो कार्यशील जनसंख्या कहलाती है। 60 वर्ष तथा इससे अधिक वर्ग की जनसंख्या को वृद्ध वर्ग में रखा गया है।
वर्ष 2001 की गनगणना के अनुसार कुल जनसंख्या का 36.5% युवा वर्ग में आता है।
विकसित देशों में यह अनुपात 25% से अधिक नहीं है। युवा वर्ग का ऊँचा प्रतिशत अधिक
जन्मदर तथा बाल मृत्यु के कारण है। 60 वर्ष या इससे अधिक की जनसंख्या वृद्ध वर्ग में
है जिसका प्रतिशत 6.8% है। शेष भाग 56.7% 15 से 59 वर्ष के मध्य का है जो एक अर्जक,
जनसंख्या कहलाती है। आश्रित जनसंख्या में बच्चे तथा वृद्ध सम्मिलित हैं जिनका प्रतिशत
78.6% (1991) है । अब अर्जक जनसंख्या का अनुपात घट रहा है तथा आश्रित अनुपात बढ़ रहा है।
प्रश्न 15. भारत की जनसंख्या के आयु संघटन का वर्णन कीजिए तथा इससे उत्पन्न
समस्याओं का उल्लेख कीजिए।
(Describe the age composition of population in India and mention the
problems arise due to it.)
उत्तर-भारत में 2001 की जनगणना के अनुसार 15 वर्ष से कम आयु के बच्चों का प्रतिशत
42 है जबकि जापान में केवल 25 प्रतिशत । भारत में आश्रित लोगों की अधिक संख्या के कारण पिरामिड के आधार की लम्बाई अधिक है।
भारत का पिरामिड चौड़े आधार वाला है जो विकासशील अर्थव्यवस्था प्रकट करता है।
भारत में 15 वर्ष से कम आयु के बच्चे भी श्रमिक वर्ग में शामिल हैं।
उत्पन्न समस्याएँ (Problems)
1. भारत में प्रजनन काल 18 से 49 वर्ष के आयु वर्ग में होता है।
2. कुल प्रौढ़ जनसंख्या में से श्रमजीवी तथा कार्यरत जनसंख्या का अनुपात अन्य देशों की
तुलना में बहुत कम है।
3. कुल जनसंख्या में वृद्ध आयु वर्ग की जनसंख्या 6.8% है। यह जनसंख्या भी आश्रित
वर्ग में है।
4. भारत की जनसंख्या का आयु संघटन अत्यन्त असन्तुलित है। बच्चों की संख्या अधिक
होने से विकास का लाभ लोगों को नहीं मिल पाता ।
प्रश्न 16. आयु के आधार पर भारत की जनसंख्या के तीन प्रमुख वर्ग कौन से हैं ?
कार्यरत आयुवर्ग कौन-सा है ? इस आयु वर्ग की तीन विशेषताओं का वर्णन कीजिए।
(What are the three broad groups of population on the basis of age in
India ? Which is the working age group ? Describe the characteristics of this age group.)
उत्तर-आयु के आधार पर जनसंख्या को तीन वर्गों में विभाजित किया जा सकता है : युवक, ,
प्रौढ़ तथा वृद्ध।
युवक 0 – 14 वर्ष, प्रौढ़ 15-59 वर्ष तथा वृद्ध 60 वर्ष से अधिक ।
कार्यरत वर्ग 15-59 वर्ष के वर्ग समूह को कहा जाता है। इसकी तीन विशेषताएँ निम्न हैं :
1. कार्यरत वर्ग का अनुपात 56.7% है ।
2. इस वर्ग में स्त्रियों के अनुपात को प्रजनन वर्ग कहा जाता है।
3. इस वर्ग पर देश की सहभागिता निर्भर है।
प्रश्न 17. नीचे दी गई तालिका का अध्ययन कीजिए और निम्न प्रश्नो के उत्तर
दीजिए:
(Study the table given below and answer the questions that follow 🙂
(i) किस जनगणना वर्ष में नगरीय जनसंख्या का प्रतिशत सबसे कम था?
(In which census the urban percentage was lowest ?)
उत्तर-1911 में।
(ii) किस जनगणना वर्ष में नगरीय जनसंख्या का प्रतिशत अधिकतम था?
(In which census the percentage of urban population was maximum ?)
उत्तर-2001 में।
(iii) किन दो लगातार जनगणना वर्षों में नगरीय जनसंख्या के प्रतिशत में सर्वाधिक अंतर है?
(In which continuous census years the difference of percentage was
highest ?)
उत्तर-1941 तथा 1951
(iv) 1901 से 1961 तक तथा 1961 से 2001 की अवधि में नगरीय जनसंख्या में प्रतिशत वृद्धि की तुलना कीजिए।
(Compare the percentage growth between 1901 to 1961 and 1961 to
2001.)
उत्तर-1901 से 1961 तक नगरीय जनसंख्या में वृद्धि हुई है लेकिन 1961 से 2001 तक
वृद्धि में तीव्रता आई है।
(v) भारत में नगरीय जनसंख्या में वृद्धि के दो कारणों का उल्लेख कीजिए।
(Mention the two reasons of increase in urban population in India.)
उत्तर-1. देश में औद्योगीकरण का आरंभ ।
2. नगरों में व्यवसाय तथा सुविधाओं के कारण जनसंख्या का प्रवास ।
 
                 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न (ShortAnswer Type Question)
प्रश्न 1. भारत की जनसंख्या के व्यावसायिक संघटन का विवरण दीजिए।
(Give an account of the occupational structure of India’s population.)
उत्तर-2001 की जनगणना के अनुसार भारत की जनसंख्या निम्न श्रेणी में विभाजित की
जा सकती है:
(i) कृषक (ii) कृषि मजदूर (iii) घरेलू उद्योग मजदूर (iv) अन्य ।
व्यावसायिक संरचना से तात्पर्य है कि वास्तव में जिन कार्यों में जनसंख्या लगी हुई है। निम्न सारिणी कामगार की संख्या को दर्शाती है।
उपरोक्त सारिणी से ज्ञात होता है कि 58.2% भाग कृषक है और कृषि मजदूर हैं जबकि
4.2% भाग घरेलु उद्योगों में लगे हुए हैं तथा 37.6% भाग अन्य कार्यों में जिनमें व्यापार सेवा
अदि सम्मिलित हैं। इन सब कार्यों में पुरुषों की संख्या अधिक हैं। महिला मजदूर प्राथमिक क्षेत्र में थोड़ा अधिक है। लेकिन अब प्राथमिक उद्योगों में प्रतिशत कम होता जा रहा है और द्वितीय तथा तृतीय उद्योगों में प्रतिशत बढ़ता जा रहा है। राज्यों में यह अनुपात भिन्न-भिन्न है। जैसे चंडीगढ़ में केवल 0.47% और नागालैंड में 68.23% कृषक हैं।
प्रश्न 2. भारत में जनसंख्या के घनत्व के स्थानिक वितरण की विवेचना कीजिए।
(Discuss spatial pattern of density of population in India.)
उत्तर-जनसंख्या के घनत्व को प्रति इकाई क्षेत्रफल पर व्यक्तियों की संख्या द्वारा व्यक्त किया
जाता है। उदाहरण के लिए दिल्ली का जनघनत्व 9294 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी. है।
राज्य स्तर पर जनसंख्या घनत्व भिन्न-भिन्न है। यह अरुणाचल राज्य में 13 व्यक्ति तथा
पश्चिम बंगाल में 904 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी. है। बिहार का दूसरा स्थान (880) तथा केरल
का तीसरा स्थान (819) है।
केरल और तमिलनाडु को छोड़कर अन्य दक्षिणी राज्य मध्य जनघनत्व वाले हैं। 100 से
300 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी. जनघनत्व वाले राज्य हैं- मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तरांचल,
छत्तीसगढ़ तथा नागालैंड, हिमाचल, मणिपुर, मेघालय आदि सबसे कम घनत्व वाले राज्य हैं।
जम्मू तथा कश्मीर (99), सिक्किम (76), मिजोरम 42 तथा अरुणाचल प्रदेश (13) जिला स्तर पर जनघनत्व का प्रारूप निम्नलिखित रूप से वर्गीकृत किया जाता है।
(i) बहुत कम घनत्व के क्षेत्र । (ii) कम घनत्व के क्षेत्र । (iii) मध्यम घनत्व के क्षेत्र ।
(iv) उच्च घनत्व के क्षेत्र । (v) अत्यधिक घनत्व के क्षेत्र ।
(i) बहुत कम घनत्व के क्षेत्र (Very lon density regions)-इस वर्ग में 32 जिले आते
हैं। इनमें 50 मनुष्य प्रति वर्ग किमी. से भी कम है। ये जिले उत्तर, उत्तर-पूर्वी भारत और राजस्थान तथा गुजरात के जिले हैं।
(ii) कम घनत्व के क्षेत्र (Low densiry regions)-इस वर्ग में 51 में 100 मनुष्य प्रति
वर्ग किमी. घनत्व वाले जिले हैं। ये भारत के 23 जिले हैं जो पहाड़ी तथा शुष्क क्षेत्रों में स्थित
हैं।
(iii) मध्यम घनत्व के क्षेत्र (Average density regions)-इनमें घनत्व 101 से 200
मनुष्य प्रति वर्ग किमी. पाया जाता है। इन जिलों की संख्या 172 है। ये जिले राजस्थान, उड़ीसा, छत्तीसगढ़ आदि के हैं।
(iv) उच्च घनत्व के क्षेत्र (High density regions)-यहाँ घनत्व 201 से 400 मनुष्य
प्रति वर्ग किमी. है। इस वर्ग में 123 जिले हैं । ये मुख्यत : तमिलनाडु, तटीय उड़ीसा, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा आदि में हैं।
(v) अत्यधिक घनत्व के क्षेत्र (Highest density regions) इनमें 400 व्यक्ति प्रति वर्ग
किमी. जन घनत्व होता है। इन जिलों में नगरीकरण अधिक हुआ है। इनमें कोलकाता, मुम्बई,
दिल्ली, चेन्नई, हैदराबाद जैसे बड़े नगर आते हैं।
इनमें पंजाब, पश्चिम बंगाल, उत्तर देश के जिले शामिल हैं। इनकी संख्या 162 है।
प्रश्न 3. भारत में जनसंख्या के असमान वितरण के कारक की विवेचना कीजिए।
(Discuss the casues of uneven distribution of population in India.)
अथवा, भारत में जनसंख्या के वितरण को प्रभावित करने वाले किन्हीं पांच कारकों
की व्याख्या कीजिए।
(Explain any five factors responsible for the distribution of population in India.)
उत्तर-भारत में जनसंख्या के वितरण को प्रभावित करने वाले कारक निम्नलिखित हैं:
1. भौतिक कारक (Physical factors)-इन कारकों में उच्चावच के लक्षण, जलवायु
आदि सम्मिलित हैं। धरातल की बनावट जनसंख्या के वितरण को प्रभावित करती है। मैदानी क्षेत्रों में जनसंख्या का संकेन्द्रण अधिक होता है जबकि पर्वतीय क्षेत्र तथा पठारी प्रदशों में कम  ।
सुखद जलवायु वाले क्षेत्रों में अधिक जनसंख्या पाई जाती है जबकि विषम तथा अति विषम
जलवायु वाले क्षेत्रों में जनसंख्या बहुत कम पाई जाती है। जैसे थार का मरूस्थल तथा अरुणाचल के अति शीत वाले प्रदेश।
2. सामाजिक-आर्थिक कारक (Socio-Economic fuctors )-इन कारकों में प्रौद्योगिक ज्ञान प्रमुख है। जिन देशों में आर्थिक विकास हुआ है वहाँ जनसंख्या का अधिक संकेन्द्रण हुआ है। भारत में छोटानागपुर के पठार में औद्योगिक विकास के कारण अधिक जनसंख्या पाई जाती है।
पोषण क्षमता में वृद्धि के कारण भी जनसंख्या बढ़ती है। जिन प्रदेशों में द्वितीयक तथा
तृतीयक क्रियाकलाप अधिक हैं. पोषण क्षमता बढ़ जाती है इसलिए जनसंख्या का संकेन्द्रण अधिक होता है।
3. जनांकिकीय कारक (Demographic factors)-प्रजनन दर मृत्यु दर तथा प्रवास
जनांकिकीय कारक हैं जो जनसंख्या के वितरण को प्रभावित करते हैं। भारत में उच्च प्रजनन दर और निम्न मृत्यु दर के कारण पिछले दशकों (1951-81) में जनसंख्या में वृद्धि हुई है।
प्रश्न 4. विगत 100 वर्षों में भारत में जनसंख्या की वृद्धि की प्रवृत्तियों की विवेचना
कीजिए।
(Discuss the trend of growth of population in India during the last 100
years.)
उत्तर-भारत की नियमित जनगणना 1872 से आरंभ हुई। 1901 में भारत की जनसंख्या
23.84 करोड़ थी। पिछले 100 वर्षों में जनसंख्या की वृद्धि में अनेक परिवर्तन आए हैं। कभी
जनसंख्या बढ़ी है तो कभी यह कम हुई है।
1. 1911-21 को छोड़कर जनसंख्या निरन्तर बढ़ती रही है। 1921 की वृद्धि दर ऋणात्मक
थी। इस अवधि में जनसंख्या के घटने का कारण विश्व युद्ध तथा अन्य महामारियाँ थीं।
2. 1921 से 1951 तक जनसंख्या में वृद्धि हुई। यह वृद्धि दर 44.4% थी।
3.1951 से 81 की अवधि में भारत की जनसंख्या बढ़कर दस गुना हो गई। जनसंख्या
की वार्षिक वृद्धि दर 2.2 प्रतिशत थी। मृत्युदर घटकर 27 प्रति हजार से 12 प्रति हजार रह गई।
4.1981 के बाद जनसंख्या वृद्धि में क्रमिक ह्रास हुआ। 1981 में जन्मदर 34 प्रति हजार
थो जो 1999 में घटकर 26 प्रति हजार रह गई और वार्षिक वृद्धि दर घटकर 1.95% रह गई।
यह ह्रास की प्रवृत्ति स्वास्थ्य सम्बन्धी सेवाओं में वृद्धि तथा परिवार नियोजन के अन्तर्गत
चलाए जा रहे कार्यक्रमों के कारण हुई है।
निम्न सारणी जनसंख्या वृद्धि को दर्शाती है:-
प्रश्न 5. उपरोक्त सारणी का अध्ययन करें तथा निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दें-
(Study above table and answer the following questions 🙂
(i) 1901 से 1921 की अवधि में कुल जनसंख्या में कितनी वृद्धि हुई?
(ii) 1901 से 1921 के बीच की अवधि में दशकीय वृद्धि में किस प्रकार के परिवर्तन
हुए हैं।
(iii) किस वर्ष को भारत के जनांकिकीय इतिहास में जनसंख्या विभाजक कहते हैं?
(iv) किस जनगणना वर्ष के बाद की अवधि में जनसंख्या में तीव्र वृद्धि हुई? इसका एक
कारण बतायें।
(v) किस जनगणना वर्ष के बाद जनसंख्या वृद्धि दर में क्रमिक ह्रास हुआ?
(vi) इस अवधि में जनसंख्या वृद्धि दर के क्रमिक ह्रास का एक कारण दें।
उत्तर-(i) 1901 से 1921 की अवधि में जनसंख्या में लगभग 1.29 करोड़ की वृद्धि हुई।
(ii) इस अवधि में जनसंख्या वृद्धि अत्यन्त धीमी थी। 1911 से 21 के बीच की अवधि
में जनसंख्या वृद्धि ऋणात्मक थी।
(iii) 1921 के बाद भारत को जनांकिकीय इतिहास का विभाजक वर्ष कहा जाता है क्योंकि
1921 के बाद भारत में जनसंख्या निरन्तर बढ़ रही है।
(iv) 1951 के बाद जनसंख्या में तीव्र वृद्धि हुई। चिकित्सा सुविधाओं में सुधार तथा मृत्यु
दर में तीव्र गिरावट इसके प्रमुख कारण थे।
(v) 1981 के बाद जनसंख्या वृद्धि दर में क्रमिक ह्रास हुआ है।
(vi) इसका कारण मृत्यु दर के अलावा जन्म दर में क्रमिक ह्रास है।
प्रश्न 6. अन्तर स्पष्ट करें (Distinguish between) :
जनसंख्या का अंकगणितीय घनत्व तथा कायिक घनत्व
(Arithmatical density and physiological density of population)
उत्तर-
            जनसंख्या का अंकगणितीय घनत्व (Arithmatical Denstiy)-
1. कुल जनसंख्या तथा कुल क्षेत्रफल के अनुपात को अंकगणितीय घनत्व कहते हैं।
2. इसे प्रति इकाई क्षेत्रफल में रहने वाले व्यक्तियों की संख्या द्वारा व्यक्त किया जाता है।
3. यह एक अपरिष्कृत माप है।
4. यह निम्न सत्र से ज्ञात किया जाता है-
अंकगणितीय घनत्व =कुल जनसंख्या/कुल कृषि क्षेत्रफल
             कायिक घनत्व (Physiological Density)-
1. कुल कृषि क्षेत्र और कुल जनसंख्या के अनुपात को कायिक घनत्व कहते हैं।
2. देश के लिए यह सूचकांक बहुत उपयोगी है।
3. इससे प्रति हेक्टेयर भूमि के वितरण को ज्ञात किया जा सकता है ।
4. यह निम्न सूत्र से जात किया जा सकता है :
कायिक घनत्व=कुल जनसंख्या/कुल क्षेत्रफल
प्रश्न 7. 2001 की जनगणना के अनुसार भारत की कुल जनसंख्या में ग्रामीण और
नगरीय जनसंख्या का कितना प्रतिशत भाग है ? ग्रामीण तथा नगरीय जनसंख्या की चार विशेषतायें लिखें।
(What are the percentage share of rural and urban population in the total population of India according to the census of 2001 ? State four characteristics of each of urban and rural population.)
उत्तर-भारत में ग्रामीण जनसंख्या का प्रतिशत 72.22 तथा नगरीय जनसंख्या का प्रतिशत
27.78 है।
विशेषताएँ (Characteristics):
ग्रामीण जनसंख्या (Rural population): 
1 ग्रामीण जनसंख्या सुदूर गाँवों में रहती है।
2. ग्रामीण जनसंख्या का व्यवसाय कृषि तथा कृषि से संबंधित कार्य होते हैं।
3. ग्रामीण जनसंख्या का व्यवहार अनौपचारिक रहता है।
4 ग्रामीण जनसंख्या का जीवन स्तर अपेक्षाकृत नीचा होता है।
नगरीय जनसंख्या (Urban population): 
1. नगरों में रहने वाली जनसंख्या को नगरीय जनसंख्या कहते हैं।
2. नगरीय जनसंख्या का प्रमुख व्यवसाय सेवा कार्य तथा व्यापार और व्यवसाय होता है।
3. नगरीय जनसंख्या में लोगों का व्यवहार औपचारिक रहता है।
4. नगरों में लोगों का जीवन स्तर अपेक्षाकृत ऊँचा होता है।
प्रश्न 8. भारत में जनसंख्या वृद्धि की किन्हीं तीन अवस्थाओं का उल्लेख कीजिए।
(Mention any three stages of population.)
उत्तर-भारत में जनसंख्या वृद्धि की तीन अवस्थायें निम्नलिखित हैं-
1. धीमी वृद्धि की अवधि (1901-1921)-1921 से पूर्व जनसंख्या की वृद्धि धीमी थी
क्योंकि इस अवधि में जन्मदर और मृत्युदर दोनों ही उच्च थी। मृत्यु दर ऊंची होने का मुख्य
कारण चिकित्सा सुविधाओं का अभाव था।
2. निरन्तर वृद्धि की अवधि (1921-51)-इस अवधि में जनसंख्या की वृद्धि निरन्तर परंतु
मंद गति से हुई। चिकित्सा सुविधाओं ने मृत्युदर को कम किया ।
3. तीव्र वृद्धि की अवधि (1951-81)-इस अवधि में भारत की जनसंख्या लगभग दो गुनी
हो गई। चिकित्सा सुविधाओं में सुधार के कारण मृत्यु दर तेजी से गिरी ।
4. बटी वृद्धि की अवधि-1981 के बाद जनसंख्या में वृद्धि तो हुई लेकिन वृद्धि दर में
पहले की अपेक्षा क्रमिक ह्रास हुआ।
प्रश्न 9.2001 की जनगणना के अनुसार भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ? देश
में जनसंख्या के असमान वितरण का भारत के विभिन्न भागों में चार उदाहरण देते हुए वर्णन कीजिए।
(What is the total population of India according to the census of 2001 ? Describe the uneven distribution of population in the country by giving four examples from different parts of India.)
उत्तर-2001 की जनगणना के अनुसार भारत की कुल जनसंख्या 1027015247 थी।
जनसंख्या की दृष्टि से भारत विश्व में दूसरा स्थान रखता है। भारत में जनसंख्या का वितरण
बहुत ही असमान है। देश में प्राकृतिक तथा आर्थिक दशाओं की भिन्नता के कारण जनसंख्या
के वितरण तथा घनत्व में बहुत ही भिन्नता है। गंगा-सतलुज के उपजाऊ मैदान में देश के 23%
क्षेत्र में 52% जनसंख्या का संकेन्द्रण है जबकि हिमालय के पर्वतीय भाग में 13% क्षेत्र में केवल 29% जनसंख्या है। केन्द्रशासित प्रदेश दिल्ली में जनसंख्या का घनत्व 9294 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी. इसके विपरीत अरुणाचल प्रदेश में केवल 13 मनुष्य प्रति वर्ग किमी. में रहते हैं। सबसे अधिक जनसंख्या वाला भाग उत्तर प्रदेश है जहाँ 16 करोड़ जनसंख्या निवास करती है। केरल सर्वाधिक घना बसा राज्य है।
प्रश्न 10. भारत की जनसंख्या की व्यावसायिक संरचना के मुख्य लक्षणों की विवेचना
कीजिए।
(Discuss the salient features of occupational structure of population in India.)
उत्तर-व्यवसाय में प्रत्येक व्यक्ति का अपना कार्य होता है। भारत में व्यावसायिक संरचना
कई कारणों का परिणाम है । व्यवसाय को तीन वर्गों में विभाजित किया जा सकता है- प्राथमिक व्यवसाय, द्वितीयक व्यवसाय, तृतीयक व्यवसाय ।
व्यवसाय संरचना के आधार पर लक्षण :
1. देश के कुल मुख्य कामगारों में से दो-तिहाई कृषि कार्य में संलग्न है।
2. द्वितीयक और तृतीयक कार्यकलापों में कामगारों का अनुपात केवल 12% है।
3. किसानों की संख्या 38.72% तथा खेतिहर मजदूरों की संख्या 26.09% है।
4. महिला कामगारों का कृषि में अनुपात 71.9% है जबकि पुरुष कामगारों का अनुपात इस
क्षेत्र में केवल 51.5% है।
5. गैर-कृषि कार्यों में महिला कामगारों का अनुपात 28.1% है और पुरुष कामगारों का
47.83है।
6. भारत में अभी भी श्रम शक्ति में कृषि की प्रधानता है।
प्रश्न 11. भारत की जनसंख्या के लिंग संघटन के प्राथमिक प्रतिरुपों की विवेचना
कीजिए तथा उच्च लिंग अनुपात संकुलों के नाम लिखें। 
(Discuss the regional pattern of sex composition of Indian population
and name the clusters of high sex ratio.)
उत्तर-लिंग अनुपात प्रत्येक प्रदेश में भिन्न होता है। भारत का लिंगानुपात राष्ट्रीय स्तर पर
933 है।
1. दक्षिण भारत के राज्यों में लिंग अनुपात अधिक है। केरल में लिंगानुपात सबसे अधिक
है। यह 1058 है।
2. दक्षिण भारत के अन्य राज्यों में लिंग अनुपात राष्ट्रीय औसत से अधिक है। यह तमिलनाडु
में 986, आंध्र प्रदेश में 978 और कर्नाटक में 973 है।
3. उत्तर-पूर्वी राज्यो में लिंगानुपात राष्ट्रीय औसत से अधिक है।
4. उत्तरी भारत में हिमाचल प्रदेश में 970 तथा उत्तरांचल में 964 है।
5. भारत में 18 राज्यों में लिंगानुपात राष्ट्रीय औसत से कम है। उच्च लिंगानुपात वाले
संकुल हैं:
1. केरल (1058). 2.छत्तीसगढ़ (990), 3. तमिलनाडु (986)
प्रश्न 12. विगत शताब्दी में भारत में लिंग अनुपात की प्रवृत्ति की विवेचना कीजिए।
(Explain the trend of sex ratio in India in the last century)
उत्तर-जनसंख्या में लिंग अनुपात (पुरुष-स्त्री अनुपात) प्रायः एक अनुपात के द्वारा प्रकट
किया जाता है जिसे लिंग अनुपात कहते हैं। 2001 की जनगणना के अनुसार भारत का लिंग
अनुपात 933 है। भारत की जनसंख्या में लिंग अनुपात घटता रहा है लेकिन 2001 में थोड़ी वृद्धि हुई है जो निम्न तालिका से स्पष्ट होता है-
लिंग अनुपात कम होने के कारण निम्नलिखित हैं:
1. भारतीय समाज में लड़कों को प्राथमिकता दी जाती है।
2. बालिका विवाह के कारण प्रसव काल में ही मृत्यु हो जाती है।
3. यदि पहला बच्चा लड़का है तो दूसरा बच्चा पैदा करने की आवश्यकता नहीं समझते ।
4.लड़की की भ्रूण हत्या कर दी जाती है।
5. भारत में लड़कियों/स्त्रियों के स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दिया जाता।
प्रश्न 13. निम्नलिखित में अंतर स्पष्ट करें (Distinguish between):
(i) मुख्य कामगार तथा सीमान्त कामगार
(Main workers and marginal workers.)
उत्तर-           मुख्य कामगार (Main Workers)
1. कोई भी व्यक्ति जो 183 दिन तक आर्थिक दृष्टि से लाभकारी कार्य में लगा रहा है, उसे
मुख्य कामगार कहते हैं।
2. इनकी आर्थिक स्थिति अपेक्षाकृत अधिक अच्छी होती हैं।
3. मुख्य कामगार अधिकतर नगरों में मिलते हैं।
                   सीमांत कामगार (Marginal Workers)
1. कोई भी व्यक्ति जो 183 से कम दिनों तक रोजगार पाता है, उसे सीमांत कामगार
कहते हैं।
2. इनकी आर्थिक स्थिति अधिक नहीं होती है।
3. सीमांत कामगार ग्रामीण क्षेत्रों में मिलते हैं।
(ii) कार्यशील आयु वर्ग तथा प्रजनक आयु वर्ग
(Working age group and reproducing group.)
उत्तर-        कार्यशील आयु वर्ग(Working age group)
1.15 से 59 वर्ष आयु वर्ग को कार्यशील आयु वर्ग कहते हैं।
2. यह वर्ग आर्थिक दृष्टि से सर्वाधिक सक्रिय है।
3. यह वर्ग आश्रित वर्ग को भोजन, वस्त्र आदि की आवश्यकताओं की पूर्ति करता है।
4. जैव दृष्टि से प्रजनक आयु वर्ग कार्यशील आयु वर्ग का ही एक भाग है।
5. यह आयु वर्ग देश के विकास का महत्त्वूपर्ण आधार है।
               प्रजनक आयु वर्ग (Reproducing group)
1.18 से 49 वर्ष के आयु वर्ग के व्यक्ति प्रजनक आयु वर्ग के अन्तर्गत आते हैं।
2. जैव दृष्टि से यह आयुवर्ग सबसे अधिक प्रजाक होता है तथा आर्थिक दृष्टि से भी
सर्वाधिक सक्रिय होता है।
3. इसी आयुवर्ग में स्त्री-पुरुष अनुपात में असन्तुलन आता है और भारत जैसे विकासशील
देश में परुषों की अपेक्षा महिलाओं की संख्या में कमी होती है।
4. प्रजनक आयुवर्ग में प्रसव काल में महिलाओं की मृत्यु हो जाती है।
(iii) ग्रामीण जनसंख्या तथा नगरीय जनसंख्या
(Rural population and urban population.)
उत्तर-        ग्रामीण जनसंख्या (Rural Population)
1. देश की कुल जनसंख्या का वह भाग जो गाँवों में रहता है, ग्रामीण जनसंख्या कहलाती है।
2. इस जनसंख्या की जीविका का मुख्य आधार कृषि होता है।
3. भारत में 76.30% लोग गाँवों में रहते हैं।
4. ग्रामीण जनसंख्या का जीवन-स्तर निम्न होता है।
5. जनसंख्या की वृद्धि दर निम्न होती है।
6. यहाँ जीवन की गति धीमी होती है।
                नगरीय जनसंख्या (Urbon Population)
1. देश की कुल जनसंख्या का वह भाग जो छोटे-बड़े नगरों में रहता है, नगरीय जनसंख्या
कहलाता है।
2. इस जनसंख्या की जीविका का मुख्य आधार उद्योग-धंधे, व्यापार तथा सेवाएँ होता है।
3. भारत में 23.07% लोग शहरों में रहते हैं।
4. नगरीय जनसंख्या का जीवन-स्तर उच्च होता है।
5. जनसंख्या वृद्धि दर ऊँची होती है।
6. यहाँ जीवन की गति तीव्र होती है।
(iv) उत्पादक तथा आश्रित जनसंख्या
(Productive and dependent population)
उत्तर-        उत्पादक जनसंख्या (Productive Population)
1. देश की कुल जनसंख्या का वह भाग जो कोई काम करके अपनी जीविका यापन करता
है। इस अर्जक जनसंख्या भी कहते हैं।
2. भारत में इसका अनुपात 33.45% है।
3. इसके अन्तर्गत 15 से 59 वर्ष आयु वर्ग के प्रौढ़ आते है।
               आश्रित जनसंख्या (Dependent Population)
1. देश की कुल जनसंख्या का वह भाग जिसमें 15 वर्ष से कम आयु के बच्चे, छात्र तथा
60 वर्ष से अधिक आयु के वृद्ध आते हैं तथा घर में काम करने वाली महिलाये हैं।
2. इस वर्ग के लोग कोई कार्य नहीं करते। इसलिए ये आश्रित वर्ग में आते हैं।
3. भारत में 66% इनका अनुपात है। ये लोग भरण-पोषण के लिए अर्जक वर्ग पर निर्भर
करते हैं।
(v) कुल जनसंख्या तथा जनसंख्या का घनत्व (Total population and density of population)
उत्तर-           कुल जनसंख्या (Total Population)
1. किसी देश में रहने वाले सम्पूर्ण स्त्री-पुरुष व बच्चों की कुल संख्या का योग कुल
जनसंख्या कहलाता है। प्राय : दस वर्ष बाद जनगणना के समय देश की कुल जनसंख्या
के सही आंकड़े ज्ञात होते हैं।
2. 1991 में कुल जनसंख्या 84.5 करोड़ थी। यह 2001 में 102.7 करोड़ हो गई।
                  जनसंख्या का घनत्व (Density of Population)
1. एक इकाई क्षेत्र में या एक वर्ग किमी, में रहने वाली औसत जनसंख्या को जनसंख्या का
घनत्व कहते हैं जो देश के कुल भूमि क्षेत्रफल तथा कुल जनसंख्या के अनुपात पर आधारित
होता है।
2. 1991 में भारत की जनसंख्या का घनत्व 257 व्यक्ति वर्ग किमी, था जो 2001 में बढ़कर 324 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी. हो गया।
प्रश्न 14. कुल प्रजनन दर और जनसंख्या संगठन जनांकिकी प्रवृत्तियों को निर्धारित
करने में किस प्रकार महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ? इन दोनों पारिभाषिक शब्दों की व्याख्या कीजिए।
उत्तर-कुल प्रजनन दर-एक महिला से जन्में बच्चों के औसत को कुल जनांकिकी दर
कहते हैं।
जनसंख्या संगठन-जनसंख्या संगठन या जनांकिकी संरचना जनसंख्या की उन विशषताओं
को प्रदर्शित करती है जिनकी माप की जा सके तथा जिनकी मदद से दो भिन्न प्रकार के व्यक्तियोंबके समूहों में अंतर स्पष्ट किया जा सके । जनांकिकी दर तथा जनसंख्या को संबंधित क्षेत्र के आर्थिक और सामाजिक, सास्कृतिक कारक प्रभावित करते हैं।
प्रश्न 15. भारत में श्रमिकों की असमानता के क्या कारण हैं?
उत्तर-पिछले कुछ समय से ग्रामीण क्षेत्रों में नगरों को और श्रमिको का स्थानान्तरण कम
हो गया है। पढ़े-लिखे लोगों को भी नियमित रोजगार प्राप्त नहीं है। इस कम श्रमिक बल के
कारण उत्पादन स्तर भी नीचा है। असम में चाय बागान में बाहर से आने वाले श्रमिकों की कमी हो गई है। केरल के कुछ श्रमिकों के बाहर चले जाने के कारण भी श्रमिकों की संख्या कम हो गई। गुजरात राज्य में भी ग्रामीण क्षेत्रा से लोग नगरो में काम करने जाते है।
प्रश्न 16. जनसंख्या के प्रमुख लक्षणों का वर्णन कीजिए।
(Describe the attributes of population)
उत्तर-संघटन :
1. आयु संरचना-इस का अभिप्राय विभिन्न आयु वर्ग के लोगों की संख्यासे है। यदि
जनसंख्या में बच्चों और वृद्धों का अनुपात अधिक होगा तो आश्रितता का अनुपात अधिक
 होगा।
2. लिंग संघटन-लिंग अनुपात पुरुष तथा स्त्रियों के बीच संतुलन का सूचक होता है। इसे
प्रति हजार पुरुषों पर स्त्रियो की संख्या के रूप में मापा जाता है।
लिंग अनुपात का दूसरे जनांकिकी लक्षणों, जैसे- जनसंख्या की वृद्धि, विवाह दर,
व्यावसायिक संरचना आदि पर व्यापक प्रभाव पड़ता है।
3. ग्रामीण-नगरीय संघटन-ग्राम और नगर दोनों ही जीवन यापन के तरीकों तथा सामाजिक
पर्यावरण की दृष्टि में एक दूसरे से भिन्न होते हैं। व्यावसायिक संरचना, जनसंख्या का घनत्व
एवं सामाजिक व आर्थिक विकास के स्तरों में भी अंतर पाया जाता है। आजकल गाँवों से नगरों में प्रवास के कारण नगरीय जनसंख्या वृद्धि के साथ-साथ नगरी में समस्याएं बढ़ रही है।
4. व्यावसायिक संरचना-पारिश्रमिकयुक्त व्यवसायों से संलग्न तथा इन्ही कार्यो से जीविकोपार्जन करने वाली जनसंख्या का आर्थिक रूप से सक्रिय जनसंख्या कहा जाता है। आर्थिक क्रियाओं को चार वर्गो-प्राथमिक, द्वितीयक, तृतीयक तथा चतुर्थक में बाँटा गया है। यादि तृतीयक और चतुर्थक क्रियाओं में बहुसंख्यक लोग लगे हैं तो वहाँ का आर्थिक स्तर उँचा होगा क्योंकि इन क्रियाओं से प्रति व्यक्ति आय अधिक होती है। यदि बहुसंख्यक लोग प्राथमिक व्यवसाय में लगे हैं तो वहाँ का आर्थिक विकास निम्नस्तरीय होगा। चतुर्थक आर्थिक क्रिया उच्च स्तर के शोध और विकास पर बल देती है। अत: उच्च विकास के लिए चतुर्थक क्रियाओं पर अधिक बल देना चाहिए।
प्रश्न 17. भारत में विभिन्न धार्मिक समुदायों के वितरण प्रतिरूप का वर्णन कीजिए।
(Describe the distributional pattern of various religious communities in India.)
उत्तर-भारत विभिन्न धर्मो का देश है। इनमें प्रमुख रूप से निम्न धर्म पाए जाते हैं :
1. हिन्दू धर्म (Hindu religion)-भारत की अधिकतर जनसंख्या (82.0%) हिंदू है।
हिमाचल प्रदेश में सबसे अधिक (95.9%) तथा मिजोरम में सबसे कम (5%) है।
2. इस्लाम धर्म (Islam religion) उत्तर प्रदेश तथा पश्चिम बंगाल में इस्लाम धर्म के
अनुयायी अधिक हैं। इसके पश्चात् बिहार और अन्य राज्यों का स्थान है।
3. ईसाई (Christian religion)-ईसाई सबसे अधिक केरल में (28.6%) पाये जाते हैं।
उड़ीसा और बिहार के जनजातीय क्षेत्रों तथा उत्तरी पूर्वी राज्यों में भी ईसाइयों की संख्या अधिक पाई जाती है। नागालैण्ड की 87% तथा मिजोरम की 85% जनसंख्या ईसाई है।
4. सिक्ख धर्म (Sikh religion)-सिक्खों की सर्वाधिक जनसंख्या (78%) पंजाब में है।
इसके अतिरिक्त हरियाणा तथा राजस्थान में भी सिक्ख केंद्रित हैं।
5. बौद्ध तथा जैन धर्म (Buddiusm and Jain religion) देश में 79 प्रतिशत से अधिक
बौद्ध महाराष्ट्र में ही रहते हैं। इसके अतिरिक्त लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा
आदि राज्यों में बौद्ध पाये जाते हैं।
जैन अधिकतर महाराष्ट्र (75%), राजस्थान, गुजरात तथा मध्य प्रदेश में हैं।
प्रश्न 18. भारत में दो प्रमुख भाषा परिवार कौन से हैं ? प्रत्येक भाषा परिवार की चार
विशेषताएं लिखिए।
(What are two major language families in India ? Write four characteristics of each.)
उत्तर- भारत में प्रमुख दो भाषा परिवार निम्नलिखित हैं:
1. इंडा-आर्यन, 2. द्रविड़।
विशेषताएँ (Characteristics) :
भारतीय-आर्य भाषा परिवार (Indo-Anan Language Family)
1. इस परिवार की भाषाएँ उत्तर के विशाल मैदान में केंद्रित हैं।
2. हिंदी इसमें प्रमुख भाषा है ।
3. हिंदी-उर्दू का आपस में गहरा संबंध है।
4. इनमें उत्तर-पश्चिम वर्ग की बोलियों वाले लोग पश्चिमी भारत में केंद्रित हैं।
द्रविड़ भाषा परिवार (Dravidian Language Family)
1.इस भाषा परिवार की भाषाएँ प्रायद्वीपीय भारत के पठारी प्रेश और इनके पास के तटीय
मैदानों में बोली जाती हैं।
2. ये भाषाएँ प्रादेशिक मानी जाती हैं।
3. प्रायद्वीपीय पठार की अनेक जनजातियाँ ये भाषाएँ बोलती हैं
4 तमिल इस परिवार की सबसे प्राचीन भाषा है।
वस्तुनिष्ठ प्रश्न (Objective Answer Type Question)
नीचे दिए गए चार विकल्पों में से सही उत्तर को धुनिए ।
(Choose in right answer of the following from the given options 🙂
प्रश्न 1. सन् 2001 की जनगणना के अनुसार भारत की जनसंख्या निम्नलिखित में से
कौन है?
(क) 102.8 करोड़
(ख) 318.7 करोड़
(ग) 328.2 करोड
(घ) 2 करोड़
प्रश्न 2. निम्नलिखित राज्यों में से किस एक में जनसंख्या का घनत्व सर्वाधिक है ?
(क) पश्चिम बंगाल
(ख) केरल
(ग) उत्तर प्रदेश
(घ) पंजाब
प्रश्न 3. सन् 2001 की जनगणना के अनुसार निम्नलिखित में से किस राज्य में नगरीय
जनसंख्या का अनुपात सर्वाधिक है ?
(क) तमिलनाडु
(ख) महाराष्ट्र
(ग) केरल
(घ) गुजरात
प्रश्न 4. निम्नलिखित में से कौन-सा एक समूह भारत में विशालतम भाषाई समूह है ?
(क) चीनी-तिब्बती
(ख) भारतीय-आर्य
(ग) आस्ट्रिक
(घ) द्राविड
प्रश्न 5. क्षेत्रफल और जनसंख्या के अनुपात को क्या कहते हैं ?
(क) जनसंख्या सूचकांक
(ख) संकेन्द्रण
(ग) जनसंख्या वितरण
(घ) जनसंख्या घनत्व
प्रश्न 6. 2001 में उत्तर प्रदेश की जनसंख्या कितनी थी?
(क) 16,60,52,859
(ख) 6,63,04,854
(ग) 5,56,38,318
(घ) 7,87,06,719
प्रश्न 7. भारत में सबसे पहली जनगणना कब की गई?
(क) 1772 में
(ख) 1872 में
(ग) 1901 में
(घ) 1921 में
प्रश्न 8. किस अवधि में जनसंख्या वृद्धि का हास हुआ?
(क) 1921 से 1951 तक
(ख) 1901 स1911 तक
(ग) 1911 से 1921 तक
(घ) 1981 से 2001 तक
प्रश्न 9. 1991 की जनगणना के अनुसार भारत में पुरुष श्रमिकों की संख्या कितनी है ?
(क) 51.62 प्रतिशत
(ख) 50 प्रतिशत
(ग) 67 प्रतिशत
(घ) 14 प्रतिशत
प्रश्न 10. भारत में ग्रामीण जनसंख्या का प्रतिशत है:
(क) 70 प्रतिशत
(ख)72 प्रतिशत
(ग) 65 प्रतिशत
(घ) 90 प्रतिशत
प्रश्न 11. 2001 की जनगणना के अनुसार भारत की जनसंख्या कितनी है ?
(क) 102.7 करोड़
(ख  84 करोड़
(ग) 100 करोड़
(घ) 90 करोड़
प्रश्न 12. किस दशक में नगरीय जनसंख्या अनुपात सबसे कम था ?
(क) 1901 – 1911
(ख) 1911-1921
(ग) 1921 – 1931
(घ) 1931-1941
प्रश्न 13. जो व्यक्ति वर्ष में 183 दिन लाभकारी कार्य करता है उसे क्या कहते हैं ?
(क) मुख्य कामगार
(ख) सीमान्त कामगार
(ग) श्रमजीवी
(घ) उत्पादक
प्रश्न 14. किस दशक में नगरीय जनसंख्या में वृद्धि सर्वाधिक थी?
(क) 1951 – 1961
(ख) 1961-1971
(ग) 1971 – 1981
(घ) 1991-2001
प्रश्न 15. भारत के जनसंख्या पिरामिड का आधार कैसा है?
(क) चौड़ा आधर
(ख) सँकरा आधार
(ग) क और ख दोनों
(घ) कोई नहीं
प्रश्न 16. प्रजनक आयु वर्ग की सीमा क्या है ?
(क) 15 से 59 वर्ष
(ख) 15 से 49 वर्ष
(ग) 40 से 49 वर्ष
(घ) 50 से 59 वर्ष
प्रश्न 17. श्रमजीवी या अर्जक वर्ग की आयु सीमा क्या है ?
(क) 15 से 49 वर्ष
(ख) 15 से 59 वर्ष
(ग) 60 वर्ष से अधिक
(घ) 15 से 29 वर्ष
प्रश्न 18. भारत में श्रमिकों का प्रतिशत कितना है?
(क) 33 प्रतिशत
(ख) 67 प्रतिशत
(ग) 68 प्रतिशत
(घ) 44 प्रतिशत
प्रश्न 19. भारत में कितने प्रतिशत लोग आश्रित हैं?
(क) 69प्रतिशत
(ख) 73 प्रतिशत
(ग) 67 प्रतिशत
(घ) 70 प्रतिशत
प्रश्न 20. प्रति हजार पुरुषों की तुलना में स्त्रियों की संख्या को क्या कहते हैं ?
(क) लिंग अनुपात
(ख) श्रमिक अनुपात
(ग) सहभागिता
(घ) कोई भी नहीं
प्रश्न 21. कम श्रमिक बल वाले प्रदेशों में कुल श्रमिक जनसंख्या कितनी है ?
(क) 25 से 40%
(ख) 25 से 35%
(ग) 30 से 40%
(घ) 30 से 35%
प्रश्न 22. बौद्ध धर्म का जन्म स्थान कहाँ है ?
(क) भारत
(ख) आस्ट्रेलिया
(ग) नेपाल
(घ) पाकिस्तान
प्रश्न 23. सिक्ख धर्म भारत में कितने वर्ष पुराना है।
(क) 500 वर्ष
(ख) 300 वर्ष
(ग) 600 वर्ष
(घ) 800 वर्ष
प्रश्न 24. भारतीय समाज को कितने वर्गों में बाँटा गया है ?
(क) चार
(ख) दो
(ग) तीन
(घ) पाँच
प्रश्न 25. भारतीय भाषाओं को कितने परिवारों में बाँटा गया है ?
(क) एक
(ख) दो
(ग) चार
(घ) तीन
प्रश्न 26. उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति की जनसंख्या कितनी है ?
(क) 160 लाख
(ख) 292 लाख
(ग) 165 लाख
(घ) 170 लाख
प्रश्न 27. अनुसूचित जातियों का प्रमुख व्यवसाय है:
(क) कृषि मजदूरी
(ख) पशुपालन
(ग) लकड़ी काटना
(घ) मजदूरी उद्योगों में
                                                 उत्तर
1. (क) 2. (क) 3. (ख) 4. (ख) 5. (घ) 6. (क) 7. (ख) 8. (क) 9. (क) 10. (घ)
11. (क) 12. (ख) 13. (ख) 14. (क) 15. (ग) 16. (क) 17. (ख) 18. (क) 19. (क)
20.(क) 21.(ग) 22. (ख) 23. (क)

Leave a Comment

error: Content is protected !!